क्रिसमस डे के दिन मेरा लन्ड बना संता

 248 

क्रिसमस डे के दिन मेरा लन्ड संता बनकर लन्ड की भूखी एक अमीर महिला को चुदाई का गिफ्ट दिया

ये आवाज सुनकर और मैडम के सॉफ्ट जिस्म और गांड़ ने मेरे अंदर भी हलचल मचा दिया। मेरा लन्ड भी अब खड़ा हो गया।

मैं देखा कि मैडम अलग नशा में हो चुकी है तो मैं समझ गया कि मुझे क्या करना है और मैं मैडम के दोनो पैरों को चौड़ा कर दिया। इससे मैडम का दोनो जांघो के बीच काफी जगह बन गया। अब मैं मैडम के जाँघों को मसाज करते हुए दोनो जाँघोंके बीच हाथ ले जाने लगा और उनकी चुत के पास टच करने लगा उनकी चुत गीली हो चुकी थी और पैंटी में चुत का पानी लग चुका था जो मेरे हाथों पर लग रहा था।

अब मैडम और तेज तेज और लंबी लंबी सांसों के साथ सिसकारियां और कामुक आवाजें निकालने लगी।

तो मैं साइड से मैडम का पैंटी हटाया और जोर जोर से उनकी चुत को रगड़ने लगा मैडम के चुत पर घना बाल था।

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम घनश्याम है। और मैं एक मसाज थेरेपिस्ट हूँ। और दिल्ली के ही एक क्लीनिक में काम करता हूँ। जिस क्लीनिक में मैं काम करता हूँ वहां फिजियोथेरेपी और मसाज थेरेपी भी होती है।

दोस्तों मैं https://nightqueenstories.com का नियमित पाठक हूँ। और इस साइट की लगभग सभी कहानियां पढ़ चुका हूँ। और मैं रोज इंतजार करता हूँ जैसे ही यहां कहानियां अपलोड होती है सबसे पहले मैं पढ़ता हूँ। इस साइट की सबसे बड़ी खासियत है कि यहाँ जो कहानियां हैं वैसी कहानियां कहीं और नही हैं। बिल्कुल अलग और नया कंटेंट हैं। और ज्यादातर कहानियों शीर्षक के साथ कहानियां डिफाइंड होती है। जिससे रीडर को पहले से पता चल जाता है कि कहानी में आगे क्या है और पढ़ने की बेचैनी बढ़ जाती है। एक अलग रोमांच के साथ https://nightqueenstories.com पाठकों को बांधे रखती है।

यह साइट पाठकों के हर जिज्ञासा और चाहत को पूरा करती है। मैं तो दीवाना हूँ इस साइट का। और तभी मुझे भी इस साइट की कहानियां पढ़कर लिखने का प्रेरणा मिला और आज मैं भी एक स्टोरी लिख रहा हूँ। उम्मीद करता हूँ आप सब बहुत एन्जॉय करेंगे।

एक मैडम ने कैसे रीढ़ की मसाज करवाते करवाते मेरे लन्ड का मसाज लिया

दोस्तों उस दिन क्रिसमस था। इस कारण मेरे क्लीनिक के ज्यादातर स्टाफ या तो छुट्टी पर थे और कुछ लोगों को छुट्टी नही मिली थी इस कारण वे 2,3 घंटे कि छुट्टी लेकर चर्च गए हुए थे।

क्लीनिक में बस हम तीन लोग थे। एक डॉक्टर साहब, एक मैं और एक लेडी स्टाफ जिसका नाम सनाया था जो रिसेप्शन पर बैठती थी।

उस दिन क्रिसमस के कारण मरीज भी कम ही थे। और मैं लैब में बैठा हुआ था। ठंढ का मौसम था। करीब 11 बजे एक लगभग 35 साल की महिला BMW गाड़ी से आई। चुकी मेरा लैब सामने था और कांच लगा हुआ था तो सामने का नजारा साफ दिखता था आते जाते मुझे सब दिखाई देता था। और उस दिन मैं फ्री बैठा था तो दिख गया। वह महिला सीधे रिशेप्शन पर गई। और फिर डॉ साहब के चैम्बर में चली गई। करीब 10 मिनट बाद सनाया आई और बोली कि डॉक्टर साहब बुला रहे हैं।

मैं जाते वक्त देखा मैडम वेटिंग रूम में बैठी हुई हैं। वो सच मे गजब की खूबसूरत महिला थी।

मैं जब डॉक्टर साहब के चैम्बर में पहुँचा तो वो मुझसे बोले कि घनश्याम बाहर एक महिला बैठी होंगी उनको स्पाइनल में प्रॉब्लम है और मुझे एक कागज पकड़ाते हुए बोले कि ये उनकी मसाज की प्रेस्क्रिप्शन्स है इन्ही दवाओं से उनकी स्पाइनल मसाज होगी। और हां उनकी स्पाइन के सबसे निचले हिस्से में ज्यादा समस्या आ रही है। तो देख लो अगर वो अभी मसाज करवाती हैं तो कर दो। या बाद में आना चाहती हैं तो जब भी आएं कर देना।

मैं वहाँ से निकला और कगज पर देखा तो नाम मिसेज गुनगुन था। मैं वेटिंग रूम में जाकर मिसेज गुनगुन नाम बोला तो वो उठ गई और बोली जी सर मैं ही हूँ। तो मैं बोला आइए। वो मेरे पीछे पीछे आ गयी। हम मसाज रूम में पहुँचे और उनको बैठने के लिए बोला। और फिर बोला कि आपको वीक में 3 दिन मसाज करवानी पड़ेगी और ये लगभग 1 महीना चलेगा। तो वो बोली ओके सर लेकिन ये समस्या ठीक तो हो जाएगा ना, तो मैं बोला हाँ बिल्कुल 1 महीने में यह पूरी तरह से ठीक हो जाएगा। फिर मैं उनसे सारी प्रॉब्लम पूछा तो वो डिटेल्स में बताई।

फिर मैं बोला कि आप ट्रीटमेंट कब से शुरू करना चाहेंगी। आज मसाज कराएंगी या

तो मैडम बोली कि जी मैं आज से ही शुरू करूँगी। मुझे चलने और बैठने में बहुत प्रॉब्लम होता है। तो मैं बोला ठीक है कपड़े उतारने पड़ेंगे। सामने पर्दे के पीछे जाकर आप कपड़े उतार कर तौलिया लपेट लीजिए। तो वो पर्दे के पीछे गई और तौलिया लपेटकर आ गई। फिर मैं बोला कि आप पेट के बल लेट जाइए। और लेटते वक़्त तौलिया आगे से लूज कर दीजिएगा। सिर्फ ऊपर से ही तौलिया रहेगा। मैं दवाएं लेकर आता हूँ। फिर मैं उसी रूम में एक अंदर रूम था जहाँ दवाएं थी। चला गया और जब वापस आया तो मैडम बिस्तर पर लेट चुकी थी। और तौलिया उनके ऊपर था। फिर मैं बोला कि मैडम आप दोनो हाथ आगे कर लीजिए और सर के पास कर लीजिए। उन्होंने कर ली। फिर मैं तौलिया ऊपर से हटाया और सिर्फ मैड़म के गोल मटोल चूतड़ों पर समेट दिया। अब मैडम के जिस्म पर सिर्फ उनकी पैंटी और तौलिया थी। बाकी का पूरा हिस्सा साफ था।

मैडम का जिस्म बिल्कुल मक्खन के समान मुलायम और चिकना था। उनकी जांघे बहुत मोटी थी। मैडम के पैरों पर हल्के बाल थे ऐसा लग रहा था जैसे मैडम बाल साफ करती हैं और हल्के बाल आ चुके हैं।

मसाज करते वक़्त मेरा हाथ मैडम के चुचियों को टच हो रहा था और मैडम के मुँह से अब कामुक आवाज आने लगी

अब मैं मैडम का मालिश शुरू किया ढेर सारा दवाई जो तेल के रूप में था मैं मैडम के ऊपर गिराया और मालिश करने लगा। मसाज मैं कंधों से शुरू किया था और कमर तक कर रहा था। मसाज करते करीब 10 मिनट हो चुका था। अब मैडम का हाथ थोड़ा चौड़ा हुआ तो साइड से उनकी गोरी गोरी चुचियाँ साफ दिखने लगी। मैं नीचे हाथ ले जाते वक्त उनकी चुचियों पर टच हो जा रहा था। मैं काफी देर तक वहाँ मसाज किया और मैडम के मुँह से अब अजीब सा कामुक आवाज सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आने लगा। अब मैं मैडम के स्पाइन के सबसे निचले हिस्से जो चूतड़ों के पास था मसाज देने लगा। और तौलिया हटा दिया। मैडम काले रंग की पैंटी पहनी थी और पीछे से उनका पूरा चूतड़ खुला था। मैं और उनकी रीढ़ की हड्डी में अच्छे से मसाज करने लगा। और मेरा हाथ उनकी पैंटी के अंदर बार बार जा रहा था। तो गुनगुन सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… करने लगी। मैं मैडम के पैंटी के अब पूरा नीचे तक ले जा रहा था। और अब मैं उनकी चूतड़ों को भी जोर जोर से मसाज कर रहा था। मैडम की मुलायम चूतड़ बहुत गोरी और सेक्सी थी। अब मैडम को शायद मजा आने लगा था इसलिए वो लगातार कामुक आवाज निकालने लगी सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई….. ये आवाज सुनकर और मैडम के सॉफ्ट जिस्म और गांड़ ने मेरे अंदर भी हलचल मचा दिया। मेरा लन्ड भी अब खड़ा हो गया।

थोड़ी ही देर में मैडम की चुत ढेर सारा गर्म रस छोड़ दिया

मैं देखा कि मैडम अलग नशा में हो चुकी है तो मैं समझ गया कि मुझे क्या करना है और मैं मैडम के दोनो पैरों को चौड़ा कर दिया। इससे मैडम का दोनो जांघो के बीच काफी जगह बन गया। अब मैं मैडम के जाँघों को मसाज करते हुए दोनो जाँघों के बीच हाथ ले जाने लगा और उनकी चुत के पास टच करने लगा उनकी चुत गीली हो चुकी थी और पैंटी में चुत का पानी लग चुका था जो मेरे हाथों पर लग रहा था।

अब मैडम और तेज तेज और लंबी लंबी सांसों के साथ सिसकारियां और कामुक आवाजें निकालने लगी सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह… .ऊईंउइनिईईई… तो मैं साइड से मैडम का पैंटी हटाया और जोर जोर से उनकी चुत को रगड़ने लगा मैडम के चुत पर घना बाल था। और मैडम पूरे जोश में सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

करने लगी और थोड़ी ही देर में मैडम के चुत से ढेर सारा पानी निकलने लगा। मैडम का चुत बहुत ज्यादा रस छोड़ा था। अब मैडम शांत हो गई। फिर मैं तौलिया से सारा रस साफ किया। और मैडम को तौलिया देते हुए बोला अब आप उठ सकती हैं।

तो मैडम उठी लेकिन वो तौलिया नही लपेटी बल्कि मेरे सामने ऐसे ही खड़ी हो गई। तो उनकी गोल कसी हुई चुचियाँ को मैं साफ देखा। फिर मैडम बोली अब मैं कपड़े पहन लूं। तो मैं बोला जी आपकी मसाज हो चुकी है। आज इतना ही। आप कपड़े पहन सकती हैं। फिर मैडम पर्दे के पीछे गई और अपना कपड़ा पहन कर आई तब तक मैं भी आ चुका था। फिर मैडम बोली, सर क्या ये मसाज मेरे घर पर नही हो सकता क्योंकि हमेशा यहां आने में मुझे समस्या होगी। मैं अलग से चार्ज दे दूंगा। अगर घर पर मसाज हो जाएगा तो। तो मैं बोला ठीक है हम घर भी आ के मसाज कर सकते हैं। तो मैडम बोली कि ठीक है। 2 दिन बाद आप मेरे घर पर आ जाइए और मैडम एक कार्ड दी और अपना नम्बर भी। तो मैं बोला कि मेरे पास गाड़ी नही है। इसलिए मैं शाम को 4 बजे के बाद ही आ पाऊंगा। तो मैडम बोली कि ठीक है वैसे आप चाहें तो मैं आपको पिक कर लूंगी। आप मेट्रो से यूनिवर्सिटी आ जाइए मैं वहां आ जाऊंगी। तो मैं बोला ठीक है।

मसाज करते मैं मैडम का चुचियों को भी दबा रहा था और चुत को भी रगड़ रहा था

2 दिन बाद मैं मेट्रो से यूनिवर्सिटी पहुँचा और कॉल किया। वेसे हम पहले ही बात कर चुके थे। तो मैडम आ चुकी थी और बाहर मेरा वेट कर रही थी। फिर मैं गाड़ी में बैठा और मैडम के घर पहुच गए। फिर मैडम मुझे बैठा कर रूम हीटर चालू की और खुद कीचन में चली गई थोड़ी देर में स्नैक्स के साथ कॉफ़ी ले आयी। फिर हमदोनों कॉफ़ी पीए। फिर मैं बोला मैडम मुझे जाना भी होगा तो चलिए मैं आपकी मसाज कर दूं। फिर मैडम बोली ठीक है और गाउन उतार दी और लेटने लगी तो मैं बोला मैडम आप सिर्फ तौलिया लपेट लीजिए। वरना दवा कपड़े में लग जाएंगे और मसाज देने में भी समस्या होगी। तो मैडम मेरे सामने ही तौलिया लपेटी और ब्रा और पैंटी उतार दी। अब मैडम लेट गई।

मैंने भी मैडम के पीठ से मसाज स्टार्ट किया और मसाज करते-करते कमर के नीचे चला गया। मेरा हाथ मैडम के चूत को टच कर रहा था, अब मैडम को बहुत अच्छा लग रहा था और वो ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई…

करने लगी। मेरा भी लंड का बुरा हाल हो गया था। अब मैं मैडम को सीधा किया और उसके पेट का मसाज करने लगा। मसाज करते- करते मैं मैडम के कभी चुचियों को भी दबाता और चुत को रगड़ता। और अब वो सिर्फ़ ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… सिसकारियाँ ले रही थी।

मैडम से बर्दास्त नही हुआ तो बोली घनश्याम अब और बर्दास्त नही हो रहा मेरी चुत में अब आप लन्ड मसाज दीजिए

अब मुझसे भी कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैं उसकी चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा। अब मैंने उसके निप्पल को चूस-चूस कर बड़ा कर दिया और उसके चूत के दाने को अपने हाथों से जोर जोर से मसलना चालू किया।

अब वो तो अपनी आँखे बंद करके सिसकारी ले रही थी, अब मैं जोर जोर से उसकी चूत में उंगली डालने लगा। फिर मैं बोला मैडम क्या मैं आपके वहाँ माउथ मसाज दे सकता हूँ तो मैडम हाँ में सिर हिलाई। मैंने अपना मुँह धीरे से उसकी चूत के दाने पर रखा और चूसने लगा। और अपनी जीभ चुत के अंदर बाहर करने लगा, अब में उसकी चूत को चाटता रहा कुछ देर बाद ही उसकी चुत पानी छोड़ दिया। फिर थोड़ी देर और चाटने के बाद मैडम से बर्दास्त नही हुआ तो बोली घनश्याम अब और बर्दास्त नही हो रहा मेरी चुत में अब आप लन्ड मसाज दीजिए। इतना सुनते ही मैं अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा, उसकी चूत थोड़ी सी टाईट थी।

मैंने मैडम से पूछा, तो उसने बताया कि उसका पति लंदन में जॉब करते है और बहुत बड़े आदमी हैं। अथाह पैसा भेजते हैं। और साल में 15 दिन या एक महीने के लिए इंडिया आते है। अब मैं उसे जोर जोर से चोदने लगा, अब उसकी चूत गीली होने के कारण और मजा आ रहा था। अब उसके मुँह से तेज तेज ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… चोदो घनश्याम चोदो मेरी चुत

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… फाड़ दो मेरी चुत घनश्याम

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. बहुत मजा आ रहा है मेरे राजा जी।…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… बहुत दिनों बाद मेरी चुत को किसी ने चाटकर चोदा है……. ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. बहुत मजा आ रहा है मेरे राजा जी।…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… बहुत दिनों बाद मेरी चुत को किसी ने चाटकर चोदा है…….

फाड़ के रख दो मेरी चुत को….. भोसड़ा बना दो आज मेरी चुत का।

सससीईईईईईईसिईईईई…

सससीईईईईईईसिईईईई… फाड़ दो मेरी चुत घनश्याम

मैडम 2 बार झड़ चुकी थी फिर वो बोली बस अब और मैं चुत नही चुदवा पाऊंगी तुम मेरे चुत को फाड़ दिए अब तुम मेरी गांड़ मार लो

मैडम चुदाई करते वक़्त 2 बार झड़ चुकी थी। फिर वो बोली बस अब और मैं चुत नही चुदवा पाऊंगी तुम मेरे चुत को फाड़ दिए।

अब तुम मेरी गांड़ मार लो। और मैडम उठ के कुत्तिया बन गई और मैं पीछे से लन्ड उसकी गांड़ में डाल दिया उसकी गांड़ बहुत टाइट थी तो वो पहले तो बहुत चिल्लाई फिर उसे भी मजे आने लगे।

ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. बहुत मजा आ रहा है मेरे राजा जी।…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह……. हाँ मेरे राजा अब से तुम मेरे परमानेंट मसाजर हो। और मेरे दूल्हे राजा भी। मारो मेरी गांड़ जानम चोदो मेरी गांड़ ऊउमहहहहहहहहह….ऊईंउइनिईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. बहुत मजा आ रहा है मेरे राजा जी।…. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…… अब मैं झड़ने वाला था तभी मैडम बोली घनश्याम मैं फिर से झड़ने वाली हूँ और वो खुद अपने हाथों से चुत मसलने लगी। और हम दोनों एकसाथ झड़ने लगे। मैं तो उसके गांड़ में ही झड़ गया लेकिन उसकी चुत ने पिचकारी की तरह पानी छोड़ा और पूरा बिस्तर गीला कर दी।

फिर मैं कुत्ते की तरह हाँफते हुए उसके ऊपर लुढ़क गया। कुछ देर ऐसे रहने के बाद हम अलग हुए।

और 10 मिनट बाद फिर से चुदाई शुरू कर दिए। और एक बार चुदाई किए। जब मैं जाने लगा तो मैडम मुझे 10000 रुपए दी। और बोली तुम्हारा मेहनताना है ये इसे रखो।

और अगले एक महीने तक मैं मैडम का मसाज के बहाने चुदाई किया। मैडम की भी सारी बीमारी दूर हो गई। अब मैं और मैडम परमानेंट बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड बन चुके हैं। और अक्सर हमारी रात साथ गुजरती है।

तो दोस्तों कैसी लगी हमारी मसाज चुदाई। हमे जरूर बताना। कमेंट के साथ कहानी को लाइक और शेयर करना मत भूलना।

और ऐसे ही मजेदार सेक्स कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com को ब्राउज करते रहना। नमस्कार।।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “क्रिसमस डे के दिन मेरा लन्ड बना संता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *