विधवा मौसी की प्यासी चुत चोदने के बाद गांड का सील तोड़ा part 2

 

मौसी के आँखों से आंसू बहने लगे।  मैंने भी उनको गले से लगा कर पकड़ रखा था और बोला मौसी मैं हूँ मैं आपका ख्याल रखूंगा। आप अकेला मत फील किया करो। इतना सुनकर वो और जोर से मुझे भींच लीं। उनकी चुचियाँ बहुत हार्ड थी। मेरा तो लंड अब और कड़क होने लगा। और ये उनको फील हुआ। क्योंकि उनकी खुली जांघ में मेरा लंड टच हो रहा था। तभी मुझे शरारत सूझी और मैं उनके गले पर किस करने लगा और उनकी गाउन में पीछे से हाथ डालकर उनकी पीठ को सहलाने लगा। थोड़ी देर तो वो चुप रही फिर मैंने उन्हें थोड़ा ढीला किया और उनके होंठो पर अपना होंठ रख दिया। और उन्हें चूमने लगा। फिर वो मुँह हटाते हुए बोली बेटा ये क्या कर रहे हो। मैं तेरी मौसी हूँ।

हेलो दोस्तों मैं हूँ आपका दोस्त सिद्धार्थ। जैसा कि मैंने पिछली कहानी में आप सब को बताया था की कैसे मैं अपनी विधवा मौसी की प्यासी चूत की चुदाई किया।

 

और आप सब से वादा भी किया था कि चूत के बाद उनकी गांड की सील तोड़ने का कहानी आपसब के साथ साझा करूँगा।

 

 

जैसा कि आप सब जानते हैं। मैं एक नम्बर का चूत का रसिया लड़का हूँ। 13 साल की उम्र में पहला चुदाई का आनंद लेकर मैं चूत का दीवाना बन गया हूँ। मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। अब मेरी उम्र 24 साल है।

 

 

नए पाठकों के लिए बता दूँ की ये कहानी मेरी और मेरी विधवा मौसी की चुदाई है। मेरी मौसी की उम्र 55 साल है। और वो भी दिल्ली में ही रहती हैं. उनकी एक बेटी और एक बेटा हैं. मौसा जी का देहांत 12 साल पहले एक सड़क दुर्घटना में हो चुका है। मेरी मौसी की बेटी की शादी हो चुकी है और वो मुम्बई में

रहती है और उनका बेटा US अमेरिका में नौकरी करता है। इसलिए मौसी अकेली ही रहती हैं. मौसी की बेटी कभी कभी दिल्ली आती है।

 

तो चलिए चलते हैं कहानी की ओर।

 

तो रातभर की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मेरी मौसी अब पूरी तरह संतुष्ट हो चुकी थी।  मैं पूरी तरह से उन्हें संतुष्ट कर दिया था।

 

उस रात मैं मौसी की चूत लगातार 3 बार चोदा।

 

मेरी मौसी गांड कभी नहीं मरवाई थी लेकिन मैं उनकी चूत चोदने के दौरान ही उनकी बन्द गोल छेद वाली गांड को देख लिया था और मन बना लिया था कि आज तो इसकी बिना गांड मारे नहीं रहूंगा।

 

 

उस रात मैं मौसी की चूत लगातार 3 बार चोदा रात तो रात भर की ताबड़तोड़ चुदाई ने हमदोनों को थका दिया था। और हम दोनों एक दूसरे के बाहों में पूरी तरह से नंगे सो गए। सुबह के 10 बज चुके थे जब हमारी नींद खुली। मैं मौसी के प्यारी आँखों को चुम लिया फिर उनके सर पे प्यार से चूमने के बाद उनके होंठों को किस करने लगा। मौसी भी मेरा पूरा जीभ अपने मुंह मे लेकर चूस रही थी। फिर उनके होंठो को कभी ऊपर तो कभी निचले होठों को हम बारी बारी से किस कर रहे थे। मेरा लंड तो मौसी की दोनों टांगो के बीच रगड़ पाकर पहले से खड़ा हो चुका था। मौसी भी अब गर्म होने लगी थी। तभी मेरा एक हाथ नीचे गया और मौसी की चूत को रगड़ने लगा तो मौसी ने मेरा हाथ पकड़ ली। और बोली रुको। मुझे बाथरूम जाना है। मैंने कहा एक राउंड होने दो फिर चली जाना लेकिन मौसी बोली नहीं रुको।

मैं भी उनकी आज्ञा का पालन किया और मौसी उठकर सीधे बाथरूम चली गई। जब वो बेड से उठी तो उनका नंगा बदन और बड़ी बड़ी चूतड़ जैसे DJ पर थिरक रहे थे। वो पीछे मुड़ के स्माइल दी और एक आँख दबा दीं। मैं भी मुस्कुरा के फ्लाइंग किस दिया। और अपने लंड को रगड़ने लगा। करीब 10 मिनट बाद मौसी बाथरूम से निकली और दूसरे कमरे में गई। और तौलिया लेकर फिर से बाथरूम में चली गईं। ये सब मैंने देखा। मेरा लंड लगतार फनफना रहा था। मुझसे रहा नही जा रहा था तो मुझे एक आईडिया आया। और करीब 5 मिनट बाद मैं भी उठा और बाथरूम में जाने लगा वहाँ पहुँचते ही देखा मौसी शॉवर

के नीचे थी उनका गांड मेरी तरफ था और वो अपने बदन को रगड़ रही थी। मैं गया और उनको पीछे से पकड़ लिया। मौसी बोली क्या कर रहे हो थोड़ा सब्र करो मैं भागी नही जा रही हूं पूरा दिन तुमसे चुदवाऊंगी। मैंने उनकी कानो में बोला तो दिन की शुरुआत नहाकर ही तो करते हैं। तो करने दो शुरुआत। वो बोली तू बहुत बदमाश है। और मैं आगे हाथ करके उनके दोनों एवरेस्ट की चोटी की तरह कड़क चुचियों को मसलने लगा मेरा लंड उनके गांड के दरारों में रगड़ खा रहा था। मैं उनके कान को अपने दांतों से हल्का बाईट करने लगा उनकी गर्दन और कंधे पर किस करने के साथ चाटने लगा। फिर मैं एक हाथ नीचे किया और मौसी की चिकनी चूत को रगड़ने लगा। वो आहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहह उफफ़फ़फ़फ़फ़ ओहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहह करने लगीं एक तरफ मेरा लंड और दूसरी तरफ मेरा हाथ। वो तो डबल मजा ले रही थी। उनकी कमर हिलने लगी थी। वो अब अपना हाथ पीछे की और मेरे लण्ड को पकड़ कर जोर जोर से हिलाने और मसलने लगी।  उनके मुँह से लगातार सिसकारियां निकल रहा था। और शॉवर का पानी हम दोनों को भीगा कर और आग भड़का रहा था। मौसी बोल रही थी बेटा तुम्हे तो चुदाई करने और औरत को खुश करने का हर तरीका आता है। तुम बहुत अच्छे हो मेरे राजा मेरी चूत को तुम तृप्त कर देते हो। ओहहहहहहहहहहहह मेरे राजाजजजजजा करीब 10 मिनट तक मैं मौसी के चूत को ऐसे ही मसलता रहा और चूत में उंगली से चोदता रहा। अब मौसी की कमर के हिलना तेज हो गया था। वो मेरे हाथों को पकड़ ली और जोर जोर से अपने चूत पर रगड़ने लगी।  फिर मौसी की चूत ढेर सारा पानी छोड़ दिया। एक बार तो इतनी तेज अंदर से प्रेशर से पानी निकला कि काफी दूर तक गया। ढेर सारा पानी चूत से निकला और मौसी शांत

फिर मौसी को मैं सीधा किया और उन्हें किस करने लगा। मेरा कड़क लंड मौसी के चूत पर रगड़ खाने लगे। करीब 5 मिनट तक ऐसे ही मैं मौसी को किस करता रहा और अपना हाथ पीछे ले जाकर मौसी के बड़े बड़े चूतड़ों को मसलता रहा। कभी कभी उनके चूतड़ों पर जोर से थपकी भी मार रहा था जिससे उनकी गांड लाल हो गए। अब मौसी साबुन उठाई और मेरे पूरे बदन पर लगाने लगी। मेरे लंड पर भी पूरा साबुन लगाई और रगड़ रगड़ के पूरे बदन को साफ की। मैंने भी उनके बदन पर साबुन लगाया उनके चूत पर खूब रगड़ा। और उनकी गांड के दरार में भी साबुन को घुसा के रगड़ा। चुकी शॉवर लगातार चल रहे थे इस वजह से सारा साबुन अपने आप ही धूल गया। अब मौसी भी फिर से गरम हो चुकी थी। मैं नीचे बैठ गया और उनकी चूत को चाटने लगा। मैं मौसी के एक पैर को अपने कंधे पर रख दिया और अब

उनकी गांड के छेद को भी चाटने लगा। मैं उनके गांड और चूत के बीच के भाग को सहला रहा था वो पागल सी हो गयी और कमर हिलाने लगी। मैं लगातार उनकी चूत को सहला रहा था और उँगलियों से चोद रहा था और उनकी गांड को अपनी जुबान से चाट रहा था। करीब 10 मिनट बाद मौसी का चूत एक बार फिर से पानी छोड़ने लगा इस बार मैं सारा पानी पी गया। मेरी मौसी मेरा सर पकड़ के जोर से अपने चूत पर दबाई।

 

फिर मैं उठा और मौसी को बोला मौसी मुझे आपकी गांड मारनी है। वो तो भड़क गई कि नही मैं गांड नहीं मारने दूंगी। मैंने कभी गांड नही मरवाया बहुत दर्द होगा। मैंने कहा प्लीज मौसी बस एक बार। अगर ज्यादा दर्द होगा तो मैं आपकी गांड से अपना लंड तुरन्त निकाल लूंगा। वो नही मान रही थी। लेकिन मेरे बार बार रिक्वेस्ट करने से वो मान गई। और मैं उनको बोला कि आप कुतिया बन जाओ वो बाथटब को पकड़ कर कुतिया बन गई मैं उनकी एक टांग को उठाया और बाथटब पर रख दिया। और दूसरे टांग को और थोड़ा फैलाने को बोला इससे मौसी की गांड बिल्कुल खुल गई और मेरे नजरों के सामने उनकी गांड की खूबसूरत गोल छेद थी। जो बिल्कुल बन्द थी। सच मे मौसी की गांड किसी बन्द बोतल की तरह लग रही थी। फिर मैं उनके गांड को चाटने लगा। बहुत मुलायम थी उनकी गांड। करीब 5,7 मिनट चाटने के बाद मैं अपना लंड उनके गांड पर रखा वो सिहर गई और बोली बेटा धीरे करना। मैं अपना लंड को उनकी गांड के छेद पर दबाने लगा लेकिन उनकी गांड तो जैसे सीमेंट से पैक थे थोड़ा भी नहीं खुल रहा था ना ही लंड थोड़ा भी अंदर जा रहा था। वहीं मौसी इतने में बोलने लगी कि बेटा बहुत दर्द हो राह है मेरी गांड को रहने दो। मेरी चूत को चोद लो। चाहे जितना मर्जी। लेकिन मैंने कहा नहीं मौसी मुझे गांड ही मारनी है। तो वो मेरे जिद के आगे झुक गयी। और बोली बेटा वो देखो नारियल के तेल है। उसको अपनी उँगलियों पर लगाओ। और पहले उँगलियों से मेरे गांड के छेद को बड़ा करो फिर लन्ड डालना । मैंने ऐसा ही किया ढेर सारा नारियल तेल अपनी उंगलियों पर लगाया और मौसी के गांड पर भी फिर धीरे धीरे एक उंगली को उनके गांड में डालने लगा उंगली अभी भी नहीं जा रही थी। लेकिन धीरे धीरे उंगली अंदर डाला। मौसी चिलाने लगी कि बेटा बहुत दर्द हो रहा है। मत करो निकाल लो अपनी उंगली मेरी गांड से। लेकिन मैं लगातार उंगली अंदर बाहर करने लगा और गोल गोल घुमाने लगा। अब मौसी को भी अच्छा लगने लगा। वो बोली बेटा ये तो बहुत मजेदार है। गांड में तुम्हरी उंगली से चुदाई बहुत अच्छा लग रहा है। फिर मैं 2 उंगली डाल दिया तब मौसी को थोड़ा दर्द हुआ लेकिन ये दर्द भी जल्दी ही गायब हो गया। अब मौसी मेरी लन्ड से गांड मरवाने के लिए पूरी तरह तैयार थी। मैं उठा और फिर से अपना लन्ड मौसी के गांड पर सेट किया और जोर का एक झटका मारा मेरे लन्ड का सुपाड़ा मौसी के चूत में समा गया मौसी तड़प गयी और मेरे लण्ड को अपनी गांड से निकालने की कोशिश करने लगी लेकिन मैं जोर से उनके कमर को पकड़ा हुआ था जिससे वो हिल नहीं पाई। सच मे उनकी गांड बिल्कुल टाइट थी। ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड का सुपाड़ा किसी बोतल के छेद में फंस गया हो। फिर मौसी बोली बेटा लण्ड को। बाहर निकालो और पहले उसपर नारियल का तेल लगाओ। और मेरे गांड पर

भी मैंने लण्ड को जब बाहर खींचा तो कप की जोर की आवाज आई। जैसे बोतल में।उंगली फसाकर बाहर खिंचने पर आवाज आती है। फिर मै ढेर सारा नारियल का तेल मौसी के गांड पर गिराया और अपने लन्ड पर भी लगाया। इसके बाद मैं फिर से अपना लण्ड मौसी के गांड के छेद पर लगाया और जोर का धक्का मारा फिर से मेरा लन्ड का सुपाड़ा ही उनकी गांड में घुसा लेकिन इस बार थोड़ आसानी से। मौसी को फिर भी दर्द हो राह था। उनके आंखों में आँसू आ गए। फिर मैं एक और करारा प्रहार किया और लगभग आधे से ज्यादा लण्ड मौसी के गांड में समा चुका था। मौसी को बहुत पीड़ा हो रहा था। उनके चेहरे के एक्सप्रेशन से साफ झलक रहा था। थोड़ी देर मैं ऐसे ही शांत पड़ा रहा और मौसी को सहलाता रहा अब मौसी का दर्द कम हुआ तो मैं उनकी गांड को चोदना शुरू किया। पहले धीरे धीरे और फिर तेज तेज करने लगा अब मेरा पूरा लण्ड मौसी के गांड में जा रहा था। मौसी बोली बेटा मेरी गांड पर थूको उससे लन्ड आसानी से अंदर जाएग। मैंने ढेर सारा थूक मौसी के गांड पर थूका अब मेरा लन्ड जब बाहर आता तो थूक लेकर अंदर जाता करीब 5 मिनट बाद मौसी को मजा आने लगा। अब उनके गांड में बिल्कुल दर्द नही हो राह था। मैंने भी बिना देर किये चुदाई की रफ्तार बढ़ा दिया साथ मे मैं आगे हाथ ले जाकर मौसी के चूत को मसलने लगा उनके चूत का दाना कड़क हो गया थ। मैं अपनी उंगलियों से मौसी के चूत को चोदने लगा और लंड से गांड को अब मौसी को डबल मजा मिलने लगा वो अपने अपना कमर हिलाने लगी।

और मौसी aahhhhhhhhhhh uhhhhhhhh की आवाज निकालने लगी।

मौसी ‘आह्हहहहहहहहहहहहहहहहहह……….. आआह्ह हहहहहहहहहहहहहहहह………की आवाज़ करने लगी।  अब मैं पूरी रफ्तार से उनकी गांड की चुदाई कर रहा था और वो भी अपने चूतड़ों को आगे पीछे करके गांड चुदाई का मजा ले रही थीं. और चिल्ला रही थी

 

मैने भी जोरदार धक्कों के साथ चोदना शुरू कर दिया। अब वो चीला रही थी। चोदो मेरे राजा बेटे। चोदो। चोदो जोर से। फाड़ दो मेरी प्यासी गांड को। इसमें तो और ज्यादा मजा आ रहा है। मैंने पहले कभी गांड क्यों नहीं मरवाई। आहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहह। मेरी गांड की पहली चुदाई बहुत मजेदार है बेटे चोदो जोर से अपनी मौसी की गांड। । आहहहहहहहहहहहहहह…………. मेरे राजा चोदो जोर से। मेरी जवानी में  कभी तेरे मौसा ने न गांड मारी  ना चूत की इतना जोरदार चुदाई  किया। आज तुम मुझे चुदाई का असली एहसास दिलाए। आज मैंने असली मर्द का लंड से चुद रही हूँ। आज मै पूर्ण रूप से औरत बनी। आहहहहहहहहहहहहहहह

आहहहहहहहहहहहहहहहहह बेटे चोदो बेटे चोदो अपनी मौसी को। फाड़ दो अपनी मौसी की गांड। निकाल दो सारा रस अपनी मौसी की गांड और चूत की।  ओह हहहहहहहह हहहहहहह हाँ बेटे। आई लाइक दिस माय किंग सन। फ़क मी हार्ड माय सन फक मी हार्ड। fuckkkkkk me my king fuckkkk hard. Oh yeah my heart. Fuckkkkkme aaaaahhhhhh fuckkkkk me ohhhhhhh yeahhhhhh bete. Aahhhhhhhhh bete.  चोदो। मैं प्यासी हूँमेरी चूत गांड तुम्हारे लंड खाने को कबसे बेताब था। आज मै पूरा  निगल लुंगी इसे। तेरे मौसा ने भी कभी इतना नहीं चोदा मुझे। आज तुमने मुझे जिंदगी का सच्ची चुदाई का एहसास दिलाया। चोदो । चोदो जान।  चोदो। चोदो अपनी रंडी मौसी को। फाड़ डालो अपनी रंडी मौसी के गांड को। तुम्हारी मौसी अब रंडी बन चुकी है। अपने बेटे का लंड खा के बिल्कुल रंडी बन चुकी है। चोदो अपनी रंडी मौसी को बेटे। करीब 1 घंटे के चुदाई के दौरान मेरी मौसी की चूत कई बार पानी छोड़ चुका था। वह कई बार झड़ चुकी थी। फिर मैंने कहा मेरी मौसी मैं झड़ने वाला हूँ। तो उसने कहा की बेटा जब तूने मेरी गांड का सील तोड़ ही दिया है। तो अपने लन्ड का पानी भी मेरे गांड को पिला दे। मेरी गांड में ही झड़ बेटा। अपना लंड  का पानी मेरे गांड में ही छोड़। और फिर मैं भी झड़ने लगा। करीब 8 ,10 धकों के बाद मेरा लंड का पूरा पानी मेरी मौसी की गांड में निकल गया। और हाँफते हुए मैं मौसी के ऊपर ही लुढ़क गया। मैं मौसी को जोर से पकड़ा हुआ था। मौसी भी समझ गई कि मैं थक गया हूँ तो वो भी ऐसे ही पड़ी रही करीब 5 मिनट बाद मौसी खड़ी हुई और मुझे अपने सीने से लगा ली। उनके आंखों में आंसू आ गए। मैंने कहा मौसी आप रो रही हो। तो उन्होंने कहा पगले ये तो खुशी के आंसू है। मुझे तुमने धन्य बना दिया। मैं अब सम्पूर्ण औरत बनी। सालों के सूखे बंजर जमीन पर तुमने हल चला के जोरदार पानी पिलाया। तुम बहुत अच्छे हो बेटे I LOVE YOU BETE. I LOVE YOU. UUUUMMMMMMHHHHHHHHH.

 

और इसी के साथ मैं अपनी मौसी की गांड का सील तोड़ दिया।

तो दोस्तों मुझे कमेंट करके बताना की मेरी मौसी की गांड की चुदाई कैसी लगी। फिर से जल्द ही एक और सच्ची चुदाई की कहानी लेकर उपस्थित होऊंगा। तब तक के लिए दीजिए इजाजत।

 

नोट: इस कहानी के सभी पात्रों के नाम काल्पनिक हैं।

 

Tag

Hot girl

Oral sex

Padosi

Land chut ka khel

Bhabhi ki chut

Garam chut

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “विधवा मौसी की प्यासी चुत चोदने के बाद गांड का सील तोड़ा part 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *