रजाई के अंदर भाई ने मेरी चुत चोद दिया।

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम ख्याति है मैं दिल्ली में रह के UPSC की तैयारी करती हूँ। आज मैं आपको अपने छोटे भाई रितेश और मेरी चुत की चुदाई की कहानी बता रही हूँ। कि कैसे मेरे भाई ने एक ही रजाई होने का फायदा उठाया और रात भर मुझे चोदकर मेरी चुत की धज्जियाँ उड़ा दिया। उस रात मेरी भाई ने मेरी ऐसी चुदाई की की मैं सुबह ठीक से चल भी नहीं पा रही थी।

 

भाईबहन की एक ही रजाई में चुदाई की कहानी

दोस्तों मैं 23 साल की हूँ। और मेरा भाई मुझसे एक साल छोटा है। उसका नाम राज है। हमदोनो भाई-बहन से ज्यादा दोस्त की तरह हैं। हरेक बात शेयर करते हैं। मैं अभी 5 महीने से दिल्ली में रूम रेंट पर लेकर रहती हूँ। हम कानपुर से हैं। चूंकि ठंढी आ चुकी थी और मेरा सारा गर्म कपड़ा घर पर था। तो माँ ने मेरे सारे कपड़े भाई से भेज दिए। मेरा भाई बहुत हैंडसम है और वह 5 फिट 8 इंच का है। जब भाई आया तो मम्मी ने कॉल करके बोली कि राज जब गया ही है तो एक दो दिन रोककर उसे दिल्ली घुमा देना। पता नई फिर कब जाएग। मुझे भी अच्छा लग रहा था काफी दिनों बाद भाई से मिली थी। शाम के करीब 5 बजे वह दिल्ली पहुँच गया था। हम ढेर सारे बातें किये। रात को खाना खाकर मैं पढ़ने लगी और भाई गेम खेलने लगा।

 

फिर भाई ने मुझसे पूछा कि दी आपका कोई बॉयफ्रेंड बना की नहीं तो मैं बोली कि रात दिन रूम में ही रहती हूँ। मुझे अभी अपने करियर की चिंता है फालतू बातों में ध्यान नहीं लगाती। तो बॉयफ्रेंड कहां से बनेगा। फिर मैंने उससे पूछा कि तू अपना बता। तो वो बोला कि हां एक लड़की से आजकल मेरा चल रहा है मैन पूछा कौन है तो बोला कानपुर की ही है। मैं समझ गया कि मेरा भाई सिर्फ जवान ही नही हुआ है बल्कि हरामी भी 1 नम्बर का हो गया है।

 

तो मैंने उससे पूछ लिया कि तो बात कहाँ तक पहुँची। बस मिलना जुलना या आगे भी कुछ हुआ। तो वो बोला सबकुछ। मैं पूछी सबकुछ में क्या क्या तो वो शर्मा गया और बोला बस समझ जाओ। अब मेरी ध्यान पढ़ाई से हट गई और उसकी बातों में इंटरेस्ट लेने लगी।

 

फिर भाई बोला कि ठंड लग रही है सोना कहाँ है। तो मैंने बोला कि एक ही बीएड है उसी पर दोनों लोग सो लेंगे। तो वो रजाई ओढ़ लिया और फिर बोला कि दी रजाई में बेड पर आकर पढ़ो बाहर ठंड लग जाएगी। तो मैं भी रजाई में चली गई। और मैं भी लेट गई।

 

इतना सुनते ही मेरे बदन में सिहरन दौड़ गई।

 

 

और फिर मैंने उससे पूछा कि तुमने बताया नहीं कि क्या क्या हुआ। वो शर्मा रहा था। तो मैने बोला उसकी फोटो दिखाओ तो उसने फोटो दिखाया बहुत सुंदर लड़कीं थी। फिर मेने पूछा किस किये हो इसे तो वो हाँ में सिर हिलाया। फिर मैंने बोला और क्या क्या बताओ न क्या शर्मा रहे हो। तो उसने बोला कि वो सब भी हुआ है। मैंने देखी की अब ये खुलकर नही बताएगा तो मैं ही बोली कि तुम्हारा मतलब सेक्स से है। तो उसने बोला कि हाँ। मैंने पूछा कितनी बार तो वो बोला कि बस 2 बार ही। एक बार उसके घर पर और एक बार दोस्त के घर पर। इतना सुनते ही मेरे बदन में सिहरन दौड़ गई।

 

फिर मैंने कहा तुम बदमाश हो गए हो। पहले पढ़ाई करो फिर कुछ करना। ध्यान अपना पढ़ाई पर लगाओ। फिर मैं किताब लेकर पढ़ने लगी लेकिन उसकी बातें मेरे दिमाग मे घूमने लगी कि मेरा छोटा भाई सेक्स कर चुका है। फिर वो बोला कि दी अपना फोन दो मैं उसमे गेम खेलता हूँ। मैंने दे दिया। (दोस्तों आप यह कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

Antarvasna Hindi sex stories

थोड़ी देर बाद वो बोला कि दी तुम ये सब देखती हो। तब मुझे याद आया कि मैं पोर्न क्लिप रखी थी और सेक्स।कहानियां पढ़ती थी वो सब भाई देख लिया।

 

फिर मैं झट से मोबाइल उसके हाथ से छीनी और बोली कि ये मेरी दोस्त ने की है। मेरे पास इतना टाइम कहाँ है।

 

रात में जब मेरी नींद खुली तो भाई मेरा चूची दबा रहा था।

 

फिर हमदोनो सो गए। रात में जब मेरी नींद खुली तो देखा कोई मेरी चुचियों को दबा रहा है। फिर मैं समझ गई कि मेरा भाई ये हरकत कर रहा है उसने अपना एक पैर मेरी कूल्हों पर चढ़ा रखा था। उसकी लंड बिल्कुल टाइट थी और मेरी गांड पर उछल कूद कर रही थी और भाई मेरी चुचियों को जोर जोर से मसल रहा था। मैंने सोचा मना करूँ फिर सोचा अगर मना करूंगी तो शायद उसे ऑड फील हो और शर्मिन्दा हो जाए। फिर मैं सोची की चूची ही तो दबा रहा है दबाने दो। थोड़ी देर में खुद मुठ मारकर शांत हो जाएगा।

 

लेकिन उसकी हरकतें बढ़ती गयी। अब वो मेरे नाइटी के।अंदर हाथ डालकर मेरी नाभि को सहलाने लगा। अब मुझे भी अच्छा लगने लगा था।

 

उसकी हाथ मेरी चुत पर पड़ते ही मैं कांप गई।

 

मैं कुछ बोल नहीं पा रही थी। तभी वो मेरी नाईटी पूरा उपर कर दिया मैं ब्रा नही पहनी थी तो अब वो मेरे चुचियों को हाथों से मसलने लगा। फिर वो हाथ नीचे ले गया और मेरी पैंटी में डाल दिया। उसकी हाथ मेरी चुत पर पड़ते ही मैं कांप गई। मुझे तो कुछ नही सूझ रहा था कि मैं क्या करूँ। फिर वो मेरी पैंटी नीचे करने लगा। लेकिन दबा हुआ था तो नीचे नही हो रहा था तो मैं करवट लेने के बहाने अपनी गांड उठाई और इतने में वो मेरी पैंटी घुटनो तक नीचे खींच दिया।

 

फिर वो मेरी चुत में उंगली डालने लगा तो मैंने भी पैरों को चौड़ा कर दिया। फिर वो उठा और मेरी पैरों के बीच चला गया और दोनों पैरों को फैलाकर अपना मुँह मेरी चुत पर रख दिया मेरी कमर अचानक से उछल गई। और मैं उसकी बालों को भींचकर उसके सर को अपने चुत पर दबा दिया। और नीचे से रगड़ने लगी । वो चाटने लगा मेरी चुत।  मैं इतनी चुदासी हो चुकी थी कि 5 मिनट के चुत चाटने से ही मेरी चुत पानी छोड़ दिया। और ढेर सारा पानी निकला जो भाई पी गया। अब मैं भाई को ऊपर खींची और उसके होंठो को किस करने लगी। मेरी चुचियाँ उसके मजबूत छाती से दबाकर कसमसा रहे थे। फिर वह मेरी चुचियों को पीने और मसलने लगा।

 

मैंने कहा भाई अब बर्दास्त नही हो रहा अब अपना मोटा लंड मेरी चुत में डालकर चोद दो मुझे

 

फिर वो अपना जीभ मेरे मुँह में डाल दिया। मैं चूसने लगी। पूरा कमरा मेरी सिसकारियों और आहहहहहहहहहआहहहहठह… आहहहहहहहहहहहहहहहहह… से गूंजने लगा। उसका लंड मेरी चुत के पास था तो मैं नीचे से कमर हिला के अपनी चुत उसके लंड पर रगड़ने लगी। अब मुझसे बर्दास्त के बाहर था। मैंने कहा कि भाई अब देर मत करो, मत तड़पाओ। अब चोद दो मुझे। अपना मोटा लंड मेरी चुत में डालकर चोद दे मुझे। (दोस्तों आप यह कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

 

फिर भाई नीचे जाकर अपना लंड मेरी बुर पर लगाया और और जोर का धक्का मारा मैं रोज डिल्डो से अपनी चुत चोदती थी इसलिए उसका लंड एक ज्जतके मे मेरी चुत में समा गया। अब वो जोर जोर से चोदने लगा।

 

मेरे मुह से अब हाययययय, ओहहहहहहह… हायययययययय हाय्य्य्य्य्य्य्य्यय, ओह्ह्हहहहहहहहह की आवाजें निकलने लगी।  दोस्तों अब मैं जोर जोर से गांड ऊपर उछालने लगी। और लंड को अंदर बाहर करने के लिए धक्के देने लगी।

 

निचे से मैं गांड उठा रही थी और ऊपर से वो दनादन पेल रहा था। मेरी चुत पानी पानी हो चुकी थी इस कारण चुत से फच्चच फच्चच  की आवाज से पूरा कमर गूंज रहा था। मैं उसको अपने बाहों में जकड़ी थी और पैरों को कैंची बना के दबाई हुई थी। वो मेरी मोटी गांड को नीच से पकड़ हुआ था

 

और जोर जोर से लंड को अंदर बाहर कर के चोदे जा रहा था। मैं एक बार झड़ चुकी थी।

 

अब मैं उसके लंड पर चुत रखकर बैठ गई और दनादन चोदने लगी

 

फिर उसने मुझे ऊपर किया और खुद लेट गया और लंड को रॉड की तरह खड़ा करके बोला बैठ जा इस खम्भे पर मेरी रंडी दी। मैं उसके लंड पर चुत रखकर बैठ गई। लंड धीरे धीरे कर के मेरे चूत के अंदर पूरा समा गया। मैं एक मिनट तक ऐसे ही बैठे रही फिर मैं ऊपर निचे होकर चोदना शुरू कर दी।

 

मैं उसके ऊपर थोड़ी झुकी हुई थी। मेरी चुचियाँ लटक रही थी। वो मेरी चूचियों को पकड़ के मसल रहा था। और अब वो भी झटके से कमर उठा के  मेरे चूत में धक्के देने लगा। अब मैं और जोर जोर ऊपर निचे होने लगी। वो मेरी चूतड़ में जोर जोर से थप्पड़ मार रहा था। अब वो मुझे गालियां भी देने लगा। सालि तू तो बहुत बड़ा रंडी निकली। अपने भाई की लंड से चुदवा रही।, मैं भी कहा कम थी मैं भी पूरे जोश में।थी और उसे गालियां देने लगी।  की साला हरामी बहनचोद अपनी बहन को।चोदता है, साले अपनी दी को चोदेगा। तू तो साला बहुत हरामी निकला रे मेरे भाई।  तू बहूत कमीना निकला। तू तो अपनी बहन के चूत को भी नहीं छोड़ा, साला अपनी बहन को चोद दिया। बहनचोद है तू।

 

हम जितना एक दूसरे को  गालियां दे रहे थे।  उतना ही जोश बढ़ रहा था। और मैं तभी एक बार फिर से झड़ने लगी। मेरी चुत ढेर सारा पानी छोड़ दिया।

 

और अब मेरा भाई मेरी गांड मारने लगा

 

फिर उसके बाद मैंने कहा मैं थक गई अब तुम चोदो। तो उसने मुझे घोड़ी बना दिया। और कहा कि दी अब आपकी मैं गांड मारूंगा। मैं भी अब तक कई बार झड़ चुकी थी तो।मेरा भी चुत जवाब दे रहा था। इसलिए मैंने भी कहा कि हाँ भाई अपनी दी कि गांड मार ले अपने मोटे लौड़े से। (दोस्तों आप यह कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

Antarvasna Hindi English sex stories

और फिर वो पीछे से मेरे गांड में अपना लंड डालने लगा। लेकिन मुझे गांड में बहुत दर्द हो रहा था. इसलिए मैंने कहा भाई तुम्हे चूत जितनी मर्जी चोदनी है चोद ले पर गांड मत मार। फट जाएगी मेरी गांड। मैं बर्दास्त नहीं कर पाऊंगी।  पर बहनचोद वो कहा मानने बाला था, वो तो मानो हबसी बन चुका था। फिर उसने अपने लंड में ढेर सारा थूक लगाया और मेरी गांड पर भी थूका और एक उंगली से गांड के अंदर थूक लगाने लगा। मुझे उंगली से भी दर्द हो रहा था लेमिन बर्दास्त कर रही थी। और फिर उसने लंड हैंड के छेद पर लगाया। और मेरी कमर पकड़ के जोर का धक्का मारा और अपना लंड मेरे गांड में पूरा घुसा दिया।  मुझे बहुत दर्द हो रहा था। फिर वो 1।मिनट बिना हिले रुके रहा। फिर वो चोदना शुरू किया कुछ देर बाद मुझे अच्छा लगने लगा। अब मेरे मुह से फिर से आहहहहहहहहहहहहहहहह…….हहहहहहहहहहहहहहहहह….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह ….आहहहहहहहहहददददद…. आहहदददझहठह आहहहहहहहहहहहहहहहहह निकलने लगी

 

मैंने कहा भाई मेरे चुत में बहुत जलन और दर्द हो रहा है रहमनकर अब छोड़ दे मुझे।

 

करीब १० , 12 मिनट गांड मारने के बाद, उसने मुझे फिर से लिटा दिया। और मेरा दोनों पैर अपने कंधे पर रख लिया और दोनो जांघो को सटा दिया, और फिर से मेरे चूत में लंड डालकर चोदने लगा। मुझे दर्द होने लगा था मेरी चुत में अब जलन होने लगी थी। मैंने कहा भाई मेरे चुत में बहुत जलन और दर्द हो रहा है रहमनकर अब छोड़ दे मुझे। मैं तेरी लंड चूसकर पानी निकाल दूंगी। मैं अब और नहीं चुद पाऊँगी। मुझमें अब शक्ति नही है। तू घंटो से मुझे चोद रहा है। उसने कहा साली रंडी अभी कहा अभी तो मैं जोश में ही आया हु, मुझे आज पूरा मजा लेने दे और वो जोर जोर से चोदने लगा।

 

फिर करीब 10 मिनट बाद आहहहहहहहह ….आहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहआह करते हुए मेरे चूत में ही अपना सारा वीर्य डाल दिया और मेरे ऊपर निढाल हो गया।

 

फिर करीब 5 मिनट बाद वो 69 की पोज में आ गया और अपना लंड मेरे मुह में दे दिया।  और मेरा चूत वो चाटने लगा। हम दोनों एक दूसरे के चूत से और लंड से निकले हुए सारे पानी को चाट गए। और फिर दोनों एक दूसरे को पकड़ कर नंगे ही एक दूसरे के बाहों में सो गए।

 

फिर जब उसकी नींद खुली तो मुझे चोदने लगा। उस रात वो मुझे 5 बार चोदा सुबह 9 बजे तक। मेरी चूत और गांड दोनों सूज गया था। और मुझे बहुत दर्द हो रहा था। चुत गांड दोनों में जलन हो रहा तह। पर इस चुदाई ने मेरी जीवन बदल दी मुझे मजा भी बहूत आया।

 

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी भाईबहन की चुदाई की कहानी।

 

बताना जरूर।।

Tag: भाई बहन की चुदाई

जवान बहन की जवान लंड से चुदाई

Brother sister sex stories

बहन की चुदाई

बहन की रसीली चुत

100% LikesVS
0% Dislikes

4 thoughts on “रजाई के अंदर भाई ने मेरी चुत चोद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *