डॉक्टरनी एक मजदूर लड़के से चुदवा के प्रेग्नेंट हो गई

हाय दोस्तों कैसे हो आपसब। यह मेरी चुदाई की सच्ची स्टोरी है। हां बिल्कुल मेरी जींदगी की सच्ची कहानी।

मेरा नाम जन्नत कुरैशी है।  और में एक डॉक्टर हूँ।  मै एक मिडिल क्लास परिवार से हूँ और डॉक्टर बनने के लिए जी तोड़ मेहनत की पढ़ाई पर ध्यान लगाया। और फाइनली मैं एक डॉक्टर बन गई। अभी मैं एक प्राइवेट क्लीनिक खोल रही हूँ। जो मेरा अपना एक खाली पड़ा हुआ घर है।

 

 मेरी उमर 28 साल हे और मेरी हाईट 5 फिट 4 इंच है छरहरी काया। 34 के गांड 30 के बूब्स और 26 कि पतली कमर है।

 

मेरे चुतड बहोत ही बड़े दिखते है क्योंकि मेरी कमर बहुत पतली है। मेरा रंग एकदम दूध की तरह सफेद है।  और लोग मुजे मल्लिक्का शेरावत कहते हैं।

 

तो मैं अपने क्लीनिक खोलने के लिए घर को साफ सफाई करवाना चाहती थी

 

कैसे मैं एक मजदूर जवान लड़के से चुद के प्रेग्नेंट हो गई

 

तो मैं ब्लैक कलर की शर्ट और ब्लू जीन्स पहनी और कार लेकर उधर निकल गई जहां मजदूर मिलते थे।

 

मैं वहाँ पहुंची तो मुझे बहुत सारे मजदूरों ने घेर लिया और सब बोलने लगे के मैडम मुझे ले चलिए। तभी मेने देखा एक सांवला लड़का करीब 18, 19 साल का पीछे है वो चुपचाप देख रहा था। उसे बोला कि तुम भी काम करने केलिए खड़े हो तो वो हाँ में सर हिलाया। मेने उससे कहा कि ठीक है चलो गाड़ी में बैठो। वो खुश हो गया और आके बैठ गया।

(प्रिय पाठकों ये डॉक्टर मजदूर की चुदाई की कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

हम लोग क्लिनिक पे पहुँचे।  मैं शर्ट उतारी और हेंगर में लगा दी। और जीन्स भी उतार कर शॉर्ट्स पहन ली। अब मैं सिर्फ बनियान और शॉर्ट्स में थी। जिसमे से मेरे बड़े बड़े बूब्स दिख रहे थे। और में समान को हटाने लगी वो भी मेर हेल्प करने लगा।  वो मेरे बड़े बड़े गोर बूब्स और मेरी मोटी गांड को बार बार  घुर कर देख रहा था। आखिर वो अभी अभी तो जवानी की दहलीज पर कदम रखा था।  मैने तिरछी नजर से देखा तो उसके पैंट में उसका लंड खड़ा हो गया था। पर मैने उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया फिर में कुछ लेने के लिए निचे जुकी तो मेरी बड़ी गांड और चौड़ी हो गई तो उसने धीरे से आगे आ आया और अपना लंड मेरे मोटे चूतडो के बिच में मेरी गांड में रगड़ दिया और में जोर से चीख उठी ओऊऊऊठहठहदमममाम्मामआआन्नन

Doctor sex

उसका खड़ा लंड मेरी गांड पे टच होने लगा।

 

वो डर गया और बोला माफ करना मैडम वो गलती से टच हो गया था।  तो मैने कहा की कोई बात नही। फिर हम काम करने लगी उसे जब भी मौका मिलता वो मेरी गांड को टच कर देता। अब तक वो 4,5 बार ऐसा कर चुका था। लेकिन मैं भी कोई रिएक्ट नही की।  तो अब उसकी हिम्मत और बढ़ गई।

 

आब वो मेरे पास आ कर खड़ा हो गया और उसका खड़ा लंड मेरी गांड पे टच होने लगा।  दोस्तों मैं 3 साल पहले चुदी थी उसके बाद से मुझे लंड नही मिला था। इसलिए उस सांवले दुबले लड़के का लंड का एहसास पा के मुझे भी अच्छा लग रहा था। उसकी लंड बहुत सख्त था उस के लंड की गरमी मुझे मेरे कपडे के ऊपर से भी महसूस होने लगी थी। अब मैं भी मजे लेने लगी और मैने अपनी गांड को और भी पीछे किया तो उसका लंड मेरी गांड में घुस गया और में ऐसे ही अंजान बन के काम करती रही। वो भी समझ गया था की मुझे भी मजा आ रहा है तो उसने धीरे धीरे अपनी कमर को हिलाना शुरू कर दिया और उसका लंड मेरे गांड के दरार में जा रहा था और मैं भी अब गरम होने लगी। 3 साल बाद मेरे अंदर ऐसा उबाल आया था।

 

मैने उससे पूछा की तेरा नाम क्या है, तो उसने कहा की मेरा नाम उमेश है। तो मैने कहा की उमेश तेरा ये छोटा सा बाबू मुझे बहुत परेशान कर रहा हे देख वो मेरे बिल में घुसा जा रहा है। तो वो बोला की मेडम ये बाबू नही पूरा मर्द है जो आपके बिल में घुसना चाहता है। फिर मैने कहा की दिखा तो तेरे मर्द कैसा है। वो झट से अपना पेंट निकर सहित नीचे कर दिया।

 

मैने कहा की उमेश तेरा लंड इतना तगड़ा कैसे है

 

मैं तो घबरा गई मेरी आँखे फ़टी की फटी रह गई।  और मेरा गला भी सुख गया उस 18 , 19 साल के बच्चे का लंड 8 इंच का बड़ा और ४ इंच तक मोटा था।

 

में तो डर ही गई क्योंकि इससे पहले इतना बड़ा और मोटा लंड मैं नहीं ली थी। और पिछले 3 साल से भी मैं नही चुदी थी।  वो मेरी तरफ मुस्कुरा के बोला के क्या हुआ मैडम जी। तो मैने कहा की उमेश तेरा लंड इतना तगड़ा कैसे है, तो वो बोला की पता नहीं मैडम बस है। इसमें मैं क्या करूँ। तो उसने मेरे मुलायम हाथ को पकड़ा और अपने सख्त लंड पे रख दिया जाहिर था वो पहले भी चुत छोड़ चुका था। नया खिलाड़ी नही था।  और फिर मैं उसका लंड पकड़ के आगे पीछे करने लगी। (प्रिय पाठकों ये डॉक्टर मजदूर की चुदाई की कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

तो वो मुझ पर टूट पड़ा और मुझे पागलो की तरह किस करने लगा। वो मेरे गुलाबी होठो को चूस रहा था और काट रहा था और में सिसकिया ले रही थी आह्हहहहहहहहहहहहहहहहह……. अहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. महामममममममममम्मममम्ममम्मदददहमहम्मह्महम अहहहहहहहहह…… उमेश आह्हहहहहहहहहहहहहह…….अमम्ममममममममममम… अहहहहहहहहहहहहहहहहः मम्ममम्ममम्मममहमहमहमहमहमह…..ओह्ह्हहहहहहहहह….. धीरे  प्लीज मैं अपना कपड़े उतार दी और उसके कपड़े भी उतार दिए अब हम दोनों बिल्कुल नंगे हो चुके थे।

इतना लंबा और तगड़ा लंड तो किसी बड़े मर्द का भी नही होता है।

मेने कहा उमेश तुम बहुत स्मार्ट हैंडसम हो। तो उसने भी झट से वो मेरी गर्दन को चूमते हुए बोला मैडम जी आप भी बहुत खूबसूरत बहुत सेक्सी हो। इतनी खूबसूरत तो कोई हीरोइन भी नही है।

Sex Hindi

तो मैने कहा की उमेश इतना लंबा और तगड़ा लंड तो किसी बड़े मर्द का भी नही होता है। तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है। फिर मैं अपने घुटनों पर बैठ गई और उसका मोटा लम्बा लंड चूसने लगी लेकिन में उसका एकदम थोडा सा लंड मेरे मुह में ले पा रही थी क्योंकि वह बहोत ही मोटा था। तो उसने मेरे बाल पकड के एक जोर का ज़टका दिया तो उसका पूरा लंड मेरे मुह में चला गया जो मेरे गले से भी नीचे तक घुस चुका था। मेरे आँख में से आंसू निकल आये और मुजे खासी भी आने लगी और वो बिना रुके मेरे मुह को पागलो की तरह चोदने लगा था। लेकिन 5,7 मिनट चोदने के बाद उसका लंड गर्म पानी मेरे मुह में छोड़ दिया जो मुझे ना चाहते हुए भी निगलना पड़ा। और अब वो शांत हो गया।

 

फिर मैं बड़े से टेबल पर लेट गई। अब उसके सामने मेरा गोरा भरा हुआ नंगा बदन था। वो सब से पहले मेरे बूब्स को बहुत जोर जोर से मसलने लगा वो मेरे बूब्स को ऐसे निचोड़ रहा था की जैसे वो संतरा हो और मेरे गिरे गोर बूब्स अब लाल हो गये थे।  मुझे दर्द हो रहा था फिर उमेश मेरी चुचियों को  चूसने लगा तो में जेसे की जन्नत में पहुच गई। मैं  सिसकियां लेते हुए बोली के आह्ह्ह उमेश कम ओन बेबी अहहहहहहहहह…. हाहाहहहहहहहहह… ओह्ह्हहहहहहहह…. अहहहहहहहह ओह्ह्ह उम्म्म्ममम्ममहमहमह… मम्मी अहह्ह्ह अम्मम्ममहमहठहम्मम्मदहठहठठहद…

 

फिर वो मेरी गोरी गोरी मोटी जांघो को चूमने चाटने और जोर जोर से मसलने लगा और फिर वो धीरे धीरे मेरी फूली और गुलाबी चिकनी चूत पर आया। जैसे ही उसने जीभ लगाई में तो चहक उठी उईईईईईईईईईमममममममानानानांनानंई माआआअमममझहठह आऔउकककुकुहूदऊऊच्चचककच. वो बोला की मैडम जी तेरी चूत तो मख्खन की तरह मुलायम है। मैं भी झट से बोली के तेरा लंड भी तो लोहे की गरम लाल रॉड की तरह है। उमेश मेरी चूत को पागलो की तरह चाट रहा था। और करीब 10 मिनट चुत चाटने के बाद मैं झड़ गई। उमेश मेरी चूत का रस पि लिया।  अब उसने आपने लंड पे थूक लगा के मेरी चूत पर रखा और रगड़ने लगा। और लंड को मेरी चुत पर पटकने लगा। मेरी चुत का दाना पूरा मोटा होकर लाल और बाहर आ गया था। फिर वो अपना लंड मेरी चुत के छेद पर लगाया। तो मैने कहा उमेश तुम्हारा लंड बहुत बड़ा और मोटा है इसलिए आराम से मेरी चुत में डालना।

 

18 साल के मजदूर लड़के से चुद के एक डॉक्टरनी प्रेग्नेंट हो गई

 

उसने कहा की ठीक है मैडम जी।  फिर  उसने मेरी कमर को कस के पकड लिया और कुत्ते ने बहुत बेरहमी से जोर से ज़टका मारा और उसका आधा लंड मेरी गीली चूत को चीरते हुए घुस गया।

Antarvasna Hindi Sex Stories

मैं चीख उठी उसका लंड सच मे मेरी चुत बर्दास्त नही कर पाया। मैं तो जेसे दर्द की वजह से मरी जा रही थी मेरे आंखों से आंसू निकलने लगे और जोर से चीख पड़ी आह्ह्ह आह्ह अमम्म्महहहह ममीईईईईइमिईई मर गई और उसने देखा की मुझे दर्द हो रहा है तो उसने जोश में आके एक और ज़टका मारा और उसका 8 इंच लंबा लंड मेरे चुत को फाड़ते हुए पूरा अंदर घुस गया में रोने लगी और उसको बोला प्लीज़ उमेश निकाल दो लंड मुझे बहुत दर्द हो रहा है।

वो पागल हो गया था और गुस्से से बोला चुप कर साली क्या माल है तू, मुझे तेरे जेसा माल 7 जन्म तक नहीं मिलेगा आज तो तेरी चूत को जम के चोदूँगा।  और उसने अपनी स्पीड तेज कर दी और मेरे ऊपर चढ़ गया और वो बहुत तेज तेज ज़टके मारने लगा और मेरे तो आंसू रहे थे लेकिन थोड़ी देर बाद मुझे मजा आने लगा। और मैं चिल्ला रही थी अहहहहहहहहहहहहहहअह्ह्हहहहहहहहहहहहहहह…. अम्मंमममममम आयईईईईईई माणांनानानNअण्णा   अमम्मममम्मदहम अहहहहहहह्ह्ह उम्म्म्मममम्मदहठहमम्मीईइ  चोदो उमेश जोर जोर से चोदो।   मेंरे पुरे क्लिनिक में मेरी चीखे गूंज रही थी।

 

और वो मेरे चूतडो पे जोर जोर से थप्पड़ मारते हुए मुझे जानवर की तरह चोद रहा था।  करीब आधे घण्टे चोदने के बाद उसकी स्पीड बहोत तेज हो गयी और वो मेरी चुत में ही झड़ गया। उसने अपना पानी मेरी चूत में ही छोड़ दिया। और हाँफते हुए मेरे ऊपर आ के लेट गया। हम ऐसे ही पड़े रहे। वो बोला मैडम जी तू तो बहुत मस्त है। (प्रिय पाठकों ये डॉक्टर मजदूर की चुदाई की कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

अब फिर से उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया और फिर से हम 1 घंटे तक चुदाई किए। फिर तो उस दिन पूरा दिन बस चुदाई ही करते रहे गए। काम कुछ भी नहीं हुआ।

 

फिर मैं उसे बोली कि कल भी तो काम करना है तो घर कॉल करके बोल दो की आज नही आएंगे जहाँ काम कर रहे हैं कई दिन का काम है तो यही रुक रहे हैं। फिर उसने कॉल करके बात दिया। और मैं उसे अपने घर ले गयी। फिर जब रात मेरी माँ पापा सो गए तो मैं उमेश को अपने कमरे में ले आयी और रात भर चुदी। हम अगले कई दिन तक चुदाई करते रहे।

 

उसके बाद मेरा अगला पीरियड मिस हो गया। तो मैं और एक सप्ताह इंतजार की लेकिन मेरा पीरियड नही आया तो नाइ घबरा गई। और मेडिकल जाकर प्रेगनेंसी किट लाई, और घर आकर चेक किया तो पॉजिटिव था।

 

फिर मैं अपने एक दोस्त को कॉल की जो डॉक्टर ही थी। और अगले दिन उसके क्लीनिक गई और अपना अबॉर्शन करवाया।

 

तो ये थी मेरी चुदाई की कहानी।

 

तो एक डॉक्टरनी की मजदूर लड़के से चुदाई की कहानी कैसी लगी। कमेंट करके मुझे जरूर बताना।

Tag: Doctor sex

मजदूर का कड़क लण्ड

देहाती लड़का

शहर की चुत

अमीर चुत की चुदाई

67% LikesVS
33% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *