बस के सफर में सेक्सी औरत के प्यासी चुत को चोद दिया

मेरा नाम नितिन है। मैं देहरादून से हूँ। मैं एक कम्पनी मे मार्केटिंग का काम करता हूँ। इस वजह से मुझे अक्सर बाहर जाना पड़ता है। तो मैं कम्पनी के काम से दिल्ली गया था। और वहाँ से काम खत्म करके देहरादून वापस जा रहा था। मैंने बस का टिकट बुक कर लिया। मेरी बस रात की 10 बजे की थी। ठंड का मौसम था तो मैं खाना खाया और होटल से चेकआउट करके टैक्सी से बस स्टैंड पहुँचा। और बस का वेट करने लगा।

 

मैं इधर उधर देख रहा था कि अचानक मेरी निगाह थोड़ी दूर पर खड़ी एक खूबसूरत महिला पर पड़ी। वह बहुत सेक्सी लग रही थी जीन्स के ऊपर रेड रंग की जैकेट पहनी हुई थी। बेहद गोरी उसकी गांड बिल्कुल गोल मटोल किसी साँचे में ढली हुई थी। उसकी बूब्स भी बड़े साइज के बिल्कुल टाइट दिख रहे थे। मैं तो उसे देखते ही रह गया। फिर उसकी नजर मुझपर पड़ी और हमदोनो फिर एकटक एक दूसरे को देखे लेकिन तभी मुझे लगा वो गुस्सा कर रही है। तो मैं नजरें हटा लिया। लेकिन मेरे से अब रहा नही जा रहा था तो एक दो बार और देखा वो भी अब मुड़ के मुझे कभी कभी देखने लगी। और फिर मैं स्माइल दिया। लेकिन वो गुस्सा हो गई। फिर मैं उसे इग्नोर करने लगा लेकिन अब वो बार बार मुझे देख रही थी। फिर जब हमारी नजरें मिली तो वो इशारा की की वो अपने हस्बैंड के साथ है।

तब मैं समझ गया कि उसका हस्बैंड उसके साथ है इसलिए वो ऐसे की। फिर कभी कभी हम एक दूसरे को देखकर स्माइल देने लगे। फिर वो बस का इशारा की की बस में बात करेंगे।

 

थोड़ी देर में हमारी बस आ गई और हम बस में बैठ गए लेकिन हमारी सीट अलग अलग थी। उसका हस्बैंड उसे बस में बैठा के वापस चला गया।

 

बस वहां से चल दी। फिर वो मेरे पास आई और मेरे बगल में बैठी एक बुजुर्ग महिला को बोली कि मैडम आप मेरे सीट पर बैठ जाइए। ये मेरे हस्बैंड हैं हम साथ मे बैठ जाएंगे। तो वो महिला मान गई और उसके सीट पर जाकर बैठ गई।

 

फिर मैंने उसे हाय बोला। और बोला कि तुम बहुत खूबसूरत के साथ शातिर भी हो मुझे हस्बैंड बना के सीट ले ली। वो हस दी फिर मैंने अपना इंट्रो दिया और बोला कि तुम बहुत खूबसूरत और हॉट हो जबसे तुम्हे देखा हूँ। मेरा मन बार बार तुम्हे ही देखने का कर रहा है। तो वो बोली कि इसीलिए तो तुम्हारे पास आ गयी अब जी भर के देख लो। फिर उसने भी कहा कि तुम भी बहुत स्मार्ट और हैंडसम हो। तुम्हे देखकर कोई भी लड़कीं दीवानी हो जाएगी।

 

बस में सफर में बैठे बैठे वो चुद गई

उसका नाम स्वीटी था। वो देहरादून यपने मायके जा रही थी। उसका हस्बैंड दिल्ली में जॉब करता है। फिर उसने कहा कि तुम तो बड़े हिम्मतवाले हो मेरे हस्बैंड के सामने ही मुझे लाइन मार रहे थे। मेने भी कह दिया कि इतनी हॉट सेक्सी लड़की के लिए थोड़ा रिस्क तो लेना बनता है। वो तो फिदा हो गई मेरी इन बातों पे।

 

और फिर हम एक दूसरे को किस करने लगे। बस  में अंधेरा था और ठंढी की मौसम के कारण सब दुबके पड़े थे ब्लैंकेट में तो हम बेफिक्र थे। फिर हम 10 मिनट तक एक दूसरे को किस करते रहे इस दौरान मैं उसकी बूब्स को भी दबा रहा था। फिर वो अपना जैकेट उतार दी और टॉप ऊपर करके अपना ब्रा का हुक खोल दी और बिना टॉप उतारे ही वो ब्रा निकाल दी अब मैं उसकी बूब्स को मुंह मे लेकर चूसने लगा। और उसे उठाकर अपनी पैरों पर गोद मे बिठा लिया और जोर जोर से उसकी बूब्स चूसने लगा। वो भी मेरे सर में उंगलिया फिराने लगी। उसके बूब्स बहुत टाइट थे। ऐसा लग रहा है जैसे उसकी चुचियाँ अभी अनछुई हो।

Sex Stories

उसके मुँह से आआआ हहहहहहहहहहःहाआआठहठहहाहा आआआ हुम्म्म्ममममममममम्म आहहहहहहहहहहहहह आअ चुसो मेरे बूब्स को खा जाओ इसे। पी जाओ मेरी बूब्स की दूध निचोड़ के। मेरा हस्बैंड काम में बिजी रहता है वो कभी चूसता भी नही ।ेरे बूबस्सस आहहहहहहह चुसो जोर से।

फिर मैंने उसके एक जीन्स के जीप को खोलने लगा लेकिन नही खुल रहे थे। तो वो खड़े होकर अपना जीन्स का बटन और जीप खोलकर घुटनो तक सरका दी। अब मैं उसके पैंटी में हाथ डालकर उसकी चुत में।उंगली डालने लग वो तड़पने लगी और जोर जोर सीए सस्सीईईईईईईईईई सस्सीईईईईईईकीईईई करने लगी। और अपना पैर फैला दी।

 

 

वो मदहोश होने लगी और कहने लगी मेरा हस्बैंड कभी ना मैं बूब्स चूसा ना ही मेरी चुत में उंगली डाली। वो सीधा लन्द डाल के हिला के सो जाता है। मुझे बहुत मजा आ रहा है करो और तेज तेज। तुमने आज मुझे चुत और बूब्स का असली मजा दिया है। मुझे जन्नत का सैर करवा दिया तुमने।

 

 

अब वो मेरे लंड को पैंट के उपर से ही अपने हाथ से रगड़ने लगी। औ कानों में धीरे से बोली कि अपना पैंट उतारो नीचे करो। मेने भी बेल्ट ढीला किया और बैठे बैठे ही पैंट नीचे कर दिया इस दुरण वो भी अपना पैंटी नीचे कर चुकी थी।

 

फिर वो मेरे  लंड को अपने हाथ में लेते ही चकित हो गयी और बोलयी ओह्ह माय गॉड इतना बडा लंड तुम्हारा है। ये तो बिल्कुल लोहे की तरह सख्त है। मैं अपने जीवन म कभी इतना मोटा लंड नही देखी।  और फिर उसने पूरा लंड अपने मुह में लिया और चूसने लगी क्या मस्त चुस रही थी।  जैसे बरसो से लंड की भूखी हो। पूरा निगल जा रही थी लंड को। इस दौरान मैं भी उसके चुत में।फिंगरिंग करता रहा और फिर वो झड़ गयी।

 

अब देर मत करो चलो चुदाई करते हैं

 

फिर भी वो लगातार मोन किए जा रही थी। . अहहहहहाआ आआआआआ ह्म्म्मम्म्म्म आआआआआ ओह्ह्ह्हह्ह इ लव यू नितिन आई लव यू।

Antarvasna Hindi sex stories

फिर वो बोली कि अब देर मत करो चलो चुदाई करते हैं। फिर वो एक पैर से जीन्स और पैंटी निकाल दी और मेरे खड़े लन्ड को अपनी चुत पर सेट करके बैठ गई। लंड उसकी चुत को चीरता हुआ उसके बच्चेदानी तक जा पहुँचा था। वो कसमसा गयी। उसे दर्द भी हुआ।

 

फिर वो 2 मिनट ऐसे ही लण्ड डेल पड़ी रही और फिर हिलने लगी। और जोर जोर से मेरे लन्द पर कूदने लगी मैं उसके चुचियों को मुंह मे लेके पी रहा और अपनी बाहों में भरा हुआ था। अब हम दोनों को बहुत मजा आने लगा था।

वो मदहोश होने लगी. आआआआ जाआआनूऊऊऊ हुम्म्मम्म्म्मम्म आआआआ हाहाहाहठठाहहहहहह फुकफूकफूकफ़क मी नितिन। क्या मस्त चुदाई करते हो तुम। क्या मस्त लण्ड है तुम्हारा।  तुम्हारे लंड की दीवानी हो गयी मैं तो। आआआआहहहहहहहहहहहहह….

 

करीब आधे घंटे तक वो ऐसे ही मेरी लंड पर उछल कूद करती रही। इस दौरान वो 4 बार झाड़ चुकी थी। वो जीवन में पहली बार ओर्गास्म हासिल की थी। इससे पहले वो चरमसुख का आनन्द कभी नहीं उठा पाई थी। फिर मैं भी उसके चुत के अंदर ही झड़ गया। लेकिन जैसे ही वो हटी उसके चुत से मेरे लंड का वीर्य और उसकी चुत का रस मिल के बाहर टपकने लगे। फिर वो एक तौलिया से साफ की। यपने चुत को भी और मेरे लंड को भी।

 

स्वीटी बहुत ही खुश हो गयी और बोली थँक्स नितिन आज तुमने मुझे पूरा एन्जॉय करवाया। चुदाई के असली मजे का एहसास दिलाया। मुझे एक साथ 4 चरमसुख दिलाया। जो आज तक कभी मेरे पति ने मुझे नही दिया। मैं अब तुमसे हमेशा चुदवाउंगी।

 

वो बताई की उसका हस्बैंड नही चोद पाता है बस 2, 4 झटकों में लुढ़क कर सो जाता है।

 

तो कैसी लगी मेरी बस की चुदाई की कहानी

Tag: बस में चुदाई

चलती बस में चुत की चुदाई

अजनबी भाभी की चुदाई

लंड की भूखी भाभी की चुदाई

अनजाने में मिली चुत

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *