आर्मी ऑफिसर की चूत की हवस

 62 

आर्मी ऑफिसर कैप्टन पूजा की चूत की हवस

हेलो दोस्तों कैसे हो आप सब, उम्मीद करता हूं सब अच्छे होंगे। दोस्तों मेरा नाम अनिकेत है और प्यार से लोग मुझे बाबू बुलाते हैं। मैं झारखंड के धनबाद का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 22 साल है और मै एक एनसीसी कैडेट हूं।

वैसे तो मैं आर्मी वालो का बहुत सम्मान करता हूं, लेकिन आर्मी वालों के पीछे एक स्याह काली दुनिया भी है, और वह दुनिया है चूत की प्यास और लंड की भूख। चाहे आर्मी वालों की पत्नियों की बात हो या आर्मी में लेडी ऑफिसरों की। सभी चूत चुदवाने के लिए तरसती रहती है, और चूत से पानी टपकते रहती है। इसका कारण ये हैं की आर्मी वालों की बीवियां अकेले रहती हैं उनके हसबैंड को साल में एक दो बार बड़ी मुश्किल से छुट्टी मिलती है, और वो भी मात्र 10, 20 दिनों के लिए। वहीं जो महिलाएं आर्मी में हैं उनको भी सालों छुट्टियां नही मिलती और वे अपने हसबैंड से दूर रहती हैं। इसीलिए वे हमेशा चुदासी बनी रहती हैं। लेकिन यह वाकया भी एक आर्मी ऑफिसर लेडी कैप्टन और मेरे बीच चुदाई की है।

लेडी कैप्टन पूजा मेरे एडवेंचर टूर के बदले कैसे अपनी प्यासी चूत की आग मेरे लंड से बुझवाई

दरअसल यह घटना 6 महीने पहले की है जब मुझे और बहुत सारे कैडेट्स को श्रीनगर के एक आर्मी ट्रेनिंग कैंप में भेजा गया था, हमें वहां 3 महीने की कड़ी ट्रेनिंग करनी थी।

दोस्तों मैं https://nightqueenstories.com/ का नियमित और पुराना पाठक हूं,इसलिए मैं जानता हूं की चूत वालियों और लंड वालो को क्या चाहिए, और इसीलिए मैं अपनी सच्ची घटना को आपसब तक पहुंचाने का फैसला किया।

मुझे पूर्ण विश्वास है कि इस कहानी को पढ़ते समय और उसके बाद महिलाएं अपनी चुत में उंगली जरूर करेंगी और लड़के मुठ मारकर अपने लंड का चोखा बना देंगे। यह कहानी मेरी NCC यूनिट की कैप्टन मैडम के साथ हुई घटना है। मैडम का नाम पूजा देसाई है, और उनकी उम्र 28 वर्ष है और अभी उनकी श्रीनगर में पोस्टिंग है। दोस्तो, जैसा की आप सब जानते हैं आर्मी वालों की फिटनेस का तो आपको पता ही होगा, आप अन्दाजा लगा सकते हो कि किस तरह वो अपनी बॉडी का ध्यान रखते हैं। मैडम की फिटनेस के आगे तो बॉलीवुड की हीरोइनें भी फीकी पड़ जाएं, उन्हें देख कर तो किसी मुर्दे का भी लंड खड़ा हो जाये, और सूखे लंड में पानी लबालब भर जाए। वह बिलकुल गोरी चिट्टी थी, उनकी फिगर का अंदाजा आप स्वतः लगा सकते हैं।

[adinserter name=”Video ad Banner”]

तो उसी दौरान मेरी यूनिट के 1 कैडेट्स को गुलमर्ग (कश्मीर) के लिए एडवेंचर कैंप के लिए सलेक्शन होना था, और सारे कैडेट्स मुंह बाए खड़े थे। मैं बचपन से यह सपना पाला हुआ था, की कश्मीर की वादियों में मैं घूमूं, और करीब से देखूं इसीलिए मैं जी तोड़ मेहनत कर रहा था की मेरा सलेक्शन हो जाए। मैं तो बस सुना और किताबों में ही पढ़ा था कि कश्मीर धरती का स्वर्ग है, क्योंकि मैं एक ग़रीब ग्रामीण परिवार से हूँ।

तो मैं मेहनत के अलावा सोचा क्यों ना अपने यूनिट के इंचार्ज कैप्टन पूजा से बात करूं। तो मैं एक दिन मौका पाकर उनके केबिन में मिलने चला गया। और मै अंदर आने की परमिशन मांगी, तो मैडम अंदर आने को कहा। फिर मैं जयहिंद बोला और सैल्यूट किया। फिर उन्होंने मुझसे पूछा और अनिकेत कैसे हो, तो मैं बोला ठीक हूं मैडम। फिर वो मुझसे पूछी की कैसे आना हुआ तो मैं बोला, मैडम यूनिट में गुलमर्ग(कश्मीर) का एडवेंचर कैम्प आया हुआ है। और बचपन से मेरा सपना है की कश्मीर के वादियों को नजदीक से देखूं। और मैं इस कैम्प में जाने के लिए बहुत ज्यादा इच्छुक हूँ और कड़ी मेहनत भी कर रहा हूं, और कुछ भी करने को तैयार हूँ। बस मुझे कैम्प में जाना है। और इसीलिए मैं आपसे निवेदन करने आया हूं, की मुझे इस कैंप में जाने का मौका दें।

मैडम- ओके, मैं बात करूँगी इस बारे में, तुम मुझे अपना कैडेट नंबर और मोबाइल नंबर लिख कर दे दो, और वह पेन और पेपर मेरे तरफ बढ़ा दी। मैंने लिखकर अपनी डिटेल्स मैडम को दे दी और थैंक्यू बोला।

और फिर मैं जय हिंद मैडम बोलकर उनके ऑफिस से बाहर निकला और सीधा अपने रूम आ गया। और इसी उधेड़बुन में रह रहा था की इस कैंप में मुझे जाने का मौका मिलेगा की नही। और रोज की तरह तीन दिन बीत गए, 2 दिन बाद कैंप के लिए जाना था और आज ही अनाउंस भी होना था की किसको यह सौभाग्यशाली बैज मिलता है।

मैं अपने रूम में आ चुका था और दिन के 2 बज रहे थे, तभी मुझे एक काॅल आया, कॉल पर कैप्टन पूजा थी, फिर उन्होंने बोला बधाई हो अनिकेत मैंने सर से बात किया और उन्होंने मेरी सिफारिश स्वीकार कर लिया तुम अगले 15 दिन के लिए एडवेंचर कैंप के लिए जा रहे हो, शाम को ऑफिशियली तुम्हारे नाम का अनाउंस भी हो जाएगा तब तक तुम यह बात किसी से मत बताना।

लेकिन अनिकेत, तुम्हारा नाम मैं 150 लोगों में से फाइनल करवाया हूं, इसलिए कैंप जाने से पहले तुम्हे मेरा एक काम करना होगा। तो मैं बोला, थैंक्यू सो मच मैडम, आप जो बोलोगी जो कहोगी मैं वो सब कुछ मैं करूँगा। आपने मेरा बचपन का सपना पूरा किया है।

मैडम- ठीक है, फिर तुम शाम 6 बजे मेरे घर आ जाना, मैं अपना एड्रेस तुम्हारे फोन पर सेंड कर रही हूं। क्या बताऊं दोस्तों मेरे मन में एक साथ लाखों लड्डू फुट पड़े थे। मैं बहुत खुश था इस कैंप को लेकर। मैं लफ़्ज़ों में बयां नहीं कर सकता, मुझे उस वक़्त कितनी खुशी हुई यह सुनकर कि मैं 15 दिन बाद कैम्प में जा रहा हूँ लेकिन मैं उस काम से अभी तक अनजान था जो मुझे मैडम करवाने वाली थी। लेकिन मैं बेफिक्र था की जो होगा काम कर देंगे। लेकिन दोस्तों यह कहावत है जब भगवान देते हैं तो छप्पर फाड़ के देते हैं।

फिर शाम को मैं रूम से निकला और पैदल ही जानें लगा मैडम का घर थोड़ी दूरी पर था, और 10 मिनट में मैं मैडम के घर पहुंच गया। मैंने ठीक शाम 6 बजे मैडम के क्वार्टर के दरवाजे पर था। मैं डोरबेल बजाया।

मैडम ने दरवाजा खोला वह एक झीन्नीदार ब्लैक रंग की आउटफिट पहनी हुई थी। जो उनके पूरे बदन को ढंक रही थी लेकिन वह बेहद टाइट और मैडम के बदन में बिलकुल चिपकी हुई फिट थी। उस ड्रेस में मैडम किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी। मैं तो उन्हे देखता ही रह गया था, फिर मैडम अंदर आने को कहा मैं अंदर गया और मुझे सोफे पर बैठने को कहा।

फिर मैडम मुझसे पूछी क्या पीना पसंद करोगे गर्म या ठंडा, तो मैं भी कह दिया ठंडा मुझे मजा नही देता मुझे गर्म पसंद है। फिर मैडम मुस्कुराई और जाने लगी, दोस्तों मैडम की करारेदार हिलती गांड देखकर मेरा तो लंड सलामी मारने लगा। उनकी काले रंग की जालीदार गाउन में से काले रंग की पैंटी में कसी हुई गांड गजब की सेक्सी लग रही थी। फिर मैडम किचन से विह्स्की की बोतल, 2 ग्लास और कुछ स्नैक्स लेकर आई। और पैग बनाने लगी इस दौरान मेरा ध्यान उनकी काले रंग की ब्रा में टाइट चुचियों पर ही अटका हुआ था, फिर मैडम ने 1 पेग मुझे ऑफर किया और 1 पैग खुद भी पीने लगी। हम पहले तो नॉर्मली बातें किए फिर मैडम खुलने लगी और अपनी पर्सनल लाइफ की बातें मुझसे शेयर करने लगी। उन्होंने मुझे बताया कि उनके हस्बैंड भी आर्मी में मेजर हैं और अभी उनकी कन्याकुमारी में पोस्टिंग है। मतलब एक छोर पर वो हैं और दूसरी छोर पर मैं।

आर्मी वालों की पोस्टिंग अलग- अलग जगहों पर होती रहती है इसलिए हम साल में बड़ी मुश्किल से 1 या 2 बार मिल पाते हैं वो भी हफ्ते,10 दिन के लिए। ऐसे में तुम खुद अंदाजा लगाओ की हम कैसे रहते हैं। हमारी तनहाई दूर करने का सहारा सिर्फ शराब ही है।

अनिकेत मैं अपने हसबैंड से 7 महीने से दूर हूं मेरी चूत में आग धधक रही है मेरी चूत की आग बुझा दो

मैं ज्यादा नहीं पिता था इसलिए मैं एक पैग को ही आराम आराम से पी रहा था, लेकिन इस बीच मैडम ने 3 पेग लगा लिए थे और अब हम दोनों पर शराब का नशा छाने लगा था। अब मैडम को देखने का मेरा नजरिया ही बदल गया था, मुझे उनकी झील सी गहरी आंखें, गुलाबी होंठ, उनके गोल मटोल चूचियां मानो कोई स्वर्ग की देवी जमीन पर उतर आई थी।

वैसे भी मैं जबसे उनकी करारेदार गांड देखा था मेरा लंड होश खो दिया था। मेरा तो जी कर रहा था अभी पकडूं और उनकी गांड को मसल डालूं। लेकिन मन में एक डर भी था की कहीं जल्दबाज़ी के चक्कर में कैम्प भी हाथ से निकल न जाए। मुझे अंदाजा तो हो गया था की मैडम चुदासी है और अपनी चूत का चटनी बनवाने के लिए ही मुझे बुलाई है। इसीलिए मैं चाह रहा था कि पूजा मैडम खुद पहल करें। और फिर मैडम मेरे पास आकर बैठ गई और बोली, अनिकेत मैं तुमसे एक फेवर चाहता हूं, प्लीज तुम माइंड मत करना, क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगे? प्लीज़ अनिकेत ना मत बोलना, तुम तो जानते हो कि मैं हस्बैंड से बड़ी मुश्किल से मिल पाती हूं, और पिछले 7 महीने से नहीं मिली हु, मेरी चूत में आग लगी हुई है, मैं पिछले 7 महीने से बिना पानी मछली की तरह प्यासी तड़प रही हूं। प्लीज आज तुम मेरी चुत को चोदकर भोसड़ा बना दो, मेरी चूत बहुत प्यासी है, अगर तुम मुझे अपने लंड का स्वाद दिला दिए तो तुम्हारे कैम्प जाने की गारंटी मेरी है। दोस्तों कहते हैं की बिना मांगे जो मुराद पूरी होती है वह लाजवाब होती है। आज सच में मेरे साथ भी वही हुआ था। क्योंकि मुझे कैम्प के साथ रसीली गर्म चूत की चुदाई तोहफे में मिल रहा था।

मैडम ने यह कहते हुए अपने एक हाथ से मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड मसलना शुरू कर दिया और एक हाथ से अपने चूचियां मसलने लगी, तो मेरा लंड और भी ज्यादा सख्त होने लगा जिसे मैडम ने नोटिस कर लिया था।

फिर वो मुझे अपने दोनों हाथों से खींचते हुए अपने बेडरूम में लेकर आ गई और मुझे बिस्तर पर धक्का देते हुए भूखी शेरनी की तरह मुझ पर टूट पड़ी। उसने मेरे होंठों से अपने गुलाबी होंठ चिपका दिए और जोर-जोर से किस करने लगी, इस बीच मैं उसकी पीठ पर हाथ घुमा रहा था, बीच-बीच में उसके चूचे भी जोर-जोर से मसल रहा था, जिससे उसको बहुत मजा आ रहा था। वह मुझे 10 मिनट तक किस की फिर मेरे सारे कपड़े उतारकर नंगा कर दी, और अपनी गाउन और ब्रा पैंटी भी निकाल दी। उसकी कड़क चुचियों पर मेरी निगाहें अटक गई।

दोस्तों कैप्टन पूजा बिलकुल जहर थी, क्या नशीला शरीर था, जैसे ऊपर वाले ने बिल्कुल फुर्सत में अपने हाथों से उन्हे बनाया हो। वह बहुत ज्यादा हॉर्नी हो चुकी थी फिर वह मुझे बिस्तर पर लेटा दी, और खुद मेरे ऊपर आ गई और होंठों से किस करने लगी। उसके इस तरह से किस करने से उसके चूचियां मेरी छाती से रगड़ने लगे, उसकी कड़क चूचियां जैसे चुभ रही थी। और मेरा लंड उसकी चुत को टच करने लगा था। दोस्तों सच में मुझे तो बहुत मजा आ रहा था, मैंने उसकी पीठ सहलाते हुए उसे किस कर रहा था। अब मैं उसको उल्टा किया और उसके ऊपर और वो मेरे नीचे आ गई जिससे उसके कड़क चूचियां मेरी आँखों के सामने आ गए, मैं उनको मुंह में लेकर जोर-जोर से चूसने लगा।

[adinserter block=”6″]

वो मस्त होती जा रही थी-सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई

आह्ह.. अनिकेत और ज़ोर से चूसो मेरी जान.. चूस लो आज मेरे चुचियों को, पूरा रस चूस लो आह.. इन्हें निचोड़ कर पी जाओ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआहह..

वो मेरा सिर अपने दोनों हाथों से अपने मम्मों पर दबाने लगी, उसके ऐसा करने पर मुझे और भी जोश आ गया और अब मैं उसके पूरे जिस्म को सहलाते और चाटते हुए उसकी चुत पर आ गया एक प्यारा सा चुम्बन किया और उसकी चुत के दाने को जीभ से रगड़ते चाटने लगा। वो सिहर गई और लगातार सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. चाटो अनिकेत चाटो मेरी चूत ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. बेबी बहुत मजा आ रहा है चाटो मेरी चूत,खा जाओ इसे, उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई करने लगी। फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. आआहह.. ऊऊऊ ईईईईसस ओह्ह यस अनिकेत.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… सक माय पुसी.. और ज़ोर से चाटो.. आआअहह..सक हार्ड उसकी यह बातें सुनकर मैं और जोश में आ चुका था। मैंने अपनी जीभ उसकी चुत पर धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करने लगा। साथ ही मैंने अपनी 2 उंगलियों को भी उसकी चुत में घुसेड़ दिया, जिससे वो चिल्ला उठी- आआआहह.. ऊऊऊईई ओह्ह . यसस्स अनिकेत.. सक माय पुसी हार्डर.. बेब।

मैडम बोली अनिकेत मैं तुम्हारे तगड़े लंड के लिए तड़प रही हूं अब जल्दी से अपना लंड मेरे चूत में पेल दो

उसके ऐसे चिल्लाने से मेरे में दुगना जोश आ गया और मैंने जीभ उसकी चुत के अन्दर तक फिराने लगा। वो जोर-जोर से मुझे गालियां देने लगी- आआहह.. ऊऊओहह.. ईई.. यएसस्स अनिकेत.. और ज़ोर से मादरचोद.. चूस हरामी… मेरे चूत का सारा जूस निकाल कर पी जा, साले। वो मेरा सिर अपने दोनों हाथों से अपनी चुत पर दबाने लगी और एकदम से एक तेज धार उसकी चुत से बहने लगी और वो झड़ गई। मैंने उसकी चुत को चाट कर पूरा पानी पी गया और फिर जीभ से अच्छे से साफ़ कर दिया।

उसकी चुत के रस को अपने होंठों में लेकर मैं अब उसके होंठों पर आ गया और उसको किस करने लगा, वो अपनी चुत के रस का स्वाद मेरे मुँह को चाट कर लेने लगी। फिर वह मुझे नीचे की और 69 की पोज़िशन में आ गई, वो मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और मैंने उसकी चुत फिर से चाटनी शुरू कर दी।

कुछ मिनट के बाद फिर उसकी चुत ने एक बार और पानी छोड़ दिया। जिसे मैं पूरा पी गया। थोड़ी देर बाद मैं भी उसके मुँह में झड़ गया और उसने मेरा पूरा माल एक ही बार में अन्दर निगल लिया। अब हम दोनों सीधे लेट गए और एक-दूसरे को चूमने लगे। मैं एक हाथ से उसकी चुत सहला रहा था और वो मेरा लंड मसल रही थी। कुछ देर यूं ही मस्ती करने के बाद हम दोनों फिर से गरम हो गए तो कैप्टन पूजा ने कहा अनिकेत अब नही रहा जा रहा अब अपना हथियार से फायर करो, मैं तुम्हारे तगड़े लंड के लिए तड़प रही हूं।

मैं भी गरम लोहे पर हथौड़ा मारने से कहाँ चूकने वाला था, मैंने अपना लंड उसकी चुत के मुँह पर रखा और एक ही झटके में मशीन गन की तरह उसकी चुत की सुरंग में अपना लंड जड़ तक पेल दिया। वो- आअहह.. अनिकेत लगता है तुमने तो सेक्स में पीएचडी कर रखी है, लगता है आज तो तुम सच में मेरी चुत और गांड में सुरंग खोद कर ही दम लोगे.. आह्हह अहहहह.. अब मैं उसकी चुत में अपना लंड आगे-पीछे करने लगा…जिसे वो अपनी गांड उछाल उछाल कर अपने अन्दर लेने लगी- ऊऊहह.. ईयसस्स.. अनिकेत.. फक मी.. हार्ड.. आआह…ओह्ह या ऊऊईईईई मैं सिहर गई लगातार सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. फक मि हार्ड बेब फक माय पुसी माय किंग ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई यू आर सो हॉट अनिकेत फक हार्ड।फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उसकी जोश भरी बातें सुनकर मैं और जोश में आ गया हमारी चुदाई को लगभग 25 मिनट हो गए थे, और कैप्टन पूजा 3 बार चुदाई के दौरान झड़ चुकी थी, तो मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी.. और जोर-जोर से उसकी चुत में लंड अन्दर-बाहर करने लगा। मेरा लंड ऐसे काम कर रहा था जैसे मशीन बोरिंग का खुदाई कर रहा हो, मैं बीच बीच में, उसके मम्मों को भी दबा देता था, जिससे वो और सिहर उठती।

करीब 35 मिनट की चुदाई के बाद लगा मेरा लंड अब जवाब दे देगा तभी पूजा जोर-जोर से चिल्लाने लगी- आआआहह ऊऊऊऊ अनिकेत फक मी हार्डर… फ़क मी हार्डर… फाड़ डाल साले आज मेरी चुत को ओह्ह या ऊऊऊईईई, तो मैं स्पीड और दुगनी कर दी, और हम दोनों एक ही साथ झड़ गए, क्या असीम आनन्द मिला हमदोनो को, जिसने साथ में झड़ कर इस चरमसुख की प्राप्ति की हो वो ही इस आनन्द को समझ सकता है, हम दोनों तो जैसे ज़न्नत में थे। हम दोनो हांफते हुए चर्मानंद प्राप्त कर लिए थे, मैं उसके ऊपर लेटा हुआ था। थोड़ी देर हम ऐसे ही चिपके हुए पड़े रहे फिर उसने मुझे किस किया और थैंक्स बोला।

तो मैंने कहा- मैडम थैंक्स तो मुझे आपको बोलना चाहिए आपने तो मुझे जन्नत की सैर यहीं करवा दी, और मैं जाने के लिए उठा और अपने कपड़े पहने लगा तो मैडम ने मुझे गले से लगा लिया और एक जोरदार किस दिया। फिर वह बोली अभी रुको बाद में चले जाना या रात यहीं रुक जाओ मैं कॉल करके वहां बता दूंगा की तुम किसी काम से मेरे यहां हो। तो मैं तैयार हो गया। उस रात हम 6 बार चुदाई किए, उधर शाम में मेरे नाम का अनाउंस हो चुका था। फिर मैं दूसरे दिन अपने रूम पर आ गया। और उस दिन भी शाम को मैडम मुझे बुलाई और अपनी चूत चुदवाई। फिर मैं कैंप गया खूब मस्ती किया,और वापस आने पर मैडम मेरा बेसब्री से इंतजार कर रही थी। आते ही वह मुझे अपने रूम पर बुलाई और जबरदस्त चुदाई करवाई। और फिर मैं भी घर वापस धनबाद आ गया। और मैडम से संपर्क टूट गया।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “जवान महिला मालकिन की गर्म चूत

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

Meet Women Online!!

धन्यवाद।

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *