वर्षों की प्यास बुझी भाग-2

बेटी की लन्ड और माँ की चुतपराए मर्द के साथ वर्षों की प्यास बुझी भाग-2

मेरा नाम निघट है मैं गोवा की रहने वाली हूँ। मेरी उम्र 37 साल है। मेरी 2 लड़कियाँ हैं एक 19 साल की सानिया और एक 18 साल की आलिया। पिछले 10 साल से मैं अपनी बच्चियों के साथ अकेली रह रही हूँ। क्योंकि मेरा शौहर मुझे फोन पर 3 तलाक देकर दूसरी शादी कर लिया है। निकाह के कुछ दिन बाद ही मेरा शौहर मुझे बहुत मारता पिटता था। रोज झगड़ा होता था। मेरे अब्बू बहुत बड़े मौलवी हैं तो मेरे पास पैसों की कोई कमी नहीं है।

 

तलाक के बाद मेरे अब्बू ने मुझे एक घर खरीदकर दिया और एक रेस्टुरेंट खोल दिया जिससे मेरा अच्छा खासा इनकम हो जाता है और मेरी बेटियाँ अच्छे से पढ़ाई कर रही हैं। मेरी छोटी बेटी कानपुर उत्तरप्रदेश में इंजीनियरिंग कर रही है। और बड़ी बेटी गोवा के ही कॉलेज में पढ़ रही है और बिजनेस में हाथ बंटाती है। मेरी बेटियाँ मेरी बहन की तरह दिखती हैं और हम बिल्कुल दोस्त की तरह रहते हैं। हरेक बात शेयर करते हैं।

 

मेरी और मेरी बड़ी बेटी सानिया की फिगर बिल्कुल एक है। 32-28- 36 हम दोनों की 36 की गांड़ है। हमदोनों एकदूसरे का कपड़े पहन लेते हैं। सनिया बिल्कुल मेरी तरह ही दिखती भी है। हमदोनों माँबेटी नही बल्कि जुड़वा बहने दिखते हैं।

पिछले भाग का कुछ अंश..

फिर सानिया ने अपने लन्ड को मेरी चुत में डाला और मुझे चोदने लगी। हाय अल्लाह मैं कई वर्षों बाद लन्ड जैसी कोई चीज से चुद रही थी। वह बहुत बड़ा लंड था। मैं जिंदगी में पहली बार इतना मोटा अपने चुत में ले रही थी। सानिया जोर जोर से मेरे चुत को चोद रही थी। मेरी गीली चुत से फचक फचक की आवाज रही थी। अब मुझे इतना मजा आने लगा कि मेरे मुँह से अचानक से कामुक आवाजें निकलने लगा।

कैसे मैं एक अनजान पराए मर्द से चुदी

तो आप सब ने देखा कैसे मैं और सनिया नकली लन्ड से चूदकर चुत की आग बुझाई अब हम दोनों माँ बेटी रोज कई कई बार चुदाई करने लगे। अब तो बिना चुदे रहा ही नही जाता था।

प्यासी चुत

मेरा रेस्टुरेंट घर से काफी दूर है। एक दिन मुझें काम की वजह से देर हो गया रात के करीब  1 बज गए। सारे स्टाफ जा चुके थे। कुछ रेस्टुरेंट में रहने वाले थे वो भी सो चुके थे। फिर मैं घर जाने के लिए गाड़ी स्टार्ट की अभी बैक किया ही था कि मुझे लगा मेरी गाड़ी पंचर है। मैं गाड़ी वही लगा दी। और रोड पर पैदल निकल गई। चुकी गोवा कभी सोता नही है तो मैं लिफ्ट के लिए खड़ी हो गई। कई गाड़िया रुकी लेकिन सभी का एक ही कहना था मैं उधर नहीं जा रहा हूँ।

फिर एक टाटा सफारी रुकी। मैंने देखा वह एक 24, 25 साल का लड़का था। हल्की दाढ़ी थी। मैंने पूछा तो वो बोला कि मैं उधर तो नहीं जा रहा लेकिन आधे दूरी तक उधर जाऊंगा। तो मैं पूछी की आप ड्राइवर हो या अपनी गाड़ी है तो उसने बताया कि मैं ड्राइवर हूँ, और मालिक को एयरपोर्ट छोड़कर रहा हूँ। तो मैंने बोला ठीक है तुम मुझे घर तक छोड़ दो मैं पैसे दे दूँगी। वह बोला जाइए। मैं उसके बगल वाली सीट पर बैठ गया। वह ड्राइवर जरूर था लेकिन बहुत अच्छा दिख रहा था। बातों बातों में बताया कि उसकी शादी हो गयी है वह मप्र का रहने वाला है लेकिन गोवा में अकेले ही रहता है फैमिली घर पर है। उसका नाम संजय था।

 

हम बातें कर रहे थे। वह बहुत विनम्र लड़का था। उसकी बातों से लग रहा था वह अपने मालिक के प्रति बहुत वफादार है। तभी मेरा घर आ गया मैं बोली कि तुम इतना कष्ट किये हो मेरे लिए आओ चाय कॉफी पीकर जाओ। वह मना कर रहा था फिर वह मान गया। उस दिन सनिया अपने दोस्तों के साथ पिकनिक पर गई हुई थी। तो घर मे कोई नहीं था। मैंने उसे सोफे पर बैठने को बोला। और मैं किचन में चली गई। फिर मैं कॉफी और सैंडविच बना लायी हमदोनों ने कॉफी पिया। वह मेरे घर की खूबसूरती देखकर समझ गया कि मैं अच्छे खासे इनकम वाली हूँ। उसने मेरे बारे में ज्यादा नही पूछा था। गाड़ी में मैं जी ज्यादा सवाल के रही थी। और वह जवाब दे रहा था। फिर वह पूछा कि आप क्या करती हैं तो मैं अपने रेस्टुरेंट के बारे में बताया। फिर बोला कि आपका घर काफी खूबसूरत है। फिर वह उठकर जाने लगा तो मैं बोली कि अगर तुम्हें जल्दी ना हो तो तुम रात यहां रुक सकते हो। वेसे भी रात काफी हो चुकी है। वह मना कर रहा था। फिर मैं 2000 रुपये उसे देने लगी तो वह मना करने लगा कि नही। मैं बस आपकी मदद किया हूँ। मुझे पैसे नही चाहिए। फिर मैं उसे बोली तुम रात रुक जाओ सुबह होते ही चले जाना। तो फिर वह मान गया। मैंने उससे पूछा अगर नहाना हो या फ्रेश होना हो तो बाथरूम दिखा दिया।

 

मैं उसे गेस्टरूम दिखा दी। और अपने रूम में गई। मैं कपड़े उतारी और बाथरूम में जाकर नहा आयी मैं रात को नंगे ही सोती हूँ। क्योंकि मुझे नंगे सोना अच्छा लगता है। तो मैंने कपड़े नहीं पहने। और मुझे अपने नंगे बदन को देखकर चुदासी हो गई। मैं खुद को आईने में देखने लगी और अपनी चुचियों पर हाथ फिराने लगी। मैं चारो तरफ घूम कर अपनी नंगे बदन को आईने में निहार रही थी। मुझे अपनी खूबसूरती पर बहुत नाज है। लेकिन किस्मत को कौन जानता है कि इतनी  खूबसूरत होने के बावजूद अकेले जिंदगी जीना पड़ेगा। तभी मुझे एहसास हुआ कि दरवाजे पर कोई है। शायद वह ड्राइवर कीहोल से देख रहा था।

 

फिर अचानक मेरे दिमाग मे शैतानी ख्याल आया कि क्यों इसका फायदा उठाया जाए। वैसे भी मैं बहुत चुदासी हो चुकी थी। मैं समझ गयी क्या करना है। मैं साइड से होते हुए दरवाजे के पास गई और अचानक से दरवाजा खोल दिया। वह हड़बड़ाकर सॉरी बोला। मैं बोली तुम यहाँ क्या कर रहे हो। वह घबराया हुआ था लेकिन मेरी नंगी बदन को देख भी रहा था। फिर मैं उसका हाथ पकड़ी और बोली घबराओ मत। तुम चोरी से जब देख ही लिए हो तो अब आओ अच्छे से देखो।

 

मैं उसे रूम में खींच लाई और उसके होंठो पर टूट पड़ी।  थोड़ी देर में वह भी साथ देने लगा। अब मैं उसके कपड़े उतारने लगी। उसका लन्ड बहुत बड़ा और कड़क था। शायद वो भी बहुत दिनों से चुत नहीं चोदा था फिर मैं घुटनो पर बैठकर उसके लन्ड को चुसने लगी। वह आहहहहहहहहह ….. करने लगा। उसके लन्ड के नसों के उभार बहुत सेक्सी लग रहे थे। और मेरे बदन में ज्वालामुखी का संचार कर रहे थे। उसका लंड इतना कड़क था जैसे कि लोहे का रॉड हो। वह सांवला था इसलिए उसकी लन्ड बिल्कुल काली थी। और मुझे सांवले लोग और काला लन्ड ही पसन्द है। मैं उसके लन्ड को पूरा अंदर गले तक ले रही थी और चूस रही थी। अब उसे मजा आने लगा तो वह मेरा सर पकड़ा और मेरी मुँह को चोदने लगा। कभी कभी वह जोर से अपना लन्ड मेरी मुँह में दबा देता था। जिससे मेरी सांसे रुक जाती थी। वह मेरे मुंह को चोदे जा रहा था।  5,7 मिनट मैं उसका लन्ड चूसी थी वह और फिर वह मेरे मुँह में ही सारा वीर्य निकाल दिया। मैं समझ गयी वो बहुत दिनों से नही चुदा होगा इसलिए उसका लन्ड जल्दी पानी छोड़ दिया।

एक ही झटके में वह अपने बड़े कड़क लन्ड को मेरी चुत में घुसेड़ दिया

फिर मैं बिस्तर पर लेट गयी और उसे चुत चाटने को बोली। वह चाटने लगा। मै पूरी तरह से गर्म हो गई थी। फिर मैं उसे नीचे धकेली आउर उसके ऊपर गई और 69 कि पोजिशन में गई। और उसका लन्ड चूसने लगी। और अपनी चुत उसके मुँह पर रगड़ने लगी। उसका लन्ड फिर से अकड़ गया। और इस बार पहले से ज्यादा अकड़ गया था। उसका लंड का ऊपर का चमड़ी अपने आप पीछे चला गया था। और गुलाबी रंग के उसके सुपाड़े चमक रहे थे। उसके लन्ड से हल्की हल्की पानी निकल रहा था।

जवान चुत

करीब 10 मिनट हम ऐसे एक दूसरे को चूसते रहे। वह मेरे चुत को चाटकर लाल कर दिया था। अब मैं चुदने के लिए बिल्कुल तैयार थी।  उसका लन्ड पहले से ज्यादा कड़क हो गया था। चुकी मैं बाहों में लेकर और मर्द के जिस्म के नीचे दबकर चुदना चाहती थी तो मैं नीचे लेट गई। और अपनी टांगे फैला दी मेरी चुत खुल गयी। और मैं दोनो हाथों से चुत के होंठो को पकड़ के खींची और उसे चुत के अंदर के हिस्से का दर्शन कराई। और बोली चोदो मुझे।

फिर मैं बोली पहले अपने लन्ड को मेरी चुत और क्लाइटोरिस पर रगड़ो। वह हांथो से अपने लंड को पकड़ा और मेरी चुत पर रगड़ने लगा उसका लन्ड बिल्कुल गर्म था। शायद मेरी चुत से भी ज्यादा गर्म। जब वह मेरी क्लाइटोरिस पर रगड़ रहा था तो मुझे लग रहा था जैसे गर्म लोहा मेरी चुत पर रगड़ रहा है।

फिर मैं बोली संजय अब नही बर्दास्त हो रहा जल्दी से अपना बड़ा लन्ड मेरी चुत में डाल दो। वह बिना देरी किये अपना लन्ड मेरी चुत पर लगाया और एक ही बार मे पूरा लन्ड घुसा दिया। मैं उसे अपने ऊपर खिंच ली और उसके होंठो को चूसने लगी। वह तेज तेज चोद रहा था। उसका लन्ड इतना बड़ा था कि लग रहा था जैसे मेरे बच्चेदानी तक जा रहा है। अब मैं चिल्लाने लगी और चुदाई में उसका हौसला बढ़ाने लगी।  आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii आज मुझे रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत।  आहहहहहहहहह मेरे राजा… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii आज मुझे रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत।  आहहहहहहहहह मेरे राजा… चोदो जोर से……. आहहहहहहहहहहहहह पूरे ताकत से चोदो…. मेरी चुत को फाड़ डालो…..

 

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. सच्चा मर्द है तू।  चोदो मेरी चुत… मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. मुझे बहुत मजा आ रहा है। …..जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… तू तो सच्चा मर्द निकला मेरे शेर….. चोदो बेबी…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को…मेरी चुत पिछले 10 साल से लंड के लिए तड़प रही है।……..  मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे शेर मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत मजा आ रहा मेरी जान चोदो….. मेरी चुत को…………तुम्हारा लंड मेरे चुत से होते हुए अंदर मेरी गांड तक जा रहा है.. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… तुम्हारा लंड अंदर तक धक्का मार रहा है…… बहुत मजा आ रहा है मेरे लाल……फाड् दो मेरी चुत.. मेरी चुत की धज्जियां उड़ा दो।

चुदाई की कहानियां

अब मैं झड़ने वाली हूँ। आआहहहहहहहहहहहहहहहहह, ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….. और फिर मेरी चुत पानी छोड़ने लगा साथ मे उसका लन्ड भी पानी छोड़ दिया।

 

वह निढाल होकर मेरे उर पसर गया। करीब 10 मिनट बाद मैं उसे हटाई और शराब का पैग बनाई और हमदोनों 3, 3 पैग पीए।

 

उस रात वह मुझे 4 बार चोदा। मैंने उसका नम्बर लिया। और फिर वह सुबह चला गया। अब हम बातें करने लगे और जब भी मौका मिलता है चुदाई करते हैं। कभी घर मे तो कभी होटल में और कभी गाड़ी में भी।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

0% LikesVS
100% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *