डिजाइनर के पेट मे मजदूर का बीज

 195 

फ़ैशन डिजाइनर के पेट मे मजदूर का बीज

https://nightqueenstories.com/ के सभी दिलवाले पाठकों को मेरा तहेदिल से नमस्कार।

हेलो दोस्तों कैसे हो आपसब, उम्मीद करता हूँ खैरियत से होंगे और अपना ख्याल रख रहे होंगे। दोस्तों मेरा पावनी पंडित है। मैं एक फैशन डिजाइनर हूँ। दिल्ली में रहती हूँ। मेरी उम्र 29 साल है। और मेरी हाईट 5 फिट 3 इंच है। 30 इंच साइज के चुचियाँ 28 इंच की कमर और 34 के गांड हैं। मेरा अपना बुटीक है लेकिन यह मकान किराए पर है। और मैं मकान मालिक के नखरों से परेशान हो गई हूँ। इसलिए मैं फैसला की की मैं अपने खाली पड़े पुराने घर मे इस बुटीक को शिफ्ट करूँगी। दिल्ली में ही मेरा अपना एक पुराना घर है जो खाली पड़ा है वो घर मेरे दादाजी ने बनवाया था। लेकिन अभी वहाँ कोई नही रहता उसमे ग्राउंड फ्लोर पर एक बड़ा सा हॉल है और ऊपर में भी एक हॉल और कुछ रूम्स है तो मैं सोची की फिलहाल उसमे शिफ्ट हो जाते हैं। जिसके लिए मुझे उस घर की साफ सफाई और थोड़ी रिपेयर करवाने की जरूरत थी। तो मैं सोची मैं अपनी देखरेख में सफाई करवाती हूँ। और खुद भी मदद करूँगी लेकिन मुझे कुछ मजदूर की आवश्यकता थी। तो मैं गाड़ी निकाली और निकल गई वहाँ जहाँ मजदूर खड़े रहते हैं वह एक चौराहा है।

एक मजदूर लड़के का कड़क लन्ड का एहसास मेरे गांड पर हुआ तो मेरा मन मचल गया और मैं उससे चुद गई लेकिन एक महीने बाद पता चला मैं उस मजदूर के बच्चे की माँ बनने वाली हूँ

मुझे वहाँ पहुचने में थोड़ा देर हो गयाथा और ज्यादातर मजदूर किसी ना किसी काम के लिए चले गए थे। लेकिन वहाँ 2 मजदूर थे एक 19, 20 साल का लड़का और दूसरा 40, 45 साल का रहा होगा। मैं उनसे पूछा तो वे दोनों तैयार हो गए। लड़के का नाम बाबू था और आदमी का नाम हरि था।

फिर मैं दोनों को गाड़ी में बैठाई और अपने मकान पर लेकर आ गई। और हम साफ सफाई में लग गए। थोड़ी देर बाद उस 40,45 साल वाले मजदूर के मोबाइल पर कॉल आया उसकी पत्नी ने कॉल किया था उसकी बेटी की तबियत खराब हो गई थी। तो वह मुझसे कहने लगा मैडम मुझे छुट्टी दे दीजिए मेरी बेटी बीमार हो गई है उसे हॉस्पिटल ले जाना है। तो मैं बोली ठीक है तुम जाओ लेकिन किसी को बोल दो तो अच्छा रहेगा। तो वह कहने लगा मैडम इस टाइम कोई नही खाली होगा सभी निकल जाते हैं मैं ही कल आ जाऊंगा आज आप बाबू से अकेले काम करवा लीजिए फिर मैं बोली ठीक है तुम जाओ। और वह चला गया। मुझे बहुत टेंशन होने लगी क्योंकि एक मजदूर वो भी लड़का अच्छे से काम नही कर पाएगा कुछ देर तो मैं देखते रही लेकिन वह अकेले नही कर पा रहा था। तो मैं सोची चलो मैं ही मदद कर देता हूँ। और फिर अपना जीन्स निकालकर शॉर्ट्स पहन ली और टॉप पहले से पहनी थी। और मैं बाबू की मदद करने लगा। और मैं तबसे नोटिस कर रहा था जबसे मैं जीन्स उतारी थी बाबू बार बार मेरी चिकनी जांघो को घूर रहा था शायद वह पहले कभी इतनी चिकनी और खुली जांघे नही देखा था। तो मुझे शरारत सुझा और मैं टॉप भी उतार दी और अब मैं सिर्फ ब्रालेट में थी।

मेरी गोरी गोरी आधी चुचियाँ का भी अब वह दर्शन करने लगा। और मैं समान हटाने के बहाने उसके शरीर मे अपने चुचियो को रगड़ देता तो कभी उसके पैरों में अपनी जांघे सटा देती। वह मेरी चुचियाँ जांघो और करारेदार गांड को बार बार चोर निगाहों से देख रहा था। मेरे बार बार ऐसी हरकतों की वजह से उसके पैंट में उसका लंड खड़ा हो गया था। वह भी इस बात को नोटिस कर रहा था कि मैं उसे दिखाने के लिए ही ये सब कर रही हूँ तो अब वह भी धीरे धीरे निडर होने लगा और मैं जब काम के बहाने उसकी लन्ड पर अपना गांड लगा देती तो वह भी अपना कड़क लन्ड मेरे गांड पर रगड़ देता।

बाबू का लन्ड किसी घोड़े जैसा था जो मेरी गांड पर प्रहार कर रहा था

दोस्तों काफी लंबे समय से मैं भी लन्ड से नही चुदी थी। सो आज उसका लैंड का एहसास पा के मेरे अंदर का भी शैतान जग चुका था। अब मैं खुलकर उसके लन्ड पर गांड रगड़ देती और कभी कभी हाथो से टच कर देती। तो वह

तो उसकी हिम्मत भी बढ़ गई और अब वह भी मेरे चुचियो को रगड़ देता। कभी पकड़ लेता। अब मैं पूरे उत्तेजित हो चुकी थी तो मैं उसके लन्ड को पकड़ ली और बोली बाबू तुम्हारा मुन्ना तो बहुत बड़ा है तो वह बोला मैडम जी यह मुन्ना घी खा खा के बड़ा हुआ है तो मैं बोली देखु तुम्हारा मुन्ना कैसा दिखता है और मैं नीचे बैठके उसके पैंट को नीचे कर दी। उसके निकर को भी नीचे कर दी। बाप रे उसका लन्ड तो घोड़े जैसा बड़ा था। मैं जीवन मे इतना बड़ा एंड नही देखी थी।

मैने कहा की बाबू तेरा लंड तो बहुत बड़ा है इतनी कम उम्र में इतना विशाल लन्ड। सच मे तुम असली मर्द हो। फिर मैं उसके लन्ड को हिलाने लगी और मुँह में लेकर चूसने लगी वह सिसकारियां लेने लगा जाहिर था वह कच्चा खिलाड़ी नही है और कई औरतों को चोद चुका है। मुझे भी उसका बड़ा लन्ड लेने को बहुत मन कर रहा था। इसलोये मैं जल्दी जल्दी उसे गर्म करने लगी। फिर मैं खड़ी हुई और उसे किस करने लगी वह भी मुझे किस करने लगा। मैं अपने सारे कपड़े उतार दी। तो वह मेरे चुचियो को मुँह मेंलेकर पीने लगा। वह मेरे।चुचियो के गुलाबी दाने को अच्छे से चूस रहा था। और दांतों से काट भी रहा था। तो मेरे मुँह से सिसकियां निकलने लगी आह्हहहहहहहहहहहहहहहहह……. अहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. महामममममममममम्मममम्ममम्मदददहमहम्मह्महम अहहहहहहहहह…… उमेश आह्हहहहहहहहहहहहहह…….अमम्ममममममममममम… अहहहहहहहहहहहहहहहहः मम्ममम्ममम्मममहमहमहमहमहमह…..ओह्ह्हहहहहहहहह….. और फिर उसके टी शर्ट को भी उतार दी।

वह मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था

मेने कहा बाबू तुम बहुत हैंडसम हो। तो उसने भी झट से वो मेरी होंठो को चूमते हुए बोला मैडम जी आप तो किसी हेरोइन से भी ज्यादा खूबसूरत और सेक्सी हो। उसकी ये बाते सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई। मैने कहा बाबू इतना लंबा और तगड़ा लंड तो किसी बड़े मर्द का भी नही होता है। तुम्हारा लंड बहुत स्पेशल है।

अब हमदोनो ही बहुत गर्म हो चुके थे और अब मैं उससे चुदना चाहती थी। इसलिए फर्श पर ही लेट गई और बोली बाबू आओ मुझे निगल जाओ। उसके सामने मेरा गोरा भरा हुआ नंगा जिस्म तड़प रहा था। वो सब से पहले मेरे बूब्स को बहुत जोर जोर से मसलने लगा वो मेरे बूब्स को ऐसे निचोड़ रहा था की जैसे वो बैलून को दबा रहा हो और मेरे गोरे चुचियो को उसने मसल मसल के लाल कर दिया। मुझे हल्का दर्द भी हो रहा था फिर वह मेरी चुचियों को पीने लगा तो में जेसे की जन्नत में पहुच गई। मैं सिसकियां लेते हुए बोली के आह्ह्ह उमेश कम ओन बेबी अहहहहहहहहह…. हाहाहहहहहहहहह… ओह्ह्हहहहहहहह…. अहहहहहहहह ईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई

और फिर एक फैशन डिजाइनर एक मजदूर के लन्ड से प्रेग्नेंट होकर एक बच्चे की अविवाहित माँ बन गई

फिर वो मेरी जांघो को चूमने और जीभ से चाटने लगा। वह भले अभी नया ऊपर का था लेकिन वह चुदाई का खिलाड़ी था। वह हर कला जानता था जिससे औरत सेटिस्फाई होती है। वह जल्दबाजी भी नही कर रहा था। बल्कि मुझे चुदने की जल्दी थी। और फिर वह अपना होंठ मेरी गुलाबी चिकनी चूत पर रख दिया मैं तो तड़प गई और उसका सर चूत में घुसा दी जैसे ही उसने जीभ लगाई में तो चहक उठी वो बोला की मैडम जी आपकी चूत तो मख्खन की तरह है। मैं भी झट से बोली के तेरा लंड भी तो लोहे जैसा सख्त है। तो बाबू मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाटने लगा। और मैं अहहहहहहहहह…. हाहाहहहहहहहहह… ओह्ह्हहहहहहहह…. अहहहहहहहह ईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. चाटो बाबू चाटो मेरी चुत चाटो जोर से खा जाओ मेरी चूत आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. बहुत भूखी है मेरी चूत जान बहुत प्यासी है, चाटो मेरी चूत को सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई अब मेरे से बर्दास्त नही हो रहा था और मैं झड़ गई और वह मेरे चूत का रस पी गया। थोड़ी देर और चाटा मेरी चूत फिर मैं बोली बाबू अब मेरी चूत में अपना लन्ड डाल के चोदो। तो उसने अपने लंड पे थूक लगा के मेरी चूत पर रखा और रगड़ने लगा और लंड को मेरी चुत पर पटकने लगा मेरी चुत का दाना पूरा मोटा होकर लाल और बाहर आ गया था फिर वो अपना लंड मेरी चुत के छेद पर लगाया फिर उसने मेरी कमर को कस के पकड लिया और बहुत बेरहमी से जोर से झटका मारा और उसका आधा लंड मेरी गीली चूत को चीरते हुए घुस गया। मुझे दर्द तो हुआ लेकिन मैं चीखी नही होठ भीच के दर्द पी गई। वह फिर से झटका मारा तो लन्ड पूरा समा गया और अब वह जोर जोर से चोदने लगा।

और मैं चीखना शुरू की हहहहहहहहहहहहहहहह… .सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. फक मय पुसी किंग ओह माइ किंग ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह बाबू तू सच्चा मर्द है चोद मेरी चूत आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii आज मुझे रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह मेरे राजा… चोदो जोर से……. आहहहहहहहहहहहहह पूरे ताकत से चोदो…. मेरी चुत को फाड़ डालो…..

आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह बाबू तू सच्चा मर्द है चोद मेरी चूत आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii आज मुझे रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह मेरे राजा… चोदो जोर से……. आहहहहहहहहहहहहह पूरे ताकत से चोदो…. मेरी चुत को फाड़ डालो…

फिर उसने मुझे उल्टा कर दिया और मेरे चूतडो पे जोर जोर से थप्पड़ मारते हुए मुझे जानवर की तरह चोदने लगा करीब 40 मिनट तक वो मुझे चोदा इस दौरान मेरी चूत 7 बार पानी छोड़ा। और अंत मे उसकी स्पीड बहोत तेज हो गयी और वो मेरी चुत में ही झड़ गया। उसने अपना लन्ड रस मेरी चूत में ही छोड़ दिया। और हाँफते हुए मेरे ऊपर आ के लेट गया।

कुछ देर बाद मैं उसे हटाई और सीधा हो के लेट गई तो वह फिर से मुझे किस करना शुरू कर दिया और फिर से हम एक राउंड चुदाई किए।

अब मैं उससे पूरी रात चुदने वाली थी इसलिए मैं उसे घर कॉल करवा दिया और कहलवा दिया कि कह दो आज नही आएंगे कल काम खत्म करके आएंगे। और उस दिन शाम को मैं उसे अपने घर ले गयी। और हम रात भर चुदाई किये। मैं जीवन मे पहली बार इतना संतुष्ट हुई थी। अब मैं बहुत खुश हूँ। और उसे बाद में मैं अपने बुटीक में परमानेंट नौकरी दे दी। और अपनी चूत की आग शांत करने की बंदोबस्त भी कर ली।

लेकिन दोस्तों करीब 15 दिन बाद मेरा पीरियड का टाइम था सो मिस हो गया तो मुझे डाउट हुआ तो मसि मेडिकल से किट लायी और टेस्ट की तो मैं प्रेगनेंट हो चुकी थी। फिर मैं 9 महीने बाद उस बच्चे को जन्म दी लेकिन उसे नही बताई की ये बच्चा उसका है।

दोस्तो उम्मीद करता हूँ मेरी चुदाई की कहानी आपको पसंद आई होगी। मुझे कमेंट करके मुझे जरूर बताना कहानी कैसी लगी। धन्यवाद।।

इसी तरह की अन्य कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com/ के अन्य पेज पर जाएं।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “प्यार कहूँ या हवस”

नमस्कार।

0% LikesVS
100% Dislikes

One thought on “डिजाइनर के पेट मे मजदूर का बीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *