बीवी की मोहब्बत

बॉस की बीवी की मोहब्बत

हेलो फ्रेंड्स। मैं दीपक हूँ एक IT प्रोफेशनल। मैं गुड़गांव में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूँ। पिछले 4 सालों से मैं गुड़गांव के एक ही कम्पनी में काम कर रहा हूँ। लेकिन मेरी सैलरी बहुत अच्छी नही थी। जिस कारण मैं खुश नही था। लेकिन मजबूरी थी इसलिए काम करता ही था। और एक उम्मीद बांधे हुए था कि आज नही तो कल सैलरी बढ़ेगी। मेरा काम पहले से अब और बेहतर हो चुका था और मैं अब ज्यादा काम भी करता था। मेरा अनुभव से कम्पनी को बहुत फायदा हो रहा था।

लेकिन हमारा मालिक परजीवी था। वह कभी भी मेरी सैलरी के बारे में ज्यादा नही सोचता था। कम्पनी के सभी स्टाफ उससे खुंदक खाये रहते थे।

मैं एक दिन घर पर बैठा था। उस दिन आफिस में बॉस से मेरी काफी तगड़ी झगड़े हुए थे। उस दिन रात को मैं सोचते सोचते लैपटॉप खोला और कुछ सर्च करने लगा। फाइनली एक वैकेंसी मुझे दिखाई दिया। और मैं अपना CV मेल कर दिया। https://nightqueenstories.com

दूसरे दिन शाम 4 बजे मुझे कॉल आया कि आपका CV इंटरव्यू के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया है कल सुबह 10 बजे आपको इंटरव्यू के लिए आना है। मैं दूसरे दिन 9 बजे घर से निकला और 9:30 पर वहां पहुच गया। मेरे अलावा वहाँ 6 लड़के और 2 लड़कियां भी पहले से बैठी हुई थी। फाइनली 11 बजे हमारा इंटरव्यू खत्म हो गया। और मैं अपने घर आ गया। शाम 4 बजे मुझे कॉल आया कि आपका सेलेक्शन हो गया है। आफर लेटर आपके पास रात 8 बजे तक मेल कर दिया जाएगा। आप कब से जॉइन करना चाहेंगे। तो मैं बोला मैं परसो जॉइन करूँगा।

कैसे मेरी कम सैलरी ने मुझे बॉस बनाया और गिफ्ट में बॉस की बीवी का चुत चोदने को मिला

एक दिन बाद मैं ने आफिस पहुँचा तो मेरा स्वागत अच्छे से किया गया क्योंकि 8 कैंडिडेट में मैं एक मात्र सेलेक्ट हुआ था। और मेरा स्कोर 100% था।

मुझे मेरे ऑफिस बॉस ने खुद दिखाया और मुझे आफिस की चाभी सौंपी। दरअसल हुआ ये था कि मैं जिस पोस्ट के लिए इंटरव्यू दिया था उस पोस्ट के बजाए मुझे सीनियर पोस्ट आफर किया गया। क्योंकि मेरा इंटरव्यू बॉस ने खुद लिया था और मेरे अनुभव ने मुझे यह कामयाबी दिलाई थी।

मुझे एक स्पेशल चेम्बर मिला उस चेम्बर में हरेक साजो सामान मौजूद थे। यहां तक कि मीटिंग के लिए एक सोफा भी मौजूद था।

दोस्तों मेरी किस्मत ने मुझे उस ने कम्पनी में नम्बर 2 का पोस्ट दिला दिया था। बॉस के बाद मैं ही नम्बर 2 बन गया था। बाकी सभी स्टाफ मेरे नीचे थे। और मेरी सैलरी पहले वाली कम्पनी से 3 गुना ज्यादा ऑफर किया गया था।

दूसरे दिन बॉस ने सभी अधिकारियों की मीटिंग बुलाई और सबको बताए कि आज के बाद आप सब मुझे रिपोर्ट करने के बजाए दीपक को रिपोर्ट करें। और दीपक मुझे रिपोर्ट करेगा। एक ही दिन में मैं अदने से कर्मचारी से बॉस बन चुका था। बीस ने मुझे एक गाड़ी भी दी। और एक शानदार फ्लैट दिए।

दोस्तों मेरे बॉस का नाम दिनाकरन था वे एक साउथ इंडियन थे। और बहुत मिलनसार थे। वे 52 साल के एक व्यक्ति थे। मेरे कम्पनी का एक ऑफिस मुम्बई और एक सूरत में भी था। और सर ही सभी जगह मैनेज करते थे। वे हफ्ते में 2 दिन मुम्बई और 2 दिन सूरत में समय देते थे। जल्दी ही मैं बॉस का काम भी संभालने लगा और बॉस ने मुझे सूरत के आफिस का काम भी सौंप दिया। तो मैं 3 दिन गुड़गांव और 2 दिन सूरत में समय देने लगा। मेरी वीकली 2 दिन की छुट्टी थी लेकिन मैं 1 ही दिन छुट्टी करता था। और शनिवार को गुड़गांव में काम देखने लगा। बॉस इस बात से काफी प्रभावित हुए और मेरी सैलरी 1 महीने बाद ही दुगना कर दी। अब मेरी सैलरी पिछले कम्पनी के तुलना में 6 गुना था। फ्लैट गाड़ी सब अलग से।

मुझे काम करते 2 महीना 3 महीना बीत चुका था यानी कि एक क्वार्टर। और जब सूरत और गुड़गांव के आफिस के काम को आंका गया तो मुम्बई के अपेक्षा 6 गुना ज्यादा रेवेन्यू आया और पिछले कई सालों के रिकॉर्ड ध्वस्त हो गए। दरअसल नई कम्पनी में मुझे मिली सम्मान ने मुझे काम करने में अलग जोश पैदा कर दिया था और मैं पूरी जी जान के साथ काम करने लगा था।

अब कम्पनी में मैं बॉस की हैसियत रखने लगा था। बॉस मुझे बहुत जिम्मेदारियां दे दिए थे। लगभग सारी जिम्मेदारी मुझे सौंप दिए थे। अगले दिन सर एक पार्टी रखे। पार्टी में सभी स्टाफ को निमंत्रण दिया गया। पार्टी एक होटल में था जो बॉस का ही था। मैं भी उस पार्टी में लगभग 8 बजे पहुँच गया। लेकिन पार्टी में सभिनलोग पहले से पहुँच चुके थे यहां तक कि बॉस भी लेकिन मेरे न होने की वजह से पार्टी शुरू नही हुई और मेरा इंतजार हो रहा था।

मैं पहुँचा तो मेरा ग्रैंड वेलकम किया गया। बॉस खुद आगे बढ़ के मेरा स्वागत किए। बॉस के साथ एक खूबसूरत महिला थी जो लगभग 35 साल की होगी। भरे बदन की दूध की तरह सफेद वह महिला पूरे पार्टी की जान बनी हुई थी सबकी निगाह उनपर ही थी।

और फिर बॉस ने मेरा परिचय उनसे करवाया उनका नाम तृषा था। और वो और कोई नही बल्कि तृषा मैडम यानी बॉस की धर्मपत्नी थी। मैं नमस्ते के लिए दोनो हाथ जोड़ दिए लेकिन उन्होंने हाथ आगे बढ़ाया तो मैं भी उनसे हाथ मिलाया। काफी गर्मजोशी के साथ वो मेरा हाथ पकड़ी।

और फिर पार्टी शुरू हुई। लगभग एक घंटे हो चुके थे। कोई शैम्पेन तो कोई वाइन तो कोई व्हिस्की का आनंद ले रहा था। और फिर शुरू हुई मधुर धुन। जिसने सबके अंदर एक उतेजना भर दिया। अब सभी लड़के लडकिया आदमी औरत झूमने लगे। मैं कभी ऐसी शानदार पार्टी किया नही था तो मैं एक कोने में बैठा था। कुछ देर बाद तृषा मैडम आई और बोली तुम अकेले यहाँ क्या कर रहे हो। मस्ती करो आज दिन तुम्हारा है यह पार्टी भी तुम्हारे लिए रखी गयी है। तो मैं बोला मैडम मैं ऐसी पार्टी कभी जीवन मे किया नहीं। तो आज पहली बार ऐसा लग रहा जैसे मैं नई दुनिया मे हूँ।

तो तृषा मैडम बोली ऐसी बात है तो चलो फिर मैं भी बहुत कम पार्टी अटेंड करती हूँ लेकिन तुम्हारे बॉस ने आज तुम्हारे बारे में बताया था तो मैं आ गई। चलो इसी बहाने हम डांस करते हैं। तो मैं बोला मैडम आप मेरी बॉस हैं मैं आपके साथ कैसे

तो तृषा मैडम बोली दीपक यह पार्टी है यहां कोई बॉस नही है। चलो उठो। मैं बोला सर कहाँ हैं तो वो बोली तुम्हारे सर जा चुके हैं दरअसल उनके फ्रेंड के लड़के का जन्मदिन है तो वो वहीं चले गए लेकिन मेरा मन नही था सो मैं नही गई।

दीपक तुम मुझे मैडम बोल के पराया मत करो, एक दोस्त की तरह तृषा बोलो

अब तृषा मैडम मेरा हाथ पकड़ी और आगे बढ़ी। और फिर रुककर बोली चलो अब डांस करो। हम साथ डांस करने लगे लेकिन तृषा मैडम मेरा हाथ पकड़ी और अपने कमर पर हाथ रखी और मेरे कंधे पर हाथ रख दी। अब हम क्लोज डांस करने लगे। अब सबकी निगाह हमपर हो गई। सभी आंहे भरने लगे। हम करीब आधे घंटे तक डांस किये फिर मैडम बोली। अब मैं थक गई। फ़इर हम बार काउंटर पर आ गए और पीने लगे। तृषा मैडम भी काफी मजे से पी रही थी। फिर मैं बोला मैम अब मेरा हो गया मैं अब नही पी पाऊंगा। तो मैडम बोली ओह कॉम ऑन दीपक मैडम बोल के तुम मुझे पराया कर रहे हो। एक दोस्त की तरह ट्रीट करो। तुम मुझे तृषा बुला सकते हो। आज से हम दोस्त हैं। तो मैं बोला ओके तृषा।

चुकी होटल तृषा का ही था तो होटल में एक शानदार सूट बोस और मैडम के लिए रिजर्व रहता था। तो मैडम बोली चलो मेरे कमरे में चल के पीते हैं।

हम वहाँ चले गए। क्या बताऊँ दोस्तों वह कमरा नही बल्कि महल था। एक शानदार कमरा जिसको देखते है चक्कर आ जाये।

तृषा मेरे लन्ड को मसलने लगी और अंडरवियर के ऊपर से ही अपनी जीभ से चाटने लगी

फिर हम वहाँ पीने लगे। पीते पीते तृषा बहक गयी और अचानक मुझे पकड़ के किस करने लगी। पहले तो मैं घबरा गया लेकिन शराब का नशा और तृषा की खूबसूरती ने मुझे भी मदहोश कर दिया था। तो मैं भी उसके किस करने में सहयोग करने लगा। अब हमदोनों एक दूसरे को किस करने में व्यस्त थे। और 10 मिनट से ज्यादा जम एकदूसरे को किस करते रहे। दोस्तो मेरे जीवन मे पहली बार ऐसा था जब इतना लंबा किस मैंने किया था।

फिर तृषा मुझे बेड पर धक्का देकर लेटा दी और मुझपर चढ़ गई। और मेरे दोनो तरफ पैर करके मुझे किस करने लगी। मैं भी पूरे जोश के साथ उसको किस कर रहा था। फिर वह अपना जीभ मेरे मुँह में डाल दी। और मैं उसके जीभ को चूसने लगा। यह करीब 2, 3 मिनट चला फिर मैं भी अपना जीभ उसे दे दिया। वह मेरे से भी अच्छा चूस रही थी। उसकी जोश ने मेरे अंदर और भी ज्यादा आग भड़का दिया था। फिर वह गाउन उतारी और दूसरे तरफ उछाल दी। अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी। उसके गोरे बदन पर लाल रंग के ब्रा और पैंटी काफी सेक्सी लग रहे थे। तभी वो अपनी ब्रा ऊपर खिंच दी और उसकी चुचियाँ उछाल के आजाद हो गयी। और उसने अपना चूची मेरे मुंह मे दे दिया। मैं उसकी चूची को पीने लगा और दूसरे चूची को हाथों से मसलने लगा। अब तृषा के मुँह से

आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. चुसो दीपक मेरी चुचियाँ चुसो जोर से। देखो इसमें कितना दूध भरा हैआहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii ….पी जाओ दूध।…।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii दीपक यह पल बहुत मनमोहक है जान…. चुसो इसे अच्छे से चुसो…..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii ..

और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह मेरे राजा… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii

मैं 10, 12 मिनट तक तृषा के चुचियों को चूसता और मसलता रहा। वह अब बिल्कुल गर्म हो गई थी। फिर वो नीचे हुई और मुझे उठाई और मेरे कपड़े उतारने लगी मेरे।शर्ट और बनियान को उतार दी। और मेरे गठीले चौड़े सीने पर अपनी गीली जुबां फिराने लगी। मैं भी मस्त हो के आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii …. आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह ii iसससीईईईईईईiii ..आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. करने लगा। https://nightqueenstories.com

तृषा मेरे समूचे बदन को किस कर रही थी और जुबान फिरा के चाट रही थी। मैं मस्ती में आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii …. आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह ii iसससीईईईईईईiii ..आहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii ..

किए जा रहा था। अब उसने मेरे नाभि पर किस करते हुए मेरे पैंट के ऊपर से ही मेरे लन्ड को मसलने लगी। दोस्तों उसकी हाथों की स्पर्श पाकर मैं मचल गया और मेरा लन्ड तेजी से कझटके मारा और लगातार झटके मारने लगा। साथ ही मेरा लन्ड अब और कड़क हो गया।

तृषा अब झुककर पैंट के ऊपर से ही मेरे लन्ड को किस की और जीभ निकालकर चाटने लगी। फिर वह मेरा पैंट के बेल्ट को खोली और फिर धीरे से मेरे पैंट को नीचे खिंची। जैसे ही मेरा पैंट नीचे हुआ मेरे अंडरवियर में मेरा लन्ड फनफना कर ऊपर नीचे होने लगा। ऐसा लग रहा था जैसे मेरे अंडरवियर को फाड़कर मेरा लन्ड बाllllkj0uuमसोसकर कपड़े पहने और बाहर आ गए।

उस रात मैं घर आकर 3 बार मुठ मारा।।

दूसरे दिन ऑफिस पहुँचा तो एक और खुशखबरी थी। …..और खुद एक नए प्रोजेक्ट के लिए सिंगापुर चले गए। …

तो दोस्तों कहानी का आगे का हिस्सा अगले कहानी में बताऊंगा। https://nightqueenstories.com

जो शीर्षक होगा।

“”बॉस की बीवी चुद गई अपने यार से“”

तो मिलते हैं अगले कहानी में। धन्यवाद।

 

 

0% LikesVS
100% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *