पत्नी का अफेयर

 133 

शादी के बाद किसी और से प्यार

हाय मेरा नाम साहिल है, मैं दिल्ली से हूं। ये जो कहानी मैं बताता जा रहा हूं ये मेरी खुद की कहानी है मेरे सच्चे प्यार की कहानी है।

5 साल पहले मेरे मां-बाप में मेरी शादी ताई की। हमें वक्त मेरी उम्र 29 थी। मेरी होनेवाली बीवी का नाम था साथी। मुझे पहली बार देखते ही मैं उसके लिए पागल हो गया था।

साथी दिखने में अप्सरा है और फिगर तो कुछ कहना ही नहीं। बड़े बड़े बूब्स और पतली कमर। शादी से पहले जब हमारी पहली बार बात हुई। तो उसे कहा की वो अभी शादी नहीं करना चाहती थी। लेकिन उसके माता-पिता के दबाव में उसे करना पड़ा रहा है।

मैंने हमें चीज़ को नज़रअंदाज़ किया क्योंकि किया काफी लड़कियों का वही समस्या होता है। पर शादी के बाद सब ठीक हो जाता है। 2 महीने बाद हमारी शादी हो गई।

हमारे सुहाग रात के लिए एक स्पेशल गेस्ट हाउस का अरेंज किया गया था। जहां पर हम छोड़ कर और कोई नहीं रहेगा। हमें हम गेस्ट हाउस में जाँच कर हमारे माता-पिता चले गए।

मैं बोहोत उत्साहित था क्योंकि उसे पहले मैंने कभी सेक्स नहीं किया था। मैं गया रूम में जैसे ही दरवाजा खोल कर रूम में गया। देखा साथी किसी से बात कर रही थी फोन पे। मुझे देख कर उसे फोन को रख दिया।

फिर चालाकी से मेरी तराफ आई और बोली “बैठ जाओ बिस्तर पे, मुझसे तुमसे कुछ बात करनी है”। मैं थोडा घबड़ा गया क्योंकि पहली रात में लड़की शर्मेक बैठी रहती है। पर ये इतना बोल्ड होके मुझे ऑर्वक्त दे रही है।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

मैं फिर बेड पर बैठा गया। वो भी मेरे बगल में आके बैठा फिर बोली “देखो साहिल हमारी शादी तो हो गई है। लेकिन मैं दीपक से प्यार करती हूं और उसी के साथ सब कुछ करूंगी। दीपक को मेरे माता-पिता पसंद नहीं करते हैं इसिलिए तुमसे शादी तई कर दी”।

मैं शॉक हो गया सुनके हलका सा अंश निकला आया आंखों से, फिर भी पुचा “फिर पहले क्यों नहीं बताया?”

“बताना चाहती थी लेकिन माता-पिता ने जोर दिया था और तुम अच्छे इंसान लगे। इसिलिए हमने प्लान किया की मैं तुमसे सिर्फ नाम के वास्ते शादी करुंगी। लेकिन राहुंगी दीपक की साथ “।

मैं कुछ बोले जा रहा था मुझे रोक के फिर से बोलना शुरू किया।

“कोई समस्या नहीं होगी। तुम्हारे जो लड़की पसंद है उसके साथ तुम सेक्स करो। हम रहेंगे पति-पत्नी की तरह लेकिन अपने अपने पार्टनर्स के साथ सेक्स करेंगे ठीक है। मैने तो दीपक को बुला भी लिया है वो आता ही होगा”।

ये सुनके मेरे होश उड़ गए उसे अपने बीएफ को बुलाया है। मतलाब हमारे सुहाग-रात पे वो अपने बीएफ के साथ का आनंद लें। ये सब सोच रहा था की इतने में मुझे कॉल कर रहा था बेल बजा।

साथी गई दरवाजा खोलने फिर कुछ वक्त बाद एक बंदे को लेकर आई रूम में। देखा की एक 6.5 फीट का विशाल हट्टा कट्टा बंदा आ रहा है। उसे अपना हाट बड़ा हाथ मिलाने के लिए मैंने भी बड़ाया।

“हेलो मेरा नाम है दीपक।”

“हाय मैं साहिल।”

“धन्यवाद यार हमारी परशानी समाधान के लिए, तुम्हें कोई समस्या नहीं होगी, चिंता मत करो।”

फ़िर वहा हम 3 कुछ वक्त बात करते हैं फिर दीपक ने साथी का हाट पकार लिया और उसे अपने बाहो में लिया। फिर धीरे से उसके होठों पर एक किस किया साथी ने भी उसके बालो को सहलाना शुरू किया और दोनो दीप-चुंबन करने लगे।

ये सब मेरे सामने हो रहा था मेरे सामने एक बंदा मेरी बीवी के साथ सुहाग रात मन रहा था। फिर दोनो ने धीरे-धीरे एक दसरे को अनड्रेस करना शुरू किया।

मुझे ये सब का अनुभव नहीं था इसिलिए मुझे लग रहा था कि मेरे सामने पोर्न-फिल्म शुरू हुई है और मेरा लंड खरा हो गया था।

दीपक ने मेरी बीवी को पूरा नंगा कर दिया और खुद के भी अंवक्तवियर उतर दिया। वाह मेरी बीवी कितनी सेक्सी और हॉट लग रही थी। पर मैं उसका पति वहा बस उसे देख रहा था। फिर दीपक ने उसके शरीर को चुनना शुरू किया, साथी मौन करने लगी-

“उम्म दीपक थोडा धीरे कृपया आह्ह्ह्ह …”

दीपक उसके नाभि को चुमे जा रहा था और साथी पागल हो रही थी।

“आह्ह्ह्ह ओ माय गॉड दीपक तुम कितने नॉटी हो आआ “आह्ह्ह्ह और किया किया किए किया किए किए आपने इसे कितने नटखट हो ?

फिर दीपक थोड़ा ऊपर जाके उसके मोटे मोटे स्तन को दबने लगा। एक हाथ से दबा रहा था दसरे को चुस रहा था और साथी पूरा लाल हो गई थी आराम के मारे।

“आह्ह्ह्ह ’ और बल्कि और भी..

फिर वो दीपक के लंड को पक्का के हंडजोब देना शुरू कर दी। दीपक का लंड काफ़ी बड़ा था मुझसे और मोटा भी कुछ वक्त वैसा चलता रहा। फिर दीपक ने अपने लंड को उसकेचुत के प्रवेश द्वार पर रख और साथी पागल हो गई।

“आआआह्ह्ह्ह उम्म्म…”

एक जोर के झटके से उसे अपने लंड को और घुसा दिया और साथी ने चिलके उसे पकाया लिया। फिर दीपक ने चोदना शुरू किया धीरे धीरे से और मेरी बीवी मौन कर रही थी। और अपने नाखुन से उसके पीठ पर निसान बना रही थी।

कुछ वक्त वैसे चोदने के बाद दीपक ने उसके दो जोड़े को अपने कंधों पर लिया और जोर से चोदने लगा। ये सब देख के मैं नहीं पाया और अपने लंड को हाट में लेकर मुठ मारने लगा। वहा मेरी बीवी रंदी की तरह मौन कर रही थी।

“आह्ह्ह्ह और जोर से दीपक मेरी चुत को फड़ दो ये सिर्फ तुम्हारा है आह्ह्ह्ह…”

दीपक उसे इतनी जोर से चोद रहा था की थाप करके आवाज हो रहा था जोर से। कुछ ही वक्त में साथी का पानी निकला और वो चिल्लायी।

“आआआह्ह्ह्ह

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

पर दीपक चोदे ही जा रहा था। याहा मुथ मरते मरते मेरा भी सॉस निकल गया। पर दीपक उसे चोदे ही जा रहा था। लगभग 1 घंटे के बाद दीपक को देखें एक्साइटेड हो रहा है और अपनी स्पीड को बड़ा दिया।

फिर एक जोर के थाप के साथ उसे मेरी बीवी के और अपना सारा माल निकल दिया। फिर दोनो लेटे रहे वहा पर थोड़ी देर फिर कुछ देर बाद दीपक रिचार्ज हो गया और फिर से चोदना शुरू कर दिया। ऐसे करके उस रात उसे 4/5 बार चोदा मेरी बीवी को।

हमारे दिन के बाद वो एक रूटीन सा बन गया। मैं अकेला अपने फ्लैट में रहता था। शादी के बाद साथी आ गई। मेरे माता-पिता दुसरे शहर में रहते हैं इसिलिए उनको भनक भी नहीं पड़ा।

हमारे फ्लैट में नियमित दीपक आने-जाने लगा और दोनो सेक्स करते थे। ये एक नॉर्मल रूटीन बन गया। कभी मैंऑफिस से घर आकर देखता था कि दोनो सेक्स कर रहे हैं।

पर ये सब के बावजुत साथी ने मेरे साथ कभी बुरा व्यवहार नहीं किया। सेक्स को चोरकर पत्नी का सारा धर्म निभाती थी। खाना बनाना ती थी मेरा पुरा ख्याल रखती थी। मेरे माँ-बाप जब आते थे तब उनकी सेवा करती थी। हमें वक्त दीपक को मना कर देती थी आने के लिए।

हम अच्छे दोस्त बनकर रहने लगे। मैं दिल-ही दिल में उससे बहुत प्यार करता था और जनता था की लड़की बुरी नहीं है। बस वो भी दीपक से बहुत प्यार करता है।

कुछ महान के बाद अचानक एक दिन घर आया और देखा साथी रो रही है मैंने पुचा की क्या हुआ?

“वो चीटर निकला साहिल, दीपक एक नंबर का चीटर निकला। मुझे पता चला की उसे एक जीएफ बना लिया था मुझे छोड़कर कर और अब उससे शादी करने जा रहा है।”

मैं थोडा हेयरं हुआ पर अंदर ही अंदर मुझे शक था। की एक दिन ऐसा होने वाला है पर खामोश रहा वो बोलती रही…

“उसके लिए मैंने तुम्हारे साथ कितना बुरा किया। शादी तुमसे की और सुहाग रात उसके साथ मनया चीई… मैंने क्या किया है!” बोलके रोने लगी।

मैंने उसे अपने बहानों से लगाया एक दोस्त की तरह। और वो मुझे पकाने कर रोने लगी। फिर कुछ डर बाद मेरे बहनो में इतनी गई। अगले दिन से वो थोड़ा दुखी रहने लगी। पर मैं उसे खुश करने के लिए बहुत कुछ करने लगा फिल्में, खाना… फिर एकदिन वो रोटे बोली-

“साहिल मैं प्रेग्नेंट हूँ।”

मुझे थोड़ा बुरा तो लगा क्योंकि मैं जनता था की वो दीपक का बच्चा है। लेकिन वो अब एक ही तारिका था उसे खुश करने का तो मैंने कहा-

“वाह बहुत अच्छी खबर है।”

“क्या तुम्हें पता है न ये तुम्हारा बच्चा नहीं है?”

“मुझे फ़र्क नहीं पद ये तुम्हारा तो बच्चा है ना बस वही काफ़ी है।”

साथी रोने लगी और मुझे कास के पक्का लिया और कहा-

“तुम कितने अच्छे हो साहिल, मैंने तुम्हें पहचानना नहीं आई एम सो सॉरी।”

उसके बाद महीने बेटे लगे, मैंने उसका ख्याल रखा उसे मुझसे एक बार पुचा-

“क्यूं कर रहे हो मेरे लिए ये सब? मैंतो इसके लायक ही नहीं हूं जो मैंने किया तुम्हारे साथ। तुम किसी और अच्छी लड़की से शादी कर लो और मुझे चोर दो।”

उस दिन मैंने पहली बार अपनी बीवी से कहा-

“क्योंकि मुझे तुमसे प्यार है।”

वो इतना रोने लगी मुझसे गाले लग कर।

फिर और कुछ महिन बीट गए साथी ने एक प्यारी बच्ची को जन्म दिया। उसे देखते ही मुझे बाप वाली फीलिंग्स आ गई।

कुछ दिन अस्पताल में रहने के बाद साथी घर आई। हमारे माता-पिता को ये पता था की बच्ची हमारी है। अगले दिन मैं बच्ची के साथ खेल रहा था के साथी आई गुसे में और बोली-

“दीपक आ रहा है, फोन किया था माफ़ी मांग रहा था। बोला की उसके जीएफ ने उसे चोर दिया अब उसे गल्ती का एहसास हो रहा है।”

ये सुनके मैं शॉक हुआ और लगा अब क्या मेरी बीवी और बच्ची दोनो चीन जाएंगे। कुछ डेर बाद दीपक आया, और आते ही उसे बच्ची की तरफ खराबे ही लगा की साथी ने रोक लिया और कास के एक थापर लगा, और बोली-

“बस बाहर निकलो कमीने, मैं एक विवाहित महिला हूं जो मेरा पति है और वह हमारा बच्चा है। दुबारा मेरी तारफ आंख उठाके देखा या मेरे पति को नुक्सान पहुंचने की कोशिश की तो जूते से मारूंगी, बस निकल जाओ !!”

दीपक रोने लगा फिर रोटे वहा से चला गया, साथी मेरे पास आई और कही-

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

“आई एम सॉरी साहिल 1/2 साल के ऊपर हो गई हमारी शादी को और हम दीपक के लिए मैंने तुम्हारे साथ कितना बड़ा धोखा किया। हमारी शादी पे उसके साथ सेक्स किया आई एम सो सॉरी… आई लव यू साहिल प्लीज मुझे एक मौका दो, मैं दुनिया की सबसे अच्छी पत्नी बनके दिखूंगी, आई लव यू!”

ये सुनके मेरे आंखों से आंसू निकल गए और मैंने जोर से उसे गले लगा लिया। हम कास के एक दसरे को पके हुए फिर उसे धीरे-धीरे मुझे कपड़े उतारे कर दिया और खुद भी नंगी हो गई।

मां कसम बच्चा होने के बाद तो वो और भी ज्यादा सेक्सी हो गई थी। फिर उसे नीचे जकार मेरे लंड को मुह में लिया और चूसने लगी। जिंदगी में पहली बार अब मुझे इसका अनुभव हो रहा था।

फिर थोड़ी देर चूसने के बाद वो मेरे ऊपर आ गई और काउगर्ल पोजीशन में थाप मारने लगी। कुछ डर बाद मैंने उसे उल्टा कर दिया और जोर से चोदने लगा।

मेरी बीवी अब सच में मेरी बीवी बन गई थी। वो प्यार से मेरे बालो को सहला रही थी और मैं माल छोड रहा था। फिर एक समय के बाद मैंने अपना माल उसके अंदर दाल दिया।

शादी के 1/2 साल बाद मैंने अपनी वर्जिनिटी लूज की। उस दिन के बाद हम बहुत गहरे प्यार में पद गए। कुछ महिनो बाद वो फिर से प्रेग्नेंट हो गई, इस बार मेरे बच्चे के साथ।

और 9 महिने बाद एक प्यारे बेटे को जन्म दिया। अगले साल एक और बेटा हुआ हमारा। 5 साल गुजर गए हैं मैं अब अपनी बीवी और तीन बच्चों के साथ खुशी से रहता हूं।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “दिल्ली कैंपस की लड़की”

धन्यवाद।

नमस्कार।।

 

 

50% LikesVS
50% Dislikes

2 thoughts on “पत्नी का अफेयर

  1. Next time I read a blog, Hopefully it wont fail me as much as this particular one. I mean, Yes, it was my choice to read, however I really believed you would have something helpful to talk about. All I hear is a bunch of whining about something you could fix if you werent too busy searching for attention.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *