लंड के पानी से करवाचौथ का व्रत तुड़वाया

 285 

अभागन बहन को लंड के पानी से करवाचौथ का व्रत तुड़वाया।

https://nightqueenstories.com के सभी चुदक्कड़ पाठकों को मेरा लंड से दण्डवत नमस्कार। साथियों मेरा नाम सिंटू है और मैं एक पुलिस इंस्पेक्टर हूँ। अभी 6 महीने पहले ही मैं ताजा ताजा इंस्पेक्टर बना हूँ।

यह कहानी है मेरी खूबसूरत जवान बहन की जिसका हस्बैंड एक रण्डी को लेकर भाग गया और मेरी खूबसूरत दीदी को छोड़ दिया। लेकिन मेरी दीदी आज भी उसका इंतजार करती है। जबकि साल भर से ज्यादा हो गए। उस हरामी का नाम का सिंदूर आज भी वो लगाती है।

मेरी दीदी की उम्र 26 साल है और 2 साल पहले ही शादी हुई थी लेकिन एक साल बाद ही उसका हस्बैंड एक बाजारू औरत को लेकर मुम्बई भाग गया। वह कही मुम्बई में रहता है लेकिन उसका कोई आता पता नही है। लेकिन मेरी दीदी उसे भुला नही पा रही है और उसे आज भी यकीन है कि वो उसके पास लौटकर आ जायेगा। मैं हर रोज दीदी के उदास चेहरे को देखता हूँ तो मुझे उस हरामी आदमी पर बहुत गुस्सा आता है। मेरे जीजा के भागने के बाद कुछ दिन बाद मेरी दीदी की सास ताना मारकर घर से निकाल दी और सारा दोष मेरी दीदी पर ही मढ दी। तो दीदी मेरे घर आ गई।

तो दोस्तों हम दो भाई बहन ही हैं दीदी मुझसे 2 साल बड़ी है। तो उस दिन करवचौथ का व्रत था मैं भी छुटियो में घर आया हुआ था। आज मेरी दीदी किसी अप्सरा से भी खूबसूरत लग रही थी। क्योंकि वो आज दुल्हन की तरह सजी हुई थी। लेकिन वह खुश नही थी बल्कि उसके चेहरे पर उदासी साफ झलक रही थी।

दोस्तों मेरी दीदी को भगवान बड़ी फुर्सत में बनाया है वह 5 फिट 4 इंच लंबी हैं। और बेहद खूबसूरत हैं। लेकिन फिर भी मेरा जीजा एक बाजारू औरत के प्यार में पड़ के दीदी को छोड़ दिया। वो कहावत है ना दिल लगी दीवार से तो परी क्या चीज है। वही मेरी दीदी के साथ भी हुआ था।

दीदी की उदासी दूर हुई मेरे लंड के पानी से भाई बहन की अनोखी चुदाई

मेरी दीदी किसी दुल्हन की तरह सज संवरकर छत पर चांद के निकलने का इंतजार कर रही थी। लेकिन उस दिन चांद भी गच्चा दे रहा था। और बादल की वजह से नही निकल रहा था। दीदी के मदद के लिए मैं भी छत पे ही था। फाइनली चांद निकला और दीदी उस भगोड़े जीजा के फोटो छलनी में देखने लगी। और रोने लगी। मेरे से ये सब देखा नही जा रहा था। लेकिन मैं कर भी क्या सकता था। फिर मैं उठा और दीदी के हाथ से छलनी और फोटो लिया और नीचे रख दिया और दीदी को पानी पिलाने लगा लेकिन वो नही पी और हाथ से हटा दी। और मेरे सीने से लगकर रोने लगी। मेरे भी आंखों से आंसू छलक पड़े।

फिर मैं उनके आंसू पोछे और उन्हें चुप कराया। जब वो शांत हो गई। तो मैं एक बार फिर उन्हें पानी पिलाने की कोशिश किया लेकिन वो मना कर दी। फिर थोड़ी देर बाद मैं उन्हें लेकर नीचे चला गया। और वो मॉम डैड का पैर छुई। उनको कोई कुछ नही बोलता था। हां शुरू में उन्हें सब समझाने की कोशिश जरूर किये थे। लेकिन उनकी दुख की वजह से माँ पिताजी बोलना छोड़ दिए।

रात के 10 बज चुके थे और माँ पिताजी सोने चले गए। और मैं और दीदी टीवी ही देख रहे थे। फिर दीदी को मैं खाना खाने बोला तो बोली आज मन नही है मैं कल ही व्रत तोड़ूंगी।

फिर वो बोली तुम खा लो भाई। और फिर दीदी ही मुझे अपने हाथों से खिलाई। अब मैं बोला कि दीदी मुझे नींद आ रही है मैं सोने जा रहा हूँ। आप भी आराम करो दिन भर भूखी हो। तो दीदी बोली भाई आज तुम मेरे साथ ही रहो मुझे आज अकेले रहने का मन नही कर रहा है। तो मैं बोला ठीक है दीदी चलो मेरे रूम में बिस्तर भी बड़ा है। शादी से पहले मैं और दीदी अक्सर पढ़ते पढ़ते मेरे बिस्तर पर ही सो जाते थे।

दीदी की राउंड शेप गोरी गांड़ देखकर मेरे अंदर हवस का शैतान जाग गया

फिर दीदी बोली भाई तुम चलो मैं चेंज करके आती हूँ। और दीदी अपने रूम में चली गई। और 10 मिनट बाद आई तो वह बहुत सेक्सी लग रही थी मेकअप अभी भी उनके चेहरे पर था। और वो लाल रंग की लिपिस्टिक लगाई थी लेकिन गाउन वह पिंक पहनकर आयी थी जो कि जालीदार था। उस जालीदार गाउन के नीचे चुचियों से घुटनों तक एक फ्रॉक जैसा था। लेकिन दीदी की मोटी जांघे और पैर बिल्कुल साफ दिख रहे थे। फिर हम सोने बिस्तर पर आ गए। कुछ देर हम बातें किये लेकिन फिर मुझे नींद आने लगी सो मैं सो गया।

रात को जब मुझे पेशाब लगा तो नींद खुला और फोन में समय देखा तो 2 बज रहे थे। फिर मैं उठा और दरवाजे के पास पहुँच के लाइट ऑन किया और बाथरूम में चला गया। और जब वापस आया तो हैरान हो गया दीदी की जालीदार गाउन एक तरफ थे और उनके अंदर वाला फ्रॉक उनके गांड़ के ऊपर कमर पर थे जिस कारण दीदी की लाल रंग की पैंटी साफ दिख रही थी। और उस लाल रंग की पैंटी में कसी हुई चुतड़ें ऐसा लग रहा था जैसे जबरदस्ती उन्हें उस पैंटी में ठूसा गया हो।

उनकी गोल मटोल गोरी गांड़ देखकर मेरे अंदर हवस जाग गया और मैं लाइट ऑफ किया और अपना शॉर्ट्स उतार कर रख दिया और दीदी के पीछे जाकर लेट गया। थोड़ी देर बाद मैं दीदी के गांड़ पर हाथ रख दिया। दीदी कोई प्रतिक्रिया नही की तो मैं उनकी गांड़ को सहलाने लगा। उनकी गांड़ बिल्कुल मुलायम थे। फिर मैं दीदी के पैंटी को नीचे कर दिया। मुश्किल से मैं उनकी पैंटी को नीचे कर पाया था। और फिर अपना अंडरवियर नीचे कर दिया और अपने 8 इंच के लन्ड को दीदी के गांड़ में रगड़ने लगा उनकी गांड़ की दरार में मेरा लन्ड रगड़ खा रहा था। लेकिन मुझे मजा नही आ रहा था। तो मैं दीदी के पैरो को फैलाने की कोशिश करने लगा। लेकिन नाकामयाब रहा। फिर मैं दीदी के ऊपर वाले पैर को आगे किया तो उनकी चुत पीछे हो गई। और जब मैं उनकी चुत पर हाथ लगाया तो देखा उनकी चुत पूरा गीला है। फिर मैं अपना लंड उनके चुत पर लगाकर एक जोर से शॉट मारा तो मेरा लन्ड का सुपाड़ा उनकी चुत में घुस गया और दीदी सीसीसीसीईईईईईसीसीसीसीईईईईई करके हाथ पीछे की और बोली भाई अच्छे से चोदो। मैं समझ गया कि दीदी जागी है और मजे ले रही है। फिर वह सीधा हो गई और बोली भाई आज करवाचौथ है और मेरी चुत साल भर से तड़प रही है। मेरी चुत को चोदकर तृप्त कर दो। और अपने लन्ड के पानी से मेरा व्रत तोड़ो। इतना सुनते ही मैं दीदी के ऊपर आ गया और घपाक से अपना लंड उनकी चुत में डाल दिया। दीदी चीख उठी लेकिन मैं बिना परवाह किये चोदने लगा। उन्हें भी मजा आने लगा तो वह कामुक आवाज में कहने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii अपने दीदी को रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह मेरे भाई अपनी बहन को करवाचौथ का तोहफा दे दो। … आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii .. और जोर से चोद चोद मुझे।।। ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईiii आज मुझे रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह मेरे राजा… चोदो जोर से……. आहहहहहहहहहहहहह पूरे ताकत से चोदो…. मेरी चुत को फाड़ डालो…..

उसके बाद तो जो चुदाई होने लगा। मैं जोर जोर से दीदी को चोदे जा रहा था। वो भी गांड उठा उठा के धक्के दे रही थी और मैं ऊपर से पूरा प्रहार कर रहा था बस कमरे में आहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहह उफ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ आहहहहहहहहहहहहह की आवाजें गूंज रही थी। उनके चूत से फच फच की आवाज आ रही थी। बुआ लगातार आहहहहहहहहहहहहह8हहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह फक भाई फक हार्ड.. आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहह भाई चोदो अपनी बहन को फाड़ दो अपनी बहन की चुत उफ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ उफ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ उफ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ उफ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ कर रही थी। और मैं जोर जोर से चोदे जा रहा था। उनकी कड़क चूचियों को मसलते हुए लंड को चूत में दनादन मार रहा था। वो चीला रही थी चोदो भाई चोदो इस चूत को कभी ढंग से चुदवाने का नसीब नही हुआ। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. मुझे आज चोदकर निढाल कर दो भाई आज मैं तुम्हारे लन्ड के पानी से करवाचौथ का व्रत तोड़ना चाहती हूँ। उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… .सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहह

आज सारा कसर निकाल दो। चोदो मेरी प्यासी चुत को। चोदो मेरे भाई। चोदो मेरी प्यासी चूत। मैं पिछले 45 मिनट से दीदी को चोद रहा था और दीदी 7 बार झड़ चुकी थी। और अब मेरा लन्ड पानी छोड़ने वाला था तो मैं बोला दीदी मेरा लन्ड पानी छोड़ने वाला है तो दीदी मुझे धक्का दी और उठकर बैठ गई। और मेरे लन्ड को पकड़र मुँह में ले ली। और चूसने लगी मैं भी उनके मुँह को चोदने लगा और मेरा लंड दीदी के मुँह में पानी निकाल दिया। दीदी मेरा सारा वीर्य पी गई। और लन्ड को चाटकर साफ की और बोली भाई तुमने मेरे करवाचौथ का व्रत लन्ड का पानी पिलाकर तोड़ दिया। और मुझे अपने बाँहो में भर ली।

उसके बाद मैं नंगे ही गया और फ्रीज से मिठाई ले आया। और दीदी को खिलाने लगा तो दीदी मेरे हाथ से मिठाई पकड़ी और मेरे लन्ड पर रखकर खाने लगी। और बोली आज से मेरी उदासी दूर हो गई। और मैं आज से उस हरामी के नाम का सिंदूर नही लगाउंगी और वह सिंदूर पोछ दी। और बोली भाई आज से तुम मेरे पति हो। तुम्ही मेरे सबकुछ हो। और मुझे बाँहो में भर ली। और फिर से एक राउंड हम चुदाई किए।

चुत को चोदकर तृप्त करने के बाद मैं दीदी के गांड़ का सिलभंग किया

तो मैं बोला दीदी आज जब हम सुहागरात मना ही रहे हैं तो क्यों न आपकी गांड़ की भी उद्घाटन कर दें तो दीदी बोली आज तुम्हारे लिए सब फ्री है भाई। आओ अपनी बहन की गांड़ मार लो। और वह गांड़ फैला के लेट गई।

और बोली भाई धीरे धीरे करना। फिर मैंने अपना लंड उनकी गांड में डालने लगा लेकिन वो अंदर नहीं जा रहा था। फिर दीदी बोली कि अपने लन्ड पर और मेरी गांड पर ढेर सारा पहले थूक लगाओ। और एक उंगली पर थूक लगाकर पहले गांड के अंदर डालो। और जगह बनाओ फिर लंड डालना मैंने ऐसा ही किया ढेर सारा थूक अपने लंड पर लगाया और उनके गांड पर भी फिर एक उंगली अंदर डाला बुआ दर्द से तड़प गयी और बोली दर्द हो रहा है। फिर मैं अपना लंड उनकी गांड पर लगाया और जोर से धक्का दिया मेरा पूरा लंड अंदर चला गया मेरी दीदी के मुंह से चीख निकल गया और बोली बहुत दर्द हो रहा है भाई। फिर मैं आगे पीछे होने लगा। अब दीदी को भी मजा आने लगा। वो भी गांड उचका के साथ देने लगी। और कहने लगीं गांड में तो और भी मजा आ रहा है भाई। मैंने उनके चूतड़ों पर जोर से थप्पड़ मारता और जोर से अंदर अपने लंड को घुसा देता, अब मैं उनको कुतिया बना दिया। और पीछे से उनकी गांड चोदने लगा समूचा लंड अंदर जा रहा था। दीदी की चूचियां निचे लटक रही थी मैं उनकी चुचियों को आगे हाथ कर के पकड़ा और मसल रहा था। वह कराह रही थी। और कहने लगी। मारो मेरी गांड भाई। तूने आज मेरी गांड़ की भी सील तोड़ दी। अब ये रण्डी पूरी तरह तुम्हारी है। बहुत मजा आ रहा है। चोदो मेरी गांड को।

और मै करीब 1 घंटे तक दीदी की चूत और गांड को चोदता रहा। मेरा लंड पानी छोड़ने वाला था तो दीदी बोली रुको भाई मुझे सीधा होने दो। तुम अपना लंड का पानी मेरे चूत में छोड़ना। क्योंकि बहुत दिनों से मेरी चुत लन्ड का पानी नही पी है। और फिर दीदी सीधी हो के लेट गयी और मुझे अपने उपर खींच ली और लंड को पकडकर अपने चुत में लगाई और मैं धक्के मारने लगा। 5,6 धक्कों के बाद मेरा लंड फव्वारा छोड़ने लगा। दीदी मुझे कस के पकड़ ली और अपना गांड उठा उठा के मेरे लंड के रस को अपने चूत में लेने लगी। फिर मैं वैसे ही लंड डाले दीदी के ऊपर लुढ़क गया। हमदोनो की गर्म सांसे तेज तेज चल रही थी। उस रात हम कई बार चुदाई किए। अब दीदी बिल्कुल खुश हैं। फिर हम एक दूसरे के बांहों में नंगे ही लिपट कर सो गए।

तो दोस्तों ये थी मेरी दीदी के उदास चेहरे पर खुशी लाने की दवा। कहानी आपको कैसी लगी मुझे बताना। मैं जल्द ही इस कहानी के अगले भाग लेकर आऊंगा।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “अंकल कहूँ या जान”

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

76% LikesVS
24% Dislikes

3 thoughts on “लंड के पानी से करवाचौथ का व्रत तुड़वाया

  1. My whataap no (7266864843) jo housewife aunty bhabhi mom girl divorced lady widhwa akeli tanha hai ya kisi ke pati bahar rehete hai wo sex or piyar ki payasi haior wo secret phon sex yareal sex ya masti karna chahti hai .sex time 35min se 40 min hai.whataap no (7266864843)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *