सौतेली माँ का लाडला

सौतेली माँ का लाडला – गन्दी बाते और चुदाई की मज़ेदार कहानी

https://nightqueenstories.com

अपने घर के पास वाली गली में जहा बस एक पुराना bulb धीमे से जलता था, जीवन अपने दोस्त प्रकाश से बात कर रहा था, “यार प्रकाश में अंदर ही अंदर जल रहा हु , तड़प रहा हु। आज कल मेरी सौतेली माँ जिस तरह के कपडे घर पर पहनती है , उसे देखते ही मेरा मन करता है की उसे पकड़ कर मैं उसे चोद दालु। ”

“तो रुका क्यों है साले , चोद दे ना उसे। तेरे लंड की लालच में ही तुजे ललचा रही होगी वह। ”

“पता नहीं यार , लेकिन उसकी साड़ी का पलु आजकल बिखरा हुआ रहता है। उसकी बड़ी चूचिया tight blouse से डूबकर कभी भी बहार आ सकती है और कमर भी दिखाती है वह मुझे। मखन है प्रकाश उसकी कमर , गोरी चिकनी। ”

“बस कर रे जीवन , मेरा लंड खड़ा हो रहा है। ऐसी लालच तू मुझमे पैदा करेगा तो मुझे जमना बाई के कोठे पे जाना पड़ेगा और वहा जाने के लिए अभी मेरे पास एक फूटी कोड़ी भी नहीं है। ”

“क्या करू में प्रकाश , वह रोज़ मेरे सामने मेरे आसपास ही होती है। में उसके ख्याल से अपने आप को मुक्त नहीं कर पा रहा हु। ”

“अच्छा एक idea मुझे सुझा है। ”

“idea ? केसा idea जल्दी बता , मैं उसे चोदने के लिए कुछ भी कर सकता हु। ”

“उसके मन में तुजे लेकर क्या ख्याल चल रहे है ये जानने के लिए शुरवात तो तू ऐसी कर के कुछ भी अजीब ना लगे। तू ना मूतने के वक़्त तभी जा जबी वह bathroom के आसपास होती है और दरवाजा खुला रख। वह किस तरह तुझे जवाब देती है और केसी प्रतिक्रिया देती है उसे हम आगे क्या करना है ये सोच पाएंगे। ”

जीवन को प्रकाश का ये idea ज़बरदस्त लगा और उसने ऐसा करने की ठान ली फिर अगले दिन ही मौका पा कर जीवन उसी वक़्त पेशाब करने गया जब उसकी सौतेली माँ कपडे धो रही थी और bathroom का दरवाजा खुला रखकर वह अपना काम करने लगा। जब उसकी माँ को आवाज़ आई तो वह जीवन के पीछे आ कर खड़ी होगई और जीवन से कहा , “दरवाज़ा बंद करले बेटा, वरना कुछ ऐसा वैसा देख लिया मेने तो ?”

जीवन मुड़ा और उसने अपनी सौतेली माँ को अपने लंड की बस एक झलक दिखाई और एक naughty smile देते हुए वहा से चला गया। सबसे पहले उसने ये खबर phone पर प्रकाश को दी और प्रकाश ने उसे आगे का plan बताया।

“अब तो बेटा बाज़ी तेरे हाथ में है , तुजे बस अपनी और उसकी हिम्मत बढ़ानी है। ”

“ये कैसे होगा ?”

“अब जब भी मौका मिले तुजे , घर में पुरे दिन कभी भी उसे अपना खड़ा लंड दिखा। ”

“चल ठीक है , लगता है की आज रात ही इसके साथ चुदाई होजायेगी मेरी। ” ख़ुशी और उत्साह से जीवन ने प्रकाश से कहा।

stepmother

https://nightqueenstories.com

“all the best मेरे चीते , लेकिन मेरा भी ख्याल रहे , मैं भी तेरी सौतेली माँ की लेना चाहता हु। ”

“जरूर भाई , वो मौका भी हम दोनों मिलकर तयार करेंगे। ”

Call काटने की बाद जीवन बस मोके की ही तलाश में था , लेकिन घर पर उसके पापा और छोटी बेहेन के होने के कारन जीवन को मौका नहीं मिल पा रहा था। आखिर में हताश होकर जीवन ने bathroom में जा कर मुठ मारने की सोची।

Bathroom में जीवन के हाथ एक कमाल की चीज़ लग गई , उसने देखा की उसकी सौतेली माँ की एक गन्दी panty वहा नलके पर पड़ी थी। गन्दी इसीलिए क्युकी उसने अब तक उसे धोया नहीं था और उसकी चुत के पानी के सफ़ेद दाग panty पर अब भी लगे हुए थे।

जीवन तो मानो ऐसा होगया था जैसे किसी कुत्ते के हाथ हड़ी लग गई हो , वह उस panty को सूंघने लगा और उसकी खुशबू ने जीवन को पागल सा बना दिया , जीवन ने अपना लंड बहार निकाला और अपनी सौतेली माँ को चोदने का ख्याल लेकर मुठ मारने लगा।

अपनी खुमारी में खोया जीवन बस झड़ने ही वाला था की तभी दरवाजे पर दस्तक हुई , जीवन की आँख खुल गई , बहार से आवाज़ आई , “अरे जीवन अंदर तू है क्या ? मेरे कुछ कपडे अंदर रह गए है , जल्दी बहार आ। ” जीवन की सौतेली माँ ने बहार से कहा।

जीवन को ये मौका सबसे बढ़िया लगा और उसने दरवाजा पूरा खोल दिया। उसकी सौतेली माँ को अब जीवन के खड़े लंड के दर्शन होगये और उसका मुँह खुला का खुला रह गया। जीवन ने उसकी panty को बहार फेका और दरवाजा बंद करके अपना काम पूरा करने लगा। panty से तो अबतक चुत की खुशबु का नशा जीवन के सर चढ़ चूका था।

दिन अपनी तरह से आगे बढ़ता रहा और जीवन भाईसाहब को कोई अंदाज़ा नहीं था की अब आगे क्या होने वाला था।

अब बारी जीवन की सौतेली माँ की थी , कुछ नज़ारा वह जीवन को दिखाना चाहती थी। रात के अंधेर में जीवन को उसने नींद से उठाया, उस वक़्त अपने कमरे में अपने सपनो की रानी को देख जीवन के होश उड़ गए। जीवन को समज नहीं आ रहा था की वह क्या कहे , वह हड़बड़ाने लगा और उसकी सौतेली माँ ने उससे कहा , “साले कमीने , मुझे अपना लंड दिखाता है ? मेरी panty को सूंघकर मुठ मरता है?”

“वो मै…”

“कमीने , घड़े जैसा बड़ा लंड लेकर बकरी की तरह मै मै मत कर। चल चढ़ी खोल अपनी। ”

“लेकिन अगर पापा जग गए तो ?”

hardfuck

“तुम्हारे पापा एक बार जो सोजाते है तो फिर भूकंप भी उन्हें नहीं उठा सकता , जैसे की उनका लंड भी बिकुल नहीं उठता। जो आग वह नहीं बुजाते , वो अब तुजे बुझानी होगी। ”

उसकी ऐसी बाते सुनकर जीवन का लंड खड़ा होगया , लेकिन जीवन अब भी घबरा रहा था। सौतेली माँ ने जीवन की चढ़ी खींच ली और उसके खड़े लंड को बहार निकाला। “चल अब पास आ। मुझे तेरा लंड चूसना है। ”

जल्दी से उसने अपने लाल लाल होटो से जीवन के लंड को चूसना शुरू किया। जीवन के लिए ये उसके सबसे बड़े सपने की पूर्ति थी , अपनी आखे बंद करके वह आनद ले रहा था। उसकी सौतेली माँ बड़ी लगन से उसका लंड चूस रही थी , “अहह , क्या लंड है तेरा , बड़ा और मज़ेदार , जब मेरी गरम चुत में जायेगा तो सारी आग बुजादेगा। ” फिर वह खड़ी होगई और अपनी साड़ी को खोलने लगी , जीवन की आखे पूरी तरह से खुल चुकी थी।

“यही देखने के लिए बेताब था ना तू , मेरे गोर गोर बड़े ममे। आज तुजे अच्छे से दर्शन मिलेगा। बहुत आग लगाई है तूने आज पुरे दिन में। ”

उसने अपना blouse खोल दिया और अब उसकी बड़ी चूचिया पूरी तरह से नंगी थी। जीवन खड़ा होकर उन पर टूट पड़ा और पागलो की तरह उन्हें दबाता और चुस्त रहा।

जीवन की सौतेली माँ ने उसे बिस्तर पर धका मार कर लेटा दिया और उसके ऊपर आकर खड़ी होगई। “साले कुत्ते , जैसे मेरी panty को सूंघते हुए तूने मुठ मरी थी अब भूके जंगली कुत्ते की तरह मेरी चुत भी चाट। ”

वह झुक कर , जैसे औरते पेशाब करती है जीवन के चेहरे पर बैठ गई और अपनी गीली चुत जीवन से चटवाई। जीवन ने भी अपनी सौतेली माँ की चुत को बहुत मज़ेदार तरीके से चाटा और उसे बहुत मज़ा दिया। “आह आह… करहाती हुई वह चुदाई के लिए भुकी होती जा रही थी।”

जीवन को बिस्तर पर ही लेटाकर वह उसके लंड पर बैठ गई और उससे कहा , “सेल तू क्या मुझे चोदेगा, तुजे तो में चोदूंगी। अब देख जैसे मै तेरे लंड पर उछलती हु , कैसे मेरी चूचिया ऊपर नीचे हिलती है। उन्हें ज़ोर ज़ोर से दबा और मेरी गोरी चूचियों को मस्त लाल करदे। ”

फिर वह जीवन के लंड पर उछलती रही और उसकी बड़ी बड़ी चूचियों की उछाल देखकर तो जीवन से रहा नहीं गया और वह अपनी सौतेली माँ की चुत में ही झडगाया। वह हसने लगी , “अरे तू तो बहुत उतावला निकला रे , इतनी जल्दी झड़ गया , चल कोई बात नहीं कल दोबारा मौका मिलेगा तुजे। दूध बादाम दूंगी तुजे नाश्ते में ताकि तू झड़े नहीं इतनी जल्दी और हाँ अब मुठ मारना बंद करदे। ”

अपनी चुत पर पानी मारकर और जीवन के लंड की मलाई अपनी चुत से निकालकर वह उसके कमरे से चली गई।

जीवन जिसे ये सब अब भी एक सपना लग रहा था , अपने बिस्तर पर लेटा आगे आनेवाले दिनों के बारे में सोचने लगा और फिर उसे बहुत बढ़िया नींद आगई।

सुबह उसकी आँख प्रकाश के बार बार आने वाले call से खुली , “अबे थोड़ी देर और सोने दे प्रकाश। ”

“उठजा कबूतर , लगता है कल काफी गुटर गु हो गई। ”

प्रकाश ने किसी तरह जीवन से पूरी बात उगलवाली और फिर ये ज़िद भी की के वह खुद उसके घर रातको आना चाहता था चुदाई के लिए। जीवन और प्रकाश में भहस छिड़ गई और फिर गुस्सा होकर जीवन ने phone रख दिया। उस पुरे दिन जीवन की सौतेली माँ ने उसकी बहुत खातिरदारी की , उसे अच्छे से खिलाया पिलाया ताकि रात में वह मजबूती से टीका रहे।

बेसब्री से रात को जीवन अपने कमरे में इंतज़ार कर रहा था और थोड़ी देर के इंतज़ार के बाद उसकी सौतेली माँ उसके कमरे में आई। उसे देखकर जीवन के होश उड़ गए। उसने लाल रंग की साड़ी पहनी थी जो बिलकुल हलकी सी थी , उसका गोरा जिस्म साड़ी से साफ़ साफ़ दिख रहा था। होठो पर लाल रंग की lipstick और खुले बालो में वह गजब खूबसूरत लग रही थी। जैसे वह जीवन के पास आई तो पीछे से किसी ने कमरे का दरवाजा बंद करदिया। दोनों ने मूड कर देखा तो पीछे प्रकाश खड़ा हुआ था।

“साले जीवन , माज़े तुजे अकेले लूटने है। ”

जीवन की सौतेली माँ जो प्रकाश को देखकर हैरान थी , उसने जीवन से कहा , “साले कमीने तू मेरे बारे में गली के लफंगो से बात करता है। ”

प्रकाश , “अरे मौसी आज इस लफंगे को एक मौका देकर देखो। ”

जीवन उठ खड़ा हुआ प्रकाश को कमरे से निकालने के लिए , लेकिन उसकी सौतेली माँ ने उसे रोक दिया , “हम्म रुकजा , वैसे idea बुरा नहीं है। तुम दोनों अगर मुझे चोदते हो तो हम सभी का इसमें फायदा है। ”

प्रकाश , “ये हुई ना समझदारी वाली बात मौसी , अपना लंड बहार निकालते हुए प्रकाश ने कहा। ”

bigboobs

 

https://nightqueenstories.com

प्रकाश का लंड जीवन से ज़यादा मोटा और लम्बा था , “ये फरक है , घर के कुत्ते और गली के आवारे कुत्ते में। ” मुस्कुराते हुए जीवन की सौतेली माँ ने कहा।

वह प्रकाश के पास गई और झुककर उसका लंड चूसने लगी , प्रकाश जीवन की तरह शांत स्वाभाव का नहीं था। वह तो जीवन की माँ की ताबड़तोड़ चुदाई के इरादे से घर में गुसा था। उसने जीवन की सौतेली माँ का सर पकड़ा और उसका मुँह चोदने लगा। अपनी आखे ऊपर करके जीवन की माँ ने प्रकाश को जंगली नज़रो से देखा और उसके लंड को काफी अंदर तक लेने लगी।

प्रकाश को बहुत माज़ा आ रहा था , उसने उन्हें उठाया और उनका blouse फाड़कर उनकी चूचियों को बहार निकाल दिया। और nipple को हलके हलके से काटते हुए चूसने लगा। जीवन की माँ करहाने लगी , “आह आह… , साले कमीने लगता है तू ज़ोर ज़ोर से चोदेगा।”

साड़ी को उठाकर प्रकाश ने उन्हें बिस्तर पर लेटा दिया और उनके दोनों पैरो को अपने खंडो पर लेकर जम कर उनकी चुदाई करने लगा। जब जीवन की माँ ने उसे उदास देखा तो उसे कहने लगी , “तू भी आजा , मुँह लटकाए क्यों बैठा है। ” तो जीवन ने उनकी बात सुनकर कोई जवाब नहीं दिया। प्रकाश अपना काम बहुत ही जबरदस्त तरीके से करता रहा, उसने तो जीवन की माँ की चुत से पानी का फवारा निकाल दिया।

चुदाई होने के बाद वह जीवन के घर से चला गया और जीवन की सौतेली माँ जीवन को मनाने लगी , “देख मुझे ऐसी चुदाई की ज़रूरत थी। नाराज़ मत हो कल से बस तू और मैं ही करेंगे। ”

ये बात सुनकर जीवन का चेहरा खिल उठा।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *