Scientist से हुई शादी

कमरे में हो गई बर्बादी – चुत की गर्मी मिटाना सबके बस की बात नहीं

 

Scene 1 – present

 

पूजा को ,मणिलाल की factory में चुप चुप के चुदवाते हुऐ देख रहा था मगन…

 

बंसी , “आ… हम्म… , पूजा रानी तेरी चुत जैसा मज़ा और कही नही है। लंड अंदर जाते ही , तेरी गीली चुत गज़ब का मज़ा देती है। ”

 

पूजा मज़े से कराह रही थी, “”आ… आ… ओ! तेरा लंड भी कुछ कम नही है बंसी , बहुत अंदर तक जाता है और जम कर मज़े देता है। ”

 

Factory floor पर चादर बिछाकर बंसी पूजा को चोदरहा था। पूजा लेटी थी और बंसी उसके ऊपर था ,काफी ज़ोर ज़ोर से धके लगा कर बंसी अपने लंड को पूजा की गीली चुत के अंदर बहार कर रहा था।

चुत चुदाई

पूजा बस आखे बंद कर अपने पैर फैलाए लेटी थी , उसकी चुत काफी खुल चुकी थी और बहुत ज़यादा गरम भी हो चुकी थी। बंसी की ठुकाई से उसके बड़े बड़े दूध , बहुत मस्त तरीके से हिल रहे थे। बंसी थोड़ा झुका और पूजा के गुलाबी  निप्पल चूसने लगा , फिर ज़ोर से उसने अपने दोनों हाथो से उसके दूध दबाए। पूजा की चीख निकल गई और उसने बंसी से कहा , “लाल करके छोड़ेगा आज तो तू मेरे दूध और चुत को। ”

 

“तू है ही इतनी मलाईदार , तुजे चोदते हुऐ मुझे तुजे खाने का मन करता है। ”

 

पट पट… आवाज़ ज़ोरो से होरही थी, झांग से झांग टकराने की जैसे जैसे बंसी पूजा को ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था।

 

“आ… पूजा में जड़ने वाला हु।”

 

“निकालो अपना लंड और मेरे दूध पर अपनी मलाई को निकालो”

 

बंसी ने लंड चुत से बहार निकाला और पूजा की चूचियों को अपनी मलाई से पूरी तरह भर दिया। पूजा उसे अपनी चूचियों पर मसलने लगी और बंसी और पूजा एक दूसरे को चूमने लगे। बंसी तो पूजा के निचले होठो को काट रहा था जिसके कारन , पूजा के निचले होट पर ज़ख़्म भी हो गया।  पूजा दर्द से कराइ और बंसी को अपने से दूर ढका देते हुऐ कहा , “हरामी , ऐसी हरकत मत कर , घर पर जवाब देना पड़ता है मुझे। ”

 

हस्ते हुऐ बंसी ने कहा , “कह देना किसी मधु मखी ने गुलाब समझ कर काट लिया। ”

 

बंसी तब अपने कपडे पहनकर वहा से चला गया और पूजा अपनी चोली और लेहेंगा पहनें लगी।

 

मगन ने तो दूर से इस मज़ेदार चुदाई को देख मुठ मारली थी। पूजा के वहा से निकलते ही , मगन उसका पीछा करते हुऐ उसके घर गया।

 

Scene 2 – flashback

 

पूजा मगन की चचेरी बेहेन थी जो २३ साल की कुवारी थी। मगन २७ साल का था और उसकी अब तक शादी नहीं हुई थी। मगन देखने में खास नहीं था , छोटा कद और चौड़ी नाक , आखे बड़ी बड़ी और दुबला पतला शरीर।

चुदाई की कहानी

मगन की माँ ने अकेले ही उसका पालन पोषण किया था क्युकी मगन का बाप गांव की एक मास्टरनी के साथ जवानी में भाग गया था। तो नाही शकल सूरत और नाही पैसा, बहुत सारे जतनो प्रयास के बाद भी मगन की शादी नाही हो रही थी। मगन के बिलकुल विपरीत , उसकी चचेरी बहन पूजा गजब की हसीना थी, ३६ इंच के उभरे हुऐ स्तन और मस्त मटकने वाली गांड। गोरा साफ़ रंग और भूरे बाल , पूजा को देखने वाले बस पहेली ही नज़र में उसकी तरफ आकर्षित होजाते थे। कहे भी क्या , पूजा किसी को नाराज़ नही करती थी , जो उससे भा जाता था, पूजा उससे मणिलाल की factory में ले जाया करती थी, अपने को चुदवाने के लिए।

 

पिछले महीने ही मगन को इस बात का पता चला था और तबसे वह अपनी छोटी बहन पूजा को चुदवाते हुऐ देखने लगा था।

 

Scene 3 – continuation of present

 

जैसे ही पूजा अपने घर पहुची तो उसने देखा की घर पर काफी चेहेल पहल थी। पूजा को देख कर तो सभी और ज़यादा खुश होगये , तभी पूजा की माँ उसके पास आई और उसे कहा , “सुन तेरी शादी ते होगई है। ”

 

ये बात सुनकर तो पूजा के होश उड़ गए और उसने नाराज़ होकर अपने घर वालो से कहा , “ऐसे कैसे ते कर्ली आप लोगो ने मेरी शादी ? में अपने पसंद के लड़के से ही शादी करुँगी। ”

 

इसी बात पर सभी की नोक जझोक होने लगी और मगन को देख सबने उससे पूजा को मनाने कहा। मगन पूजा के साथ उसके कमरे में गया और उससे कहने लगा , “देखो पूजा , ये लड़का जो है ये scientist है , काफी अच्छी कमाई है इसकी , तुम्हे जीवन भर किसी बात की कमी नही होगी। ”

 

“लेकिन मगन भइया, मुझे किसी ऐसे आदमी के साथ अपना जीवन नही बिताना जिसके साथ मेरी समझ ना मिले। आपको तो पता ही की गांव की लड़कियों के मुकाबले मेरी सोच कितनी अलग है। ”

 

मुस्कुराते हुऐ मगन ने कहा , “हाँ ये बात में अच्छे से जानता हु की गांव की लड़कियों के मुकाबले तुम कितनी अलग हो। तुम्हे रोज़ खेलते खुदते देखता जो हु में। देखो मेरी मानो तो इससे शादी करलो , तुम्हारे जीवन में कुछ खास परिवर्तन नही आएगा क्युकी ये लड़का अपने परिवार के साथ नही रहता , ये दिल्ली में कही अकेले रहता है। ” कुछ दिनों तक सभी पूजा को मनाने में लगे रहे और एक दिन फिर पूजा लड़के से मिली , उससे लड़का ठीक लगा और मगन की बात को ध्यान में रखते हुऐ पूजा शादी के लिए मान गई। बस कुछ ही दिनों में फिर पूजा की शादी भी होगई और शादी के तुरंत बाद पूजा अपने पति के साथ दिल्ली आगई। सब कुछ इतनी जल्दी और कम समय में हुआ था की अब तक पति पत्नी के बीच सुहागरात भी नही मनी थी। पूजा को चुदवाये अब काफी दिन हो चुके थे और उसकी बेसब्री बढ़ती जा रही थी। अपने पति को रिझाने के लिए पूजा ने बड़ी ही सेक्सी लाल रंग की nigh dress ले रखी थी जो वह रात में पहनकर bedroom में अपने पति के लंड की परीक्षा लेना चाहती थी।

 

पूजा का पति काफी कम बोलता था और अपने काम काज में मशरूफ रहता था। पूजा की खूबसूरती अब तक उससे sex के लिए रिझा नही पाई थी , जब खाना खाने के बाद वह कमरे में आया तो उसने गजब का नज़ारा देखा , पूजा उस लाल night dress में उसके सामने कड़ी थी , lace होने की वजा से night dress में से पूजा के boobs बड़े कमाल के दिख रहे थे , उसके गुलाबी निप्पल काफी tight थे उस रात और शायद पहेली बार पूजा के पति को इस बात का एहसास हुआ था की उसकी पत्नी की चूचिया इतनी बड़ी थी।

sex stories in hindi

पूजा को देख कर scientist शाहब के लंड का क्या हाल था वो तो नही पता लेकिन उसका मुँह खुल गया और आखे बड़ी होगई। पूजा उसके पास गई और उसके पेजमे का नाडा खोल दिया , जब पेजमा नीचे गिरा तो पूजा ने देखा की उसके पति का लंड काफी छोटा था और खड़ा भी नही था। वो नज़ारा देख कर पूजा के होश उड़ गए लेकिन उसने इस बात को ज़ाहिर नही होने दिया , वह लंड को चूसने लगी और अपने हाथ से हिलने लगी लेकिन उस लंड पर कोई असर नही हो रहा था। पूजा ने गुस्से से अपने पति की तरफ देखा और उसने दर के मारे अपना पेजमा ऊपर कर लिया और बिस्तर पर जाकर कम्बल ओढ़कर सोगया।

 

पूजा तो पूरी रात रोती रही लेकिन उसका पति कुछ नही बोलै , सुबह शर्मिंदगी के कारन वह बिना बात चित के चुप चाप तैयार होकर office भी निकल गया।

 

पूजा तो रोते हुऐ सोइ थी , तो जब उसकी दोपहर में आँख खुली , उसने अपने घर phone लगा कर जम कर इस बात का ढिंढोरा पीटा और जब इस बात की भनक मगन को लगी तो उसने तुरंत दिल्ली जाने का फैसला कर लिया।

 

मगन जब दिल्ली पहुचा और पूजा के घर गया तब पूजा का पति घर पर नही था , मगन को देखते ही पूजा उसके गले लग गई और फुट फुट कर रोने लगी , “मगन भइया , ये क्या होगया मेरे साथ , मेरा पति तो नपुंसक निकला , मुझे आपकी बात माननी ही नही चाहिए थी। ”

 

“आरामसे से सम्भालो अपने आपको पहले , कुछ नही बिगड़ा है , उल्टा सब कुछ आबाद है मेरी छोटी बहना। ”

 

“ये क्या कह रहे हो आप ?”

 

“तुम्हे मेरी बात याद नही ? शायद तुम समझी ही नही। मेने क्या तुम्हे ये शादी उसके लंड के लिए करने कही थी ?”

 

“साफ़ साफ़ कहो ना भइया। ”

 

“पगली तुमने ये शादी इसीलिए की है क्युकी ये आदमी भोला भाला है और इसके पास तुम्हे जीवन भर सुखी रखने वाला पैसा है। ”

 

“बस पेसो से थोड़ी ख़ुशी मिलेगी मुझे भइया। ”

 

“हाँ हाँ वो बात भी में जानता हु ” फिर हस्ते हुऐ मगन ने पूजा से कहा , “मणिलाल की factory वाली तेरी हर चुदाई को मेने देखा है और उस पर मुठ भी मारी है। ”

 

इस बात को सुनते ही कुछ पलो के लिए तो पूजा के चेहरे का रंग ही उड़ गया और फिर घबराकर उसने मगन से पूछा , “क्या ये बात आपके अलावा किसी और को भी पता है ?”

 

“नही नही , तू बिलकुल मत घबरा , किसी को भी तेरा ये राज़ नही पता है। अब अपने आशिको को अपने घर का पता बता दे या फिर दिल्ली में नए आशिक बनाना शुरू करदे। अपनी ज़िन्दगी का जमकर पूरा मज़ा उठा। ”

 

अपने भाई की इस सलाह ने तो पूजा के सारे दुःख दर्द मिटा दिए। उसने मगन के लिए बढ़िया सा खाना बनाया और उसकी अच्छे से खातिर दारी की। फिर दोनों भाई बहन दोपहर में बात कर रहे थे , पूजा ने मगन से पूछा , “अच्छा तो मेरी चुदाई देखते हुऐ आपको शर्म नही आई कभी ?”

 

“शुरवात में बस एक बार नज़र नीची की थी मेने पर अगर में सच कहु तो , तेरी चुत और तेरी ये दूध के tanker जिसने एक बार देख लिए हो , तो बस फिर इन्हे बार बार देखने का ही मन करता रहता है , शर्म , रिश्तेदारी वगेरा वगेरा का ख्याल ही नही रहता यार। ”

 

“ओह हो , क्या इतनी ज़यादा पसंद आई आपको मेरी चुत और मेरे बूबे ?”

 

“अरे तुम पसंद की बात करती हो , आज तक किसी और के बारे में सोच कर मुठ नही मारी है तेरे इस भाई ने। ”

हैरान होकर पूजा बोली , “अरे भाई तो क्या आप बस मूठल ही हो ? आज तक किसी को चोदा नही आपने?”

“अरे कहा बहन , मेरी शकल जैसी है , मुझसे कौन चुदवाना चाहेगा। ”

“चोदने का शकल से कोई connection नही होता है भाई , पर हाँ आपका लंड लम्बा होना चाहिए और चुदाई के वक़्त सख्त , तभी लड़कियों को बहुत मज़ा आता है। ” ये बात कहकर पूजा ने एक लम्बी आह भरी।

तब मगन ने पूजा से कहा , “मुझे लगता है की इस मामले में कुदरत ने मेरे साथ इंसाफ किया है बहन। मेरा लंड काफी लम्बा है और मुठ मरते वक़्त बहुत सख्त भी रहता है। ”

“ऐसी बात है , तब अगर आप बुरा ना मानो तो में देखना चाहूंगी आपका लंड। ”

“सच्ची ?” “मुचि। ”

 

मगन खड़ा होगया और उसने अपनी पंत उतार दी , उसने कच्छा नही पहना था तो पंत उतारते ही उसका लम्बा लंड पूजा के सामने था।

 

पूजा तो डंग रह गई ऐसा लम्बा और तगड़ा लंड देख कर , “ओह दइया, भइया ऐसा लंड तो मेने आज तक कभी नही देखा है। क्या में इससे आपने हाथो में ले सकती हु ?”

 

“हाँ ले लो। ”

पूजा ने मगन का लंड अप्ने हाथो में पकड़ा और उससे धीरे धीरे हिलाने लगी , पूजा को ज़बरदस्त sex चढ़ने लगा था , बिना और कुछ सोचे समझे उसने मगन के लंड को अप्ने मुँह में ले लिया और उससे चूसने लगी। पूजा उससे अप्ने मुँह में अन्दर तक ले रही थी जिससे मगन को भी काफी ज़यादा मज़ा आ रहा था। मगन ने पूजा के सर को अप्ने हाथो में ले लिया और फिर अप्ने लंड से पूजा के मुँह को ही चोदने लगा।

पूजा ने फिर जल्दी से अपनी panty निकाली और सोफे पर झुककर उसने अपनी टैंगो को फेलाडिया। वह मगन के सामने घोड़ी बन गई और मगन से कहा की वह अपना लंड पीछे से उसकी गीली चुत में डाले। पूजा की  गुलाबी चुत तो पानी पानी हो चुकी थी और ऐसा नज़ारा देख कर बेताब मगन भइया से रहा नही गया। मगन ने अपना लंड जल्दी से पूजा की चुत में डाला तो पूजा की चीख निकल आई। मगन को किसी बात का होश नही था उसने जम कर पूजा की चुदाई शुरू करदी और तक़रीबन २० मिनट तक वह पूजा को चोदता रहा।

 

पूजा ने तो इस चुदाई का भरपूर मज़ा उठाया और फिर दोनों दोपहर से शाम तक तीन बार चुदाई की

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *