सौतेली मां का चूत

 34 

36 साल की सौतेली मां का चूत का सहारा बना 18 साल का बेटा

मेरे सभी प्यारे दोस्तों और https://nightqueenstories.com के सभी प्यारे पाठकों को मैं पूरे सम्मान के साथ नमस्कार करता हूं। दोस्तों कैसे हो आप सब, उम्मीद करता हूं आप सभी बहुत अच्छे होंगे।

दोस्तो, मेरा नाम राजेश्वर भारती है। और मैं अभी 18 साल का हूं और समय से पहले जवान और समझदार बन गया हूं। मेरी मॉम का तब डेथ हो गया था जब मैं 12 साल का था। और मॉम के जाने के एक साल बाद ही मेरे पापा उनके ऑफिस में काम करने वाली एक बूढ़ी औरत के बेटी से शादी कर लिए थे। दरअसल वो बूढ़ी औरत वहां पानी पिलाने का काम करती थी और बहुत गरीब थी इसलिए वो अपनी बेटी की शादी दहेज देकर तो कर नही सकती थी थी तो बाद में उसके साथ मेरे पापा का टांका भी गया और वह अपने सुखी चूत का हथियार बनाकर मेरे पापा को फांस ली और फिर वह अपने घर बुलाने लगी और फिर वह अपने बेटी को मेरे पापा के साथ सोने के लिए बोल देती।

वो लोग भले गरीब थे लेकिन उसकी बेटी बहुत सोनी थी और मेरे पापा को गिफ्ट में जवान चूत मिल गया तो वो उसपर लट्टू हो गए। और फिर वह उससे जल्दी ही शादी करके अपनी बीवी बना के घर ले आए। मैं अपने मॉम डैड का इकलौता संतान था। लेकिन मेरी मॉम के जाने से मैं जल्दी समझदार बन चुका था। जब मेरी सौतेली मां घर आई तो मुझे वो बहुत ज्यादा पसंद नहीं करती थी। मेरी सौतेली मॉम का नाम प्रीति है वो तब 30 साल की थी जब मेरे घर मेरी पापा को पत्नी बनकर आई थी।

चूत की आग ने कैसे एक सौतेले बेटे को मां का चूत का मालिक बना दिया

मेरे पापा ड्यूटी चले जाते और मैं स्कूल और मॉम दिन भर घर में अकेले रहती। और मुझे जल्द ही पता चल गया की मेरी नई मॉम के कई यार हैं जो मेरे और पापा के घर में ना रहने पर वे आते हैं। चुकी पापा और उसके उम्र में 17,18 साल का फर्क था शायद इसीलिए पापा उसे चुदाई ठीक से कर नही पाते होंगे और इसीलिए वो अपने यार से चुदवाती थी। लेकिन मेरे रहते उसे चुदाई करवाने में दिक्कत होती थी इसीलिए वो मेरे पापा से बोल के मुझे हॉस्टल में पढ़ने भेज दी। और अपनी चूत की तपिश अपने यारों से खुलकर बुझाने लगी।

इधर 2 साल पहले मेरे पिताजी को हार्ट अटैक आया और वो चल बसे। और मैं हॉस्टल से घर आ गया। लेकिन कुछ दिन बाद मैं हॉस्टल जाने बोला तो मॉम बोली की यह मैं सारी चीजे अकेले कैसे मैनेज करूंगी अभी यही से पढ़ाई करो बाद में हॉस्टल चलें जाना। दरअसल मेरे पापा सरकारी अधिकारी थे तो उनकी जगह मेरी मॉम को नौकरी मिलना था क्योंकि मैं अंडर एज था। मैं तब 17 साल का ही था। और पापा के देहांत के बाद उनके फंड और मॉम के नौकरी के लिए भागदौड़ करना था इसीलिए मॉम मुझे हॉस्टल नही जाने दी। और मैं मॉम के साथ भागदौड़ करने लगा।

फाइनली 6 महीने लग गए और मॉम का नौकरी लग गया मॉम का नौकरी एक क्लर्क के पद पर लगा था। और वह ड्यूटी करने लगी। अब मेरा भी मन हॉस्टल जाने का नही कर रहा था। क्योंकि पापा के जाने के बाद मैं थोड़ा उदास सा हो गया था और मॉम ऑफिस में व्यस्त रहती थी। वो मुझे अपने बेटे की तरह ही मानती थी लेकिन उनके पास भी तो अब समय नही था। मैं एक दिन अपने दोस्त के घर गया तो उसकी मॉम उसे अपने हाथो से खाना खिला रही थी वो अरे दोस्त को बहुत प्यार करती थी। उस दिन मैं दोस्त के घर से जल्दी ही वापस आ गया। और घर आ के रूम बंद करके बहुत रोया। क्योंकि मुझे आज मॉम की बहुत याद आ रही थी। मैं 3, 4 घंटा रोया और अपने मन को शांत किया। इस दिन मेरा मन बहुत बोझिल था। फिर शाम 5 बजे मॉम घर आई। तो मुझे उदास देखी और रोने की वजह से मेरी आंखे लाल हो गई थी और सूजन भी हो गया था। अब मेरी मॉम भी मुझे बहुत प्यार करने लगी थी और इसीलिए उन्हें मेरा दर्द से दर्द होता था। तो मुझसे पूछी की राजू क्या हुआ तुम्हारी तबियत ठीक नहीं है क्या?बताओ क्या हुआ तुम्हारी आंखे इतनी लाल और सूजी हुई क्यों है। तो मुझे फिर से रोना आ गया क्योंकि मॉम के जाने के बाद से अब तक मुझे कोई गले तक नहीं लगाया था। तो मॉम परेशान हो गई और वो भी रोने लगी और बोली बोलो क्या हुआ है। और फिर उनकी नजर मेरे बगल में। पड़ी मेरी असली मॉम की तस्वीर दिख गई जिसपर आज दिन भर मैं आंसू बहाया था। तो वो समझ गई कि मैं क्यों रोया हूं। और तभी वो दौड़कर मेरे पास आई और मुझे गले लगा ली। दोस्तों उस समय मानो मुझे नई जिंदगी मिली। मैं बहुत खुश हुआ और खुशी के आंसू हम दोनो मां बेटे के आंखो में थे। करीब 10 मिनट मॉम मुझे अपने सीने से लगाए रखी। और फिर मेरे सर पर किस करते हुए बोली राजू मैं हूं ना बेटा मैं तुम्हारी मॉम हूं। तुम्हे परेशान होने की जरूरत नहीं है तुम्हे कुछ भी चाहिए या कुछ भी कहना हो तो मुझसे कहो। मैं तुम्हारी मॉम हूं बेटा।

दोस्तों मॉम के जाने के बाद मैं अपने पापा से भी कभी कुछ भी डिमांड नही किया था। मैं बिल्कुल नटखट से एक मैच्योर लड़का बन गया था भले इस समय मैं 12,13 साल का था। खैर उस दिन के बाद मॉम मेरा बहुत ख्याल रखने लगी और मुझसे बहुत अच्छे से बात करती। उन्हे एहसास हो चुका था की मैं अकेला महसूस कर रहा हूं। खैर मॉम भी तो अकेला थी,भले उनका अफेयर रहा हो लेकिन अपनी के साथ समय बिताना और चूत की आग बुझाना अलग अलग बातें है।फिर मैं भी मॉम को बहुत मानने लगा। हम अच्छे से बातें करते। अब मैं मॉम को ऑफिस छोड़ने जाने लगा बाइक से। और लेने भी जाता। मेरा करीब होने का नतीजा ये हुआ की मॉम को जिम्मेदारी का एहसास हो गया और मुझे ही वो अपना दुनिया मानने लगी। और फिर उनका अपने यारों से दूरियां बढ़ने लगी।

मॉम तो ऑफिस चली जाती और मैं कॉलेज। लेकिन मैं बाद में जाता था और मॉम 8 बजे ही चली जाती थी। वो ज्यादा काम करके जाति थी लेकिन फिर भी कुछ न कुछ काम रह जाता तो मैं ही करता। एक दिन मैं साफ सफाई कर रहा था तो सोचा मॉम का बेड भी साफ कर दूं, और मैंने जब मम्मी की बिस्तर का गद्दा हटाया तो देखा वहां सेक्स कहानियों की किताबें और अलग अलग सेक्स पोजीशन की फोटो वाली किताब थी। मैं ये सब देखकर पागल हो गया।

दूसरे वाले किताब में चुदाई की नंगी फोटो देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया। मेरा लंड 7 इंच का मोटा लंड है। मैं वो किताब उठा कर पढ़ने लगा उस किताब में सेक्स की पोजीशन के बारे में लिखा हुआ था, और दूसरी में सेक्स कहानियां। ये सब देख कर मेरे मन में मेरी सौतेली मम्मी के लिए गंदे ख्याल आने लगे, मैं अपनी मम्मी को चोदने के बारे में सोचने लगा। और मुट्ठ मारा और फिर वो किताबें वहीं रख दिए। खैर मैं अब तक मॉम के बहुत करीब हो चुका था अक्सर उनके गले लग जाता जब किचन में खाना बनाती तो मैं पीछे से पकड़ लेता वो भी मेरा प्यार देख के बहुत खुश रहती।

और फिर रात को हम दोनों ने खाना खाया और सोने चले गए। उस दिन मुझे नींद नहीं आ रहा था तो रात 12बजे मुझे लगा कुछ आवाज आ रहा है चुकी मॉम का रूम बगल में ही था तो मैं बाहर निकला और सुनने लगा मॉम भी कभी दरवाजा नहीं लगाती थी, और परदे के पीछे से मैं सुनने लगा मॉम मोबाइल में पोर्न मूवी देख रही थी तो मैं थोड़ा पर्दा हटाकर देखा तो मॉम दनादन अपने चूत में उंगली कर रही थी। सामने फोन में पोर्न चल रहा था और मॉम अपनी मम्मों को दबाती हुई चूत में उंगली तेज तेज कर रही थी। मम्मी की चुत पर काफी बाल थे। ये सब देख कर मैं पागल हो गया। थोड़ी देर बाद शायद वो झड़ गईं चुपचाप सो गईं।

सुबह सब नॉर्मल था लेकिन मैं रात के नज़ारे याद करके मदहोश हो रहा था। मैं दिन भर अपनी सौतेली मम्मी को चोदने के बारे में सोचता रहा और अब मैंने सोच लिया था कि आज तो इन्हें चोदकर ही रहूंगा। रात को हम दोनों ने खाना खाया और मैं अपने बिस्तर पर लेट कर सोने की एक्टिंग करने लगा। और मुझे तो नींद आ नही रही थी। फिर मॉम को लगा कि मैं सो गया तो वो 12 बजे रात फिर से उंगली करने लगी। और तभी मैं खटर पटर किया तो वो उंगली करना बंद कर दी और आवाज दी मुझे तो मैं बोला मॉम मुझे नींद नहीं आ रहा haito वो बोली ठीक है आप मेरे पास सो जाओ। मैं तो खुशी के मारे उछल पड़ा।

वो पूरे मूड में थीं, उनके पैर कांप रहे थे, क्योंकि उनकी चूत तो आज प्यासी ही रह गई थी। और फिर मैं उनके बगल में सो गया मेरा लंड पूरी तरह खड़ा हो चुका था और मुझे जब लगा वो सो गई तो मै उनके मम्मों को ऊपर से ही दबाने लगा, तो वे जाग गईं। और उन्होंने मेरा हाथ हटाया और उठ कर बैठ गईं और बोली पागल हो गया है ये क्या कर रहा है, होश में तो है ना? पर मैं उनकी बातों को अनसुना कर दिया और फिर से उनके दूध को दबाने लगा। उन्होंने फिर से मुझे दूर किया और हंस कर कहने लगीं, तू ज्यादा जवान हो गया है, चल भाग यहां से। अपनी गर्लफ्रेंड से जाकर ये सब करना। क्यों तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या। तो मैं बोला नहीं आप ही मेरा सबकुछ हो आपके अलावा मैं किसी और को देखना भी नही चाहता। और आपको भी मेरी जरूरत है, ये मुझे मालूम है. प्लीज़ मुझे मौक़ा दो मैं आपकी सारी कमी दूर कर दूंगा। और मम्मी हैरान होते हुए बोली ये तुझे किसने कहा है कि मुझे तेरी जरूरत है? मुझे भी जोश आ गया, फिर मैंने उस किताब को निकाला और पूछा- ये सब क्या है? वो सहम गईं और चुप हो गईं, मैंने कहा, मॉम आप जवान हैं और इस उम्र में सबको जरूरत होती है इसमें आपकी कोई गलती नहीं ahi आप रोज पोर्न देखती हो और फिंगर करती हो। इसलिए मैं आपको वो सुख देना चाहता हूं जिसकी आपको जरूरत है। मैं जानता हूं अभी भी आपको चुदवाने के मन है क्योंकि आज आपकी चूत की आग शांत नही हुआ है। आप पूरा नहींकर पाई हो। फिर वो बोली तुम अभी अपने रूम में जाकर सो जाओ, सुबह बात करेंगे. लेकिन मैंने कहा- नहीं जो भी बात है, अभी होगी, आपको चुदवाने का बहुत मन है ना मैं आपकी उस इच्छा को पूरा करूंगा। आखिर आपका भी तो मेरे अलावा कोई और नहीं है। तो मेरा फर्ज बनता है की मैं आपकी हर इच्छा पूरा करूं। और वो मुझे गले से लगा ली और बोली अरे मेरा प्यारा बेटा मेरे खुशी की इतनी फिक्र है मेरे लाल को। फिर मैं उनकी ओर बढ़ा और उन्हें लिटा दिया, अगले ही पल मैं अपनी मम्मी के मम्मों को मसलने लगा। मैंने उनके होंठों पर अपने होंठों रख दिए और चूसने लगा, मैंने एक हाथ से उनकी नाइटी को ऊपर किया और उनकी चुत को मसलने लगा। अब वह मेरे पूरे कब्जे में थी और हिल भी नहीं पा रही थीं. मुझे ऐसा लग रहा था कि मॉम मुझसे छूटने की कोशिश नहीं कर रही हैं। शायद वो मुझसे सेक्स करने में संकोच कर रही थीं, कुछ देर बाद मैंने उन्हें छोड़ दिया, और वह बैठकर कहने लगीं, बेटा ये सब ठीक नहीं है, ये कहते हुए मेरी मॉम की आँखों से आंसू आने लगे मैंने उनके आंसू पोंछे और कहा।

फिर मैंने कहा, मॉम आप हमेशा से मेरी सारी जरूरतें पूरा करती आई हो, बिना मांगे मुझे सब दे देती हो। अब से मैं भी आपकी सभी जरूरत पूरा करूंगा। वो बोलीं- ऐसा नहीं हो सकता, तुम मेरे बेटे हो, मैं तुमसे कैसे चुदवा सकती हूं ऐसे में यह पवित्र रिश्ता खराब हो जाएगा, किसी को पता चलेगा तो लोग क्या बोलेंगे। मैंने कहा- ये बात सिर्फ हम दोनों के बीच में ही रहेगी, किसी को भी पता नहीं चलेगा। इसके बाद वह कुछ कहतीं उससे पहले उनके होंठों पर मैं अपने होंठ चिपका दिए और जोर जोर से किस करने लगा, वो शुरू में तो थोड़ा हिचकिचाईं, फिर बाद में वो भी किस करने लगीं। मेरी मम्मी सचमुच बहुत कामुक थीं। उन्होंने मेरे होंठ काट दिए और उनमें से खून निकलता देख वो उसे भी चूसने लगीं। फिर मैं भी उनके बूब्स को जोर जोर से दबाने लगा और एक हाथ से उनकी चुत को रगड़ने लगा। मॉम की पैंटी पूरी तरह गीली हो चुकी थी कुछ मिनट बाद मैं मॉम से अलग हो गया और अपने सारे कपड़े उतार दिए।

फिर वो हिचकिचाई और बोली बेटा इसे यहीं तक रहने दो अब और आगे मत बढ़ाओ, ये ग़लत है। तो मैं कुछ नहीं बोला और उनको बैठाया और गाउन निकालने लगा तो वो विरोध नहीं की लेकिन मना कर रही थी लेकिन फिर भी मैं गाउन उतार दिया। और उनका गोरा शरीर चमक उठा, वो नीले रंग की ब्रा और पैंटी में बहुत सेक्सी लग रही थीं, मैंने मम्मी की ब्रा को निकाल फैंका उनके दूध काफी बड़े और मुलायम थे, और फिर मैं उनकी पैंटी भी खीच के निकाल दिया। मैंने उनकी चुत देखी, उभरी हुई सी मस्त फूली चुत थी। पर उस पर झांटें बहुत घनी उगी थीं। मैंने कहा- मॉम आप झांट साफ क्यों नहीं करती हो? तो मॉम बोली बेटा किसके लिए करती।

और फिर मैं उनको लेटा के नीचे आया और उनकी दोनो टांगो को फैला के चूत पर मुंह लगा दिया। जैसे ही मैंने उनकी चुत पर मुँह रखा, वो एकदम से तिलमिला उठीं मैंने उनकी प्रतिक्रिया को दरकिनार किया और चुत चाटने लगा, मॉम अब अलग ही दुनिया में पहुंच गई थीं। और वो खुद ही मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत में धकेलने लगीं। कुछ मिनट चुत चाटने के बाद उनकी चुत लाल हो गई और अब तक मेरा लंड भी एकदम कड़क लोहा हो चुका था। मैं देरी ना करते हुए उनकी चुत पर लंड रगड़ने लगा, वो एकदम से पागल हो गईं, और कमर उछालने लगी और सेक्सी आवाज करने लगी मैंने उनका यह रूप पहले कभी नहीं देखा था मैंने जैसे ही अपनी मम्मी की चुत में लंड डाल कर धक्का लगाया, तो मेरा लंड का सुपाड़ा अन्दर घुस गया, चुकी मैं अनादि था इसलिए सही से लंड डाल नही पाया था।

और मॉम की चुत भी किसी 13 साल की बच्ची की तरह टाईट थी क्योंकि कई महीनो से उनकी चुदाई नही हुई थी। वो मेरे लंड के अन्दर घुसते ही चीख उठीं पर मैं नहीं रुका, और दुबारा धक्का मारा इस बार मेरा पूरा लंड उनकी चुत को चीरते हुए बच्चेदानी तक चला गया। मेरी मम्मी दर्द से चिल्ला उठीं और मुझे दूर धकलेने लगीं। वो मुझसे लगातार हटने को कह रही थीं, पर मैं रुकने वाला नहीं था मैं और जोर जोर से धक्का लगाने लगा और मॉम की चुत चोदने लगा, लंड के तेज धक्कों से उनके दूध एकदम नाचने से लगे थे। मैं उनकी चूचियों को जोर जोर से मसलने लगा, अब उन्हें बहुत मजा आने लगा तो चिल्ला चिल्ला के चुदवाने लगी फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. चोदो बेटा चोदो उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड आहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो हहहहहहहहहहहह…….. जोर से आहहहहहहहहहहहहहहह……

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड फक माइ पुसी बेब फक ओह प्रदीप यु आर सो नाइस हैंडसम हंक यु और रियल उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. इरर्राहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो इरर्राहहहहहहहहहहहहहह…….. फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो हहहहहहहहहहहह…….. जोर से आहहहहहहहहहहहहहहह……

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. अपनी मॉम की चूत फाड़े बेटा मेरी चूत की सारी गर्मी निकाल दे। सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. इरर्राहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… .सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आह हहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. फक मय पुसी किंग ओह माइ किंग ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह सससीईईईईईई .. और जोर से चोद चोद मुझे ..आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह सससीईईईईईई अपने मॉम को रंडी बना ले अपनी .. और जोर से चोद.. आह फाड़ डाल मेरी चुत। आहहहहहहहहह

और 35 मिनट की धक्कमपेल चुदाई के बाद मॉम 5 बार झड़ गई और अब मेरा माल बाहर आने वाला था तो मैं बोला मॉम मेरा माल बाहर आने वाला है तो वो बोलीं- प्लीज़ अपना लंड बाहर निकालो मेरे अन्दर मत झड़ना मैं तुम्हारे बच्चे की मां नही बनना चाहती पर मैंने कुछ नहीं सुना और मम्मी की चुत के अन्दर ही अपना सारा माल गिरा दिया। और मैं उनके ऊपर लेट गया मेरी मम्मी ने मुझे जोर से भींच लिया और सीने से चिपका लिया और बोलीं- अब से तू ही मेरा सब कुछ है, मेरी प्यास बुझाने वाला भी तू ही है, मैंने भी अपनी मम्मी की सेक्स की समस्या सुलझा दी थी और अब हम मां बेटे रोज चुदाई करने लगे और घर में पति पत्नी की तरह और बाहर मां बेटे की तरह रहने लगे।

तो मेरे सेक्सी पाठकों कैसी लगी यह मां बेटे की हार्डकोर चुदाई।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “फर्स्ट क्लास चुदाई भाग -2

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

Meet Women Online!!

धन्यवाद।

 

67% LikesVS
33% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *