कार में प्रिंसिपल मैडम चुद गई भाग-2

चलती कार में प्रिंसिपल मैडम चुद गई भाग-2

हेलो दोस्तों मेरा नाम सोनिया सक्सेना है। मैं दिल्ली की हूँ और एक सफल बिजनेस वीमेन हूँ। मेरी उम्र 28 साल है। और मेरी फिगर हाहाकारी है। जो एक बार मुझे देख ले उसका लन्ड बिना चुवे ही पानी छोड़ देता है। 32 की मेरी चुचियाँ और 28 कि कमर है और जो सबसे खास है वो है मेरी गांड़ हाँ दोस्तों मेरी गांड़ की साइज 38 इंच है। और बिल्कुल दिल के आकार का है।

वेसे तो मेरे कई बिजनेस हैं होटल, रेस्टोरेंट, मॉल लेकिन जो मेरे लिए सबसे अहम है वो है मेरा स्कूल। जी हां मैं उस स्कूल के प्रिंसिपल हूँ जो वर्ल्ड के टॉप 10 स्कूल में से एक है।

यह कहानी बाहर की नही बल्कि मेरे घर की ही है। और यह मेरे और मेरे 16 साल के देवर के बीच की है। हां दोस्तों यह घटना मेरे सोलह साल के देवर और मेरी चुदाई की है।

कहानी के सार को अच्छे से समझने के लिए पहले भाग को अवश्य पढ़ें।

……पहले भाग भाग-1 का कुछ अंश……

अभी जोर जोर से मेरी चुत चाटे जा रहा था और मैं ड्राइव कर रही थी। हम करीब 70 km दिल्ली से दूर आ गए थे। अब मुझसे रहा नही जा रहा था। तो मैं तेजी से सोचने लगी कि क्या करूँ। और मैं गाड़ी स्लो कर दी। चुकी हाइवे था इसलिए मुझे समझने में दिक्कत हो रही थी। फिर मैं इधर उधर नजरें दौड़ाने लगी। चुकी इस रास्ते पर मैं अक्सर आती थी क्योंकि दून में मेरा एक ब्रांच था। और कई होटल भी तभी मुझे उस बगीचे का याद आया जिससे लगभग 15 km मैं आगे आ चुकी थी। मैं गाड़ी वही से मोड़ दी। अभी मेरी चुत चाट चाटकर मुझे पूरा पागल कर चुका था। …….. अब आगे पढ़िए……..

कैसे एक 16 साल का जवान देवर अपने 28 साल के भाभी की चुत चाटकर पानी निकाला और चोदकर चुत की प्यास बुझा डाला

मेरी गाड़ी 150 से ज्यादा की स्पीड में दौड़ रही थी। और अगले 5 मिनट में ही वो बगीचा मुझे दिख गया जहां मैं अक्सर आते जाते रुककर थोड़ी देर बैठती थी। मैं गाड़ी स्लो की और उस ओर मोड़ दी। चुकी रात का मौसम था इसलिए उस बगीचे में बिल्कुल सूनापन था। और मैं जानती थी कि दूर दूर तक यहां कोई नही होता है। हां दिन में लोग आकर बैठ जाते हैं। लेकिन फिर भी एहतियात के तौर पर मैं गाड़ी के लाइट से देखनें कोशिस की तो यहां भूत भी नजर नही आया। अभी को तो पता ही नही था कि गाड़ी रुक चुकी है वह तो चुत चाटने में व्यस्त था।

फिर मैं गाड़ी के सभी लाइट को ऑफ कर दी। मेरी गाड़ी एक बड़े से आम के पेड़ के नीचे था। वैसे यहां सभी पेड़ बड़े बड़े थे। और मेरी काले रंग की फॉर्च्यूनर अंधेरे में बिल्कुल नही दिख रही थी। फिर मैं अभी को उठाई और उसके होंठो को किस करने लगी। उसे मैं जोरदार किस की थी।

अब मैं बिना देरी के चुदना चाहती थी। सो मैं अभी को बोली कि पीछे चलो। और बिना गाड़ी को खोले अंदर से ही वह पीछे चला गया और फिर मैं भी पीछे आ गई।

बेटा मैं तो कई दिन से तुमसे चुत चटवाना चाहती थी। लेकिन तू तो मेरे पास आता ही नही था बस मेरी गांड़ चुत देखकर मुठ मार के ठंडा हो जाता था और अपनी भाभी को प्यासा ही छोड़ देता था।

चुकी मैं जानती थी कि अभी का लन्ड काफी देर से खड़ा है और उसे टच करते ही लन्ड पानी छोड़ देगा क्योंकि अभी वह बच्चा था उसे तो पता भी नही था कि औरत को क्या चाहिए होता है। सो मैं सब्र दिखाई। मैं नही चाहती थी कि वह चुत में लन्ड डालते ही झड़ जाए। मैं उससे पूरी तरह संतुष्ट होना चाहती थी। इसलिए मैं फैसला की की मैं अभी के लन्ड को हिलाकर एक बार पानी निकालूंगी। फिर चुत में लुंगी। और मैं अभी को पकड़ी और उसके होंठो पर अपना होठ रख दी। मेरे गर्म सांसों ने उसे भी पागल कर दिया। मैं उसके होंठो को जोर जोर से चूसने लगी। अभी मस्त हो चुका था फिर मैं अपना हाथ नीचे की और उसके लन्ड को पैंट के ऊपर से सहलाने लगी। वो अलग बात था कि वो अभी महज 16 साल का था लेकिन उसका लन्ड मेरे पति के लन्ड से बड़ा ही था। वह भी मेरे चुत को सहला रहा था। तो मैं बोली जोर से रगड़ो अभी तो वह जोर से रगड़ने लगा। फिर वह मेरे कानों में बोला भाभी आप पैंटी पहनना भूल गई थी क्या तो मुझे हसी आ गई और बोली नही मैं जानबूझ के पैंटी उतार दी थी ताकि तुम्हे मेरी चुत चाटने में दिक्कत ना हो। तो वह बोला भाभी आप तो पहले से चुत चटवाने का प्लानिंग कर रखी थी। तो मैं बोली बेटा मैं तो कई दिन से तुमसे चुत चटवाना चाहती थी। लेकिन तू तो मेरे पास आता ही नही था बस मेरी गांड़ चुत देखकर मुठ मार के ठंडा हो जाता था और अपनी भाभी को प्यासा ही छोड़ देता था।

मेरी इन बातों ने अभी के अंदर ऐसा जोश भर दिया था कि अब वह भी नही रुक पा रहा था। फिर मैं उसे लेटाई और बोली अब मेरी बारी है मेरे सोना। अब मेरा कमाल देखो।

और मैं अभी की पैंट को खोल दीं और उसके पैरो से पैंट अलग कर दी। मुझे उसका लन्ड देखने का बहुत मन कर रहा था लेकिन गाड़ी के लाइट जलाने पर किसी को पता चल सकता था। इसलिए मैं अपने मन को मसोस के रह गई। अब मैं अभी के लन्ड को पकड़ी और झुक गई। और उसके लन्ड के सुपाड़े पर जीभ फिराई। अभी तो पागल हो गया और बोला आहहहहहहहहह….. भाभी….. और फिर मैं उसे अपने होंठो और जीभ का कमाल दिखाना शुरू की। मैं उसके लन्ड को मुंह मे लेकर ऊपर नीचे करने लगी। वह और पागल हो गया। और नीचे से गांड़ उछाल के मेरे मुँह को चोदने लगा। मैं तो उसके लन्ड को आइसक्रीम की तरह चूस रही थी। और वह आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. भाभी उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. मेरी भाभी उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आआहहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी….. भाभी मजा आ रहा है

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. सच भाभी बहुत मजा आ रहा है। उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. भाभी… ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… और तभी उसका शरीर ऐंठने लगा तो मैं समझ गई कि यह पानी छोड़ने वाला है। और फिर उसका लन्ड मेरे मुँह में वीर्य छोड़ने लगा। दोस्तों अभी का वीर्य बहुत गर्म था। शायद बच्चा होने के कारण उसकी वीर्य में इतनी गर्मी थी। मैं जीवन मे इतनी गर्म वीर्य कभी नही पी थी। सो आज मैं तृप्त हो गई थी। मैं समूचा वीर्य निगल गई। और अभी के लन्ड को चाटकर अच्छे से साफ की।

अभी शांत हो चुका था फिर मैं आगे आयी और उसके ऊपर आकर अपने चुचियों को उसके छाती पर रगड़ने लगी। फिर मुझे कम मजा आया तो मैं उसके टी शर्ट को उतारी और अपनी कुर्ती भी उतार दी। और उसके छाती पर अपनी चुचियाँ रगड़ने लगी। और उसके होंठो को चूसने लगी। वह भी मेरे होंठो को अच्छे से चूस रहा था। वह किसी चुदक्कड़ मर्द की तरह मेरे होंठो को चूस रहा था। फिर मैं अपनी चूची उसके मुंह मे दे दी वह चूसने लगा। और एक हाथ से एक चूची को दबाने लगा। दोस्तों मैं तो पहले से पागल हो चुकी थी और अब जल्दी से चुदना चाहती थी। फिर मैं उठी और उसके मुँह पर चुत रख दी। और बोली अभी चुसो मेरी चुत। मैं तो चुदना चाहती थी। लेकिन मुझे फिर से चुत चटवाना पड़ रहा था क्योंकि अभी का लन्ड अभी पानी छोड़ा था। और फिर से उसके लन्ड को खड़ा होने में समय लगता। और फिर मैं पूछे हाथ की और अभी के लन्ड को पकड़ के सहलाने लगी। कुछ ही देर में उसका लन्ड खड़ा होने लगा। इस दौरान मैं लगातार उसके मुँह पर चुत रगड़ रही थी।

अभी मेरे चुत को इतना चाटा था कि उसके 3, 4 धक्कों से ही मेरी चुत पानी छोड़ दिया

अब अभी का लन्ड फिर से ताव में आ चुका था सो मैं नीचे की तरफ आई और उसके लन्ड को एक बार फिर चूसने लगी। मैं अच्छे से उसके लन्ड को खड़ा कर देना चाहती थी। 5, 7 मिनट तक मैं उसके लन्ड को चूसी और उसका लन्ड अब लोहे के समान हार्ड हो गया।

मैं तो उसके ऊपर आकर खुद चोदना चाहती थी लेकिन फिर मैं सोची अभी वह बच्चा है। और फिर मैं उसे उठाई। और उसके होंठो को किस की। उसके होंठ बहुत मुलायम थे। और मैं लेट गई। और अपनी स्कर्ट ऊपर कर ली। अंधेरे के कारण कुछ नही दिख रहा था। मैं बोली। अभी मेरे ऊपर आकर चोदो अब नही रहा जा रहा। तुमने मेरी चुत चाटकर मुझे पागल कर दिया है। वह ऊपर आ गया और लन्ड चुत में डालने की कोशिश करने लगा। अभी इससे पहले कभी चुदाई नही किया था सो उसे कोई एक्सपीरिएंस नही था। हां वह पोर्न देखता था तो जानकारी पूरी थी। जब वह चुत में लन्ड नही डाल पाया तो झुंझला गया और बोला भाभी मुझे अंधेरे में कुछ नही समझ आ रहा। फिर मैं उसका लन्ड पकड़ी और चुत के छेद पर लगाई। और बोली धक्का मारो। उसके धक्के से लन्ड मेरे चुत में चला गया लेकिन सिर्फ सुपाड़ा ही। फिर मैं बोली। यार जोर से धक्का मारो ना। और मैं हाथ हटा ली फिर वह एक ऐसा करारा शॉट मारा की पूरा लन्ड चुत में समा गया। मुझे बहुत मजा आया था। अब मैं बोली अभी अब चोदो जोर जोर से फाड़ दो अपनी भाभी की चुत।

वह जोश में तो था ही सो वह चोदने लगा। वह मेरे चुत को इतना चाटा था कि उसके 3, 4 धक्कों ने ही मेरी चुत से पानी छोड़ने पर मजबूर कर दिया। लेकिन मैं अभी और चुदना चाहती थी। इसलिए अभी को लगातार चोदने को कह रही थी। मैं गंदी बातें बोलकर उसका जोश बढ़ाने लगी और चिल्लाने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी….. अभी चोदो बाबू चोदो अपनी भाभी की चुत। चोद मेरे राजा चोद अपनी भाभी को तेरी भाभी कब से तेरे लन्ड से चुदना चाहती थी। आज फाड़ दे मेरी चुत

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… बहुत मजा आ रहा है तेरे लन्ड से चुदने में। तू बच्चा नही असली मर्द है तेरा लन्ड तो घोड़े से भी ज्यादा ताकतवर है चोद बाबू चोद… चोद मुझे रंडी की तरह चोद

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजजजाआआआ चोदो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चोदो जोर से.. चोदो जोर से ओह अभी चोदो जान चोदो।

मारो जोर से धक्के मेरी चुत में बेटा फाड़ दोमेरी चुत…. चुत से पानी निकाल दो चोदकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चोदो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह अभी बेटा मेरी चुत बहुत प्यासी है। चोदो जोर से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ऐसे ही बेटा ऐसे ही जोर जोर से चोदो मेरी चुत।..

मैं 2 बार झड़ चुकी थी। मेरा तरकीब काम कर गया था। अभी के लन्ड से एक बार पानी निकालने का ही कमाल था कि अभी इतनी देर तक चोद रहा था। वह पूरे रफ्तार से चोद रहा था। उसका लन्ड बहुत सख्त था दोस्तों उसका लन्ड किसी लोहे के समान था। वह बहुत जोशीला लड़का था।

तभी मैं तीसरी बार झड़ने लगी और उसे कस के दबोच ली। मारो जोर से धक्के मेरी चुत में बेटा फाड़ दोमेरी चुत…. चुत से पानी निकाल दो चोदकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चोदो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह अभी बेटा मेरी चुत बहुत प्यासी है। चोदो जोर से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ऐसे ही बेटा ऐसे ही जोर जोर से चोदो मेरी चुत।.. आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। …

अब मैं पूरी तह संतुष्ट हो चुकी थी। लेकिन अभी का लन्ड अभी भी मैदान में फायरिंग किए जा रहा था। तो मैं उसका हौसला बढ़ाने लगी। चुकी मैं एक बार उसके लन्ड का पानी पी चुकी थी। और अब उसके गर्म गाढ़े वीर्य को चुत के अंदर लेना चाहती थी। इसलिए मैं उसके कमर पर अपने पैरों से घेरा बना ली और उसके पीठ पर हाथों का घेरा बनाई। और नीची से मैं कमर उछालने लगी। अब मैं चाहती थी अभी जल्दी झड़ जाए। तभी उसकी रफ्तार में इजाफा हो गया मैं समझ गई कि वह अंतिम पायदान पर पहुँच चुका है और जंग को फतह करने वाला है तो मैं

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजजजाआआआ मारो जोर से धक्के मेरी चुत में बेटा फाड़ दो मेरी चुत…. चुत से पानी निकाल दो चोदकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चोदो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह अभी बेटा मेरी चुत बहुत प्यासी है। चोदो जोर से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ऐसे ही बेटा ऐसे ही जोर जोर से चोदो मेरी चुत।.. आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। …कहते हुए उसकी कमर दबाने लगी तभी मेरी भी चुत चौथी बार पानी छोड़ने लगा और उसका लन्ड भी गर्म वीर्य की उल्टी करने लगा। फिर वह शांत हो गया। और मैं उसे अपनी बाहों में कैद कर ली। मुझे एहसास हो रहा था। उसका गर्म वीर्य बहते हुए मेरी बच्चेदानी में जा रहा है। मुझे बहुत मजा आया था।

अब मुझे घर मे ही अपनी चुत की प्यास बुझाने और चुदाई का एक जुगाड़ मिल गया था। करीब 10 मिनट वेसे ही मेरे चुत में लन्ड डाले रखा। और मेरी चुत की गर्माहट पाकर उसका लन्ड फिर खड़ा हो गया। और वह चोदने लगा मैं घड़ी में समय देखी तो 9 बज चुके थी। लेकिन फिर सोची चलो एक बार और चुदाई करवाते है फिर जाएंगे। वह फिर से मुझे एक घण्टे तक चोदा इस बार तो हद ही हो गई। मेरी चुत बुरी तरह जलने लगी थी। मैं फिर से 5 बार झड़ी थी।

फिर हमने कपड़े पहने और घर आ गए।

तो दोस्तों ये थी मेरी चुदाई की सच्ची कहानी। कहानी आपको कैसी लगी कमेंट कर बताना। मैं जल्द ही एक और मस्त चुदाई की कहानी लेकर आऊंगी। तब तक के लिए दीजिए मुझे इजाजत। शुक्रिया। नमस्कार। इस साइट https://nightqueenstories.com की अन्य सेक्स कहानियों के संग्रह का आनंद लेते रहिए।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

2 thoughts on “कार में प्रिंसिपल मैडम चुद गई भाग-2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *