पुलिसवाली बुआ को पत्नी और रखैल बनाकर चोदा

मेरी बुआ पुलिस में एक बड़े अधिकारी थी बुआ का नाम सौम्या था। और मेरे फूफा जी IB में सरकारी कर्मचारी थे। इसलिए फूफा जी घर में कम ही रहते थे क्योंको उनकी पोस्टिंग ज्यादातर पूर्वोत्तर और पहाड़ी इलाकों में रहती थी। वह एकएक साल तक घर नही पाते थे। लेकिन छुट्टी लेकर आते भी तो 15 दिन से ज्यादा नहीं रुक पाते थे। और जब फूफा घर आते भी तो बुआ को छुट्टी नहीं मिलती इस वजह से उनदोनों का मिलन बहुत कम ही हो पाता था।

 

इसी दूरियों में मेरी पुलिस अधिकारी बुआ की चुत पयासी रह जाती थी। और फिर जब मैं बुआ के पास गया तो एक जवान लन्ड और प्यासी चुत का मिलन हो गया। फिर तो बुआ मेरी रखैल बनकर जम के चुदने लगी।

 

 

नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम अंशुल है प्यार से मुझे लोग अंश बुलाते हैं। और मैं नागपुर का रहने वाला हूँ. आज मैं अपनी जिंदगी की एक सच्ची घटना लेकर आप लोगों के समस्त हाजिर हूँ।

 

ये सिर्फ एक घटना नहीं थी बल्कि मेरे लन्ड का सील भी टूटा था। मतलब मैं पहली बार चुदाई का मजा लिया था।

 

यह विस्मय कहानी मेरी आैर मेरी पुलिसवाली बुआ की है। इसलिए ये रोमांचक कहानी आपलोगों के साथ शेयर कर रहा  हूँ. उम्मीद करता हूँ आप सब को पसंद आएगा।

 

पुलिस अधिकारी बुआ की प्यासी चुत मेरे लन्ड से चुद गई।

 

ये घटना हुई तब मैं 21 साल का जवान लड़का था. मैं ग्रेजुएशन कर रहा था। गर्मी को कॉलेज की छुट्टी में मैं अपनी बुआ के घर गया।  मेरी बुआ भी नागपुर के ही रहने वाली हैं लेकिन उनकी पोस्टिंग पूरे महाराष्ट्र में कही भी हो जाती है। लेकिन अभी उनकी पोस्टिंग नागपुर में ही थी।

 

पुलिस की नौकरी करने वाले अमूमन थोड़े हरामी किस्म के होते हैं लेकिन मेरी बुआ अपने नाम की तह ही बहुत सौम्य और दयालु स्वभाव की हैं। बुआ की एक लड़की है. वह अभी छोटी है 5वीं कक्षा में पढती है।

 

जब मैं बुआ के घर पहुंचा तो घर पर बुआ और उनकी प्यारी सी बेटी यानी मेरी छोटी सी प्यारी बहन ही थे। बुआ की बेटी का नाम रिंकल था। रिंकल रोज  सुबह स्कूल चली जाती थी और उसके जाने के बाद बुआ भी अपने ऑफिस के चली जाती थी। इसलिए घर पर मैं अकेला ही रह जाता था।

रिंकल के स्कूल और बुआ के ऑफिस जाने के बाद मैं घर में अकेले बोर होने लगता था।  तो एक दिन उनलोगों के जाने के बाद मैं मार्केट चला गया.

Hindi sex stories

तभी मुझे एक डीवीडी शॉप दिखाई दिया। मैंने बहुत सारी फिल्मों की डीवीडी देखी लेकिन कोई पसंद नहीं आ रही थी। तभी मैंने सोचा कि घर पर कोई नही है तो क्यों न एडल्ट फ़िल्म देखी जाए। फिर मैंने दुकानदार से ब्लू फ़िल्म की डीवीडी मांगा और एक पसन्द आ गया। और में डीवीडी खरीद ली और घर पर आ गया। (ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

घर आकर मैंने डीवीडी लगा दिया और देखने लगा. उस फ़िल्म में मैंने देखा कि एक महिला पुलिस अफसर एक लड़के के घर जाती है और फिर दोनों मिलकर चुदाई करते हैं।

 

उस फ़िल्म को देख कर मेरा भी मन अपनी बुआ को चोदने का मन करने लगा। कैसे बताऊं दोस्तों, ऐसा पहली बार था जब मेरे मन में बुआ के प्रति ऐसा खयाल आया था। तब से मेरा इंटरेस्ट बुआ में बढ़ गया। मैं अक्सर. उनके बारे में सोच सोच कर 7 इंच का लण्ड को हिलाने लगा और मुठ मारकर अपने लन्ड का पानी निकालता।

 

उस दिन के बाद मैं बुआ को हवस की नजर से देखने लगा। दोस्तों, मेरी बुआ दिखने में बहुत सेक्सी हैं. उनके चुचियाँ और गांड बिल्कुल गोलाकार शेप में थे उनको देखते ही मेरा मन करने लगता था कि उन्हें दबोच कर कस के मसल दूं।

 

उस दिन के बाद से मैं रोज बुआ को गौर से देखता।  मेरी बुआ जब घर पे रहती तो वो सारा दिन गाउन-मैक्सी में रहती थीं। इसलिए जब वह मेरे सामने किसी काम से झुकतीं तो मुझे उनके बड़े बड़े चुचियाँ दिख जाते थे और उन्हें देखते ही मेरा लन्ड झट से खड़ा हो जाता था।

 

फाइनली आज बुआ मुझसे चुद ही गई।

 

एक दिन बुआ छुट्टी ली थी। रिंकल अपने स्कूल चली गई थी. उस दिन बुआ ने गरमा गरम मस्त स्वादिष्ट खाना बनाई और हम दोनों ने साथ में ही खाना खाया। खाने के बाद फिर बुआ सोने के लिए चली गई और मैं हॉल में बैठ कर TV पर इंग्लिश फ़िल्म देखने लगा। उस फिल्म में हीरो हेरोइन किस कर रहे थे।

 

वो देखकर मेरे दिमाग में वही ब्लू फिल्म चलने लगा। और मेरा लंड एक बार फिर से खड़ा हो गया। अब मैं झट से उठ कर मुठ मारने के लिए बाथरुम में चला गया। (ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

 

बाथरुम में मुझे बुआ की पैंटी दिखाई दी। मैंने उसे उठाया और उस को सूंघ कर अपना लंड जोर से हिलाने लगा। बुआ के पैंटी से जहां चुत रहता है वहाँ से भीनी भीनी एक बहुत मदमस्त कर देने वाली खुशबू आ रही थी। मुठ मारने में मैं इतना मग्न हो गया था कि बाथरूम के दरवाजे अंदर से लॉक करना ही भूल गया।

 

मैं बुआ की पैंटी सूंघ कर मज़े से जोर-जोर से मुठ मारे जा रहा था। तभी अचानक मेरा ध्यान पीछे की तरफ गया। तो मैंने देखा कि दरवाजे पर बुआ खड़ी है।  उन्हें देख कर मैं बहुत डर गया और डर की वजह से मेरा लन्ड भी ठंडा हो गया।

 

लेकिन मेरे हाथ में अभी भी बुआ की पैंटी थी और बुआ ने उसे देख ली। फिर बुआ मेरी तरफ गुस्से से देख कर आंखे लाल किए वहां से चली गईं।

 

मैं बहुत डर गया था डर के मारे बाथरूम से बाहर ही नहीं रहा था। थोड़ी देर बाद मैंने हिम्मत जुटाकर बाहर आया। फिर मैं सीधे हॉल में जाकर बैठ गया और सोचने लगा कि कहीं बुआ मेरे घर पर किसी को या फूफा जी को ये बात ना बता दें। क्योंकि बुआ को मैंने बहुत गुस्से में देखा था। (ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

Home sex

मैं बहुत देर तक वहां ऐसे ही शांत बैठा रहा. करीब आधे घण्टे बाद बुआ हॉल में आईं और आकर मेरे बगल के सोफे पर बैठ गईं। मेरा तो डर के मारे गांड फट रहा था। लेकिन मैंने हिम्मत जुटाकर झट से बुआ से माफी मांग ली और विनती किया कि किसी से कुछ ना कहे।  साथ ही मैंने आज के बाद ऐसी हरकत कभी न करने को भी कहा और फिर वहां से उठ कर जाने लगा।

 

तभी बुआ झट से मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी तरफ खींच ली।  मुझे कुछ भी समझ में आता उससे पहले ही बुआ अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दी और चूसने लगी। यह देख मैं चौंक गया और बुआ को दूर धकेला। तभी बुआ बोली मैं जानती हूँ कि तुम भी मुझे चोदना चाहते हो और मैं भी अब तुमसे चुदवाना चाहती हूँ।

 

बुआ के मुँह से ये बात सुनते ही मैं उन पर टूट पड़ा। उनको अपने पास खींच लिया और दबोच कर उन्हें किस करने लगा। अब बुआ जोर से सिसकारियां लेने लगीं।  थोड़ी देर बाद बुआ ने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और उसको पैंट के ऊपर से ही सहलाने और रगड़ने लगीं।

मैंने भी बिना देर किए एक ही झटके में उनकी मैक्सी को पकड़ के फाड़ दिया। और बदन से अलग कर दिया। बुआ  बिल्कुल नंगी हो गई क्योंकि वो ब्रा और पैंटी भी नहीं पहन रखी थी। उनका दूध जैसा संगमरमरी बदन चमक उठा। वह बहुत खूबसूरत लग रही थीं. अब मैं उनके बदन को एकटक निहारने लगा।

 

तभी बुआ ने मुझे सोफे पर धकेल दिया और मेरे ऊपर गिर पड़ीं। इसके बाद उन्होंने मेरे सारे कपड़े एक झटके में उतार दिए। मेरा तो खड़ा लन्ड उनके सामने सलामी देने लगा। मेरे मोटे लन्ड को देखते ही बुआ मुंह में भर ली और मस्त हो के चूसने लगीं। अब मैं उनके दोनों चूचियां को पकड़ कर मसलने लगा।

 

थोड़ी देर बाद हम 69 की पोजीशन में आ गए। जैसे ही मैंने बुआ की चूत पर अपनी जीभ लगाई वह चिहुंक उठींमैं उनकी चूत चाटने लगा। बीचबीच में मैं अपने होंठों से उनकी चुत के दाने पकड़ के खींच लेता था जिससे वो एक दम उत्तेजित हो जातीं. और AAAAHHHHHH AAAAAAAHHHHHHHHHHHHHHHHH सस्सीईईईईईईकीईईई करने लगती।

 

फिर मैंने अपनी जीभ को टाइट और नुकीला किया और बुआ के चूत में घुसेड़ दिया और अंदर बाहर करने लगा. उनकी चूत से नमकीन पानी रिस रहा था। जिसे मैं पूरा चाट कर मजे दे रहा था।अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और  उनसे रहा नहीं गया तो उन्होंने मेरा लन्ड छोड़ दिया और कहा अंशु अब मुझसे बर्दाश्त नही हो रहा अब और देर मत करो जल्दी से अपना मोटा लन्ड मेरी चुत फुद्दी में घुसेड़ डालो और मेरी चुत की वर्षों की प्यास बुझा दो।

 

तब मैंने पूछा क्यों बुआ, मेरे फूफाजी आपकी चुत की प्यास नहीं बुझाते हैं क्या? तो वह बोलीं कि तुम्हारे फूफाजी के पास टाइम ही कहां है मेरी चुत की प्यास शांत करने के लिए। मैं सालों से नहीं चुदी हूँ। यह सुनते ही मैं और उत्तेजित हो गया। मेरा लन्ड और कड़क हो गया।

 

अब मैं सीधा हुआ और लन्ड को उनकी चूत के छेद पर रख दिया। और जोरदार धक्का मारा. मेरा लन्ड बुआ के चुत को चीरता हुआ उनकी चूत में समा गया। सालों से ना चुदने की वजह से उन्हें थोड़ा दर्द हुआ लेकिन वह पहले भी चुद चुकीं थीं इसलिए उन्हें सब पता था कि आगे तो जन्नत का मजा है। उनकी चूत सच में बहुत टाइट थी। लग रहा था जैसे बुआ पहली बार चुदवा रही हो किसी 15 साल की लड़कीं की तरह उनकी चुत बिल्कुल कोरी लग रही थी।

 

 

अब मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा. मेरे हर धक्के के साथ वह आहहहहहहहहहहहहहहह ह आहहहहहहहहहहहहहहह ह ऊहहहहहहहहहहहहहहहहह ऊहहहहहहहहहहहहहहह ऊफ फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़फ़ की आवाज निकाल कर मेरा जोश बढ़ा रही थी। मैं लगातार तेज तेज धक्के पे धक्के दे रहा था और साथ में ही उनके चूचे भी मसल रहा था। वो एकदम पागल हो चुकी थी और मुझे बोल रही थी। चोदो अंशु चोदो। मेरी चुत चोदो अपनी बुआ की प्यासी चुत को चोदके सारा पानी निकाल दो। तेरी बुआ की चुत बहुत प्यासी है। लन्ड की भूखी है। चोद मेरे राजा। आहहहहहहहहहहहहहहहह अंशु चोदो जोर से। fuck me baby fuck me. Fuck me hard jan. Aaaaahhhhhhhhhh oooooohhhhhhhhhh yeaaaahhhhhhhhhhhhhh my son. Fuck me hard baby i m so glad my lion i m so happyyyy. You are my king Anshu. Fuck me. You are so hot baby. Aaahhhhhhhhh aaaaaaahhhhhhhhhh sssssssssssssiiiiisssssssssssss babe fuck me babe fuck me fuck my chut. Fuck my fuddi. You are so sexy baby. Break my fuddi fuck me.

 

 

करीब 20 मिनट बाद वो झड़ने लगी और कहने लगी। i am coming anshu. Fuck me hard. Aaaahhhhhhhhhh baby  मैं झड़ रही हूँ। oooooohhhhhhhhhhh और बुआ झड़ गई उनकी चुत बहुत पानी छोड़ा था। करीब 10, 12 धक्कों के बाद मैं भी उनकी चूत में ही झड़ गया और फिर उनके ऊपर ही लेट गया. हमदोनो पसीने से तरबतर हो चुके थे। इस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थीं।

 

वर्षों बाद बुआ इतनी जोरदार तरीके से चुदी थी। लेकिन हम दोनों की प्यास अभी बुझी नहीं थी। थोड़ी देर ऐसे एक दूसरे के बाहों में पड़े रहने के बाद मैं फिर उनके चुचियों को चूसने लगा. और वो मेरे लन्ड को अपने मुट्ठी में पकड़ के हिलाने लगी। (ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

 

इसके बाद हम उस दिन रिंकल के स्कूल से आने तक 2 बार चुदाई की।

 

अब तो हमारा चुदाई का रोज का सिलसिला बन गया। बुआ ने मेरे घर पे बोल के पेरमानेंटली यही रख ली। अब बुआ और मैं पति-पत्नी की तरह रहते हैं। जब मर्जी चुदाई करने लगते हैं।  हम रात को एक साथ एक ही बेड पर सोते हैं। तो इस तरह बुआ मेरी रखैल और पत्नी बन गई।

 

तो दोस्तों कमेंट करके जरूर बताना की हमारी बुआ के साथ चुदाई को कहानी कैसी लगी। कहानी को लाइक और शेयर करना मत भूलना। तो मिलते हैं किसी अगले कहानी में।

 

Tag: बुआ की चुदाई

पुलिसवाली की चुदाई

Hindi sex stories

Home sex

Aunty ki chudai

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “पुलिसवाली बुआ को पत्नी और रखैल बनाकर चोदा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *