पुलिस अधिकारी का चरमसुख

 211 

मॉम की सहेली पुलिस अधिकारी बुसरा का चरमसुख

हेलो दोस्तों मेरा नाम कार्तिक है मैं 23 साल का हूँ और SSC की तैयारी कर रहा हूँ। मेरा घर बिहार के मोतिहारी में है जो नेपाल बॉर्डर के पास है। लेकिन अब हम दिल्ली में रहते हैं। मेरी माँ का नाम संध्या झा है वो एक लेक्चरर हैं। मेरी माँ की शादी 17 साल की उम्र में हो गई थी। तो मैं पैदा भी जल्दी हो गया था।

यह कहानी मेरी और मेरी माँ की सहेली बुसरा की है वह एक मुस्लिम महिला हैं और पुलिस अधिकारी हैं। उनकी उम्र 36 साल है। हैं तो वो भी दिल्ली की ही लेकिन अभी वो मुम्बई में रहती हैं। क्योंकि वही उनका पोस्टिंग है। एक बार मैं एसएससी का एग्जाम देने जा रहा था जो कि सेंटर मुम्बई में था। मेरा टिकट राजधानी एक्सप्रेस के 1st AC में था। तो मेरी माँ और पापा मुझे ट्रेन में बैठाने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आए थे। हम थोड़ा पहले आ गए थे। और प्लेटफॉर्म पर बैठे हुए थे।

मेरी माँ की एक मुस्लिम सहेली कैसे मुझसे ट्रेन में अपनी चुत चुदवा के चरमसुख हासिल की

ट्रेन खुलने में अभी आधा घंटा का समय था तभी सामने से एक ब्लू जीन्स और पिंक टॉप में एक बेहद खूबसूरत महिला आते हुए दिखाई दी। वो बिल्कुल गोरी थी और बाल खुले थे जो बहुत बड़े बड़े नही थे। वो जैसे ही नजदीक आई तो माँ उसे पहचान गई और बोली बुसरा। तो वह चौंकते हुए माँ को देखी और बोली संध्या और फिर दोनो गले मिले तो बुसरा माँ से पूछी यहाँ क्या कर रही हो कहाँ जाने की तैयारी है उस समय पापा दुसरे साइड घूमने निकल गए थे। फिर माँ मेरे से परिचय करवाई और बोली ये मेरा बेटा कार्तिक है। इसका एग्जाम है मुम्बई में तो इसे ट्रेन में बैठाने आयी हूँ। फिर मैं नमस्ते किया दोस्तों वो कही से भी 36 साल की नही लग रही थी बल्कि 25, 26 साल की लग रही थी। फिर वो बोली मैं भी तो मुम्बई ही जा रही हूँ। दरअसल मैं 2 दिन पहले ही दिल्ली आयी थी। एक अर्जेंट काम था। लेकिन छुट्टी नही ज्यादा मिली तो 2 दिन में ही वापस जाना पड़ रहा है। फिर वो पूछी किस कोच में कार्तिक का टिकट है तो मैं बोला 1st AC में 7 नम्बर है। इत्तेफाक से बुसरा ऑन्टी का भी उसी कोच में था और उनका 32 नम्बर बर्थ था। फिर माँ बोली बहुत दिन बाद मिल रही है दिल्ली आती है तो बताती भी नही है। तो ऑन्टी बोली क्या बताऊँ यार समय नही मिल पाता है। फिर माँ मुझे बोली बेटा जाओ कैंटीन से 2 कॉफ़ी लेकर आओ तो मैं गया और कैंटीन से कॉफ़ी ले आया।

दोस्तों टाइट टी शर्ट में बुसरा का चुचियाँ बिल्कुल साफ आकार में दिख रही थी। मेरी तो बार बार नजर उनकी चुचियों पर जा रही थी और ये बात बुसरा ऑन्टी भी नोटिस कर ली। खैर आज ट्रेन प्लेटफॉर्म पर लेट से लगी तो हम ट्रेन में बैठ गए तब तक पापा भी आ गए। बुसरा भी हमारे साथ ही अभी बैठी हुई थी तभी एक बुजुर्ग आदमी आए जिनका मेरे सामने वाला बर्थ था। 1st AC में चुकी एक केबिन में 2 ही बर्थ होता है। तो बाबा जी सामने वाले बर्थ पर बैठ गए।

ट्रेन बस खुलने ही वाली थी तो माँ बोली कि यार बुसरा ध्यान रखना कार्तिक का अब क्या बताऊँ तुझे जब तू भी मुम्बई ही जा रही है साथ मे हो गए तो अच्छा है। तो बुसरा बोली तुम चिंता मत करो मैं इसका एग्जाम दिलवा दूँगी। और अब ये कुछ दिन मेरे घर ही रुक कर मुम्बई भी घूम लेगा। मैं तो बहुत खुश हुआ। तो माँ बोली कि एक काम कर तू बोल तो मैं बाबा जी से बात करूँ ये तुम्हारे बर्थ पर चले जाएं। और तुम दोनो यहां साथ मे रहोगी तो अच्छा रहेगा। और फिर माँ उनसे बात की तो बाबा जी तैयार हो गए। और वो बुसरा ऑन्टी के बर्थ पर चले गए। अब इस केबिन में मैं और बुसरा ऑन्टी ही थी। फाइनली ट्रेन खुल गई। माँ और पापा चले गए।

फिर बुसरा ऑन्टी और मैं बात करने लगा। बुसरा ऑन्टी मुझसे पूछी की पढ़ाई कैसी चल रही है तो बोला बढ़िया। फिर वह पूछी की सेंटर तो दिल्ली भी दे सकते थे फिर मुम्बई इतना दूर क्यो दिए तो मैं बोला वो अपने आप मिला है। फिर बुसरा ऑन्टी बोली कि तुम्हे मैं 4 साल पहले देखा था तब तूम दुबले पतले थे लेकिन अब तो पूरे हट्टे कटे जवान हो चुके हो और मुस्कुरा दी। हम दोनों आमने सामने बैठे हुए थे। तो बुसरा ऑन्टी पैर मेरे सीट पर कर ली वो सच मे बेहद खूबसूरत लग रही थी मेरी नजर बार बार उनकी चुचियों पर जा रहा था। फिर हम खाना खाए तब तक 9 बज चुके थे। और TTE टिकट चेक करके जा चुका था। तो अब हमें कोई डिस्टर्ब करने वाला नही था। फिर ऑन्टी बोली कि सोवोगे कब तो मैं बोला कि अभी तो नींद नही आ रही है। तो वो बैग से अपनी कैप्री निकाली और बोली कि तुम थोड़ा बाहर जाओ मैं चेंज कर लेती हूं। तो मै बाहर चला गया।

और 5 मिनट बाद ही ऑन्टी बोली कि कार्तिक अब आ जाओ। मैं अंदर जब गया तो उन्हें देखकर हैरान हो गया वो कैप्री में बहुत सेक्सी लग रही थी। उनका पैर घुटनों से नीचे बिल्कुल खुला था बिल्कुल गोरा पैर था उनका। मैं तो देखता ही रह गया तो ऑन्टी बोली क्या देख रहे हो तो मैं बोला आपका पैर बहुत खूबसूरत है। तो ऑन्टी हस दी और बोली बस पैर ही खूबसूरत है। तो मैं बोला आप तो किसी स्वर्ग की अप्सरा हो। मैं समझ गया था कि बुसरा भी मुझमे इंटरेस्ट ले रही है तो मैं अब बेबाकी पर उतर आया था।

मैं तो पहले से ही कैप्री और टी शर्ट में था। फिर ऑन्टी बोली तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है तो मैं बोला थी लेकिन अब वो हैदराबाद में रहने लगी है तो बहुत कम बातचीत होता है वेसे शायद उसे अब कोई और मिल गया है। तो ऑन्टी मुँह बनाकर बोली सो सैड। शायद वो मुझे चिढाना चाह रही थी फिर वो भी अब खुलकर बात करने लगी थी और बोली वो तुम्हे छोड़ क्यों दी तो मैं बोला कि उसे हैदराबाद में जॉब मिल गया है तो हमारे बीच दूरियां बढ़ गई है। तो बुसरा बोली आजकल के प्यार भी ना कपड़ो की तरह बदलते हैं।

और फिर वह मेरे सीट पर पैर कर दी। मेरा तो मन किया उनकी गोरी चिकनी पैरो को चूम लू। फिर वह मुझसे पूछी की तुम कितने दिन तक अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रिलेशन में थे तो मैं बोला 1 साल। दोस्तों मैं महसूस किया कि धीरे धीरे वह गर्म हो रही थी। शायद इसीलिए मेरे पर्सनल लाइफ में कुछ ज्यादा इंटरेस्ट ले रही थी। फिर वह बोली तुम्हारी लाइफ में कितनी गर्लफ्रेंड रह चुकी हैं तो मैं बोला बस एक ही थी। फिर वह बोली उसकी फोटो दिखाओ न मैं भी तो देखूँ मेरी सहेली के जवान बेटे की गर्लफ्रेंड कैसी थी।

मैं फ़ोन में फोटो दिखाने लगा तो वह बोली तुम इधर ही आ जाओ मेरे ही सीट पर और दिखाओ। मैं चला गया तो वह मेरे पास बिल्कुल चिपक गई। उनकी कड़क चुचियों मेरे बाह पर टच होने लगे और मैं उन्हें फोटो दिखाने लगा। फिर वो बोली उसके साथ कितनी बार कर चुके हो तो मैं शर्मा गया। तो वह बोली शर्माओ मत बताओ न कितनी बार कर चुके हो। तो मैं बोला क्या। तो वह बोली बनो मत और बताओ। तो मैं फिर से अनजान बनते हुए बोला आप क्या पूछ रही हो मुझे नही समझ आ रहा तो वह मुझे पकड़ी और मेरे होंठो को कस के चूसने लगी और फिर बोली ये तुम अपनी गर्लफ्रेंड को कितनी बार चोद चुके हो।

बुसरा ऑन्टी का चुत बिल्कुल गुलाबी था मैं जैसे ही उनकी चुत पर जीभ लगाया वह उछल पड़ी

दोस्तों उनकी मुंह से इतनी गन्दी बात सुन के तो मैं हैरान हो गया और मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया और पैंट में साफ दिखाई देने लगा फिर मैं बोला कि बस 2 बार किये हैं। तो ऑन्टी मुझे बाहों में भर ली और मेरे लन्ड को पकड़ ली। और बोली कार्तिक तेरा लन्ड तो बहुत बड़ा है। और मेरे लन्ड को रगड़ने लगी और मेरे होंठो को किस करने लगी। फिर वह मुझे खड़ा की और मेरे कैप्री को निकाल दी और केबिन अंदर से लॉक कर दी। और मेरे लन्ड को मुँह में लेकर चूसने लगी। मैं तो मानो स्वर्ग का आनंद में चला गया। वह 5 मिनट तक मेरे लन्ड को चूसी फिर खड़ी हो गई। और अपना टी शर्ट उतार दी। और ब्रा भी खोल दी। और अपनी चुचियों को मेरे मुंह में दे दी। उनकी चुचियाँ बहुत कड़क थी।

मैं उनकी चुचियों को पी रहा था और मसल भी रहा था। तब तक वह कैप्री को भी उतार दी और अपनी गुलाबी रंग की पैंटी को नीचे सरका दी और सीट पर लेट गयी और कैप्री और पैंटी को निकाल दी। और अपनी टांगो को फैलाते हुए मेरा सर अपनी चुत पर दबा दी। उनकी चुत मानो किसी भट्टी की तरह धधक रही थी। और पूरा गीला हो चुका था। उनकी चुत बिल्कुल गुलाबी था। मैं उनकी चुत को चाटने लगा तो वो ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. कार्तिक चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. पूरा जीभ मेरी चुत में डाल दो।… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चाटता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबी मेरी जान चाटो कार्तिक चाटो आआआहहहहहहह बहुत प्यासी है मेरी चुत। ओह मेरे राजा हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… चाटो बेबी।

बुसरा ऑन्टी एक झटके में मेरा लन्ड अपनी चुत में डाल ली और चोदने लगी

बुसरा ऑन्टी पूरे जोश में थी और अपनी कमर नीचे से हिला रही थी और मेरे मुँह पर चुत रगड़ रही थी। तभी उनकी चुत से पानी बहने लगा और वो शरीर ऐंठने लगी। उनकी चुत से बहुत स्वादिष्ट और ढेर सारा पानी निकला था।

और करीब 5 मिनट और चुत चाटा वह और भी जोश में आ गई और उठ के मुझे नीचे लेटा दी। और एक झटके में मेरा लन्ड अपनी चुत में डाल ली। वह हद से ज्यादा हॉर्नी हो चुकी थी। मेरे लन्ड पर अब वह तेज तेज कूदने लगी। मुझे बहुत मजा आ रहा था। और बुसरा तो मानो चुदाई के नशे में पागल हो चुकी थी। और आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी…. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…

बुसरा ऑन्टी का चुत 5 बार पानी छोड़ा और अंत मे वह बोली बेटा मैं सालों बाद चरमसुख हासिल की हूँ।

कर रही थी। वह 15 मिनट से ऊपर से चोद रही थी और 2 बार झड़ चुकी थी। फिर ऑन्टी बोली कार्तिक तुम्हारा कब गिरेगा मैं अब थक चुकी हूँ तो मैं बोला अभी देर है। तो वह बोली तुम ऊपर आकर अब चोदो मैं थक गई। और फिर वह उठी और सीट पर लेट गई और पैरो को फैलाकर ऊपर कर ली। और मैं जैसे ही उनकी चुत में लन्ड डाला वह मुझे पकड़ के खिंच ली और बाहों में भर ली उनकी चुचियाँ मेरे सीने में चुभने लगा। और मैं चोदने लगा तो बुसरा ऑन्टी मेरा कमर पकड़ के चुदवाने लगी और जोश में चिल्लाने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. हहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी….. आआहहहहहहहहहहहहहह….. बेबी चोदो जोर से… चोदो मेरी चुत चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो जान चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आआआहहहहहहह चोदो मेरे सइयाँ फाड़ दो मेरी बुर…. । मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…. मेरी जान चोदो………… मैं फिर से झड़ने वाली हूँ मारो झटका मेरे शेर मारो और तेज मैं आ रही हूं मेरी जान आ रही हूँ। हहहहहहहहहहहहह….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आआआहहहहहह और बुसरा का चुत पानी छोड़ दिया

लेकिन मैं चोदे जा रहा था इसलिए वह अभी भी मेरा हौसला बढ़ा रही थी

तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…मेरे राजा… मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. सच मे बहुत बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… मेरी बुर फाड़ दिया।

आआहहहहहहहहहहहहहह….. बेबी चोदो जोर से… चोदो मेरी चुत चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो जान चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. अपने माँ की सहेली का चुत फाड़ दो मेरे शेर उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आआआहहहहहहह चोदो मेरे सइयाँ फाड़ दो मेरी बुर…. । मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। …… और तभी मैं बोला मैं झड़ने वाला हूँ ऑन्टी मेरा लन्ड पानी छोड़ने वाला है तो बुसरा ऑन्टी मेरे कमर को पैरो से पकड़ के खिंचने लगी और अपने गांड़ पूरा दबा के आगे पीछे करने लगी और मेरे लन्ड का पानी चुत में सोखने लगी। मैं तो शांत हो गया था लेकिन वो अभी भी नीचे से कमर हिला रही थी और मेरे लन्ड का आखिरी बून्द तक अपने चुत में सोख ली। और बोली बेटा आज कितने दिन बाद मैं चरमसुख हासिल की हूँ।

तो दोस्तों ये थी मेरी और मेरी माँ की एक मुस्लिम सहेली की चुदाई। आप कमेंट करके बताना की कहानी में।सबसे ज्यादा आपको क्या पसन्द आया।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “तड़पती जावानी – Part 2

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा।  नमस्कार।

धन्यवाद।

100% LikesVS
0% Dislikes

2 thoughts on “पुलिस अधिकारी का चरमसुख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *