पड़ोसी आंटी ने अपनी चुत के साथ अपनी बेटी की कुँवारी चुत फिर मेरी मॉम की चुत दिलवाई। भाग-3

हेलो दोस्तों जैसा कि आप सब जानते हैं। मेरा नाम बाबू सिंघानिया है। और मैं 21 साल का हूँ। मेरा घर ग्रेटर नोएडा के एक VVIP इलाके में है। जहाँ सिर्फ अमीर लोग रहते हैं।

 

मेरे पड़ोस में एक नई फैमिली कुछ ही दिन पहले रहने आई है। जिनके घर से अब हमारा बहुत गहरा लगाव दोस्ती हो गया है।

 

तो पिछले दोनों भाग में आपने पढ़ा कि मेरी पड़ोसी सोनिया आंटी कैसे पहले अपनी प्यासी चुत मुझसे चुदवाई। फिर अपनी जवान कमसिन बेटी अनुषा का सीलबंद चुत मुझे दिलवाई।

 

अब इसी कहानी का अगला और अहम भाग-3 है जो। मेरी मॉम की है। कि

कैसे सोनिया आंटी ने मुझे मेरी मॉम के प्यासी चुत दिलवाई।

 

वैसे मैं अपनी फैमिली के बारे में बता दूँ। मेरे पिताजी का नाम देव सिंघानिया है और उनकी उम्र 56 साल है।

 

और मेरी माँ का नाम रानी है। मेरी मॉम डैड का लव मैरिज है। मेरी मॉम मेरे डैड से करीब 16 साल छोटी हैं। मेरी मॉम अभी पूरी तरह से जवान हैं। 40 के होने के बाद भी वो 25-30 के बीच की लगती हैं। दूध सा गोरा बदन 34-28-38 का फिगर है। जो किसी सूखे लंड में भी हिचकोले लाने के लिए काफी है। चुकी मेरी मॉम डैड से 16 साल छोटी है, और मेरे डैड अक्सर बाहर ही रहते हैं उस कारण मॉम की चुत भी प्यासी रहती है। मेरी मॉम अपनी चुत की प्यास बुझाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपनाती है। मैंने कई बार देखा है कि मॉम कभी उँगली से, तो कभी कैंडल से, तो कभी खीरे से, तो कभी गाजर, मूली, केला, इत्यादि अपनी चुत में डालकर जोर जोर से हिलाकर अपनी चुत की अग्नि के उबाल को ठंढा करती है।

 

मेरी मॉम और सोनिया आंटी दोनों की चुत प्यासी थी

 

चुकी मेरे और अनुषा दोनों के डैड ही घर मे कभी कभी ही रहते हैं। साथ ही मेरे डैड की उम्र काफी ज्यादा हो गयी है वही अनुषा के डैड मोटापे के कारण नामर्द बन चुके हैं। इस कारण मेरी मॉम और सोनिया आंटी दोनों की चुत प्यासी ही रह जाती है। दोनों घर मे अकेली ही रहती हैं। इसलिए मेरे और अनुषा के कॉलेज जाने के बाद वो दोनों टाइम पास के लिए पूरा दिन साथ ही बिताते हैं।

यही कारण है कि मेरी मॉम रानी और सोनिया आंटी को दोस्ती काफी गहरी हो गई है। अब वो लोग हर तरह की बातें शेयर करने लगी हैं। एक दिन सोनिया आंटी को मैं चोद रहा था उसी दौरान वो बताई की तुम्हारी माँ रानी का चुत भी बहुत प्यासा है। हमदोनो की किस्मत एक जैसी है दोनों ही लंड के भूखे हैं। ( आप ये कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

Indian sex stories in hindi

उस दिन से मैं छुप छुप के माँ और सोनिया आंटी की बातें सुनने लगा। मैं मॉम को चुत रगड़ते तो कई बार देखा था लेकिन अब उनकी और सोनिया की सेक्सभरी रसीली बातें सुनकर मैं रोज मजे लेने लगा।

 

फिर एक दिन मैंने सुना कि सोनिया आंटी मेरी मॉम को मेरे और अपने चुदाई के बारे में बता रही है। लेकिन ये क्या मॉम हैरान होने के बजाए बोली कि हाँ मैं जानती हूँ कि तू अपनी चुत की आग मेरे बेटे के लन्ड से बुझाती है। तू बहुत बड़ी रंडी है। वैसे इसमें कोई बुराई भी नही है। तू भी अभी पूरी तरह से जवान ही तो है। अल्हिर 40 को उम्र होती ही कितनी है। खासकर इस उम्र में चुत और भी चुदासी हो जाती है जब अपने पति से भक्तपुर चुदाई ना मिले। और मेरा बेटा भी तो जवान है वो भी तो एक उबलता हुआ मर्द है जिसे चुत की भूख होगी ही। तो कोई बात नई मेरे बेटे से अपनी चुत फड़वाती रह। मेरी मदद की जरूरत होगी तो बताना मैं खुद तुमदोनों को चुदाई में मदद कर दूंगी।

 

मॉम की मुँह से इतनी सेक्सी बातें सुनकर मैं तो पूरी तरह से जोश में आ गया। मेरा मन कर रहा था अभी जाऊं और मॉम और सोनिया दोनों को पकड़कर कर जबरदस्ती चोद दूँ।

 

तब सोनिया ने असली धमाका की

 

लेकिन मॉम को क्या पता था सोनिया अभी असली धमाका नहीं कि है जो करने वाली है। तो सोनिया ने धीरे से कहा। मेरी जान रानी अपने बेटे की मोटे लंबे तगड़े लंड की एक और कहानी सुनेगी। तो मॉम बोली तू सालि रंडी बनके मेरे बेटे से चुदवाती है इससे बड़ी और क्या कहानी होगी। तो सोनिया बोली की तू सुनने को तैयार हो तो मैं सुनाऊँ तो मॉम बोली ठीक है सुना।

 

तो सोनिया आंटी बोली कि तुम्हारा जवान हैंडसम हंक सिर्फ मुझे ही नही चोदता है बल्कि। मैं और अनुषा एक साथ तुम्हारे बेटे के लंड से अपनी अपनी चुत फड़वाते हैं।

 

मॉम तो हक्का बक्का रह गई और एकटक सोनिया को देखने लगी। थोड़ी देर सन्नाटे के बाद सोनिया बोली क्यों मेरी जान रानी शॉकड क्यों हो गई यही सच है। तुम्हारा बेटा हमदोनों माँबेटी की चुत की आग एक साथ बुझाता है।

 

माँ बोली कि साली तू तो सच मे बहुत बड़ी रंडी निकली और साथ मे अपनी बेटी को भी रंडी बना दी। तो सोनिया बोली क्या करें यार सालि चुत को गर्मी है ही ऐसी। अब तू भी एक काम कर। अपनी प्यासी चुत में कब तक उंगली, गाजर, मूली घुसेडती रहेगी। जब घर मे ही जवान लंड है तो फिर चुदवा और अपनी चुत की प्यास बुझा।

 

बाबू के लंड का पानी अपने चुत में ले और अपनी चुत की ज्वालामुखी को शांत कर।

 

तो मॉम बोली क्या मतलब है तुम्हारा, तो सोनिया बोली कि वही जो तू समझ रही है। बाबू के लंड का पानी अपने चुत में ले और अपनी चुत की ज्वालामुखी को शांत कर।

 

माँ बोली तू पागल हो गई है तुझे पता है तू क्या बोल रही माँ बेटे के बीच ये संभव नहीं है। तो सोनिया आंटी माँ को समझाते हुए बोली को चुत और लंड के खेल में रिश्ते नही देखे जाते। बस चुत को आग देखी जाती है। और फिर गलत क्या है तू भी अभी जवान है तुझे भी एक मर्द की कड़क लंड की जरूरत है। और वो जरूरत घर मे ही पूरी हो जाए तो क्या बुराई है। वैसे भी हम अगर कहीं बाहर मुँह मारे तो बहुत बदनामी होगी। इसलिए घर की बात घर मे रहेगी। और चुत को भी भूख मिटती रहेगी। और जवान बेटा भी हाथ से नही निकलेगा।

 

सोनिया के बहुत समझाने के बाद फिर मॉम बोली कि लेकिन ये कैसे होगा। बाबू मेरी तरफ कैसे आकर्षित होगा। तो सोनिया बोली कि खुद ब खुद हो जाएगा। बस तू उसे रास्ता देती जाना। बाकी वो खुद कर लेगा। आखिर वो एक जवान उबलता हुआ मर्द है कितना कंट्रोल करेगा। और फिर सोनिया मॉम को समझा दी। ( आप ये कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

दूसरे दिन सोनिया और उसकी बेटी अनुषा किसी रिलेटिव के घर मिलने चले गए। और मॉम और मैं एकसाथ नास्ता किए। मॉम उस दिन बहुत सेक्सी लग रही थी। काफी मेकउप की थी। रेड लिपिस्टिक और लाल रंग की बिल्कुल टाइट फिट गाउन पहनी थी। वो गाउन का गला काफी नीचे तक था। जिसमे।से आधे से ज्यादा माँ की बूब्स दिख रहे थे। अमूमन वो गाउन माँ बहुत कम ही पहनती थी। रात को कभी मेरे डैड रहते थे तभी पहनती थी।

 

नास्ता करने के बाद मैं अपने कमरे में चला गया। करीब आधे घंटे बाद। मुझे बाथरूम में कुछ गिरने का आवाज सुनाई दिया। मैं भागे-भागे गया तो देखा माँ गिरी पड़ी हैं और कराह रही है मैं दौड़ के उनको उठाया और बोला कहाँ चोट लगी है मॉम कैसे गिर गई आप। तो मॉम बोली कि मुझे उठाकर बेडरूम में ले चलो। मैंने सहारा दिया और लाने लगा। माँ की सॉफ्ट चुचियाँ मेरे छाती से टच हो रहे थे।

 

आज मेरे लंड से चुद गई मेरी माँ

 

मैं उनको बेड पर लिटाया और पूछा कि कहाँ चोट लगी है तो बो बोली कि घुटने में और कमर में ज्यादा लगी है। मैं फट से गया और मूव ले आया और मॉम के घुटनों पर लगाने लगा वैसे तो मैं कई बार माँ के घुटनो तक मालिश किया था। लेकिन आज मुझे किसी और चीज की ललक लग रही थी। उनकी चिकनी टांगे देखकर मैं गर्म होने लगा।

 

फिर मैं माँ के घुटनों से थोड़ा ऊपर तक हाथ ले जाकर मूव की मालिश करने लगा। मॉम के मुँह से आह हहहहहहहहहहहहहहहह की सिसकारी फुट पड़ी। तो मैंने कहा कि दर्द हो रहा है तो माँ बोली कि हाँ वहाँ भी थोड़ा मूव लगा दे।

फिर मैं मॉम के जांघों के और ऊपर तक गाउन के अंदर हाथ ले जाकर मालिश करने लगा। अब मॉम अपनी आँखें बंद कर अपनी होंठो को चबाने लगी। और सस्सीईईईईईईकीईईई सीईईईईईईईईईईईईईईई करने लगी। तभी मेरा हाथ इस बार थोड़ा और आगे गया और उँगलियों में गीलापन चिपचिपा सा लगा। और बिल्कुल गर्म था। जैसे ही वहाँ मेरी उंगली लगी मॉम उछल गई। और जोर को सिसकारी भर उठी। मॉम पैंटी नहीं पहनी थी और मैं समझ गया को मेरी उंगली मॉम की चुत में टच हुई। मैंने उस उंगली को सूंघा तो बहुत मजेदार बहुत अच्छी खुशबू रही थी।

 

अब मैं बार बार वहाँ हाथ ले जाने लगा और माँ गर्म होने लगी। अब वो जोर जोर से aaahhhहहहहहहहह uuhhhhhhhhhhhhhh ooooooohhhhhhhh करने लगी और शरीर को ऐंठने लगी। मेरी भी हिम्मत अब बढ़ चुकी थी। तो मैंने गाउन को पूरा ऊपर नाभि से ऊपर तक कर दिया। और मॉम की चुत मेरे आँखों के सामने चमक उठी। उनकी चुत पूरी गीली हो चुकी थी और पानी रिसकर नीचे के तरफ बह रहा था।

 

अब मैं माँ की चुत को रगड़ने लगा वो भी कुछ नहीं बोली और शरीर को ऐंठते हुए सस्सीईईईजीईईईईई ससस्सीईईईईईजीईईईईई को आवाज करने लगी। अब मैं भी पूरी तरह से गर्म हो चुका था। तो मैंने आव देखा ना ताव और अपना मुँह मॉम के चुत पर लगा दिया। मॉम मानो तड़प गयी। और मेरा सर पकड़ के जोर से दबा ली। और अपना कमर उचका कफ नीचे से मेरे मुँह पर रगड़ने लगी।

Threesome sex stories

और बोली बेटा मैं बहुत प्यासी हूँ तेरे पापा कई साल से मेरी चुत की प्यास नहीं बुझाए मैं अपनी उंगली से ही चुत की प्यास बुझाता हूँ। अब नहीं रहा जा रहा बेटा। अब जल्दी से अपना लंड मेरी चुत में डाल के मेरी चुत की आग मिटा।

 

मैं तो बस इसी का इंतज़ार कर रहा थ। अब झंडी भी हरी मिल चुकी थी।

 

फिर मैं बेड के नीचे गया और मॉम को बेड के किनारे खींच लिया इस दौरान उनकी गाउन भी उनके गर्दन तक पहुँच गयी थी। तो अपने आप ही वो गाउन को उतार दी। ( आप ये कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

फिर मैं उनके एक पैर को अपने कंधे पर रखा और एक पैर को बेड पर ही नीचे रहने दिया। और एक तकिया उनकी गांड के नीचे लगाया। अब उनकी चुत और ऊपर हो गयी और खुल गई। उनकी चुत पूरा लाल हो चुकी थी और पानी बह रहा था। उनका चुत बहुत बड़ा था चुत का दाना बिल्कुल खून को तरह लाल और मोटा हो चुका था। मैंने अपना लन्द पकड़ा और उनकी।चुत पर रगड़ने लग। और अपना लन्द उनकी चुत पर पटकने लगा। वो तो कराहने लगी। और कहने लगी बेटा क्यो तड़पा रहा है अपनी मॉम को जल्दी डाल अपना मोटा लंड मेरी चुत में। फिर क्या था। मैं भी पीने लन्ड को उनके चुत पर सेट किया। और मारा जोरदार धक्का। उनकी मुँह से चीख निकलते निकलते रह गई थी।

 

फिर मैं चोदना चालू किया। 4,5 झटकों के बाद ही मॉम मेरी कमर को पकड़ ली और अपनी तरफ खिंचने लगी। उन्हें बहुत मजा आने लगा था अब मेरा भी रफ्तार बढ़ चुका थ और माँ भी पूरे जोर से चुदाई का आनंद कमर आगे पीछे करके लेने लगी थी। और कहने लगी। आहहहहहहहहहहहहहहहहह बाबू चोदोदोदोदो…… चोदो बेटाआआआआ…. बहुत मजा रहा है। चोदो तेजी सेसीईए…… मेरे चुत को फाड़ डालो…….aaaaaaahhhhhhhh अपनो माँ की चुत को chodododododdo…. बहुत दिनों से पयासी है तुम्हारी मॉम की चुत।

 

मॉम अपब अपनी गांड तेजी से उछाल उछाल के देने लगी…….और बहुत मस्ती मे बोलने लगी आआहहहहहहहहहहहहहहहहहह..मेरे राजाज्जाजजाचोद ले अपनी रानी को…. आहहहहहहहहहहहहहहहहह आज से ये रानी तुम्हारी हुई। तू मेरा अब राजा बाबू है। कितना अच्छा चोदता है। सोनिया ने कितना अच्छे से चोदनी सीख दिया तुम्हे। aahhhhhhhhhhhhहहहहहहहह चोदो मेरी जाआनन्नन्नंन्नमन्न।।।…….. बहुत दिनो बाद मेरी चुत की इतनी मस्त कड़क मोटे लन्ड से चुद रही हैआआअहहहहहहहहहहहहहहहहहह.. चोदो मुझे और चोदोफाड़ डालो मेरी बूर को………..आआहहहहहहहहहहठहज्झहः… …  अब ऐसे ही मुझे रोज़ चोदना मेरे राजा, अपनी रानी की चुत की आग रोज शांत करना। आज से ये रानी तुम्हारी दीवानी हुई। ooooohhhhhhhhhh fuck my king fuck hard. Fuck baby fuck. Aaaaaahhhhhhhhhhhhhhhh ……. Fuck my son fuck your mom baby fuckkkk….. ooooohhhhhhhhhh yeahhhhhbhhhhhhhhh baby aaaaaahhhhhhhhh

मुझे छोड़कर कहीं मत जाना। बस मेरी चुत चोदते रहना। चोदोदो…… आआआहहहहहहहहहआआआआआझहठठहदझज्जहहहहहहहहह….ऊऊहहहहहहहहहहहहहहहहहह माआaaaaahhhhhhhhhhhhhhकितना मज़ा है तगड़े लंड से चुदने का….चोदो जानू चोदोतेरा बाप साला हिंजड़ा है कभी आज तक मेरी चुत की आग नही बुझाई। साले का चूहे की तरह छोटा लन्द मेरी चुत में पता भी नहीं चलता। चोदो जाणननन………आआहहहहहहहहहहहहहहहहह मेरे राजा…मेरे जानू…मैं तो तुम्हारी चुड़दकड़ मॉम चुदक्कड़ रानी बन गई। आज से तू ही मेरा पति है। तुझसे चुदवा के तेरे बच्चे की मॉम बनूंगी। ..आआहहहहहहहहहहहहहहहहहह

करीब 45 मिनट के चुदाई के बाद माँ 5 बार झड़ चुकी थी। और अब मैं भी झड़ने वाला था। तो मैंने कहा माँ अपने लण्ड का पानी कहा निकलू, तो वो बोली। तेरी मॉम की चुत लंड का पानी पीने के लिए वर्षो से प्यासी है मेरे राजा बेटा। तू अपनी माँ के चुत में ही सारा वीर्य निकाल दे। आखिरी बून्द तक मैं निचोड़ लुंगी। एक बूंद भी बाहर नहीं गिराना। और मैं मॉम के चुत में ही झड़ गया। माँ की बूर मे ही पानी छोड़ दिया। और फिर मैं वैसे ही बुर में लंड डाले लेट गया। उस दिन हम दोनों माँ-बेटे घर मे पूरे दिन नंगे थे। और दिन भर में 4 बार चुदाई की। ( आप ये कहानी nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

 

शाम को मेरे लंड में और माँ के चुत में भी जलन हो रहा था।

 

फिर रात को खाना खाने के बाद माँ अपने चुत और मेरे लंड को गुनगुने पानी से सिकाई की।

 

और मेरे डैड जो सेक्स पावर बढ़ाने वाली गोली खाते थे। वो एक गोली माँ मुझे दी। फिर उस रात तो तहलका ही मच गया। मैं पूरी रात माँ को कई बार चोदा। और 2 बार गांड मारी। अगले दिन सुबह माँ तो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी।

 

तो ये था मेरा पड़ोसी आंटी ने अपनी चुत के साथ अपनी बेटी की कुँवारी चुत फिर मेरी मॉम की चुत दिलवाई। चुदाई की कहानी।

 

तो देखा मेरे पड़ोसी आंटी ने पहले अपनी पयासी चुत चुदवाई।

 

फिर अपनी जवान कमसिन बेटी अनुषा की सीलबंद चुत फड़वाई

 

उसके बाद मेरी मॉम की चुत मुझे दिलवाई।

 

तो दोस्तों आपको जानना है कि सोनिया आंटी, अनुषा और मॉम को कैसे मैंने एक साथ चोदा तो मुझे कमेंट करके बताइएगा।

 

तबतक के लिए आप अपना ख्याल रखिए। नमस्कार।

 

Tag: माँ की प्यासी चुत

भूखी मलाईदार चुत

रंडी बनी माँ

माँबेटी चुदी एकसाथ

पड़ोसन को रसीली चुत।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *