नौकरों से चुत की आग ठंढी करवाई

 1,030 

नौकरों से अपनी चुत और गांड की आग ठंढी करवाई

मैं 13 साल की उम्र में अपने पड़ोस के लड़के से चुद गयी थी। तबसे मुझे सेक्स का ऐसा चस्का लगा कि मेरे जीवन मे अनगिनत बॉयफ्रेंड्स बने और मेरी चुत की चुदाई की। लेकिन पिछले 4 सालों से मेरी चुत बिल्कुल भी ठंढी नही हुई। मर्द की मजबूत बाहों के लिए मैं तरस गई जो मुझे रौंद दे। मेरे हस्बैंड भी मेरी चुद की आग ठंढी नहीं होने से बहुत निराश रहते हैं और उनको डर लगता है कि कही मैं किसी पराए मर्द से ना चुदवा लूँ। इस कारण वो मुझे रोज दवा खाकर चोदने की कोशिश करते हैं। लेकिन 8,10 धक्कों में ही लुढ़क जाते हैं। वैसे तो मैं उनके सामने कभी जाहिर नहीं करती की मेरी चुत प्यासी ही रह जाती है लेकिन उनको एहसास होता है। मेरे पति जब सो जाते हैं तो मैं अक्सर चुत में उँगली करके चुत को ठंढा करने कोशिस करती हूँ।

 कैसे मैं अमीर बुढ़े आदमी से शादी कर चुत के आग में जली और फिर नौकरों से अपनी चुत की आग ठंडा करवाई

हाय फ्रेंड्स। मेरा नाम श्वेता है। मैं एक अमीर आदमी की बीवी हूँ। मेरे हस्बैंड का बहुत बड़ा बिजनेस है। मैं अलग और मॉडर्न सोच की हूँ। मुझे 2 चीजों से बजट मोहब्बत है। एक है पैसा और दूसरा सेक्स। हाँ मैं सेक्स की दीवानी हूँ। मैं मिडिल क्लास फैमिली से थी लेकिन बहुत खूबसूरत हूँ।

मेरी उम्र 26 साल है। करीब 4 साल पहले मैं जब कॉलेज में थी तभी मुझे अपने से दोगुने उम्र के एक बड़े अमीर आदमी से प्यार हो गया या ये कहे कि उसकी पैसे से प्यार हो गया। और मैं अपने घरवालों के खिलाफ जाकर उससे शादी कर ली। अब मेरे पास अपार धन दौलत हैं। बड़ा सा घर हर शहर में एक घर के फार्महाउस गाड़ी घोड़े नौकर चाकर। सबकुछ हसि एक लक्जरीस जीवन व्यतीत कर रही हूँ।

लेकिन मुझे जिस चीज से जीवन मे सबसे ज्यादा मोहब्बत थी उससे वंचित हो गई। मेरे हस्बैंड बूढ़े हो गए हैं और शादी के बाद से एक बार भी मेरी चुत ठंढ़ी नही हुई।

बूढ़ा पति चुत में आग भड़काता और नौकर मेरी चुतगांड की आग ठंढा करते

मैं 13 साल की उम्र में अपने पड़ोस के लड़के से चुद गयी थी। तबसे मुझे सेक्स का ऐसा चस्का लगा कि मेरे जीवन मे अनगिनत बॉयफ्रेंड्स बने और मेरी चुत की चुदाई की। लेकिन पिछले 4 सालों से मेरी चुत बिल्कुल भी ठंढी नही हुई। मर्द की मजबूत बाहों के लिए मैं तरस गई जो मुझे रौंद दे। मेरे हस्बैंड भी मेरी चुद की आग ठंढी नहीं होने से बहुत निराश रहते हैं और उनको डर लगता है कि कही मैं किसी पराए मर्द से ना चुदवा लूँ। इस कारण वो मुझे रोज दवा खाकर चोदने की कोशिश करते हैं। लेकिन 8,10 धक्कों में ही लुढ़क जाते हैं। वैसे तो मैं उनके सामने कभी जाहिर नहीं करती की मेरी चुत प्यासी ही रह जाती है लेकिन उनको एहसास होता है। मेरे पति जब सो जाते हैं तो मैं अक्सर चुत में उँगली करके चुत को ठंढा करने कोशिस करती हूँ। (प्रिय पाठकों ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

लेकिन जो चुत बड़े बड़े लन्ड खा चुकी हो। जो एक साथ कई कई जवान लड़को से गांड, चुत मुँह में चुदती आयी हो उसके सामने उँगली की क्या हैसियत। वैसे भी जब तक मर्द की मजबूत बाहों जकड़ के चुदाई ना हो पूरा शरीर ना रौंदा जाए तबतक चुत की आग ठंढी नही होती।

कोई मेरी ब्रा पैंटी में मुठ मार के वीर्य छोड़ देता था

मेरा बूढ़ा पति मुझे खुश करने के लिए महंगे महंगे कपड़े , ज्वेलरी, मेरे हर जन्मदिन पर एक नया महंगी गाड़ी लेकर देता था। लेकिन मेरी चुत की आग इनसब चीजो से थोड़ी बुझती। मेरे घर मे कई नौकर-चाकर थे। जो सभी जवान लड़के थे। जो मेरे ही घर मे अलग रूम बना हुआ था उनमें रहते थे।  पिछले कुछ समय से मैं नोटिस कर रही थी कि जो ब्रा पैंटी सूखने के लिए डालती थी उसमें वीर्य लगे रहते थे। जाहिर सी बात थी कि कोई मेरे ब्रा पैंटी में मुठ मार के अपना लंड का पानी छोड़ देता था। और तभी मेरे दिमाग मे आया कि साला कौन हरामी है जो इतनी खूबसूरत मालकिन को छोड़के उसके सिर्फ ब्रा पैंटी को चोदता है। कास की वो मुझे चोदता और मेरी चुत को ठंडा करता।

अब मेरा पूरा ध्यान इस ओर लग गया कि कौन ऐसा करता है। एक दिन मेने देखी की नौकर ढेर सारे मेरे कपड़े वाश करने के लिए ले जाने लगा और साथ मे मेरी ब्रा पैंटी भी ले गया। लेकिन वो हरामी वाशिंग मशीन में सारे कपड़े तो डाले लेकिन मेरी पैंटी नहीं डाला। वह लाल रंग की पैंटी को अपने जेब मे डाल लिया। फिर इधर उधर देखा और जेब से पैंटी निकाल कर नाक में लगाकर सूंघने लगा। मुझे समझते देर नही लगी कि साला यही मेरी ब्रा पैंटी में अपने लन्ड का माल गिराता है। उस नौकर का नाम अजय था और वह अभी मात्र 22 साल का था। एक गरीब घर का लड़का था।

साले देख मैडम के लाल रंग की पैंटी से चुत की मस्त खुशबू रही है

फिर उसने पैंटी को सूंघने के बाद मशीन में डाल दिया और वाश किया। मैं लगातार आज उसी पर नजर बनाए हुए थी। फिर सारे कपड़े सूखने के लिए टेरेस पर डाल दिया। आज मैं टेरेस के ऊपर वाले कमरे में आ गयी और वहीं छुप गई। क्रीं 1 घंटे बाद वही नौकर फिर से छत पे आया और ब्रा और पैंटी दोनों उठाया और सूंघने लगा। फिर वो मेरी पैंटी को चाटने लगा। और फिर दोनों को जेब मे डाला और नीचे जाने लगा। मैं भी निकली और देखी की वो सीधा मेरे ड्राइवर के रूम में गया। उस दौरान घर मे दो ही नौकर थे एक अजय और दूसरा ड्राइवर मुन्ना। बाकी सारे निकर छुट्टी पर गए हुए थे।

मैं भी नीचे आई और सीधा ड्राइवर के कमरे के खिड़की के पास छुप गयी। उधर गार्डन था तो मुझे कोई देख नही सकता था। वैसे भी घर मे और कोई था नही। (प्रिय पाठकों ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

वो दोनों बातें कर रहे थे। अजय बोला साला देख मैडम ने आज लाल रंग की पैंटी खोली है इसमें से उनकी चुत की मस्त खुशबू रही है। सालि मैडम ने तो आज मेरे लण्ड में आग ही लगा दी है। सुबह से जबसे मैं उनकी चुत की खुशबू लीया हूँ मेरा लंड फनफना रहा है।

मैं मेहनत करके लाया हूँ तो पैंटी में मैं मुठ मारूंगा।

तो मुन्ना बोला चल साले अब एक मुझे दे। और मुठ मारते हैं देखते हैं किसके लंड से ज्यादा पानी निकलता है। मुन्ना मेरी पैंटी मांग रहा था लेकिन अजय बोला हट साले तू ब्रा ले। मैं मेहनत करके लाया हूँ तो पैंटी में मैं मुठ मारूंगा। साले कितने हरामी थे मेरे नौकर अपनी मालकिन के ब्रा पैंटी में मुठ मारने की चैंपियनशिप का आयोजन कर रहे थे। और फिर वो दोनों पैन्ट उतार के नंगे हो गए और दोनों अपने अपने लण्ड पर थूके और हिलाने लगे।

अजय और मुन्ना दोनों मेरे नाम का मुठ मारे जा रहे थे

 वो दोनों मेरे नाम का मुठ मारे जा रहे थे। और बोल रहे थे।

अजय–  सालि मैडम तुम्हारी गांड कितनी जबरदस्त है। अगर कभी मिल गयी तो फाड़ दूँगा। तुम्हारी गांड चुत दोनों का धज्जियाँ उड़ा दूँगा।

मुन्नाआठहठहठहHहहहहहहहह aaaaahhhhhhhhh सालि पति के बूढ़े लण्ड में क्या मजा मिलता है मुझसे चुड़वाओगी तो तेरी चुत तृप्त हो जाएगी। मालकिन तू इतनी जवान चुदासी है तेरी चुत बूढ़े लंड से कैसे ठंडी होती है।

अगर मालकिन का चुत मुझे मिल जाए तो फाड़ दूँगा।

दोनों मेरी ब्रा और पैंटी में लण्ड हिला रहे थे। दोनों का लण्ड एक पर एक मोटा तगड़ा था। मेरा तो मन किया कि अभी जाऊं और दोनों का लण्ड पकड़ के चुत और गांड में धांस लूं और कहूं कि हरामियों ब्रा पैंटी में क्या लण्ड रगड़ रहे हो हो ये लो अपनी मालकिन का चुत गांड मारकर मेरी चुदाई की आग बुझाओ।

Meet Women Online!!
InstaSexBanner

मैं जल्दी से रूम में गई और नंगी होकर सिर्फ जालीदार नाईटी पहन ली

फिर मैं जल्दी से अपने रूम में गयी और सारे कपड़े उतार के नंगी हो गई ब्रा पैंटी भी उतार दी और एक जालीदार नाईटी पहन ली। जिसमे से मेरी चुत और चुचियाँ साफ दिखती थी।

और फट से फिर वहीं आ गयी तो देखा वो दोनों अभी भी जोर जोर से लन्ड को हिलाए जा रहे थे।

फिर मैं अचानक से रूम में चली गई दोनों घबरा गए मैंने कहा तुमलोग मेरी ब्रा पैंटी में ये क्या कर रहे हो। सालों तुमलोगो की इतनी हिम्मत। दोनों घबरा गए और नंगे ही घुटनो के बल बैठ के हाथ जोड़कर माफी मांगने लगे कि मैडम गलती हो गई अब ऐसा नही होगा। माफ कर दो हमें। फिर मैंने कहा खड़ा हो। दोनों खड़े हो गए। लेकिन डर के मारे दोनों का लण्ड सिकुड़ गया और नीचे लटक गया।

मेने कहा सालों मेरे सामने नंगे हो पैंट पहनो और मेरे रूम में आओ तुमदोनों को बताती हूँ। इतना बोल के मैं मुड़ी और अपने रूम में आने लगी। वे मेरे मटकती गांड को अभी भी निडर होकर देख रहे थे।

मैं कमरे में आते हीं नाईटी उतार के फेंक दी और पूरी नंगी हो गई। और बिस्तर पर लेट गई। (प्रिय पाठकों ये कहानी आप nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं)

तभी दोनों आये और दरवाजा खटखटाया। मेने कहा अंदर आ जाओ अंदर आते ही वे दंग रह गए। और फ़टी आंखों से मुझे देखने लगे फिर दोनों एकदूसरे को देखे। उन्हें यकीन नही हो रहा था कि मैं उनके सामने नंगी लेटी हूँ। फिर मेने कहा देख क्या रहे हो हरामियों। ब्रा पैंटी में तो बड़े जोश से लंड रगड़ रहे थे अब असली चुत सामने है तो देख रहे हो। आओ आगे बढ़ो और मेरी चुत और गांड की धज्जियां उड़ा दो। फिर मैंने पैर फैला दिया। इससे मेरी चुत खुल गई और अंदर का हिस्सा दिखने लगा जो बिल्कुल लाल था। फिर दोनों आगे बढ़े तो मैंने अजय को पकड़ कर उसकी सर अपने चुत पर दबा दी। और मुन्ना को अपने अपने ऊपर खींचकर किस करने लगी।

अजय मेरी चुत चाटने लगा और मुन्ना मेरी चुचियों को पीने लगा

अजय अब मेरी चुत को चाटने लगा और मुन्ना को मैं किस करते हुए उसके सर को नीचे ले जाकर अपना चूची उसमे मुँह में दे दी और बोली पियो इसे। वह पीने लगा और एक हाथ से दूसरे चूची को दबाने लगा। फिर मैं मुन्ना के सारे कपड़े अलग किये और उसे नंगा कर दिया मेरे बेड के बगल में ही ग्लास में रेडवाईन पहले से पड़ी हुई थी मेने उठाया और मुन्ना के लंड पर डाल दिया और अपनी चुत पर भी उड़ेल दिया और अजय को बोलो अब चाटो। वो चाटने लगा। और मैं मुन्ना के लंड को मुंह मे लेकर चूसने लगी। वाइन और लण्ड का कॉकटेल स्वाद बहुत मसजेदार था। उसका लन्द बहुत बड़ा थ। मेरी गले से भी नीचे उतर रहा था। अब वो मेरे मुँह को चोदने लगा उधर अजय भी सारे कपड़े उतार चुका था। और बोला मालकिन और वाइन चुत पर डालो ना। मेने झट से डाल दिया। और अजय के हाथ को पकड़ के अपने तरफ खिंच लिया।

फिर मेने मुन्ना को बोला कि जो टेबल पर विस्की की 3 नीट पैग बनाकर लेकर आओ। वो गया और नीट पैग ले आया तो मैने कहा साले इतने से क्या होगा। आज मैं तुमदोनों को कच्चा चबा जाऊंगी। और विस्की डाल। उसने और विहस्की डाली और अजय तो एक घूंट में ही पूरा ग्लास साफ कर दिया ये देखकर मुझे भी जोश आ गया और मैं भी पूरा पैग एक सांस में पी गई। इतना देख मुन्ना भी पगला गया और वो भी पी गया। अब मैं मुन्ना को अपने ऊपर खींची और बारी बारी दोनों को किस करने लगी।

सालों बाद मेरी चुत और गांड एक साथ चुदी। और मेरी चुत की आग ठंडा हुआ

फिर मेने बोला बोला अब मुझसे बर्दास्त नही हो रहा अब मेरी चुत चोदो। तो अजय झट से नीचे गया और मेरी चुत में लंड डाल के चोदने लगा। मुन्ना का लंड भी फनफना रहा था।

मेने उससे कहा कि व्हिस्की की बोतल लाओ वो झट से ले आया। मैं मुँह में लगा के एक साथ दो घूंट ली। और फिर अपने चुत पर गिरा दी। अजय लगातार चोदे जा रहा था फिर मैं अजय को रुकने बोली वो लंड निकाल लिया उसका लंड चुत में जा के और भी फूल गया था। फिर मैं अजय को नीचे लेटने बोली और वो लेट गया फिर सीधा होकर अजय के लंड गांड पर लगाई और बैठ गई उसका लंड मेरी गांड में पूरा समा गया। मैं काफी दिनों बाद गबद में लंड ली थी तो मुझे थोड़ा दर्द हुआ। और मैं मुन्ना के हाथ से व्हिस्की की बोतल ली और एक और घूंट पी। और बोतल को फेंकते हुए बोली मुन्ना मेरी चुत में लंड डाल। उसने झट से मेरी चुत में लंड डाल दिया अब मैं बोली कि सालों हरामियों देख क्या रहे हो फाड़ दो मेरी चुत और गेंद। वो दोनों जबरदस्त चुदाई करने लगा। पूरा कमरा हमतीनों के aahhhhhhhhhhhuuuhhhhhhhhh uhhhhhhhhhhhhhh ssssiiiiiiijjijjiiiii की सेक्सी आवाजों से गूंजने लगा। मैं की सालों बाद चुत और गांड एक साथ चुद रही थी। मुझे कॉलेज के दिन याद गए। जब मैं एक साथ 4, 4 लड़को से चुदती थी।

करीब 45 मिनट की हमारी चुदाई चली इस दौरान मैं 5 बार झड़ चुकी थी। मुन्ना तो पहले ही झड़ गया था। लेकिन झड़ने के बाद वो मेरी गांड चाट रहा था और अजय मेरी चुत चोदे जा रहा। था। कई सालों बाद। आज मैं पूरी तरह से चुदाई से संतुष्ट हुई थी।

अब मैं रोज 2, 3 बार दोनों से चुत और गांड दोनों में चुदती हूँ। कुछ दिनों बाद मेरे और नौकर छुट्टी से आए तो मैं 4 नौकरों से एक साथ चुदी अब मैं बहुत खुश रहती हूं। जो मेरा सपना था। पैसा और चुत की चुदाई एक साथ पूरा करने का वो अब पूरा हो रहा था।

तो कैसी लगी मेरी कहानी दोस्तों। कमेंट करके मुझे जरूर बताना। और मैं जल्दी ही एक और कहानी के साथ उपस्थित होउंगी। तब तक के लिए नमस्कार।

तो दोस्तों ऐसे ही मजेदार चुदाई सेक्स कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com के अन्य पेज पर जाएं।

हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें। मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “बेटी की कुँवारी चुत भाग – 2

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

83% LikesVS
17% Dislikes

5 thoughts on “नौकरों से चुत की आग ठंढी करवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *