Amateur sex Erotic Stories Hindi Stories Lust Stories Nangi ladki Romantic Sex Kahani Sex stories Sexstory अमीर औरत की चुदाई इंडियन बीवी की चुदाई ऑफिस सेक्स कमसिन कली किचन में चुदाई कुँवारी चुत कोई देख रहा है कोई मिल गया गर्म चुत गर्लफ्रेंड की चुदाई गांड की चुदाई जिगोलो से चुदाई दर्दभरी चुदाई देसी चुदाई कहानी देहाती लड़का नौकर से चुदाई पुलिसवाली की चुदाई बस में चुदाई बाथटब चुदाई बालकनी में चुदाई बुआ की चुदाई बड़ी चूचिया भाई बहन की चुदाई भाभी की चुदाई भूखी मलाईदार चुत रसदार चुत रसीली चुत राजनीति और हवस शहर की चुत सामूहिक चुदाई सिनेमा हॉल में चुदाई सीलबंद गांड की चुदाई सीलबंद चुत सीलबंद चुत की चुदाई सेक्स कहानी सेक्स स्टोरी सेक्सी कहानी

मेरी चुत की पहली चुदाई भाग 1

मेरी चुत की पहली चुदाई भाग 1

दोस्तो, मेरा नाम सोनिया है, मेरी उम्र अभी 22 साल है। मैं दिखने में एक खूबसूरत लड़की हूँ। मैंने बहुत सारे लड़कों को अपनी जवानी का गुलाम बनाया है।

 

मेरे 30-26-34 की कामुक फिगर की वजह से मैं बहुत सुंदर और गर्म दिखती हूँ। जो मुझे एक बार देख लेता है वह दीवाना हो जाता है। मुझे अलग अलग लड़कों से चुदाई करवाना बहुत पसंद है। मैं बिल्कुल चुदक्कड़ रंडी बन चुकी हूं। मैं किसी से के साथ अपनी चुत खोल कर चुदाई का मजा ले लेती हूँ। आज मैं जो सेक्स कहानी लिख रही हूँ वो मेरी पहली की चुदाई की कहानी है। पहली बार जब मेरी चुदाई हुई उसका अलग मजा था। इसलिए मैं आपसब से साझा कर रही हूं। ये घटना करीब 3 साल पहले की है।

कैसे मेरी पहली चुदाई यादगार बन गई

हालांकि मैं 14 साल की उम्र में ही पहला बॉयफ्रेंड बना ली थी उस समय में एक कमसिन और सामान्य फिगर वाली लड़की थी। और धीरे धीरे चुदाई की आग मेरी चुत में भड़कने लगी थी। 17, 18 साल की उम्र तक मैं चुदाई के बारे में अवहचे से जान चुकी थी। बालिग़ होते ही मेरे दिमाग में ब्वॉयफ्रेंड बनाने का जुनून सवार हो गया था क्योंकि मेरी सभी सहेलियों के ब्वॉयफ्रेंड थे. वो सब अपने ब्वॉयफ्रेंड्स की बातें करती थीं तो मुझे लगता था कि मुझे भी एक यार बना लेना चाहिए। मैंने अपने इर्द-गिर्द देखना शुरू किया, तो मुझे मालूम चला कि ऐसे बहुत से लड़के हैं, जिनमें से किसी को भी अपना ब्वॉयफ्रेंड बनाया जा सकता था।  तो मैं भी कइयों को आकर्षित करने लगी।

वर्जिन चुत की आग

मैंने लड़कों को लिफ्ट देनी शुरू की तो मुझे बहुत से लड़कों के प्रोपोजल आने लगे थे। लेकिन मैं अभी भी सभी को नजरअंदाज करती गई। क्योंकि मैं थोड़ा भाव खाना चाहती थी। और मैं किसी अच्छे से लड़के की खोज में थी।

 

मेरी घर के पास ही एक रुद्र नाम का लड़का रहता था। वह मेरे से 2, 3 साल बड़ा था। वो मुझे अक्सर देखता था। और मुझे भी वो मुझे बहुत अच्छा लगता था। मुझे रुद्र अक्सर उसकी छत पर दिखता था। मैंने भी अपनी नजरें उस पर चलाना शुरू कर दी और अब मैं भी उसे देखकर स्माइल कर देती थी। वो भी मुझे देखता रहता था। दरअसल वो एक अय्याश किस्म का लड़का था ये मुझे बाद में पता चला। फिर एक दिन मैं रोड पर सब्जी लेने गई तो वो भी आ गया फिर वो मेरे पास आकर बात करने लगा। फिर हम दोनों का नम्बर एक्सचेंज किए और बातचीत करने लगे।

रुद्र ने मुझे प्रपोज़ किया मैं बहुत खुश हुई

फिर एक दिन वो मुझे मिलने को कहा तो मैं तैयार हो गई। और उसी दिन वो मुझे प्रपोज़ कर दिया। धीरे धीरे हम काफी आगे बढ़ गए। और  अब हम दोनों फोन सेक्स भी करने लगे थे। रात रात भर गंदी गंदी बातें होने लगीं। मुझे वो पोर्न चुदाई वाली वीडियो भेजने लगा। और अक्सर यही कहता रहा कि एक दिन तुम भी मुझसे ऐसे ही करोगी और मैं भी तुम्हारे साथ ये सब करूंगा। मैं उसकी बातों को हंस कर टाल देती थी।

 

लेकिन उसकी भेजी उन वीडियो क्लिप्स का खूब मजा लेती।

सेक्स वीडियो देख कर मैं अपनी चुत सहलाने लगती थी। इससे मेरी चूत रस छोड़ कर चिकनी हो जाती थी। अब मैं रोज https://nightqueenstories.com पर सेक्स कहानियां पढ़ने लगी और पोर्न मूवी देखने लगी।

 

मगर ये सब न तो मैं रुद्र को बताया और न ही अपनी किसी सहेली को बताया। मैं बस चुपचाप ये आनंद लेती रही। मेरी सभी सहेलियों में सबकी चुदाई हो चुकी थी सबके बॉयफ्रेंड थे लेकिन मैं अभी तक कुंवारी थी। मेरी चुत के अन्दर उंगली तक भी नहीं गई थी। हाँ मैं अब रोज चुत के दाने को मसलकर चुत की प्यास बुझाती थी। रुद्र मुझसे पूछता था लेकिन मैं इस बारे में उसे कभी कुछ नही बताई। अब सहेलियों की चुदाई की बातें सुनकर मेरी भी चुदने की इच्छा होती थी लेकिन उनके दर्द की दास्तान सुनकर मेरी हिम्मत नहीं होती थी कि मैं भी अपनी चुत में लंड ले लूं। मेरी एक अच्छी सहेली थी, उसने मुझे बताया था कि पहली बार में चुदाई होने पर और लन्ड चुत में जाने पर चुत फट जाती है और खून निकलता है और काफी दर्द होता है ये सब बातें मुझे चुदने से रोक देती थीं।

 

इसी बीच रुद्र का जन्मदिन आ गया  और उसने मुझसे पूछा- तुम मुझे क्या गिफ्ट दोगी| तो मैंने उससे कहा- तुम जो मांगोगे, मैं दे दूँगी। लेकिन ये कह देना मेरी सबसे बड़ी गलती साबित हुई थी। रुद्र ने मुझसे इस बात का वादा करवा लिया कि तुम अपने वादे से मुकरोगी नहीं। अब चूंकि मैं भी उसको बहुत प्यार करने लगी थी तो मैंने भी उसको जुबान दे दी।

रुद्र ने कहा कि मैं आज तुम्हे चोदना चाहता हूँ

उस रात उसने मुझसे वो सब कहा जिसके लिए मैं उसे मना कर देती थी। रुद्र ने जन्मदिन का गिफ्ट मेरी चुत चोदने के रूप में मांगा।  मुझे उसी रात चुदाई करवाने के लिए कहा। हम दोनों बहुत घुल-मिल चुके थे मैं उससे बहुत प्यार करने लगी थी इसलिए उसने सीधे मुझसे कह दिया कि मैं तुम्हें आज चोदना चाहता हूँ। उसकी बात सुनकर मैं एक बार को झिझक उठी। फिर मैं उसी समय अपनी सबसे अच्छी सहेली को फोन करके ये सब बताया।

 

उसने मुझे हिम्मत दी और कहा- देखो सोनिया किसी न किसी दिन तुम्हें चुदना ही है। और वेसे भी तुम्हारी उम्र की सभी लड़कियां चुद चुकी हैं। इसलिए ये मौका सही है, कुछ नहीं होगा। आखिर रुद्र तुम्हारा प्यार है। तुमको कभी न कभी तुम्हें ये दर्द मिलना ही है। और फिर ये दर्द तो बस क्षण भर की होती है फिर तो सारी उम्र मजे ही मजे हैं। तो क्यों ना अपने प्यार से चुदाई करवा लो।

अपनी सहेली की बात सुनकर मैं पहली बार चुदने का मन बना ली

फिर अपनी सहेली की बात सुनकर मुझमे हिम्मत आयी और मैं चुदने का मन बना लिया और रुद्र को वीडियो काल करके उसकी तरफ देख मुस्कुरा दी। मेरी कातिल मुस्कान देख कर वो समझ गया कि मेरी तरफ से हां है और मैं चुदने के लिए तैयार हूँ।

पहली चुदाई

उसने मुझसे कहा- मेरा एक दूसरा फ्लैट है, हम वहीं चलते हैं। हमदोनों वहां अकेले में मस्ती करेंगे। मैं मान गई और रुद्र के साथ चली गई। मेरे मन में चुदाई का डर तो था, पर अब मैंने मन बना लिया था कि ये दर्द अपनाना ही है। और दर्द के बाद मजा है। मैं रुद्र के लंड के आकार से अब तक अनजान थी। उसने कभी मुझे अपना लंड ही नहीं दिखाया था और मैंने उसको कभी कहा भी नहीं था। मैंने अपनी सहेलियों से अपने घर बात करवा दी और झूठ बोला कि सहेली के घर पर हूँ। और कह दिया कि कल सुबह आऊंगी, आज सहेली के जन्मदिन की लेट नाईट पार्टी है। और मैं शाम को ही रुद्र के साथ चली गई। पहले तो वो मुझे पहले मॉल वगैरा घुमाता रहा, हमने मॉल में ही खाना भी खाया। उसके बाद वो मुझे अपने फ्लैट पर ले गया।

 

अब मेरा दिल जोर जोर से धड़क रहा था। वहां पहुंच कर मेरे मन में यही बात बार बार आ रही थी कि रुद्र का लंड न जाने कितना बड़ा होगा। और मैं कैसे इस दर्द को बर्दाश्त करूँगी। कहीं रुद्र का लन्ड बहुत बड़ा हुआ तो मैं मर तो नहीं जाऊंगी, मुझे कल घर भी जाना है, सही से चल पाऊंगी या नही किसी को पता तो नहीं चल जाएगा। मैं यही सब सोच रही थी। तभी रुद्र ने मुझे बातों में लगा लिया और मैंने उससे कहा कि जान मुझे डर लग रहा है। उसने मुझसे कहा कि मैं इसमें बहुत एक्सपीरियंस वाला हूँ। और तुमसे पहले मेरी 5 गर्लफ्रेंड रह चुकी है। और मैं सबको चोद चुका हूँ। यह सब सुनकर मुझे काफी बुरा लगा लेकिन चुदने के लिए अब मेरा भी मन कर रहा था तो मैंने कुछ नहीं कहा।

 

मैं बाथरूम गई। वहां से वापस आई, तो रुद्र बिस्तर पर लेटा हुआ था, और अपनी पैंट के ऊपर से ही खड़े लंड पर हाथ फेर रहा था और उसको सहला रहा था। फिर उसने मुझे पास बुला कर बिठाया और खुद भी उठकर बैठ गया और मुझे किस करने को पास आ गया। मुझे पकड़ कर उसने किस करना शुरू कर दिया। मैं अपने इस पहले रोमांस को यादगार और अच्छा बनाना चाहती थी। भले ही मेरे मन में चुदाई का डर था, लेकिन मैं ये पहला दर्द और पहला मजा लेने को तैयार थी। मैं किसी रोमांटिक फ़िल्म के हेरोइन के जैसे उठी और रुद्र के पैरों पर बैठ गई। और रुद्र को सुला दी। अब मैं उसके ऊपर हो गई और उसका मुँह ऊपर था। उसके मुँह पर मेरा मुँह झुक गया था. मेरे बाल उसके चेहरे पर आ गए थे। मैं उसे किस करने लगी। उसने मेरे बालों को अपने हाथों से ऊपर कर दिया। मैंने भी उसके कानों के पास हाथ ले जाकर उसको पकड़ा और किस करने लगी। आज मैं पहली बार रुद्र को किस कर रही थी। और मुझे किस करने में बहुत मजा आने लगा था।

 

रुद्र जल्दी जल्दी मेरे होंठों को चूस रहा था। मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी। कुछ देर के बाद रुद्र ने अपने हाथ मेरे बूब्स पर रख दिए।

मैं कपड़े पहने थी तो उस समय मुझे कुछ अच्छा नहीं लगा लेकिन वो बेपरवाह होकर मेरी चूचियों को मसलने लगा। मैं रुद्र को किस किए जा रही थी। वह भी अपना जीभ मेरी मुँह में दे दिया और मैं चूसने लगी। कुछ देर बाद उसने धीरे धीरे करके मेरे कपड़े उतार दिए और ब्रा भी निकाल दिया। मैं उस समय उसको एक बार भी मना न कर सकी। रुद्र के सामने मेरे खुले दूध से सफेद बूब्स उछलने लगे थे। उसने अपने हाथों में मेरे दोनों बूब्स पकड़ लिए थे।

 

तभी अचानक से मुझे नीचे अपनी टांगों के बीच में कुछ गर्म महसूस होने लगा तो मेरा ध्यान वहां चला गया। वो रुद्र का लंड था जो बहुत ही कड़क हो चुका था। बिल्कुल लोहे की तरह। फिर रुद्र ने बताया कि उसका लंड दो महीनों से भूखा है। इसका मतलब साफ था कि रुद्र दो महीने पहले ही किसी को चोदा था। जबकि मैं पिछले 6 महीने से उसे प्यार कर रही थी। मतलब मेरे सिवा भी उसका कोई था जिसे वो चोदता था। लेकिन मैं अब इन सब बातों को नजरअंदाज करके बस रुद्र को किस कर रही थी। क्योंकि मैं पहली चुदाई को यादगार बनाना चाह रही थी। वो मेरी चुचियों के निप्पल को उंगलियो से मसलने लगा। मुझे दर्द हुआ तो मैंने उसके होंठों पर काट लिया। उसके होंठो पर मेरी दांत गड़ गई। लेकिन वो हंस पड़ा और उसने मेरे निप्पल छोड़ दिए। फिर उसने मेरा हाथ पकड़ कर चड्डी के ऊपर से ही अपने लंड पर रख दिया। मैं अपने हाथ पर रुद्र के लंड का स्पर्श पाकर एकदम से झनझना उठी मेरी बदन में एक अजीब सी सनसनी दौड़ गई।

उधर रुद्र ने फिर से मेरे एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया था और वो उसे चूसने लगा था। मुझे अपने निप्पल चुसवाने में बहुत आनन्द आने लगा था और उसी पल उसके लंड ने मेरे हाथ की गर्मी पाकर एक झटका मारा। जैसे ही मेरे हाथ में उसके बड़े और मोटे लंड का अहसास हुआ, मेरे मन में यही आया कि जिस चुत में आजतक एक उँगली तक नही गई वो चुत इतना बड़ा लंड कैसे बर्दास्त करेगा। तभी उसने मेरा हाथ पकड़ कर अब अपनी चड्डी के अन्दर कर दिया। अब तो मैं और चकित रह गई थी, क्योंकि उसका लंड मेरे हाथ में पकड़ ही नहीं आ रहा था। बहुत बड़ा लंड था उसका। मेरे प्यार का लंड बहुत गर्म था और लंड के आगे वाले टोपे पर थोड़ा थोड़ा चिपचिपा भी लग रहा था। उसी समय उसने मेरे दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसना शुरू कर दिया। और निप्पल को दांतों से काटने लगा। वो किसी बच्चे की तरह मेरे दोनों बूब्स चूसे जा रहा था। फिर उसने एक पल के लिए रुक कर मेरी तरफ देखा और दोनों के ही सारे कपड़े उतार दिए। उसने मेरी पैंटी भी उतार दी थी।

प्रेमी प्रेमिका

अब मेरी कुँवारी चिकनी चूत उसके सामने थी। चुकी मैं चुदने का प्लान पहले से बना ली थी इसलिए चुत के बाल साफ कर दिए थे। उसने मुझसे कहा- बेबी तुम्हारी तो चुत बिल्कुल चिकनी है। रुद्र के मुंह से ये बात सुनकर  मुझे बहुत अच्छा लगा। उसने कहा- बेबी, मैं इसको चूमना चाहता हूँ। मैं कुछ न कह सकी और उसने अपनी बांहों में भरकर मुझे बेड पर लिटा दिया। मैं इस पल को बहुत एन्जॉय कर रही थी। मुझे रुद्र की बांहों में बड़ा मादक एहसास लग रहा था, लेकिन फिर भी अन्दर ही अन्दर एक डर भी लग रहा था। लेकिन मैं अब मदमस्त हो चुकी थी। और।अपनी सीलबंद चुत को फड़वाने के लिए पूरी तरह तैयार थी

 

दोस्तों अपनी पहली चुदाई की बाकी घटना अगले भाग में बताऊंगी।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

50% LikesVS
50% Dislikes

One thought on “मेरी चुत की पहली चुदाई भाग 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *