मुस्लिम औरत

मुस्लिम औरत सबा ऑन्टी की प्यासी चुत

 

कैसे हो https://nightqueenstories.com के पाठकों? उम्मीद करता हूँ सबके लंड में उबाल और चुत में आग लगी होगी। और नही लगी होगी तो ये कहानी पढ़ते ही तुम्हारी चुत में ज्वालामुखी फट पड़ेगी।

 

तो दोस्तों मेरा नाम आदित्य है मैं बेसिकली महाराष्ट्र के औरंगाबाद से हूँ लेकिन अपने परिवार के साथ मायानगरी मुम्बई में रहता हूँ। मेरा जन्म भी यहीं हुआ था और अब जवानी की उफान भी यही शुरू हुआ है। मेरी उम्र 21 साल है लेकिन मैं पिछले 3 सालों से जिम जाता हूँ तो मेरी बॉडी बिल्कुल फिट है। मेरी हाइट 6 फिट की है रंग गेंहुआ है। ना गोरा सांवला।

 

ये कहानी मेरी सच्ची घटना है जो मेरी और एक मुस्लिम महिला सबा ऑन्टी की चुदाई की है।

मुस्लिम महिला की प्यासी चुत की चुदाई की कहानी

सबा ऑन्टी का घर मेरे घर के सामने है हम दोनों के घरों के बीच एक 12 फिट कि रोड का फासला है। सबा की उम्र 38 साल है। उसकी फिगर 36-30-40 है। उनकी जो सबसे अच्छी चीज है वो है उनके बाल जो बिल्कुक काले रेशम की तरह है और कर्ली हैं। सबा देखने मे किसी जन्नत की हूर की तरह दिखती है। वो बेहद खूबसूरत है। दरअसल उसकी मायके वाले एक रॉयल फैमिली से हैं। जिनके पास अथाह धन दौलत है। और जिनके पास अथाह धन दौलत होता है उनके घर का कुत्ता भी इंसान से खूबसूरत ही होता है।

 

सबा ऑन्टी के घर मे सिर्फ सबा और उसकी 8 साल की बेटी रहती है। क्योंकि उनके शौहर दुबई में एक मल्टीनेशनल कंपनी में बड़े पद पर कार्यरत हैं। और दुबई

 

जाने के बाद वो दूसरी शादी कर लिए हैं जो उनकी दूसरी पत्नी उनके साथ रहती है।

 

वो दुबई से पैसे भेजते हैं लेकिन खुद साल, 2 साल में एक बार घर आते हैं।

 

तो एक दिन बिल्कुल सुबह मैं छत पर टहल रहा था तभी मेरी नजर सबा आंटी के घर गई। दरअसल मेरे छत से सबा ऑन्टी का रूम का अंदर का नजारा दिखता था। उनकी स्लाइडिंग विंडो के जरिए।

Antarvasna Hindi English sex stories

 मैंने देखा की ऑन्टी टॉप और पायजामे में हैं। और फिर थोड़ी देर में टॉप और पायजामा उतार के तौलिया लपेट ली और बाथरूम में नहाने चली गई। 

 

अब मैं लगभग रोज कोशिस करने लगा ये नजारा देखने को। लेकिन कभी कभी ही दिख पाता था। क्योंकि मैं छत पर हमेशा रह नही सकता था और सबा ऑन्टी का नहाने का कोई एक टाइम नही था। लेकिन उस खिड़की से मैं सबा ऑन्टी को अधनंगे कई बार देखा क्योंकि सबा ऑन्टी जब घर मे होती थी तो वो कई बार शॉर्ट्स में होती थी।

 

ये सिलसिला करीब 1 महीने तक चला और एक दिन सबा ऑन्टी मुझे छत पर देख ली तो उस दिन खिड़की लगा दी।

 

उस वक्त में बहुत डर गया मैं जब शाम में दोस्तों के साथ खेलने जा रहा था तो आंटी मुझे गुस्से में घूर के देख रही तो मैंने सॉरी बोल के भाग गया।  दूसरे दिन सबा आंटी के घर पर मॉम ने मुझे एक टिफिन देकर कहा के सबा आंटी को दे आना पर मैं मॉम को ना भी बोल न सका।

 

मैं आंटी के घर गया तो देखा तो ऑन्टी का घर का दरवाजा खुला हुआ था तो मैं सीधा घर मे घुस गया।  तो सबा आंटी ब्लैक कलर का ब्रा और पैंटी में थी और हाथ मे ब्लैक कलर का गाउन था वो नहाकर आयी थी और गाउन पहनने जा रही थी। आंटी मुझे देख कर अपने बूब्स को छुपाने लगी।  ये सब देख कर मुझे पसिना छुटने लगा तो मैं सॉरी बोला और पीछे मुड़ गया।

 

और फिर वो मुझे सोफे पर बैठने को कहि और थोड़ी देर बाद वो आ गयी। वो ब्लैक गाउन जो बॉडी फिटेड था उसमें बहुत हॉट और सेक्सी लग रही थी।

 

वह गुस्से में देखने लगी और चिल्लाने लगी तो मैं डर गया। आंटी ने कहा के मैं तुम्हारे मॉम को बोल दूँगी की तुम बहुत बदतामिज हो गए हो।  मेरी बाथरूम की खिड़की में झांकते रहते हो।  तो मैं डर के मारे आंटी के सामने अनुरोध करने लगा के आप मां को कुछ मत बोलना तो आंटी ने कहा के मैं आज तुम्हारी मां को सब बताऊंगी की तुम मुझे बुरी नजर से देखता हो।  मुझे चुपके से नहाते वक्त देखता है।

 

तो मैंने सबा आंटी को सॉरी कहने लगा तो आंटी कुछ नहीं बोल रही थी तो मैं नजरें नीची करके फिर से सॉरी बोला तो आंटी ने बोली की तुम दोबारा ऐसा नहीं करोगे? तो मैंने कहा नहीं, तो सबा बोली उपर देखो।  जब मैंने ऊपर देखा तो आंटी ने अपना ब्लैक नाइटी कमर तक उठा रखा और उनकी गोरी गोरी मोटी  जांघे और ब्लैक पैंटी भी दिख रही थी।

 

 मैं परेशान हो गया और खड़ा हो गया मेरे कुछ समझ में नहीं रहा था मेरा लंड खड़ा हो गया। जो मेरे पायजामे में साफ दिख रहा था।

 

 मैं कुछ बोलता उसके पहले सबा आंटी ने मेरा हाथ पकड़ी और पैंटी के ऊपर अपनी चुत पर रख दी। तब मैं समझ गया कि सबा आंटी मुझसे अपनी चुत चुदवाना चाहती है, लेकिन पहल मेरी तरह से चाहते हैं।  मैंने तब आगे बढ़ कर उनके बूब्स पर अपना हाथ रख दिया और उन्हे धीरे धीरे सहलाने लगा।  सबा आंटी कुछ नहीं बोली बस मस्कुराते रही।  तब मैंने उनकी नाइटी उतर दिया और मेरे सामने सलमा आंटी सिरफ ब्लैक ब्रा उर पैंटी में अपने जवानी का जलवा दिखाते हुए खड़ी थी।

 

फिर मैं सबा ऑन्टी की ब्रा को निकाल फेका मैं उनकी गोल गोल चुची देख कर हैरान हो गया। उनकी चुचियाँ बिल्कुल कड़क तनी हुई थी।  मैंने उनके चुचियों को जोर से दबाने लगा।

 

तब आंटी मुझे अपने दोनो हाथों से पकड़ कर बाहों में कस ली। मैं उन्हें किस करने लगा और वो भी मेरे होंठो को चुसने लगी। फिर सबा ऑन्टी मेरी टी शर्ट उतार दी। और मेरा हाथ नीचे गया और उनके चुत को रगड़ने लगा। और फिर पैंटी में हाथ डाल कर अपनी 1ऊंगली उस की चुत में डाल दी, और उनकी चुत को उंगली से चोदने लगा।

 

अब उनकी चुत पूरी गीली हो गई। तो सबा बोली आदि मेरी चुत बहुत प्यासी है 2 साल से सिर्फ उंगली से काम चलाया है। मेरी चुत चुदने केलिए पूरी तरह से तैयार है।

 

तो मैंने उसकी चुत से अपनी उंगली बाहर निकाला और उसकी पैंटी को नीचे सरकाते हुए टांगो से बाहर निकाल दिया।

मुस्लिम चुत

तब तक ऑन्टी मेरा पायजामा भी नीचे कर दी थी जिसे मैं पैरो से अलग कर दिया। आब हम दोनो एक दुसरे के सामने बिल्कुल नंगे खड़े थे। तो ऑन्टी मादक आवाजों के साथ सिसकारी लेते हुए बोली कि मेरे राजा तुम नंगे बहुत सुंदर दिखते हो, तुम्हारी खड़ा हुआ बड़ा लंड देखने में बहुत ही सुंदर लगता है और कोई भी लड़की या औरत इसे अपने चुत में लेने को तैयार हो जाएगी।”

 

मैं अब आंटी को अपने बांहो में ले कर उससे बोला कि, “हमें कोई और लड़की या औरत से मतलब नहीं है, क्या आप मेरे लंड को अपने चूत के अंदर लेना चाहते हैं?”  तब आंटी बोली मैं तो तभी से तुम्हारे लंड से अपने चुत की चुदाई करना चाहती जबसे तुम्हे पहली बार खिड़की से झांकते देखा था।

 

अब जल्दी से तुम मुझे चोदो। मेरे चुत में आग लगी है।”  और मेरे लंड को अपने हाथों मेंलेकर हिलाने लगी। अब मैं सबा का का एक चूची अपने मुँह में लेकर पीने लगा और दुसरी चूची को अपने एक हाथ में लेकर मसलने लगा।  सबा आंटी भी अब पूरी तरह गरम हो गई थी।  उन्होन मेरा लंड अपने हाथों में पकड़ कर मुझे को बिस्तर पर पटक दिया और मेरा लंड अपने हाथों में लेकर उसे नंगे ध्यान से देखने लगी।  थोड़ी देर के बाद वो बोली, तुम्हारा लंड बहुत ही सेक्सी है।  आज मेरी चुत इस लंड से खूब चुदेगी।

 

अब तुम चुप चाप पड़े रहो।  मुझे तुम्हारा लंड का पानी चखना है।  मैं तब बोला, चख लो ऑन्टी जब तक आप मेरा लंड का स्वाद चखोगी, मैं भी आपकी चुत के स्वाद का आनंद उठाऊंगा। और हम दोनो 69 पोजीशन पर पलंग पर लेटे।  मैने आंटी को अपने ऊपर कर लिया।  आंटी ने मेरे लंड के सुपारे को अपने होंठो से लगा कर एक जोरदार चुम्मा दिया और फिर अपने मुँह में ले कर चुसने लगी और कभी कभी उसे अपने जीभ से चाटने लगी।  मुझे अपने लंड चुसाई से रहा नहीं गया और अपना लंड आंटी के मुँह में पेल दिया।  आंटी किसी रंडी की तरह मेरे लन्ड को चूसते हुए बोली, “वाह मेरे राजा अभी और पेलो अपने लंड को मेरे मुंह में।

 

आंटी को जो की मेरे ऊपर लेटी हुई थी उसके दोनो टांगो को फैला दिया।  अब मेरे आंखों के सामने उनकी झांटो वाली चुत पूरी तरह से खुले हुए थे और मेरे लन्ड खाने के लिए तैयार थे। उनकी चुत रस से लबालब भरा हुआ था। मैं अपने उंगली उनकी चुत में डाल कर अंदर बाहर करने लगा।  आंटी तब जोर से बोली, “हाय! क्यों टाइम बरबाद कर रहे हो, मेरे चुत को ऐसे ही नहीं चाहिए।

 

मेरी चुत तुम्हारा लंड खाने की लिए तरस रही है,” मैंने  बोला, क्यों चिंता कर रही हो आंटी, अभी आपकी चुत और मेरा लंड का मिलन करवा देता हूं। पहले मैं आपकी चुत की रस चख तो लू। देखो तो ऑन्टी का चुत का स्वाद कैसा है।

 

तब आंटी बोली, “ठीक है, जो मर्जी है करो, बस मेरे चुत की आग बुझा दो। यह चुत अब तुम्हारा है। इसी जैसे चाहे चाटो और चोदो।

 

मैंने देखा की उनकी चुत लंड  खाने के लिए खुल , बंद हो रही है और अपनी रस बहा रही है। उनकी चुत बाहर बाहर और अंदर से रस से भीगा हुआ था।  मैंने जैसे ही अपनी जीब आंटी की चुत में घुसेड़ा वो चिल्लाने लगी, हाय्य्य…  ऊउहहहहहहहआआहहहहहहहह….आउफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ…. जैसी सेक्सी आवाज निकाल रही थी।

 

और कहने लगी चूसो चूसो, और जोर से चुसो मेरी चुत को और अंदर तक अपनी जीभ घुसा के चोदो… हाय मेरी चुत की घुंडी को भी चाटो, बहुत मजा आ रहा है। हायययययय…. आहहहहहहहहहय मैं अब झड़ने वाली हूं।’ और सबा ऑन्टी की चुत से रस निकलने लगा। मैं सारा रस पी गया। ऑन्टी मेरा लन्ड मुँह में लेकर अच्छे से और जोर जोर से चुस रही थी|

 

और फिर मैं भी ऑन्टी के मुँह में झड़ गया। और वो सारा वीर्य निगल गई। और मेरे लंड को चाट कर साफ की और मुस्कुराती हुई बोले, “चुत चुसाई में बहुत मजा आया, अब चुत चुदाई का मजा लेना चाहटी हूं।  अब तुम जल्दी से अपना लंड मेरे चुत में डाल दो।, अब मुझसे रहा नहीं जाता आदि।”  और ऑन्टी ने मेरा लंड अपनी चुत पर रखा मैंने एक तेज धक्का के साथ अपना लन्ड उनकी छूत में डाल दिया। चूंकि उनकी चुत पहले ही बहुत गीली हो रही थी इसलिए पुरा लुंड बड़ी आसन से उनकी चुत में चला गया।  पहले तो मैं आहिस्ता आहिस्ता चोदता रहा फिर मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और ऑन्टी की चुत को जोर जोर से चोदने लगा।

 

उनके बूब्स हर झटके के साथ हिल रहे थे।  जो एक हसीन और दिलकश नजरा था।  थोड़ी देर ऐसी स्थिति में चोदने के बाद मैंने चाची को घोड़ी बनाया तो उनकी खूबसूरत और 40 इंच की गांड ऊपर को उठ आई और उनके बूब्स किसी आम की तरह लटकने लगे।  मैंने आंटी की गांड पर हाथ फिराते हुए लंड उनकी चूत में डाल दिया और उनके ब्रेस्ट पकड के जोर जोर से झटके लगाने लगा।  अब ऑन्टी चीला रही थी।

Aunty pussy

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. आदि चोदो मेरी चुत… मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. मुझे बहुत मजा आ रहा है। …..जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… तू तो सच्चा मर्द निकला मेरे शेर….. चोदो बेबी…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को…मेरी चुत पिछले 6 साल से लंड के लिए तड़प रही है।……..  मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे शेर मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत मजा आ रहा मेरी जान चोदो….. मेरी चुत को…………तुम्हारा लंड मेरे चुत से होते हुए अंदर मेरी गांड तक जा रहा है.. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… तुम्हारा लंड अंदर तक धक्का मार रहा है…… बहुत मजा आ रहा है मेरे लाल……फाड् दो मेरी चुत.. मेरी चुत की धज्जियां उड़ा दो।

 

अब मैं झड़ने वाली हूँ। आआहहहहहहहहहहहहहहहहह, ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….. और फिर ऑन्टी झड़ गई।

फिर आंटी थंडी पड़ गई, में भी अपने क्लाइमेक्स पर था।  मैंने आंटी को कहा के में छूटने वाला हूं तो उन ने कहा में कोई बात नहीं तुम मेरे चुत में ही लंड का पानी निकालो।

 

मेरे लंड से लस्सी का फुव्वारा निकला और आंटी की चुत वीर्य से भर गई।  मैं भी थक कर ऑन्टी के ऊपर चला गया।

 

थोड़ी डेर बाद मैंने लंड ऑन्टी के चुत से निकाला जो वीर्य और आंटी के जूस से सना हुआ था। ऑन्टी ने फिर मेरे लंड को चाटना शुरू कर दिया और चाटकर बिल्कुल साफ कर दिया।  फिर हमदोनों बाथरूम में गए। और वहाँ बहु चुदाई करते हुए स्नान किया।  और फिर मैं घर गया।

 

अब मैं और सबा ऑन्टी रोज चुदाई करते हैं। सबा ऑन्टी मुझपर  बहुत पैसे खर्च करती है।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

 

Tag: ऑन्टी की प्यासी चुत, मुस्लिम चुत, खतना वाली चुत, गुलाबी चुत, रसभरी चुत

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *