माँ बेटे की चुदाई

 173 

माँ बेटे की चुदाई की कहानी

हेलो दोस्तो मेरा नाम राजा है। मेरी उमर 21 साल है। में इंदौर का रहने वाला हूं। और में फोटो एडिटिंग का काम करता हूं। मेरी ये कहानी मेरी मम्मी और मेरे बीच हुई चुदाई के बारे में है।

मम्मी का नाम हेमलता है। और वो 4 साल पहले बिधवा हो चुकी है। मम्मी की उमर 48 साल है। मगर उमर के हिसब से मम्मी ज्यादा जवान लगती है। बस उनके थोड़े बाल सफेद हो चुके हैं।

पापा की गवर्नमेंट जॉब थी। इसी घर में किसी चीज की कमी नहीं है। मगर जो कमी मम्मी की जिंदगी में थी। मैंने पुरा कर दिया था ।

मेरा घर 2 मंजिला है। और मेरे 1 बड़े भाई है। जिन्की शादी हो चुकी है। बड़े भाई का एक बेटा भी है। और बड़े भाई की फैमिली दसरी मंजिल पर रहती है।

बड़े भाई जॉब करते हैं। और मेरा काम तो में घर से करता हूं।

सबसे ऊपर छत पर एक कामरा बना हुआ है। जहां में अपना काम करता हूं। मेरा कंप्यूटर ऊपर ही लगा हुआ है।

नीची वाली मंजिल पर में मम्मी और पापा रहते हैं। पहले में छत पे सोता था। और मम्मी पापा कामरे में मगर जब से पापा की मौत हुई है। मम्मी को अकेले नींद नहीं आती है।

इसिलिए अब में उनके साथ सोता हूं। मम्मी का रंग देखा है। वो देखने में ज्यादा अच्छा नहीं है। मगर मम्मी का जिस्म जिसे देखता हूं लंड झटके मारने लगता है।

मम्मी के बड़े बड़े दूध बहुत अच्छे लगते हैं। मैंने उन्हे आज तक घर में ब्रा पहनने नहीं देखा है। मम्मी के दूध की घुंडिया हमा उनके ब्लाउज से दिखती रहती है।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

मम्मी का फिगर 38 36 44 है। उमर के साथ मम्मी थोड़ी मोटी हो गई है। मगर साड़ी में से दिखता हुआ। मम्मी का पेट और गहरी नाभी किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है।

इस से पहले में सिर्फ मम्मी के साथ सोता था। और हा उन का बार देख भी देता था। जिससे मेरा लंड खड़ा हो जाता था। मगर मम्मी के साथ चुदाई का रिश्ता। सिर्फ मैंने कहानी या चुदाई वाली वीडियो में देखा था।

जब भी मम्मी को देखो मेरा लंड खड़ा हो जाता था। मेरी भाभी अपनी चुत में लेके शांत कर देती थी । मेरा और भाभी का चक्कर उनके बेटे के होने के बाद शुरू हुआ था।

में रोज दोफर के खाने से पहले चाय पीता था। और भाभी ही चाय लेके ऊपर वाले कामरे में आती थी। वही में उन्हे पकाड़ लेता था। और हम दो चुदाई में लग जाते थे।

भाभी चुदाई के लिए हमशा साड़ी या लेगिंग पहनती थी। जिस आसन से उतरा या ऊपर कर चुदाई कर सके । में लगभाग रोज भाभी की चुदाई करता था। और उनके दूध भी पीठ था।

मगर कहते हैं ना का चक्कर कभी छुपा नहीं है। हमें दिन को शायद में और भाभी कभी नानी भूल पाएंगे। क्यूकी उस दिन मेरा और भाभी का रिश्ता खतम हो गया।

मगर उस दिन में पहली बार मेरी मम्मी को मेरा लंड घुरते देखा था।

रोज की तरह मम्मी नीच बेठी टीवी देख रही थी। और भाभी का बेटा उनके पास था। मेरे मम्मी को आवाज देके चाय बनाने को कहा । भाभी मेरा सिग्नल समाज गई।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

और वो चाय लेके ऊपर आ गई। मैंने चाय साइड में रख दी। किसी के ऊपर आने का कोई डर नहीं था। क्यूकी शाम के समय ही मम्मी ऊपर आती थी।

में कुर्सी पर बैठा था। और भाभी की कमर बिलकुल मेरे सामने थी। भाभी ने अपना पल्लू हटाया। और उनकी गहरी नाभि मुझे दिखने लगी।

मैंने भाभी की कमर पकड़ी। और अपनी जीभ भाभी की नाभि में दाल दी। भाभी मेरे सर सहला रही थी। और में भाभी की नाभि को चाट रहा था।

भाभी – राजा जब भी तू मेरी नाभी को चाट ता है। मेरे अंदर एक आग सी लग जाती है। तेरे जैसे मेरी नाभी तेरे भैया भी नहीं चाट सकते हैं।

मैं – भाभी मुझे सबसे ज्यादा प्यार नहीं से है। और मैंने जब पहली बार आपकी नाभि देखी थी। तो में पागल हो गया था। और जब पहली बार आपकी नाभि चाटी थी। वो याद है आपको।

भाभी – कैसे भूल सकती हूं वो दिन। मुझे पहली बार किसी ने नाभि को चाट चाट के झड़वा दिया था। इसिलिए तेरे लिए ही में साड़ी नाभी से नीचे पहचानी हूं।

मैं – तबी तो आप इतनी सेक्सी लगती हो भाभी। आप किसी भी औरत को देख लो। जो साड़ी नाभी से नीची पहचान है। वो जायदा सेक्सी लगती है। और हर मर्द उसे जरूर देखता है।

भाभी – तू है तो छोटा मगर बात बहुत बड़ी और सही करता है। वैसा तुझे सबसे ज्यादा किसकी नाभि पसंद है।

मैं – भाभी में तो आपका ही दीवाना हूं।

भाभी – अब सच सच बता। मुझे माखन मत लगा।

मैं – भाभी आप बुरा मत मन्ना। मगर मुझे सबसे ज्यादा मम्मी की नाभि पसंद है। कितनी गहरी और गोल है। लगता है किसी ने हाथो से बनायी है।

भाभी – तू सही कह रहा है राजा। ये तो मैंने भी देखा है। मम्मी जी की कुछ कुछ अलग ही है। मैंने भी आज तक ऐसी नहीं देखी है।

मैं – भाभी आप तो जनता हो। में मम्मी के साथ सोता हूं। रात में काई बार उनकी नाभि को देखता हूं। फिर आगे तो आप जनता ही हो।

भाभी – हा नाभी मम्मी जी की देखता है। और तेरा लंड मुझे शांत करना पड़ता है।

मैं – भाभी आपकी ही वजह से मुझे आज तक गर्लफ्रेंड की जरूरत नहीं पड़ी है। आप गर्लफ्रेंड की तरह ही प्यार करती हो।

भाभी – अच्छा जी मगर में तो थक जाती हूं। तुझसे और तेरे भाई से चुदवा चुदवा कर।

मैं – भाभी कुछ उपाय बताओ ना। में एक बार मम्मी की नाभि चाटना चाहता हूं।

भाभी – राजा इसमें में क्या बताउ। वो तेरी मम्मी है। रात में चाट ले एक बार ज्यादा से ज्यादा क्या होगा। वो तुझे एक थप्पड़ मार देगी ।

मैं – भाभी मेरी तो गांड फटी रहती है। मम्मी को देख सकता हूं। मगर आज तक ऐसा कुछ नहीं किया है।

भाभी-लगता है तू देसी कहानी पर वो मां बेटे की चुदई वाली कहानी पढ़ता है। तू पागल हो गया है। जो आपकी मम्मी के साथ ऐसा करना चाह रहा है।

मैं – वैसी भाभी आपको क्या लगता है। क्या माँ बेटे में ऐसा रिश्ता बन सकता है?

भाभी – राजा ये कलयुग है। और यह कुछ भी हो सकता है। जब देवर भाभी में चुदाई का रिश्ता बन सकता है। तो माँ बेटे में क्या समस्या है। बस ये बात कभी सामने नहीं आती है।

भाभी का कहना बिलकुल ठीक था। फिर में और भाभी किस करने लगे। मैंने भाभी का ब्लाउज खोल दिया। गुलाबी रंग की ब्रा पेहनी थी भाभी ने ब्रा को ऊपर कर दिया। और में उनके दूध को चूमने लगा ।

मैंने भाभी को नीचे चटाई पर लिटा दिया। और खुद उनके ऊपर आके दूध चूमने लगा । भाभी बहुत प्यार से मेरे बालो में हाथ फिर रही थी।

भाभी- आराम से चुस राजा। में कहीं भागी नहीं जा रही हूं। वैस जलदी कर ले मुझे नीचे भी जाना है। मम्मी नीच बेठी टीवी देख रही है। कही उन्हे शक ना हो जाए।

मैं- अरे भाभी अभी तक शक नहीं हुआ। तो आज कैसा हो जाएगा।

मगर में ये भूल गया था। की टाइम कभी भी बदल जाता है।

और फिर भाभी ने अपनी साड़ी और पेटीकोट ऊपर कर लिया। और में भाभी की चुत चाटने लगा। भाभी के मुह से आह्ह्ह आह्ह्ह की आवाज आने लगी।

मैंने अपना कच्चा नीचे किया। और आपका लंड भाभी की चुत में डाल दिया। और जल्दी जल्दी पेलने लगा। डर में चुदाई का अलग ही मजा होता है।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

बस चुदाई जल्दी करनी पड़ती है। में भाभी को छोड रहा था। और भाभी मुझे किस कर रही थी। तकी उनकी आवाज बाहर न जाए। भाभी मेरे साथ बिलकुल खुली हुई थी।

वो जनता थी कब कोन्से पोजिसिशन में चुदाई करनी है। और मेरे कहे बिना ही डॉगी स्टाइल में आ जाति थी। में कुतिया बनाके उनकी चुदाई कर रहा था।

और भाभी के दूध दबा रहा था। जो खुले ब्लाउज से बहार लटक रहे थे। कामरे में थाप की आवाज आ रही थी।

भाभी – राजा आराम से कर। बहुत आवाज हो रही है। कहीं मम्मी जी न सुन ले। जल्दी से कर ले. तकी में नीच चली जाउ।

मैंने भाभी को सीधा लिटा दिया। और उनकी चुत में लंड डालके चुदाई करने लगा। मुझे काफी देर हो चुकी थी। और जब मेरा पानी निकलने वाला था।

तब में लंड चुत से निकला लिया। और आपका सारा पानी भाभी की नाभि में डाल दिया। मेरा पानी भाभी की नाभि में बहुत अच्छा लग रहा था।

भाभी – तू हमशा मेरी नाभि में ही अपना पानी निकलता है।

मैं – क्या करू भाभी इसे जायदा मजा मुझे कहीं नहीं आता है।

में भाभी के ऊपर बैठा हुआ था। और मेरा पानी भाभी की नाभि में भरा हुआ था। तब किसी ने एक दम से दरवाजा खोल दिया। आज जिस्का डर था। वही होने वाला था।

दरवाजे की आवाज से में और भाभी डर गए। और सामने खादी मम्मी हम दोनो को देख रही थी। में जल्दी से भाभी के ऊपर से उठ गया।

मैंने अपना कच्छा पहन लिया। और भाभी जैसे ही खड़ी हुई। उनकी नाभि में भरा मेरा पानी उनके पेट पर बहने लगा। मैंने देखा मम्मी भाभी की नाभि की तरफ ही देख रही थी।

भाभी ने जल्दी से साड़ी से मेरा पानी साफ किया। और मम्मी सिद्धे मेरे पास आई। और मेरे गाल पर 2 थप्पड़ मार दिए। मम्मी का थप्पड़ पड़ने ही दिन में तारे नज़र आ गए।

और अब बारी भाभी की थी।

मम्मी – तेरा बेटा वहा भुख से रो रहा है। और तू यहां आपके भाई समान देवर के साथ रंगरलिया बना रही है। आने दे कपिल को बताती हूं की कैसे उसे चिनाल बीवी उसके भाई के साथ मुह काला कर रही है।

कपिल मेरे बड़े भाई नाम है। और भाभी भाई का नाम सुन्ते ही रोने लगी। और मम्मी के पैर में गिर गई।

भाभी – मम्मी जी मुझे माफ़ कर दिजिये। में बहक गई थी। अगर आपने उन्हे बता दिया। तो मेरी जिंदगी खराब हो जाएगी।

मगर मम्मी तो कुछ सुनने के मूड में ही नहीं थी।

मम्मी – ये सब तुझे अपना मुह काला करने से पहले सोचना चाहिए था। एक अच्छे घर की बहू हो। और रंडी जैसे हरकत करती हो। अभी तेरे घर फोन लगाती हु और पूछती हु। की कैसे रंडी लड़की है। जिसके अंदर इतनी आग लगी है।

मम्मी मुझे और भाभी को छोडके नीचे चली गई। और भाभी वही बैठी रो रही थी। मैंने भाभी को चुप कराने की कोषिश की, मगर वो रोये जा रही थी।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

मैं – भाभी आप चुप हो जाओ। में मम्मी से बात करता हूं। की वो बात किसी को ना बताये।

भाभी – राजा प्लीज मम्मी जी को रोक लो। वर्ना मेरी गृहस्ति उड जाएगी। और आगे से हमारे बीच कोई भी रिश्ता नहीं होगा।

में जल्दी से नीचे आ गया। और मम्मी गुसे में में बेठी थी। में उनकेपैर के पास बेठ गया।

मैं – मम्मी प्लीज एक बार मुझे और भाभी को माफ कर दिजिए। आगे से ऐसा कुछ नहीं होगा। आगर भाई को पता चल गया। तो मुझे और भाभी को मार देंगे।

मम्मी- बेटा मुझसे तुझसे तो उम्मीद नहीं थी। की तू खुद की भाभी के साथ मुह काला करेगा। और चल तू बहू से छोटा है। काम से कम सोचना चाहिए था ।

तबी भाभी भी नीचे आ गई। और मम्मी की पैर छूके माफ़ी मांगने लगी ।

भाभी – प्लीज मम्मी जी एक बार माफ़ कर दिजिये। आगे से राजा के पास भी नहीं जाउंगी। और कभी सपने में भी उसका ख्याल नहीं लूंगी।

हम दोनो के अंशु देखकर। शायद मम्मी भी समझ गई थी। जवानी में ऐसी भूल हो जाती है।

मम्मी – ठीक है मगर आ से ऐसा कुछ देखा। तो समझ लेना वो दिन तुम्हारा घर में आखिरी दिन होगा।

मम्मी ने मुझे आपकी कसम दे दी। और भाभी को उनके बच्चे की कसम दे दी।

भाभी और में शांत हो गए। मगर अभी भी एक डर लगा हुआ था।

भाभी आपने काम में चली गई। और में ऊपर वाले कामरे में काम करने लगा। और आज के हुए हादसे के बारे में सोचने लगा।

अब घर में जो फ्री की चुत मिल रही थी। वो भी अब नहीं मिलेगी। और अब फिर से हाथ से काम चलाएगा। में काम में लगा हुआ था। तबी मम्मी कामरे में आ गई।

वो याहि देखने आई थी। की कहीं भाभी मेरे साथ तो नहीं है। मम्मी मेरे पास आई। में कुर्सी पर बेथा हुआ था। और मम्मी बिलकुल मेरे सामने आके खड़ी हो गई।

मेरी नज़र ना चाहते हुए भी मम्मी के खुले हुए पेट पर पढ़ गई। जहां से मम्मी का निकला हुआ पेट और एक बड़े से छेद वाली नाभि दिख रही थी।

मम्मी की कभी देखते ही मेरा लंड कुदने लगा। वो हलके खड़ा हो रहा था। और मम्मी मेरे सामने ही खड़ी रही। मगर में उनसे नज़र नहीं मिला पा रहा था ।आगे की कहानी अगले पार्ट में ।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “हॉस्टेल की सेक्स पार्टी”

धन्यवाद।

नमस्कार।।

 

88% LikesVS
12% Dislikes

2 thoughts on “माँ बेटे की चुदाई

  1. My whataap no (7266864843) jo housewife aunty bhabhi mom girl divorced lady widhwa akeli tanha hai ya kisi ke pati bahar rehete hai wo sex or piyar ki payasi haior wo secret phon sex yareal sex ya masti karna chahti hai .sex time 35min se 40 min hai.whataap no (7266864843)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *