अम्मी की चुत

 245 

अम्मी की चुत में मेरे टीचर का लन्ड

कैसे हो दोस्तों? दुआ करती हूं सब अच्छे होंगे।

यह सेक्स कहानी मेरी अम्मी और टीचर के बीच हुए सेक्स की है।

 

मेरा नाम जन्नत है मेरी अम्मी का नाम नाज है, मेरी अम्मी मुझसे भी ज्यादा खूबसूरत हैं। वह हमेशा बुर्के में रहती हैं। लेकिन घर मे उसके उलट हैं। घर मे वह बिल्कुल मॉर्डन हैं और शॉर्ट्स टीशर्ट, सेक्सी गाउन जैसे कपड़ों में रहती हैं। वो बहुत ही सेक्सी हैं. मेरी अम्मी मेरे अब्बू से 14 साल छोटी हैं। इसलिए शायद मेरी अम्मी की चुत प्यासी ही रह जाती है। क्योंकि मेरे अब्बू तो बूढ़े हो चुके हैं।

 

मेरी अम्मी की फिगर बहुत हॉट है। 36 इंच की चुचियाँ। 30 की कमर और 40 कि गांड़ जब बुर्के में हिलती है तो लोगों के लन्ड सलामी मारने लगते हैं। मेरी अम्मी के बूब्स बहुत बड़े और टाईट हैं। जब वो बुर्के में बाहर निकलती हैं तो उनके मदमस्त जिस्म के ऊपर पूरे मुहल्ले की नजर गड़ी रहती है। सभी बस एक झलक पाने को बेचैन रहते हैं लेकिन बाहर में कभी कोई मेरी अम्मी की शक्ल नही देखी है।

अम्मी की प्यासी चुत

जब भी मेरी अम्मी छज्जे पर कपड़े सुखाने के लिए जाती हैं तो मुहल्ले के सारे लड़के मानो उनके एक दीदार पाने का ही इंतजार करते रहते हैं. लेकिन छज्जे पर भी अम्मी पूरा चेहरा ढक कर जाती हैं।

कैसे मेरी अम्मी ने मेरे टीचर से चुदवाई और अपनी चुत की प्यास बुझाई

तो जैसा कि मैंने बताया मैं अपने टीचर सुमित से चुदवाने लगी थी। और जब भी हमें मौका मिलता हम चुदाई करते। यहां तक कि अब जब अम्मी किचन में होती थी तो हम छुप के चुदाई करने लगते थे।

 

मेरी अम्मी भी सुमित को शायद पसन्द करती थी। क्योंकि वो सुमित से साफ हँस हँस के बात करती थी और कभी कभी मजाक भी कर लेती थी। एक दिन अम्मी किचन में थी और मैं और सुमित चुदाई करने लगे। लेकिन हमदोनों चुदाई में इतने मस्त हो गए कि भूल ही गए कि घर मे अम्मी भी हैं। और फिर अचानक अम्मी आ गई और मुझे चुदवाते हुए देख ली। तभी हमदोनों हड़बड़ा के उठ गए लेकिन अम्मी कुछ बोलने के बजाए अपने कमरे में चली गईं।

 

फिर जब हम कपड़े पहन लिए तो अम्मी आई और मुझे अपने कमरे में जाने को कहा और सुमित से बोली कि तुमसे कुछ बात करनी है मेरे कमरे में आओ।

 

सुमित बहुत डर गया था कि अब क्या होगा। फिर दोनो अम्मी के कमरे में गए और अम्मी बोली, सुमित तुम ऐसा क्यों किए जन्नत तो अभी बहुत छोटी है और तुम्हारी स्टूडेंट भी … सुमित चुपचाप खड़ा रहा। फिर मैंने चुपके से देखा तो अम्मी भी थोड़ी देर चुप थी। फिर अचानक बोली, सुमित अगर तुम्हें सेक्स करने का इतना ही मन है, तो मैं हूं ना. मेरे साथ सेक्स कर लो न। ये कह कर मेरी अम्मी उसे किस करने लगीं। मैं ये सब कमरे के बाहर बनी एक खिड़की से देख रही थी।

अपनी अम्मी को सुमित को किस करता देख कर मुझे मेरी चुत में कुछ कुछ होने लगा, पर मैं कर भी क्या सकती थी।

मन तो कर रहा था कि अभी जाऊं और अपने अम्मी को हटाकर सुमित का लंड अपनी चुत में घुसेड़ लूं

अब सुमित भी मेरी अम्मी को किस करने लगा और उनके बूब्स को दबाने लगा। मेरी अम्मी को सुमित के साथ ये सब करके बहुत मजा आ रहा था। मेरी अम्मी लोअर और टॉप पहनी हुई थी। कुछ देर किस करने के बाद सुमित मेरी अम्मी की पैंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और उनकी चूत में उंगली करने लगा। तो अम्मी ने खुद ही अपना लोअर और पैंटी एकसाथ नीचे कर दी, और पैरों से निकाल दी। अम्मी भी उसके पैंट के ऊपर से उसका लंड मसलने लगीं।

 

दस मिनट बाद उन दोनों की वासना का यह खेल ऐसे ही चलता रहा। फिर मेरी अम्मी ने सुमित का पैंट उतार दी और नीचे बैठ गई। और उसके लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं। सुमित का लंड काफी बड़ा और मोटा है। जो मुझे साफ दिख रहा था। मन तो मेरा कर रहा था कि अभी जाऊं और अपने अम्मी को हटाकर सुमित का लंड अपनी चुत में घुसेड़ लूं। अम्मी को सुमित का लन्ड चुसते देखकर मेरे अंदर सनसनी होने लगी और मेरा हाथ भी मेरी चुत पर चलने लगा।

 

मेरी अम्मी शताब्दी से भी फ़ास्ट जा रही थी। उन्होंने मेरी तरह स्लो मोशन में काम करने की जगह सीधे सुमित के लन्ड पर अटैक किया था। कुछ पल बाद सुमित ने मेरी अम्मी को ऊपर उठाया और कुछ इशारा किया, फिर मेरी अम्मी ने अपना टॉप भी उतार दी और एकदम नंगी हो गईं।

 

अब वो दोनों ही कमरे में एकदम नंगे हो गए थे और एक दूसरे को चूसने चूमने लगे थे।  देखते देखते वो दोनों 69 की पोजीशन में आ गए। सुमित मेरी अम्मी की चूत चाटने लगा और अम्मी उसके लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं।

 

अम्मी के मुँह से ‘उम्ममममममममममम … उम्ममममममममम … म्मममम्मम्ममम्ममम्म… की आवाज आ रही थी। दूसरी तरफ सुमित भी ‘अ.आहहहहहहहह … अहहहहहहहहह…’ की आवाजें निकाल रहा था। जल्दी ही पूरा कमरा ‘उम्ममम्मम्ममम्ममम्म उम्मम्मम्ममम्ममम्म … अहहहहहहहहह ऊँहहहहहहहहह…’ की आवाजों से गूंजने लगा। शायद मेरी अम्मी को अपनी चुत की आग के सामने कुछ दिखाई ही नहीं दे रहा था। वो भूल गई थी कि उनकी चुदक्कड़ बेटी भी घर मे है और उसकी भी चुत में आग लगी हुई है।

अम्मी सुमित के लन्ड को अपने चुत पर रगड़ने लगी

कुछ देर बाद सुमित ने चुदाई की पोजीशन बना ली और उसने अपने लंड को अम्मी की चूत पर रख दिया। अम्मी ने सुमित का लंड अपने हाथ से पकड़ा और अपनी चुत पर उसके मोटे लंड को रगड़ना शुरू कर दिया। सुमित का लंड अम्मी की चुत की फांकों पर मुँह मारने लगा था मगर वो मेरी अम्मी की चुत में लंड नहीं पेल रहा था। वो बस लन्ड के सुपाड़े से अम्मी की चुत की फांकों और दाने क्लाइटोरिस को घिस रहा था।

 

लेकिन अब अम्मी को बर्दाश्त ना हुआ तो अपनी गांड उठाते हुए सुमित से कहा- अब मुझे और मत तड़पाओ मेरे राजा… अपना लन्ड बिना देर किए सीधा मेरे चुत में डाल दो। सुमित ये सुनते ही एक ही झटके में पूरा लंड अम्मी की चुत में अन्दर डाल दिया। अम्मी को इस बात की उम्मीद ही नहीं थी कि सुमित एकदम से पूरा लंड चुत में घुसेड़ देगा। वो सुमित का लंड चुत में लेते ही तड़पने लगीं और उनकी तेज चीख निकल गई- आंह मर गई … आंह फाड़ दी तूने मेरी चुत। मेरी अम्मी के चेहरे पर दर्द साफ दिख रहा था।

सुमित और अम्मी की मस्त चुदाई देख कर मेरी चूत में भी पानी आ गया था

सुमित ने पूरा लंड अम्मी की चुत की गहराई में ठांस दिया और वो अम्मी की एक चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा। और कमर हिला हिलाकर चोदने लगा। इससे कुछ ही पलों में मेरी अम्मी को राहत मिलने लगी और वो बोलीं- आहहहहहहहहह मर गई यार … तुम्हें आराम से डालना था। तुमने तो एक ही बार में पूरा लन्ड मेरी चुत में पेल दिया।  मुझे दर्द हो रहा है … तुमने मेरी चूत फाड़ ही डाली. अब पहले एक बार अपने लंड को बाहर निकालो।

मॉम और टीचर

सुमित ने लंड बाहर निकाल लिया तो अम्मी की जान में जान आई। अब सुमित फिर से लंड चुत के छेद पर सैट किया और अब अम्मी ने भी अपनी टांगें पूरी तरह से फैला ली थीं। इस बार सुमित ने आराम से लंड चुत में डाला और धीरे धीरे झटके मारना शुरू कर दिया। अब अम्मी को मजा आना शुरू हो गया था।

 

उन दोनों की मस्त चुदाई देख कर मेरी चूत में भी पानी आ गया था। मैं तो पहले से ही चुदाई की आग में जल रही थी। और मेरे हिस्से का लन्ड मेरी अम्मी ले रही थी।

अम्मी की वो ‘उम्ममम्मम्ममम्ममम्म … ममम्मम्ममम्ममम्म… उम्म्ममम्मम्ममम्ममम्म … आहहहहहहहहहहहहहहहहह’ की कामुक आवाजें मुझे पागल कर रही थीं। मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उन दोनों की चुदाई का वीडियो अपने फ़ोन में बना लिया।

उधर अम्मी चीखे जा रही थी। और

आहहहहहहहहह ओहहहहहहहहह की आवाजें करने लगी। ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चोदो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चोदो जोर से..।  मारो मेरे राजा आआआ हहहहहहहहहहहहह…….. पूरा लन्ड मेरी चुत में डाल के चोदो।… आहहहहहहहहहहहहहहह……  ……ओहहहहहहह हहहहहहह सुमित चोदो जान चोदो…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबी मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह बहुत प्यासी थी मेरी चुत।  ओह मेरे राजा हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…

आआहहहहहहहहहहहहहह….. सुमित मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो सुमित चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिनों से तुम्हारे लन्ड के लिए मैं तड़प रही थी।  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..सुमित  मेरी जान चोदो…………तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…. मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चोदो। मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो मेरे राजा आआआहहहहहहहहह हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह……..

 

यह चुदाई करीब पिछले 20, 25 मिनट से चल रहा था और अम्मी 3 बार झड़ चुकी थी। अब अम्मी थक चुकी थी। लेकिन सुमित अभी तक नहीं झड़ा था। उसने चुदाई चालू रखे। थोड़ी देर बाद सुमित भी झड़ने को हो गया। मेरी अम्मी ने उससे वीर्य चुत में नहीं छोड़ने का कहा तो पीयूष ने अपना लंड अम्मी की चूत में से निकाल कर उनके बूब्स के ऊपर सारा माल-रस डाल दिया। अम्मी ने उसके लंड को अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं।

सुमित ने अम्मी से बोला- मेरी जान नाज, मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है

मेरी अम्मी सुमित के लंड पर अभी भी लगे काफी सारे वीर्य को ऐसे चाट रही थीं जैसे उन्हें वो रस चॉकलेट क्रीम का स्वाद दे रहा हो। अम्मी खूब मजे से लंड चाट रही थीं।

 

थोड़ी देर बाद सुमित ने अम्मी से बोला- मेरी जान नाज, मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है। तुम्हारी चुत चोदते समय मैंने देखा है तुम्हारी गांड़ बहुत खूबसूरत है।

अम्मी ने बोला- नहीं यार, गांड़ में बहुत दर्द होता है। जन्नत के अब्बू ने कई साल पहले मेरी गांड मारी थी तो काफी दर्द हुआ था।

 

सुमित बोला- वो सब कुछ नहीं चलेगा … तुम बस जल्दी से कुतिया बन जाओ। या बता दो, तो मैं आज के बाद तुम्हे कभी नहीं चोदूँगा।

 

अम्मी को सुमित का लन्ड और उसकी मर्दानगी पसंद आ गया था तो वो उसे नाराज नहीं करना चाहती थीं। फिर अम्मी मान गई और सुमित ने मेरी अम्मी को कुतिया बना दिया और उनकी गांड में अपना लंड डालने लगा। पर सुमित का लंड बड़ा और मोटा होने के कारण मेरी अम्मी की टाइट गांड के अन्दर गया ही नहीं।

गांड़ चुदाई

फिर अम्मी नारियल तेल की बोतल लेकर आईं और पीयूष के लंड पर अच्छे से मालिश करने लगीं। मेरी अम्मी ने अपनी गांड में भी तेल अच्छे से भर लिया। गांड़ के अंदर उंगलियो से तेल लगाई। अब सुमित ने मेरी अम्मी की गांड पर लंड रखा और पेल दिया। उसके एक ही झटके में आधा लंड अम्मी के गांड के अन्दर चला गया। मेरी अम्मी की तेज चीख निकल गई। वो कराहती हुई बोलीं- आहहहहहहहहह मादरचोद … मार ही डालेगा क्या?

इस पर सुमित ने भी गाली दे दी- हां साली रंडी … तुझे और तेरी लौंडिया दोनों की चुत गांड सब फाड़ दूंगा। सुमित ने जब मेरे लिए भी कहा तो मुझे अपनी चुत गांड में गुदगदी होने लगी। अब मेरी अम्मी भी उसे खुल कर गाली देने लगी थीं- हां साले हरामी … मेरी लौंडिया को भी तो तू पहले से चोदता आ रहा है। तुमदोनो कि चुदाई देखकर ही तो मैं तुमसे चुदवाने की प्लानिंग की थी। मैं कई महीनों से तुमदोनो का चुदाई देख रही थी। लेकिन मौका नहीं मिल रहा था। आज मौका मिला है। तो साले फाड़ दे मेरी गांड़। मेरी चुत को तो पहले ही धज्जियां उड़ा चुका है। मगर धीरे तो चोद भोसड़ी के … जब गांड़ फाड़ डालेगा तो पेलेगा किधर!

अब सुमित भी जोर जोर से झटके मारने लगा। अम्मी भी मस्ती में आ गईं और बोलने लगीं- आह मार ले मेरी गांड … मादरचोद मार … बस इतना ही दम है तुम्हारे अन्दर भोसड़ी वाले! जोर से चोद मेरी गांड़ को। सुमित भी लंड पेलते हुए बोला- आज तो साली मैं तुझे रंडी की तरह चोदूंगा … आह लौड़ा ले साली रंडी … मैंने कई रंडियां चोदी हैं, पर तेरी जैसी मस्त रंडी कोई नहीं मिली अब तक … आह साली तू तो एकदम रंडी के जैसे बड़े बड़े मम्मों वाली मस्त छिनाल है। ये कहते हुए सुमित ने अपने लंड के झटकों की स्पीड बढ़ा दी। अम्मी कुछ देर में फिर से झड़ गईं और कुछ देर बाद सुमित भी झड़ने वाला था। उसने अपना लंड अम्मी की गांड से निकाला और अम्मी के मुँह में डाल दिया। वो अम्मी के मुँह में ही लंड के झटके मारने लगा जैसे कि वह मुँह को चोद रहा हो। और फिर उसने अपना सारा माल वीर्य अम्मी के मुँह में ही निकाल दिया। मेरी अम्मी भी एकदम बाजारू रंडी की तरह सारा माल पी गईं।

 

इस तरह सुमित ने पहले मेरी चुत की आग बुझाई फिर अम्मी के चुत की प्यास बुझाई। सुमित अब जब चाहे मेरी अम्मी की चुत गांड में लंड पेलने लगता था।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *