आरती मिस के साथ ट्रेन का सुहाना सफर

नमस्ते दोस्तो।  मेरा नाम हर्षित ठाकुर  है। बेसिकली मैं बिहार के समस्तीपुर का रहने वाला हूँ। लेकिन मेरे मॉम डैड दोनों मायानगरी मुम्बई में जॉब करते हैं। तो हम सब परिवार मुम्बई में ही रहते हैं। हमारा जन्मस्थली भी मुम्बई ही है। मेरी लंबाई 5 फुट 9 इंच है मैं पूरी तरह से गोरा नहीं हूं और ज्यादा सांवला भी नहीं हूँ। मैं हर रोज जिम जाता हूँ इसलिए बॉडी मेंटेन है। मेरी उम्र अभी 26 साल है।

 

आज मैं आपको मेरी लाइफ का सबसे दिलचस्प कहानी बताउंगा।  ये कहानी करीब 3 महीने पहले की है।  जब मैं अपने परिवार के साथ गाँव समस्तीपुर जा रहा था। चुकी हम जन्म से शहर में रहे हैं तो गांव जाना हमे बहुत अच्छा लगता था। तो ट्रेन में हम बैठ गए थे , माँ, डैड, मैं और मेरी बहन। लेकिन 2 सीट हमारी एक साथ थी और 2 अलग – अलग। मेरा बर्थ B 3 में ऊपर था। और मेरी बहन का उसी केबिन में मिडिल बर्थ था।

 

मैं बहुत ही ज्यादा खुश था क्योंकि काफी दिनों बाद हम गांव जा रहे थे। और ऑफिस के वर्कलोड के कारण मुझे वेकेशन की बहुत जरूरत थी।  मेरे सामने वाले बर्थ पर अभी तक कोई आया नहीं था। ट्रेन चल दी और अगला स्टेशन आ गया।  और मेरे सामने वाली सीट के पैसेंजर्स भी आ गए। वो एक खूबसूरत लगभग 31, 32 साल की भरे बदन वाली महिला थी जो ब्लू जीन्स और काली रंग की शर्ट पहनी हुई थी।

 

काली शर्ट में उसकी दूधिया रंग का चेहरा क्या कयामत ढा रहा था। जब तक वो ऊपर नही आई मैं तो एकटक उन्हें देखता ही रह गया। फिर वो भी ऊपर आ गयी। और बैठ गई।

 

कैसे मैंने आरती मिस को ट्रेन के सफर में चोदा

 

मैंने चोर निगाहों से उन्हें देखा तभी हमारी नजरें मिल गई और मैं झट से नजरें हटा लिया लेकिन मैं तब तक उन्हें पहचान चुका था वो कोई और नही बल्कि मेरी 10th क्लास की मैथ टीचर आरती मिस थीं। लेकिन मैं अनजान बनने की कोशिश किया।

 

आरती मिस देखने में सच मे बहुत खूबसूरत और हॉट थी।  उसके बूब्स परफेक्ट राउंड और परफेक्ट शेप के थे।  उसकी गांड 36 इंच थे जो बिल्कुल गोलाकार थे।  वो एक ही टीचर ऐसी थी जो स्कूल में जींस और टॉप और शर्ट पहन कर आती थी।

Sex Kahani

स्कूल के सारे लड़कों को उनपर क्रश था।  वो होता है ना, पहला प्यार।  मुझे यकीन था कि सब बॉयज घर जाके उनके नाम का मुठ मारते होंगे। क्यूकी मैं भी मारता था।

 

बहुत सारे लड़कों ने तो मैम को लव लेटर भी लिखा था।  कुछ कुछ लोग ने तो अपने खून से लव लेटर लिखा था। लेकिन वो किसी को घास नही डालती थी। उस समय वो भी कुँवारी ही थी।

 

थोड़ी देर में ही आरती मैम ने मुझे देखा, और मुस्कुराकर बोली एक्सक्यूज़ मी, मुझे लगता है मैं तुम्हे जानती हूँ। तुम मेरे पूर्व छात्र हो, मुझे तुम्हारा नाम याद नहीं है। लेकिन मैंने तुम्हें पढ़ाया है।

मैने कहा, “हां मैडम, मैं आपका एक्स स्टूडेंट हूं।  हर्षित।

आरती मैम- अरे हां।  मुझे अब याद आ गया। आप यह कहानी https://nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं।)

फिर वो हाथ आगे बढ़ाई और हम दोनो ने हाथ मिलाए और कुछ पुरानी बातें करने लगे।  आरती मिस अभी भी उतने ही खूबसूरत दिख रही हैं जितनी स्कूल टाइम में मैंने उन्हें देखा था।  परफेक्ट फिगर, गोरा दूधिया रंग, काले बाल और नीली आँखे। उनकी खूबसूरती का कोई भी दीवाना हो जाता था। मिस के बॉडी से एक मस्त खुशबू रही थी, सेक्सी वाली खुशबू।

 

हमलोग बातें करने लगे।  हमारे बैच की बातें, कुछ उनके जीवन की बातें , कुछ मेरी जिंदगी की बातें।  कुछ व्यक्तिगत बातें, आदि। तभी मैंने उनसे पुछा, उनकी शादी के बारे में।  तब वो अचानक चुप सी हो गई।  उनकी चेहरा उदास हो गया।

 

काफी रात हो चुकी थी तो सबलोग सोने लगे तो लाइट बंद कर दिए। लेकिन वो मेरे सामने बर्थ पर थी तो हमे जोर से बोलना पड़ रहा था। जिससे लोग डिस्टर्ब भी हो रहे थे। तो मैंने कहा आप मेरे बर्थ पर ही जाइए और बातें करते हैं।”  उन्होन कहा, “तुमको सोना नहीं है क्या?”  तो मैंने कहा, अभी मुझे नींद नही रही है।”  फिर वो मेरे सीट पर आकर बैठ गई।

 

 

रात हो चुकी थी, ठंडा भी बढ़ रही थी ऊपर से AC की वजह से ज्यादा ठंड हो गई थी।  तो मैंने अपना कंबल आरती मैम को दे दिया। उन्होंने थैंक यू कहा, और कंबल अपने उपर लपेट ली। कुछ देर हम बातें करते रहे। फिर मैंने मोबाइल में हॉलीवुड की मूवी लगा दी, और एक ईयरफोन आरती मिस को दिया। और एक मैं अपने कान में लगाया।

 

हॉलीवुड मूवी की सेक्सुअल सिन देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया

 

हम दोनो फिल्म देख रहे थे। ठंड बढ़ता देख उन्होंने कहा कि तुम भी कम्बल ओढ़ लो। और मुझे भी साथ मे कम्बल ओढ़ा दी। हम दोनों इतने करीब थे की मैं उसकी सांस को भी महसूस कर सकता था।  मैंने अपना एक हाथ उनके कंधे के आसपास रखा था, और एक हाथ से फोन पकड़ रखा था।  तभी फिल्म में एक सेक्शुअल सेक्सी सीन गया।

 

 वो देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा।  आरती मिस भी टर्न ऑन हो चुकी थी, और गहरी सांस ले रही थी।  उनका पैर मेरे पैर के ऊपर था और मेरे लंड के पास।  तो जैसे ही मेरा लंड खड़ा हुआ उनको पता चल गया।  वो मेरी तरफ देखने लगी, और अजीब तरह से मुस्कुराई।

 

और बोली, “लगता है मूवी कुछ ज्यादा ही पसंद आ रही है तुम्हे।, मैं घबरा गया। फिर  वो बोली, “काफ़ी थंडी है ना?”  मैने बोला, “हा मिस सच मे बहुत ठंड है। तो उन्होंने कहा ओह कमऑन” मैं अब तुम्हारी मिस नही हूँ। तुम्हे इतना रेस्पेक्ट देने की जरूरत नही है। तुम मुझे आरती बुला सकते हो।

 

आरती मिस मेरे पैंट के अंदर हाथ डाल के मेरे लंड को पकड़ ली

 

और फिर वो अचानक अपना हाथ मेरे टी-शर्ट के अंदर डाल दी। और बोली, “मुझे हाथ मे बहुत ठंड लगते हैं। इसलिए मैं तुम्हारे शरीर की गर्मी ले रही हूं।  ऐसा करने से ठंडी कम लगती है। चाहो तो तुम मेरे शरीर की गरमी ले लो।”  मैं ये सुन कर शॉक हो गया था।  मैने भी अपने हाथ उनके ऊपर से अंदर डाल दिया। आप यह कहानी https://nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं।)

 

उनकी बॉडी बहुत सॉफ्ट थी बिल्कुल मख्खन जैसे।  उनके पेट पर मैं अपना हाथ घुमा रहा था और फिर अपना हाथ ऊपर लेके गया। मैं उनकी ब्रा के अंदर हाथ डालने की कोषिश कर रहा था।  तब उन्होने कहा, “ऐसे नहीं जाएगा, तंग है, हुक खोल दो।”  मैंने उनके ब्रा के हुक खोल दिए।

 

अब मैं उनके बूब्स दबाने लगा।  वो सिस्किया लेने लगी।  फिर उन्होन मेरी ट्रैक पैंट के अंदर हाथ डाल के मेरा लंड पकड़ ली। क्या बताऊँ दोस्तों उनकी मुलायम हाथ मेरे लंड पर पड़ा तो मुझे लग जैसे मैं जन्नत में हूँ।  हम दोनो लोग एक दूसरे की आंखों में आँखे डाल के देखने लगे।  वह अपना होंठ मेरे और करीब की फिर हम दोनो ने स्मूचिंग चालू कर दिया।

 

और कंबल के अंदर वो मेरा लंड हिला रही थी और मैं उनके बूब्स चुचियों को दबा रहा था।  ट्रेन फुल स्पीड से चल रही थी। अब मैं कंबल के अंदर  चला गया, और उनके बूब्स को चुसने लगा।  वो जोर जोर से सिसकिया लेने लगी।  थोड़े समय के बाद मेरा हाथ पकड़ ली और उनकी जीन्स में डाल दिया।

 

मैंने थोड़े समय तक पैंटी के ऊपर से ही उनकी चुत को सहलाना चालू किया।  फिर पैंटी के अंदर अपना हाथ डाला।  और फिर एक फिंगर चुत के अंदर डाला।  उन्होने मेरा फेस पकड़ लिया।  और स्मूच करने लगी।  मैं अपनी उंगली उनकी चुत के अंदर बाहर करने लगा।

 

पहले बर्थ पर फिर टॉयलेट में आरती मिस को चोदा

 

तब उन्होंने धीरे से मेरे कान में कहा, क्या तुम दो अंगुलियों को चुत में डालोगे?”  ये सुनकर मैं और भी हॉर्नी हो गया। मैंने उनकी चुत में दो उँगली डाली और थोड़ी देर बाद थ्री फिंगर्स से फिंगरिंग करना चालू कर दिया।  वो जोर जोर से लेकिन धीमी आवाज में चिलाने लगी, और मेरा लंड जोर से हिलाने लगी। (आप यह कहानी https://nightqueenstories.com पर पढ़ रहे हैं।)

 

फिर वो पैंटी सहित जीन्स को निकाल दी। तब तक मैं भी अपना लोअर और अंडरवियर निकाल दिया।

 

फिर अचानक से वो मेरे लंड को खींचकर अपनी चुत पर रगड़ने लगी। फिर  मैंने एक ही झटके में अपना लंड उनकी चुत में डाल दिया। और फिर मैं झटके देना शुरू कर दिया।  वाह क्या मजा आर रहा था।

 

आरती अब अपना कमर उछालने लगी और उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी और ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…… आहहहहहहहहहहहहहहह…….. सस्सीईईईईईईईईई… ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….. सस्सीईईईईईईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह हहहहहहह हाँ हर्षित आई लाइक दिस । फ़क मी हार्ड माय बॉय फक मी हार्ड। ooooohhhhhhhh fuck baby LOVE YOU  Harshit I love you……Oh yes baby……… fuckkkkk babyyyyy…fuckkkkkk…… Fuckkk myyy pusssyyyyyy. Oh yeah baby.. You are my king Honey you are sooooooo hooooottttttttttttt. Really really so sexy my heartbeat. Fuckkkk me hard my jaannn fuck me ……. Fuckkkkk my boy …. fuckkkkkk you are so sexy baby…… You are so hooootttttt

 

Fuck on train

 

चोदो। मुझे मैं प्यासी हूँ मेरी चूत प्यासी है …. चोदो अपने मोटे लंड से। मेरी चुतत्तत्त्तत्त्त बहुत पयासी है। तरस गई है मेरी चुत आहहहहहहहहहहहहहहह…….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह …… सस्सीईईईईईईईईई ….सस्सीईईईईईईईईई…. आहहहहहहहहहहहहहहह………आहहहहहहहहहहहहहहहहह …………आहहहहहहहहहहहहहहह………आहहहहहहहहहहहहहहहहह ……………..आहहहहहहहहहहहहहहह…….. सस्सीईईईईईईईईई…

 

यह चुदाई करीब 25 से 30 मिनट चला अब मैं झड़ने ही वाला था, तब मैंने अपना लंड उनकी चुत से निकाला और उनके बूब्स के ऊपर पिचकारी मारी। मेरा वीर्य उनके चेहरे पर भी चले गए। फिर वो अपनी पैंटी से अपना चेहरा , चुचियों, और मेरे लंड को साफ की। आरती मिस 3 बार झड़ चुकी थी। अब वह बहुत खुश थी।

 

फिर हम दोनो थोडी देर एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे।  रात के 3 बज चुके थे, लाइट्स बन्द थी और सब लोग लगभग सो रहे थे।

 

मैं और आरती मिस टॉयलेट में गए वहाँ भी मैंने उन्हें घोड़ी बना के चोदा। फिर हम दोनों आकर अपने – अपने बर्थ पर सो गए। सुबह जब मेरी आँख खुली तब आरती मिस जा चुकी थी। वह मध्य प्रदेश के किसी स्टेशन पर उतर चुकी थी। जहां उनका घर था।

 तो दोस्तो टीचर के साथ मेरी चुदाई की कहानी कैसी लगी? कमेंट करके बताना।

 

उम्मीद करता हूँ कहानी आपको बहुत पसंद आएगी। मुखे कमेंट करके जरूर बताना। मिलते है अगले सेक्स कहानी में।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *