पड़ोसन आंटी का लंड

 267 

मॉम की बुर में पड़ोसन आंटी का लंड

हेल्लो फ्रेंड्स। कैसे हो, दुआ करता हूँ सब अच्छे होंगे।

दोस्तों मेरा नाम रीना है। हम पंजाब से हैं लेकिन दिल्ली में अब अपना मकान है और यहीं के हो गए हैं। मेरे पापा एक बिल्डर हैं। जो सुबह 7 बजे से लेकर रात के 12, 1 बजे तक, कभी कभी तो पूरी रात बाहर ही रहते हैं। घर मे मैं और मॉम हैं। मेरी माँ की उम्र 45 साल है लेकिन वो अभी भी जवान हैं और 3 की लगती हैं। मेरी मॉम का नाम जसप्रीत है। माँ बहुत खूबसूरत हैं। थोड़ा भरे बदन की हैं लेकिन फिट हैं।

ये कहानी मेरी मॉम और मेरी पड़ोसन आंटी नीतू की लेस्बियन चुदाई की है।

नीतू आंटी गुजरात के बड़ोदरा से हैं। उनके दो लड़कियां हैं और दोनों की शादी हो गई है। नीतू आंटी की उम्र भी लगभग 43, 44 की है। देखने मे वो भी बहुत सुंदर हैं। भरे बदन की हैं। उनका गांड 42 इंच का भरा हुआ है। कमर 32 इंच का और उनकी बूब्स 36 इंच के हैं। वो किसी प्लस साइज मॉडल की तरह दिखती हैं।

Lesbian Couple Sex

एक दिन मेरा कॉलेज नहीं था और मैं घर पर ही थी। मैं TV देख रही थी। तभी एक कुरियर वाला आया और और मॉम पार्सल रिसीव कर ली। और सीधे अपने रूम में गई और पार्सल रख दी। मुझे कुछ अटपटा लगा क्योंकि आज से पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था। कि कोई पार्सल आये और मॉम मुझे नहीं दिखाई।

उस पार्सल में एक स्ट्रैप ऑन डिल्डो था

तो मैने पूछ ही लिया कि माँ क्या पार्सल आया है। तो वो हड़बड़ा गई और फिर संभलते हुए बोली कि वो तेरे पापा के कुछ है। फिर मॉम बाथरूम में नहाने चली गई। लेकिन मेरे दिमाग मे वो पार्सल घूम रहा था। फिर मैं उठी और मॉम के रूम में गयी बहुत ढूंढने के बाद वो पार्सल मुझे मिला जब मैंने खोला तो मेरे होश उड़ गए। उसमे एक स्ट्रैप ऑन डिल्डो था। जो लेस्बियन लड़कियां औरतें इस्तेमाल करती हैं। और उसमें एक कागज भी था जिसपर लिखा था। I love you मेरी धड़कन जसप्रीत।

मेरे दिमाग मे तो नगाड़े बजने लगे और मैं जल्दी से उसे वैसे ही रखी और वहां से निकल गई। अब मेरे दिमाग मे दौड़ने लगा कि मेरे पापा ये तो नहीं भेजेंगे। यानी कि मेरी माँ का किसी के साथ अफेयर है। ऐसा इसलिए भी लगा क्योंकि पापा घरपर बहुत कम आते थे। और आते भी थे 2, 4 घंटे के लिए तो बस खाकर सोने के लिए। मॉम को वो बिल्कुल समय नही देते थे।

फिर मैं सोचने लगी आखिर कौन है जिसका मॉम के साथ अफेयर है। ऐसे ही 3, 4 दिन बीत गया। लेकिन मैंने कभी किसी से मॉम को कॉल पे बात करते नहीं देखा ना ही कोई मर्द घर मे आया था। फिर अगले 2 दिन मेरी कॉलेज की छुट्टी थी। तो मैंने सोचा आज देखते हैं पूरा दिन की आखिर कौन आता है घर मे या मॉम कहीं बाहर जाती हैं। लेकिन ऐसा कुछ भी नही हुआ। ना ही माँ कॉल पर किसी से बात की। हां दोपहर को वो पड़ोस वाली नीतू आंटी के घर 2,3 घंटे के लिए जरूर गयी थी। लेकिन वहां भी न कोई मर्द है ना ही बाहर से कोई आया।

फिर शाम को करीब 2 घण्टे के लिए मम्मी नीतू आंटी के घर गईं। दूसरे दिन भी कोई मर्द ना आया न माँ बाहर गईं। हा दोपहर को काम से फ्री होने के बाद मॉम करीब 2 घण्टे के लिए नीतू आंटी के घर गई। लेकिन मैं बराबर नजर बनाए हुए थी वहाँ कोई मर्द नही आया।

फिर मुझे लगा कि शायद मैं घर पर हूँ इसलिए कोई नही आ रहा या माँ बाहर नही जा रही। फिर अगले दिन मैं कॉलेज का बहना बनाकर अपने पड़ोस के सहेली के घर चली गई। और पूरा दिन नजर बनाई लेकिन मेरे घर मे कोई मर्द नही आया हां नीतू आंटी दोपहर को जरूर आई।

मैं जानना चाहती थी कि आखिर मेरे मॉम का किसके साथ संबंध है

फिर मैं अगले दिन कॉलेज जाने को बोलकर घर मे ही छुप गई। मैं जानना चाहती थी कि आखिर मेरे मॉम का किसके साथ संबंध है। करीब दोपहर को 12 बजे कॉलबेल बजी  मॉम गई और दरवाजा खोला सामने नीतू आंटी थी। फिर मॉम आंटी का हाथ पकड़ी दरवाजा अंदर से लॉक की और अपने रूम में चली गई। अंदर जाते ही मॉम अंदर से डोर लॉक कर दी। अब मुझे कुछ शक हुआ। नीतू आंटी मैक्सी में आई थी। और मैं धीरे से अपने रूम से निकली और मॉम के दरवाजे पर आकर की होल से देखने लगी मेरी तो आँखे फ़टी की फटी रह गयी।

मॉम बिल्कुल नंगी हो चुकी थी। उनके चुत पर एक भी बाल नहीं थे। और नीतू आंटी मॉम के चुचियों को मुँह में लेकर पी रही थी। फिर माँ नीतू आंटी के मैक्सी को उतार दी। मैं हैरान रह गई। आंटी मैक्सी के नीचे ना पैंटी पहनी थी ना ही ब्रा।

पहले मेरी माँ का चुत पानी छोड़ा फिर आंटी का।

अब दोनों एक दूसरे को किस करने लगे। फिर मॉम नीतू आंटी को बेड पर लेटाई और उनके दोनों पैरों को चौड़ा किया और उनके चुत पर मुँह लगा दी। और चुत को चूसने चाटने लगी। अंदर का नजारा देखकर मैं हतप्रभ था। साथ ही मेरी चुत भी पानी छोड़ने लगी थी। करीब 5 मिनट आंटी के चुत चाटने के बाद दोनों 69 के पोजिशन में हो गए। और एक दूसरे का चुत चाटने लगे। करीब 10 मिनट तक चाटने के बाद शायद दोनों एक एक बार झाड़ चुकी थी। फिर नीतू आंटी सीधी हुई और मॉम के लेटा दी और ऊपर आकर मॉम के चुत पर अपना चुत रखके जोर जोर से रगड़ने लगी। इस दौरान aahhhhhhhhhh uuuhhhhhhhhhhhhhj ooooohhhhjjjjhhhhhhhhhhh yeaaahhhhhhhhhhhh के आवाज से पूरा कमरा गूंज रहा था।

करीब 7 मिनट तक नीतू अपनी चुत मॉम के चुत पर रगड़ते रही इस दौरान पहले मेरी माँ का चुत पानी छोड़ा फिर आंटी का। फिर आंटी मेरे मॉम के ऊपर ही लुढ़क गयी।

अब नीतू आंटी का लंड मेरी मॉम के चुत में था

2 मिनट बाद मॉम आंटी को साइड में कि और अपने उठकर कबर्ड की तरफ गई और वही पार्सल वाला स्ट्रैप ऑन निकाल के ले के आई। और आंटी के हाथों को पकड़ के उठाई। और नीतू के कमर पर उस स्ट्रैप ऑन के बेल्ट को बांध दी। oh my god  ऐसा लग रहा था जैसे सचमुच का नीतू आंटी का लंड है।

फिर नीतू आंटी मॉम के चूतड़ों पर चाटा मारते हुए बोली। मेरी जसप्रीत डार्लिंग किस पोज में आज मुझसे चुदवायेगी। तो मॉम बोली कि मुझे कुतिया बनाकर चोद मेरी ऋतु रानी। फिर वो झुक गई और बेड को पकड़ ली और नीतू आंटी पीछे से 7 इंच का नकली लण्ड मॉम के चुत में घुसा दी। करीब आधा लण्ड अंदर चुत में गया होगा। और नीतू चोदने लगी। इस दौरान मॉम aaaaaahhhhhhhh ohhhhhhhhhhhhhhhhh चोदो नीतू चोदो मेरी चुत aaahhhhhhh hhhhaaaaahahahhhh करने लगी। अब नीतू आंटी पूरा लन्द माँ के चुत में घुसेड़ के चोदने लगी। नीतू आंटी का बड़ा सा गांड बहुत सेक्सी लग रहा था और थिरक रहा था। कारिब 10 मिनट तक ऐसे ही चोदने के बाद मॉम 2 बार झड़ गई।

फिर माँ सीधी हुई और आंटी के कमर से बेल्ट खोलकर अपने कमर पर बांध ली। अब मेरी माँ का बड़ा सा लण्ड उग आया था। फिर नीतू आंटी नीचे बैठी और लंड को मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी 2 मिनट बाद माँ की तरह ही आंटी कुतिया बन गई। और माँ एक झटके में पूरा लंड आंटी के चुत में उतार दी। और लगी चोदने जोर जोर से। माँ नीचे हाथ ले जाकर आंटी के चुत के दाने को भी मसल रही थी। 5, 7 मिनट में आंटी जोर जोर से चिल्लाते हुए झड़ गई। फिर माँ बोली कि नीतू रानी आज मैं इस मोटे लंड से तुम्हारी गांड फाड़ दूंगी। और माँ लन्ड को निकालकर आंटी के गांड में घुसेड़ दी। शायद वोनपहले भी गांड मरवा चुकी थी। इसलिए आसानी से पूरा लंड गांड में समा गया।

अब माँ जोर जोर से छोड़ रही थी और आंटी के चुत को मसल रही थी। आंटी भी गांड को पीछे धकेल धकेल के खूब गांड मरवा रही थी। और यह हहहहहहहहhhhhhjhhhh…….. ooohhhhhhhhhhooooohhhhjhhhhhhh…….. चिल्ला रही थी। करीब 10 मिनट बाद आंटी फिर झड़ने लगी और अपनी गांड पीछे दबाने लगी। फिर दोनों सीधे हुए माँ बेल्ट निकाल कर बीएड पर एक टफ रख दी। और नीतू आंटी माँ की चुत को चाटी फिर खड़े होकर माँ को गले लगाई और बोली। अब हमदोनो के पास यह लंड है। कभी तुम्हारे घर तो कभी हमारे घर चुदाई का मजा लेते रहेंगे।

 

हमारे हिजडें पति हमे नहीं भी चोदेंगे तब भी हमारी चुत अब प्यासी नहीं रहेगी। फिर आंटी और माँ दोनों अपनी अपनी मैक्सी पहनी और रूम से बाहर गई।

 

तो दोस्तों कैसा लगा। मेरी माँ और पड़ोसन आंटी की लेस्बियन चुदाई की कहानी।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “बेटी का बॉयफ्रेंड भाग-3”

धन्यवाद।

आपसब अपना ख्याल रखिएगा। और अपना प्यार इसी तरह बनाए रखिएगा।

नमस्कार।

 

80% LikesVS
20% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *