प्यार सेक्स पॉलिटिक्स- भाग 1

 206 

प्यार सेक्स पॉलिटिक्स और बदला – भाग 1

हेलो फ्रेंड्स। https://nightqueenstories.com के सभी नए पुराने पाठकों को मेरा सादर नमस्कार। दोस्तों मैं आपके समक्ष एक सच्ची कहानी जो मेरी खुद की है, को लेकर उपस्थित हुआ हूँ।

फ्रेंड्स मेरा नाम विशाल प्रताप देव है। मैं मुम्बई में रहता हूँ। वेसे तो मैं एक सामान्य परिवार से हूँ लेकिन मैंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग किया हुआ है। मेरी उम्र अब 31 साल है। ये कहानी आज से 6 साल पहले का है उस समय मैं एक एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करता था और मेरी सैलरी बमुश्किल 30 हजार रुपए थे। और मुम्बई जैसे शहर में 30 हजार की क्या औकात है आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं।

कैसे मैं अपने मम्मी पापा का हत्या का बदला लिया माधवराव के बीवी को चोदकर

एक दिन मैं जुहू बीच पर बैठा था। तभी एक बिगड़ैल बाप की सेक्सी हसीना अपने 4 दोस्तों के साथ मर्सडीज गाड़ी में आई और उतर कर इधर ही आने लगी जिधर मैं बैठा था। वह मिनी स्कर्ट में थी। और उसकी सभी सहेलियां भी अधनंगी कपड़े ही पहनी थी। सभी के हाथों में सिगरेट था। और तभी वह मेरे पास से आगे बढ़ी और सिगरेट उछाल दी। और जलती हुई सिगरेट सीधा मेरे पर आकर गिरा जिससे मेरा शर्ट जल गया। तो मैं गुस्से में बोला हेलो मैडम सिगरेट बुझाने नही आता तो पीती क्यो हो। अब वो गुस्से में तमतमा गई और मेरे पास आकर मुझे खिंचकर एक करारा तमाचा जड़ दी। और बोली तू मुझे नही जानता मैं चुटकियों में तुम्हे चिट्टी की तरह मसलवा सकती हूं। मेरा बाप महाराष्ट्र सरकार में मंत्री है। उस घमंडी लड़की की बातें सुनकर मुझे भी गुस्सा आ गया

और मैं भी गुस्से में उसे 2 झापड़ जड़ दिया। और बोला एक मुझपर सिगरेट फेंकने के लिए और दूसरा तुम्हारे थपड़ का जवाब है। और जाकर अपने बाप से कह देना जो उखाड़ना है उखाड़ ले। चल जा अब निकल यहां से। अब वो लाल पीली हुई और वहाँ से चली गई।

मैं हर संडे जुहू बीच पर जाता था। और कुछ देर बैठता था।

करीब एक महीने बाद मैं वही बैठा था और शाम के 6 बज रहे थे। और तभी मुझे सामने वही गाड़ी रुकते दिखी। और उसमें से वही लड़की उतरी जिसने मुझे थपड़ मारी थी। लेकिन आज वो अकेले थी। और सीधा मेरे तरफ आने लगी। मैं उसे आते देखकर फ़ोन में व्यस्त हो गया और उसे इग्नोर किया।

वो मेरे पास आकर हाय बोली। और हाथ आगे बढ़ाई तो मैं भी हेलो बोलकर उससे हाथ मिलाया। फिर वह बोली कैसे हो तो मैं अनजान बनते हुए बोला। मैं ठीक हूँ लेकिन आप कौन हो। तो वह बोली बड़ी जल्दी भूल गए। आज से ठीक 36 दिन पहले तुमने मुझे 2 झापड़ मारा था और वो जगह बिल्कुक यही था।

तो मैं जैसे याद करते हुए कहा अच्छा तो आप वो सिगरेट वाली मैडम हो जिसने मेरी शर्ट जलाई थी। तो वह बोली मेरा नाम साक्षी है और मेरे पिताजी का नाम माधवराव है। और मैं उसी के लिए माफी मांगने आयी हूँ। मैं यहां हर संडे आयी हूँ। लेकिन तुम नही मीले। लेकिन आज भगवान ने मिला दिया।

फिर वो मेरे पास बैठी और हम बातें करने लगे। दरअसल मेरे थपड़ ने उस पर जादू कर दिए थे। और वो मुझसे प्यार करने लगी थी। तो उसी दिन वो मुझे प्रोपोज़ कर दी। लेकिन मैं हाँ या ना में जवाब नही दिया। हम वहाँ करीब 1 घण्टे बैठे थे। फिर हम जाने लगे तो नम्बर एक्सचेंज किए और हमारी बात होने लगी। कुछ ही दिनों में मेरी भी दिल उसके नाम से धड़कने लगा। और फिर मैंने भी उसे एक दिन बताया कि मैं भी उससे प्यार करने लगा हूँ। अब अक्सर हम मिलने लगे।

एक दिन वह मुझसे शादी का प्रस्ताव रखी तो मैं बोला साक्षी ये संभव नही है। तुम एक स्टेट में मिनिस्टर की बेटी हो और मैं एक गरीब बाप का बेटा हूँ। तो वह बोली उससे मुझे कोई फर्क नही पड़ता। तो मैं बोला तुम्हारे मम्मी पापा इसके लिए तैयार नही होंगे। तो वो बोली कोई बात नही मैं आज ही अपने मॉम डैड से बात करूँगी अगर वे तैयार नही हुए तब भी मैं तुमसे भागकर शादी कर लुंगी।

फिर वह घर गई और अपने मम्मी पापा से बात की तो उसके पापा भड़क गए और मुझसे दूर रहने की हिदायत दिए। और उसे मुझसे मिलने से भी रोक दिया। कुछ दिन तक तो ऐसे ही चला लेकिन एक दिन वो शॉपिंग के बहाने मॉल आई तो मैं मिला तो उसके बाप के पालतू गुंडों ने देख लिए। और मुझे दूसरे दिन साक्षी का बाप कॉल करके साक्षी से दूर रहने को बोला। लेकिन हमारी लगातार बात हो रही थी।

एक दिन मेरे मम्मी पापा घर से कही जा रहे थे। और उनकी गाड़ी में एक ट्रक ने ठोकर मार दिया। और डैड की मौके पर ही मौत हो गई। और मॉम हॉस्पिटल में डेथ की। उस हादसे ने मुझे झकझोर कर रख दिया। 3 दिन बाद मुझे एक आदमी मिला और उसने मुझे बोला कि अगर तुम अब भी साक्षी मैडम से बात करोगे तो अपने माँ बाप की तरह तुम भी स्वर्ग सिधार जाओगे। तो अपनी हद में रहो और 2 दिन के अंदर शहर छोड़ दो।

तब मुझे पता चला कि मेरी माँ डैड की हत्या की गई थी।

मैं उस बात से बहुत परेशान हुआ। और मैं उस दिन से लगातार नोटिस करने लगा कि मेरा पीछा किया जा रहा है। तो एक दिन मैं रात के 10 बजे घर से निकला और पुणे आ गया। और अपना कांटेक्ट नम्बर और नाम पता सबकुछ चेंज कर दिया।

और कुछ दिन रहने के बाद एक पॉलिटिकल पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में जॉइन कर लिया। चुकी मेरा मकसद पॉलिटिक्स करना नही था। बल्कि एक प्लांनिग के तहत मैं राजनीति जॉइन किया था। तो मैं बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने लगा। और जल्द ही मैं पुणे के प्रेसिडेंट बन गया और फिर मैं 2 साल तक वहां काम करने के बाद एक लीडर के बदौलत मुम्बई का कार्यकारी बना दिया गया। अब मैं वापस 2 साल बाद मुम्बई आ चुका था। और फिर मैं साक्षी के बाप से एक दिन मिला तो मेरे व्यक्तित्व से वह काफी प्रभावित हुए। और मुझे अपनी पार्टी जॉइन करने का आफर दिए। उन्होंने मुझे अपना कार्ड और पर्सनल नम्बर भी दिया। अब मैं उनसे अक्सर मिलने लगा। लेकिन उनकी पार्टी जॉइन नही किया। साक्षी के पिता 2 शादी किये थे। और साक्षी उनकी पहली पत्नी की बेटी थी। और मेरे मुम्बई छोड़ने के बाद साक्षी अमेरिका चली गई।

साला माधवराव हिंजड़ा है उसका छोटा सा लन्ड कभी मेरी चुत में नही घुस पाता वह मेरे चुत के छेद पर ही झड़ जाता है

साक्षी के पिता की दूसरी बीवी का नाम सुनैना था। और वह माधवराव से 22 साल छोटी थी। सुनैना बहुत खूबसूरत महिला थी। और उसके पिता भी माधवराव के पार्टी में ही कार्यकर्ता थे। तो पैसे और रसूख के बल पर माधवराव ने सुनैना से शादी कर ली। सुनैना भी माधव के रसूख को देखी उसकी उम्र नही। लेकिन शादी के बाद उसे सेक्स सुख नही मिला तो उसे एहसास हुआ कि गलती हो गई। लेकिन अब वो कुछ नही कर सकती थी। सो उसी के साथ रहने लगी। लेकिन वह माधवराव के पार्टी से जुड़ गई और हर फैसले में वह अहम योगदान निभाने लगी।

और मैं इसी बात का फायदा उठाकर सुनैना से दोस्ती कर लिया। सुनैना मेरी हमउम्र ही थी। तो जल्दी ही उसे हमारी दोस्ती भा गई। और अब हमदोनों के बीच सेक्स संबंध स्थापित हो गए।

एक दिन सुनैना मुझसे मेरे घर पर मिलने आई हमदोनों बिल्कुल मदमस्त थे। सुनैना मुझे किस करने लगी। और बोली साहिल मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ मैं तुम्हारे बिना नही रह सकती। (मुम्बई छोड़ने के बाद मैं अपना नया नाम साहिल रख लिया था)

हमदोनों किस करने में खो गए। करीब 10 मिनट हम एक दूसरे के बांहो में भींचकर किस करते रहे। फिर मैं उसके कुर्ती के ऊपर से उसकी चुचियों को मसलना शुरू कर दिया। वो आहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह बेबी…..

करने लगी। अब मैं उसकी कुर्ती को निकाल दिया वो अंदर काले रंग की ब्रा पहनी थी। मैं ब्रा के ऊपर से ही उसकी चुचियों को मिजने लगा। उसके मुँह से लगातार सिसकारियां और कामुक आवाजें आने लगी।

मैं अब उसकी ब्रा को भी निकाल दिया। और उसकी चुचियों को मुँह में लेकर चूसने लगा। वह सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… करने लगी। और बोली साहिल जिंदगी में पहली बार कोई मेरी चुचियों को पी रहा है। तो मैं पूछा माधवराव तुम्हारी चुचियों को नही पिता तो वो गाली देते हुए बोली। वो तो साला हिंजड़ा हो चुका है उसके लन्ड में दम नही है। उसका लन्ड खड़ा होता है तो 4 इंच का होता है और जैसे ही मेरी चुत में डालता है हांफने लगता है। और लुढ़क जाता है।

चुत चटवाने का असली सुख तो सिर्फ तुमसे मुझे मिला है जानेमन। वरना वो साला बूढा खूसट माधवराव तो हरामी हिंजड़ा है

तो मैं बोला कोई बात नही जान आज मैं तुम्हारी चुत को अपने शेर से मुलाकात करवउँगा। और तुम्हारी चुत फाड़ दूँगा।

जल्द ही मैं उसे पूरा नंगा कर दिया और खुद भी नंगा हो गया। अब मैं उसे लेटा दिया और उसकी पैरो तरफ आकर उसकी दोनो पैरो को फैलाया और उसके चुत में मुँह लगा दिया। वह मानो पागल हो गई और कहने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. चाटो राजा आज जीवन मे पहली बार मेरी चुत चटाई हो रही है। उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह

आहहहहहहहहहहहहहहहहह मेरी चुत बहुत प्यासी है। चाटो जोर से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चाटो मेरी चुत।.. चाटो और जोर से चाटो।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. खा जाओ मेरी चुत राजज्ज्ज़ा चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..।

आहहहहहहहहहहहहहहहहह.. तुम्ही मेरे असली पति हो मेरे राजा।. तुम मेरी दिल की धड़कन हो… चाटो राजा चाटो मेरी चुत। साहिल खा जाओ मेरी चुत। मेरी चुत को चबा जाओ मेरी धड़कन… पूरा निगल जाओ मेरी चुत को। आहहहहहहहहहह। ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। चुत चाटने का असली सुख तो सिर्फ तुमसे मुझे मिला है जानेमन। वरना वो साला बूढा खूसट माधवराव तो हरामी हिंजड़ा है कभी चुत चाटना तो छोड़ो कभी ठीक से चुचियों को भी टच नही करता। साला हरामी है।

सुनैना के चुत में झिल्ली देखकर मैं आश्चर्य से पूछा जानेमन क्या तुम अब भी कुँवारी हो

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजाआआआ बेटा.. चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। मैं झड़ने वाली हूँ चाटो जान चाटो और सुनैना मेरा सर चुत में दबाने लगी। मेरी नाक उसकी चुत में घुस गई थी। और थोड़ी देर में ही वो शांत होने लगी। उसकी चुत ने रस धार छोड़ दिया था।

फिर मैं लेट गया और सुनैना मेरे ऊपर आ गई और हमदोनों 69 को पोजिशन में हो गए। कुछ देर में ही फिर से सुनैना पूरे जोश में आ गई। तो वह सीधी हुई और बोली राजा अब तुम मेरा चुत में लन्ड डाल के चोदो अब नही बर्दास्त होगा।

मैं एक करारा धक्का मारा और सुनैना दर्द से चीख उठी

और वो ये बोलते हुए लेट गई। और अपनी टांगे फैलाते हुए बोली आओ राजा समा जाओ मुझमे तेरी रानी तुझे निगलने के लिए तैयार है।

मैं उसके गांड़ के नीचे 2 तकिया लगाया जिससे उसकी बुर बिल्कुल ऊपर होकर खुल गई। और मैं उसके चुत को फैलाकर झांका तो हैरान रह गया क्योंकि उसकी चुत में झिल्ली दिखाई दे रही थी। मतलब उसका चुत का सील नही टूटा था। लेकिन मैं हैरान था ऐसा क्यों

तो मैं उससे बोला सुनैना क्या तुम अब भी कुँवारी हो तो वो बोली हां मेरे राजा मेरी चुत में लन्ड अंदर आजतक नही घुसा माधवराव साला हरामी का छोटा सा लन्ड थोड़ा भी कड़क नही होता और पिलपिला रहता है। और मेरी चुत के मुँह पर ही एक दो बार रगड़ते ही उसका पानी झड़ जाता है। मैं भी आज तक चुत में उँगली नही डाली बल्कि चुत के दाने को रगड़ के चुत को शांत करती थी।

तो मैं बोला आज मैं तुम्हारी सील तोड़कर तुम्हे पूरी तरह से औरत बना दूँगा। और उसके चुत पर लन्ड लगा दिया। तो वह बोली राजा धीरे करना बहुत दर्द होगा। लेकिन मैं उसकी बातों को अनसुना कर दिया और ढेर सारा थूक अपने लन्ड और उसकी चुत पर लगाया और एक करारा धक्का मारा, और आधा लन्ड उसकी चुत को चीरते हुए समा गया। वह जोर से चीख उठी। उसकी झिल्ली फट चुकी थी।

और मैं फिर से एक और धक्का मारा इस बार पूरा लन्ड अंदर घुस गया। और सुनैना के आँखों से आंसू बहने लगे। तो मैं 1 मिनट वैसे ही पड़ा रहा। और हल्के हल्के 2, 3 धक्के मारने के बाद लन्ड बाहर खिंचा। तो मेरे लन्ड खून से सना हुआ था। और सुनैना के चुत से खून रिसने लगा।

लेकिन मैं बेपरवाह फिर से लन्ड उसकी चुत पर लगाया और करारा झटका मारा मेरा समूचा लन्ड उसकी चुत में समा गया। अब मैं जोर जोर से चोदने लगा और कुछ ही देर में उसकी भी दर्द दूर हो गई अब उसे मजा आने लगा और वह जोर जोर से मौन करते हुए सिसकारियों के साथ चिल्लाने लगी और जोर जोर से चोदने लगा। सुनैना लगातार चिल्लाए जा रही थी आआहहहहहहहहहहहहहह….. बेबी चोदो जोर से… चोदो मेरी चुत चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे

उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आआआहहहहहहह चोदो मेरे सइयाँ फाड़ दो मेरी बुर…. । मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…. मेरी जान चोदो………… सससीईईईईईईसससीईईईईईई…..

शेर….. चोदो जान चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… साहिल मैं झड़ने वाली हूँ मेरी चुत पानी छोड़ने वाला है। मारो झटका मेरे शेर मारो और तेज मैं आ रही हूं मेरी जान आ रही हूँ। हहहहहहहहहहहहह…..

आआआहहहहहह और सुनैना का चुत पानी छोड़ दिया

तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…मेरे राजा… मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. सच मे बहुत बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… मेरी बुर फाड़ दिया।

आआहहहहहहहहहहहहहह….. बेबी चोदो जोर से… चोदो मेरी चुत चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो जान चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आआआहहहहहहह चोदो मेरे सइयाँ फाड़ दो मेरी बुर…. । मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। …… और तभी मुझें लगा मैं भी झड़ने वाला हूँ। तो मेरी स्पीड बढ़ गई तो सुनैना समझ गई और मेरे कमर को पैरो से पकड़ के खिंचने लगी और अपने गांड़ पूरा उछाल उछाल के आगे पीछे करने लगी और फिर हम दोनों एक साथ इस बार झड़ गए।

अब हमदोनों किसी ना किसी बहाने एक दो दिन में मिल ही लेते हैं। और चुदाई करते हैं। और हर चुदाई के बाद सुनैना की मेरे प्रति दीवानगी बढ़ते जा रही थी।

मैं तो यही चाहता था। सो मैं अपने खेल के अंतिम रूप देने वाला था।

अब हम रोज किसी न किसी बहाने मिलने लगे। सुनैना वर्षों बाद चुदाई का सुख प्राप्त कर रही थी। तो वह मेरे प्यार में बिल्कुल पागल हो चुकी थी।

इस बात का मैं फायदा उठाने लगा। और कैसे माधवराव को बर्बाद किया। ये मैं अगले भाग में बताऊंगा।

दोस्तों इंतजार करना। जल्द मिलते हैं अगले भाग में। ….

अन्य चुदाई से भरी कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com पढ़ते रहिए। धन्यवाद।।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “प्यार सेक्स पॉलिटिक्स- भाग 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *