खेत में लड़की की चुदाई

 90 

खेत में गैंगबैंग

हैलो, मेरा नाम रेखा भारद्वाज है, मैं 27 साल की कमसिन शादीशुदा लड़की हूँ जो अपने पति के अलावा और बहुत से मर्दो से चुद चुकी है। आज मैं अपनी जिंदगी की पहली चुदाई का किस्सा आप सभी के साथ शेयर करने जा रही हूँ। बात उन दिनों की है जब मैं हाई स्कूल पास कर 11वीं क्लास में गयी थी और मेरी उम्र सोलह की लग चुकी थी। तब तक मैं जवान हो चुकी थी और चूत और लण्ड के खेल को अच्छी तरह से समझने लगी थी। मेरे क्लास की लड़किया जो मेरी सहपाठी थी वो इसमें मेरी खूब मदद करती थी। हमने छुप छुप कर कई गंदी किताबे पढ़ी, मैगजीन कवर देखे, जिसके बाद मुझे भी चुदने की इच्छा होने लगी। वैसे नये पाठको को बता दूँ कि लड़किया बारह साल की उम्र से ही चुदने को तैयार हो जाती हैं और मैं तो सोलह साल की थी तो मेरे अंदर की प्यास बहुत ज्यादा बढ़ रही थी।

मैं पंजाब के एक शहर मोंगा की रहने वाली गांव की लड़की हूँ और खेती बाड़ी में अपने माँ बाप का हाथ बटाया करती थी। फिलहाल तो शादी के बाद से, मैं चण्डीगढ शहर आ गयी हूँ और अच्छे खासे परिवार में मजे से रह रही हूँ। मेरी सहेलियाँ के ब्वायफ्रैंड थे तो वे जब उनसे चुदवा कर आती थी तो सारा दिन मुझे उसकी बाते बताया करती थी जिससे मुझे जलन होने लगती थी। जब वे लण्ड के बारे में बताती तो मैं ध्यान से सुनती और सोचती रहती थी कि कब मुझे कोई चोदेगा और मैं लण्ड के दर्शन कर पाउगीं।

word image 5697 1

उस वक्त तक मेरा शरीर उतना अच्छा था नही जितना आज है। अब मर्दों ने मेरे चूचे दबा दबा कर पहाड़ बना दिये है और मेरी गांड का मुरादाबाद बना दिया है पर उस वक्त तक मेरी चूचिया छोटी थी जैसे मुसम्बी होती है। एक दो बार तो मैने इन्हे बड़ा करने की सलाह भी ली, पर कोई चारा नही था। मैं देशी सलवार सूट में घर में घूमती थी और स्कूल स्कर्ट और शर्ट पहन कर जाती थी जिसमें मुझे अच्छी फीलिंग आती थी क्योंकि कुछ लड़के देखते थे।

तो, यही डेली क्लासेस चलती थी और शाम को मैं खेत वगैरह चली जाया करती थी और काम में हाथ बंटा लिया करती थी। हमारे गांव में साल में एक बार डांस शो होता था जिसमें लड़िकयाँ आकर स्टेज पर नाचती थी और लड़के झुण्ड बनाकर देखा करते थे। उस साल के शो में भी रण्डियां आई थी नाचने के लिए। मैने अपने दोस्तो के साथ फैसला किया कि हम भी डांस देखने जाएगे। हमने घर में बताया और घर से हमें पूरी छूट मिल जाती थी कुछ भी करने की।

फिर वो दिन आया जब डांस शो के लिए रात में जाना था। मैने अच्छे से मेकअप किया और टाॅप और जींस पहनने का फैसला किया ताकि कोई लड़का शायद मुझे पंसद ही कर ले और बात आगे बढ़ जाये। मेरा वहाँ जाने का मकसद यही था कि कोई तो होगा जो मेरे लिए बना होगा। हम शाम 7 बजे निकल गये, अंधेरा हो चुका था, बीच बीच में खंभे पर धीमी धीमी लाइटे जल रही थी जो माहौल को रोमांचक बना रही थीं। मैं पैदल ही गयी, शो एक खेत में हो रहा था और उसके चारो ओर भी दूर दूर तक खेत थे। शो किसी भी मोहल्ले से दूर इसलिए रखा जाता था ताकि बच्चे न देख पायें।

मैं पिंक टाॅप और ब्लू जींस में बवंडर माल लग रही थी, ऐसा मेरे दोस्तों ने बताया था। एक ने तो कहा, आज तुझे कोई पटा ही लेगा। जब हम वहाँ पहुचे तो काफी भीड़ लग चुकी थी, इतने लोग थे कि हमें स्टेज दिखाई ही नही दे रहा था। कुछ औरते भी वहां पर थी तो हम भी उन्ही के पीछे हो लिए। नौ बजे के करीब एक सफारी गाड़ी आती है और उसमें से 5 -6 जवान रंगबाज लौड़े बाहर निकलते हैं। मैने उन्हे देखा और देखते ही मेरा दिल एक लड़के पर आ गया। वो गाड़ी चलाकर आया था और मुँह में सिगरेट दबाये हुए किसी हीरों से कम नही लग रहा था। उसकी टाल बाडी और गठीला बदन और उस पर फिट कपड़े जचँ रहे थे। जब मैं उसे घूर रही थी तभी उसकी नजर मुझ पर पड़ी और उसने पहली बार में ही भौं उपर कर इशारा किया। मैं तो अंदर से खुशी से पगला गयी और मैने भी भौं ऊपर कर इशारा के जवाब दे दिया।

word image 5697 2

अब, उसने हल्की सी गर्दन घुमाकर बाहर की ओर आने का इशारा किया। मैनें अपनी सहेलियों से कहा मैं अभी आ रही हूँ और बाहर की ओर निकल ली। स्टेज के बाहर कुछ दूर तक ही लाइट जा रही थी उसके बाद सूनसान खेत थे और अंधेरा था तो मैं उसी ओर चल दी और वह भी मेरे पीछे आ रहा था। मैं काफी खुश थी क्योंकि पहली बार कोई लड़का मेरे पीछे आ रहा था, शायद वो मेरे टाइट कपड़ो का कमाल था जिसमें मेरी गाड़ साफ झलक रही थी। थोड़ी दूर अंधेरे में चलने के बाद, वह मेरे पीछे दौड़ते हुए आया और उसने मेरा हाथ पकड़कर अपनी ओर जोर से घसीट लिया। मैं झिटक कर उसकी मजबूत छाती से टकरा गयी। उसने मुझे कमर से पकड़ा और एक जोरदार किस किया। इस पहले जबरजस्त किस से तो मेरे शरीर का रोम रोम हिल गया। वो हटा और फिर एक लम्बा किस करने लगा, इस बार मैने भी उसका साथ दिया। होठ से होठ मिल रहे थे और उसके हाथ मेरे चूचों को बढ़ रहे थे। उसने दोनो हाथो से मेरे चूचो को दबा लिया और किस करना जारी रखा। मैं भी उसका साथ दे रही थी। मैने तो सोचा था कि काश कोई लड़का मुझे पटा ले, पर यहाँ तो सीधा मेरी चुदाई होने जा रही थी। उसका एक कारण था कि लड़का शहर का था और बहुत फास्ट था।

उसने एक हाथ से मेरी कसी हुई पैंट की बटन खोली और पैंटी के अंदर हाथ डालते हुए चूत तक पहुँच गया। जब उसका हाथ पहली बार मेरी चूत पर छुआ तो मेरे शरीर में करेंट सा दौड़ गया। मैं मदहोश होने लगी थी, उसने मुझे वहीं चकरोट पर लिटा दिया और मेरे कपड़े उतारने लगा। मैने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया, क्योंकि मैं भी सहेलियों के चुदने की कहानी सुन सुन कर बहुत जल चुकी थी, अब मैं उन्हे जलाना चाहती थी। तो मैने कपड़े उतरवाये, जिसके बाद वो मेरे चूचियों पर टूट पड़ा और कस कसकर चाटने लगा, मुझे आनंद आ रहा था और मैं इस लम्हे को घण्टो तक जीना चाहती थी। उसका लण्ड बाहर से ही मेरी चूत पर महसूस हो रहा था और लग रहा था कि काफी बड़ा होगा। कुछ देर चूचे पीने के बाद, उसने मेरी गांड पर एक चांटा मारा और अपना लण्ड बाहर निकाल लिया। मैने पहली बार किसी का लण़्ड देखा, वह काला, मोटा लण्ड लगभग 7 इंच का रहा होगा। लण्ड निकालकर वह मेरी चूचियों के ऊपर बैठगया और मेरे मुँह में लण्ड देने लगा, पहले तो मुझे हिचक लगी, पर मैने सोचा शहर में ये भी होता होगा और उसका लण्ड ले लिया। वह धक्के मारने लगा तो मेरा मुँह दुखने लगा और मेने लण्ड बाहर निकाल दिया। वह पूरा लण्ड मेरे मुँह में उतारने को बावला हो रहा था, पर मैने मना कर दिया।

अब, उसने दो चार बार अपना लण्ड मेरी चूत के ऊपर रगड़ा, मेरी तो आहें निकलने लगी थी। छठी बार में उसने लण्ड चूत में डाला और मैं हल्के से उछलते हुए चीख पड़ी। अभी लण्ड आधा ही गया था और मेरे जोरो का दर्द हो रहा था। फिर उसने लण्ड बाहर निकाला और ढ़ेर सारा थूक लगाकर पूरा लण्ड एक शाट में अंदर तक धकेल दिया। मेरे तो जैसे प्राण ही निकल गये थे, मैने चकरोट किनारे लगी घास को पकड़कर मसल दिया था। मेरे दर्द हो रहा था। वह शायद जान चुका था कि यह पहली बार चुद रही है तो वह कुछ देर तक रूका और फिर लण्ड को धीरे से बाहर किया और अंदर किया। फिर धीरे- धीरे अंदर बाहर  करने लगा। अब, मुझे मजा आना शुरू हुआ था। ये एक अलग ही प्रकार की फीलिंग थी जो आजतक कभी मैने नहीं महसूस की थी। उसका लण्ड अदंर जाकर काफी राहत दे रहा था। पर वह 10 शाट ही मार पाया होगा कि झड़ गया और सारा माल मेरी चूत में ही उडेल दिया। अभी मजे आने शुरू ही हुए थी कि बन्दा मैदान छोड़ने वाला था। मैने उसकी कमर पकड़ ली और उसको लण्ड बाहर नहीं निकालने दे रही थी। इस पर वह झटका देकर उठा और बोला मेरा तो हो गया।

मैं जमीन पर नंगी लेटी थी। अब, उसने अपना फोन निकाला और अपने दोस्तो को बुला लिया। मैं डर गयी कि अब क्या होगा। मैने जल्दी से उठी और बिना कपड़े लेकर पहनते हुए घर की ओर भागी। उसने दौड़ाकर मुझे पकडा और गिरा दिया। मुझे चोटें भी लगी थी पर वह हरामी लौडा मेरे ऊपर लेट गया। तब तक 5 दोस्त आ गये थे और सभी हट्टे कट्टे थे। अंधेरी रात में खुले खेत में जमीन पर लेटी हुए एक नंगी कमसिन लड़की को इन दोस्तों ने एक साथ चोदना शुरू किया। उनमें से जो तीसरे नम्बर का लड़का था उसका लण्ड तो 9 इंच का रहा होगा। जब उसने मेरी चूत में लण्ड डाला तो मेरी तो जैसे आँखे बाहर निकल आयी। ऊपर से एक ने मुहँ में लण्ड दे दिया। उन मादरचोदों ने डमरू की तरह 1 घण्टे मुझे बजाया होगा, उसके बाद मैं बेहोश हो गयी थी। मेरी चूत से खून बह रहा था और गाण्ड में दर्द हो रहा था। मुझे अहसास हुआ कि मेरी गांड की भी जमकर धुनाई हुई है। वो 6 लौडे रात में मुझे चोदते रहे और कोई बचाने नही आया।

word image 5697 3

रात के करीब 11 बजे मुझे होश आया होगा, तो मैने देखा कि मैं वहाँ अकेले अंधेरे में पड़ी थी। मेरे ऊपर एक भी कपड़ा नही थी। मेरी चूत और गांड दर्द से फटी जा रही थी और शरीर में वीर्य के छीटें सफेद- सफेद पड़े हुए थे। मैं उठी और कपड़े पहनकर घर आ गयी, पर अपने साथ हुई इस आपबीती को किसी को बता नहीं पायी, न ही सहेलियों को। क्योंकि, लोग मुझे ही गलत कहते तो मैं चुप रही। वो दिन मेरी जिंदगी का टर्निगं प्वाइंट था। उसके बाद से मैं बराबर कहीं न कही, कैसे न कैसे चुदने लगी थी।

तो ये थी मेरी चुदाई की पहली कहानी, इसके बाद आगे क्या हुआ वो फिर कभी दूसरी कहानी में बाताउंगी। तब तक के लिए बाय- बाय।

हमे उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

तो दोस्तों ऐसे ही मजेदार चुदाई सेक्स कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com के अन्य पेज पर जाएं।

हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें। मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “अमीर घर की घमंडी रण्डी”

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

 

82% LikesVS
18% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *