रैली में गर्म हुई आंटी की चुत । भाग -3

करीब 10 मिनट तक मैं चुत चाटता रहा। फिर वो चिल्लाई  i am coming Sahilllllll….aaaaaahhhhhhhhh….. i am coming…..  फिर वो और जोर जोर से कमर हिलाने लगी और उसकी चुत तेज धार किसी झरने की तरह पानी छोड़ने लगा। और मैं सारा पानी पी गया। उसकी चुत की पानी बहुत नमकीन लेकिन स्वादिष्ट थी। फिर वो शांत हो गई लेकिन मैं उसकी चुत को चाट ही रहा था। फिर वो मेरा सर पकड़ी और मुझे ऊपर उठाई और बैठे बैठे ही मुझे अपने बांहों में कस ली और आई लव यू साहिल आई लव यू। यु आर सो नाइस बेबी। बोली।

 

वंदना ठंढी हो चुकी थी। फिर वो मेरा पैंट का बेल्ट खोलने लगी मैंने भी उसकी ऐसा करने में मदद किया और अपना पैंट घुटनो से नीचे सरका दिया।

 

अब वो सीट पर बैठेबैठे ही नीचे झुककर मेरा लंड चूसने लगी। करीब 7, 8 मिनट तक वो मेरा लंड चुसी और फिर मेरे लंड ने उसकी मुँह में ही सारा वीर्य निकाल दिया। वो सारा वीर्य निगल गई। और अच्छे से चाटकर मेरे लंड को साफ की। फिर वो ऊपर आई और मुझे किस करने लगी।

 

करीब5 मिनट हुए होंगे कि हमें कुछ लोगों की आवाजें सुनाई दी। तो मैंने झट से अपना पैंट ऊपर किया और पहनकर बैठ गया।

 

रैली भी खत्म हो चुकी थी तो वंदना ने बोली कि शाम को मेरे घर आओ। और फिर आगे के गाड़ी के कवर्ड से एक कार्ड निकाल के मुझे दी। और मैं उसकी पैंटी को लिया और गाड़ी से उतर गया। उसने स्माइल दी और एक आँख दबा दी।

 

रैली में मिली वंदना आंटी की चुदाई कि कहानी

बाकी का हिस्सा अगले भाग में पढ़िए। की कैसे मैं वंदना आंटी के घर जाकर उसकी चुत की चुदाई की।

 

तो मिलते हैं रैली में गर्म हुई आंटी की चुत बेडरूम में ठंडा हुई। के अगले भाग में। भाग- 3 में।

 

दोस्तों कहानी के पहले और दूसरे भाग में आपने पढ़ा कि रैली में मिली वंदना आंटी और मैं रैली छोड़कर एक पेड़ के नीचे बैठ गए। और ढेर सारी बातें की जो नॉर्मल से शुरू होकर, निजी जीवन के बेडरूम और सेक्स तक पहुँच गया।

और हमदोनों बातों बातों में एक्साइटेड होने लगे। जो मेरा लंड खड़ा हो गया। और वंदना आंटी नोटिस कर ली।

फिर हम दोनों गाड़ी की ओर चल दिए जहां पूरा वीरान और सुनसान था।

Fuck on train

और फिर गाड़ी में कैसे मैंने वंदना के गर्म चुत को चाटकर उसे ठंढा किया, और कैसे वंदना मेरे लंड को मुँह में लेकर चुसी और चूसकर लंड के सारे जूस को पी गई।

 

तो पढ़िए अब आगे कहानी का अगला हिस्सा। जो सबसे रोमांचक और मजेदार है। जिसे पढ़के आपसब के लंड और चुत में ज्वालामुखी की लावा बहने लगेगी।

वैसे नए और https://nightqueenstories.com के पाठकों के लिए बता दूं। मेरा नाम साहिल वर्मा है और मैं गोरखपुर का रहने वाला हूँ। मैं एक बड़े राजनीतिक पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता हूँ। और ये कहानी मेरी और रैली में मिली खूबसूरत वंदना आंटी की चुदाई की है। जो कि वो भी मेरे ही पार्टी की सक्रिय कार्यकर्ता और बड़े नामी नेता हैं। और आप सब से आग्रह है। कहानी का पूरा आनंद लेने के लिए रैली में गर्म हुई आंटी की चुत बेडरूम में ठंडा हुई की शुरुआती और पहले भाग से पढ़ें। ताकि कहानी पूरी तरह से समझ मे आए।

कैसे मैं वंदना के घर पहुँचकर उसकी चुत की चुदाई किया

 

रैली से घर आने के दौरान पूरे रास्ते मे मैं वंदना के बारे में ही सोचता रहा। वो मेरे दिलो दिमाग पर छा चुकी थी। मेरा पूरा ध्यान वंदना के चिकनी मुलायम चुत और उसके चुत के बड़े दाने ( क्लाइटोरिस) पर लगा हुआ था। इस कारण कई बसर मेरे गाड़ी का एक्सीडेंट होते होते बच्चा था।

 

सच मे वो जितनी खूबसूरत देखने मे थी। उतनी ही सेक्सी और गर्म भी थी। वंदना के चुत चाटने के दौरान उसकी एक्साइटमेंट देखकर साफ प्रतीत हो रहा था कि वो बहुत दिनों से चुदाई की भूखी है। और उसकी चुत वर्षो से लंड खाने के लिए तड़प रही है।

 

तो मैं जब घर पहुँचा तो शाम के 5 बज चुके थे। मैंने गाड़ी गेट के बाहर ही खड़ा किया और घर के अंदर आ गया। आपको याद होगा वंदना के गाड़ी से निकलते समय मैं उसकी पैंटी यपने साथ रख लिया था और वो बिना पैंटी के ही गई। उसकी पैंटी अभी भी मेरे पैंट की जेब मे थी।

 

मैंने पैंटी जेब से निकाला और सूंघने लगा। उसकी पैंटी अभी भी उसकी चुत के पानी से पूरा सना हुआ था। और उसमें से मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी। फिर मैंने पैंटी को चाटा। उसकी चुत के पानी की खुशबू ने मेरे अंदर फिर से नशा घोल दिया। और मेरा लंड फ़नफनाने लगा।

 

फिर मैं अपने सारे कपड़े उतारे और नहाने बाथरूम में चला गया मेरा लंड अभी भी खड़ा था। और मुझे चुत की जरूरत थी। लेकिन मैं बर्दास्त किया। और नहाकर बाथरूम से बाहर निकला। उस टाइम मैं घर मे अकेले ही था क्योंकि कुछ दिन पहले ही मेरी वाइफ ज्योति अपने मायके गई हुई थी। क्योंकि उसके पिताजी का तबियत खराब था।

 

तो दिन भर की भागदौड़ ने मेरे अंदर थोड़ी थकान ला दी थी। मैं सोफे पर आकर बैठ गया मैं अभी भी नंगे ही था। 10 मिनट बैठने के बाद मैं उठा और कॉफ़ी और सैंडविच बनाया। और 6 अंडा उबलने के लिए रख दिया।

Erotic Stories

जबतक मैं कॉफ़ी और सैंडविच खत्म किया अंडा बॉईल हो चुका था। कॉफ़ी पिने और नहाने की वजह से मेरी थकान थोड़ी कम हो चुकी थी। और फिर मैं अंडे को छिला और सभी अंडे खा लिए। अब मैं पूरी तरह से तरोताजा हो चुका था।

 

फिर मैं कवर्ड से ब्लू रंग का शर्ट और क्रीम रंग का ट्राउजर निकाला और पहन लिया। मेरे पास बढ़िया खुशबू का परफ्यूम भी था। वो लगाया मुँह में माउथ फ्रेशनर स्प्रे किया। तब तक शाम के 7 बज चुके थे। अब मैं वंदना के घर जाने के लिए पूरी तरह से रेडी हो चुका था।

 

फिर मैं अपनी गाड़ी लेकर बाबर रास्ते वंदना के चुत आंखों में देखते हुए उसके घर पहुँच गया। अभी मैं बेल बजाने के लिए स्विच पर हाथ रखा ही था कि दरवाजा खुल गया सामने ब्लू रंग की जालीदार साड़ी पहने। पूरी मेकप में वंदना खड़ी थी। ( और भी मजेदार चुदाई और सेक्स कहानियां पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com इस लिंक पर क्लिक करें)

हमदोनो एक दूसरे को देखकर मुस्कुराए और फिर वंदना मुझे गले लगा ली।

 

फिर उसने मुझे अंदर आने को बोली। और मेरा हाथ पकड़ के अंदर ले गई। और पूछी कैसे हो साहिल, तो मैने कहा मैं ठीक हूँ। और वो बोली तुम बहुत हैंडसम लग रहे हो। मेने थैंक्यू बोला। और मैंने भी उसकी तारीफ की, तुम भी बहुत खूबसूरत और सेक्सी लग रही हो। ये ब्लू रंग की साड़ी में तुम स्वर्ग की अप्सरा लग रही हो। वो मेरी बातें सुनकर खुशी से भाव विभोर हो गई।

 

वंदना का घर काफी बड़ा और खूबसूरत था। घर मे हरेक चीज बहुत महंगे और स्पेशल थे।

 

चुकी मेरा गाड़ी वंदना के गेट के बाहर खड़ा था। तो उसने मुझे बेड पर बिठाया और मेरी गाड़ी की चाबी मांगी और बोली तुम बैठो मैं तुम्हारी गाड़ी गेट के अंदर करके 2 मिनट में आती हूँ। फिर वो चली गयी और जब वापस आयी तो गेट में ताला भी लगा के आयी और बाहर डोंट डिस्टर्ब का साइनबोर्ड लगा दी। फिर वो अंदर आयी और दरवाजा अंदर से लॉक कर दी। फिर वो आकर सीधा मुझे बिस्तर पर धकेलते हुए मेरे ऊपर आ गई और मेरे होंठो को किस करने लगी। मैं भी उसको बांहों में जोर से दबाया और उसके होंठो को चूसने लगा। 5 मिनट तक हम एकदूसरे को किस करते रहे। फिर वो थोड़ा नीचे हुई और मेरा शर्ट की बटन खोलने लगी और फिर मेरे छाती पर किस करने लगी और जुबान बाहर निकालकर कुत्तिया की तरह चाटने लगी।

 

टैब तक मैं उसके स्लीवलेस बैकलेस ब्लाउज के लेस को खिंचक्रंखोल दिया था। वो अंदर ब्रा नही पहनी थी। तो जैसे ही मेने उसके ब्लाउज को हटाया उसकी चुचियाँ बूब्स आजाद हो गए और मेरे पैंट के ऊपर से मेरे लंड पर लटक गई। वो मेरा पूरा जिस्म को चाटी और फिर मुझे उठाई और मेरे शर्ट को निकाल दी। फिर उसने मुझे दक्क देकर लेटा दी और मेरे पैंट को खोलकर बिस्तर के दूर फेंक दी। जैसे ही मेरा पैंट अलग हुए मेरा 7 इंच लम्बा लंड अकड़ के सीधा खड़ा हो गया।

 

वंदना भी बिस्तर पर खड़ा होकर अपना साड़ी और पेटीकोट उतार दी। मैं हैरान रह गया वो पेटीकोट के नीचे पैंटी नही पहनी थी और घर आने के बाद चुत के बाल को साफ कर चुकी थी। क्योंकि जब गाड़ी में मैं उसकी चुत चाट रहा था तब उसके चुत पर हल्के बाल थे। फिर वो सीधा मेरे मुँह पर आकर बैठ गई और अपना चुत मेरे मुँह पर रगड़ने लगी। और बोली कि साहिल मेरी चुत चाटो। बहुत प्यासी है मेरी चुत। मैं भी उसके चुत में अपना जीभ घुसा के चाटने लगा। उसके चुत के दाने क्लाइटोरिस को अपने उँगलियों से रगड़ने और मसलने लगा।

 

उसके मुँह से ऊउन्नदहनहनहनहंद aaaaaahhhhhhhh…. …. ooooohhhhhhhh.. उन्हंउन्हंह्नझज्झहठन्हह्नहनः… आहहहहहहहहहहहहहहह………आहहहहहहहहहहहहहहहहह ……………..आहहहहहहहहहहहहहहह…….. सस्सीईईईईईईईईई… ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….. सस्सीईईईईईईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहह.. ऊउन्नदहनहनहनहंद aaaaaahhhhhhhh…

साहिल चाटो मेरी चुत….. आहहहहहहहहहहहहहहह………आहहहहहहहहहहहहहहहहह ……………..आहहहहहहहहहहहहहहह…….. सस्सीईईईईईईईईई… बहुत प्यासी है मेरी चुत साहिललल्ल… ohhhhhhhhhhhhh…. Lick it baby aaaaaaaaajhhhhhhhhhhhh….. baby lick it…… i lime this Sahil… i like thisss….. ohhhhhhhhhhhhh… yeahhhhhhhhhhhhhhhhh my boy…. Eat my pussy……. Aaaaaahhhhhhhhhhhhhh. Sahillllllll…… aaaaaaahhhhhhhhhh……. lick my pussy Sahillllll….. hard lickkkkkkkk.

करने लगी। और फिर करीब 5, 7 मिनट बाद उसका चुत रस छोड़ने लगा। मैं उसके सारे मलाई को पी गया।

 

फिर वो आगे झुकी और मेरे लंड को पकड़ के अपने मुँह में ले ली। मेरा।लंड उसके गले तक जा रहा था। वो मेरे लंड को अच्छे से चाट रही थी। कभी मुँह से बाहर निकालकर चाटती तो कभी मेरे अंडकोष को भी चाटती और मेरे अंडकोष को सहलाती। वो मेरे गांड के छेद को भी सहला रही थी। इधर मैं उसकी चुत में अपनी जीभ घुसा के  अंदर बाहर कर जीभ से ही छोड़ रहा था वो भी लगातार अपनी चुत मेरे मुँह पर रगड़ रही थी। मैं उसके चुत में जब उँगली से चोदता तो उसके गांड को चाटने लगता। इससे वंदना और भी ज्यादा अपनी चुत मेरे मुँह पर रगड़ने लगती। करीब 7, 8 मिनट बाद एक बार फिर से वंदना का चुत।से किसी झरने की तरह रसधार फुट पड़ा। और मैं भी उसके पुर चुत को मुँह में लगाकर सारा रस पी गया। अब वंदना शांत हो चुकी थी। लेकिन मेरा लंड अभी भी खड़ा था। फिर वंदना सीधा हुई और दोनों तरफ पैर करके बैठ गई और मेरे लंड को पकड़ के यपने चुत के छेद पर सेट की और झटके में बैठ गई जिससे मेरा समूचा लंड उसकी चुत में समा गया।

Office Sex

मेरे दोस्तों वंदना का चुत इतना गर्म था की जैसे लग रहा था मेरा लंड पिघल जाएगा। ( और भी मजेदार चुदाई और सेक्स कहानियां पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com इस लिंक पर क्लिक करें) अगर अभी उसकी चुत में हार्ड बटर भी डाल देते तो वो पिघल जाता।

 

और अब वंदना जोर जोर से उछल उछल कर चोदने लगी। उसकी कड़क चुचियाँ थिरक रही थी। और फिर मैं उसकी चुचियों को पकड़ के मसलना शुरू कर दिया। और मैं भी नीचे से कमर उठा उठाबके चोदना शुरू कर दिया। उसके मुँह से आहहहहहहहहहहहहहहहहह……..आहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहह…  सहिलल्ल  चोदो मुझे।…… याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।.. मेरी चुत लंड की भूखी हसि…. मेरी चुत की भूख मिटाओ जान……. आह्हहहहहहहहहहहहहहह…

तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है ……. मेरी बच्चेदानी में ठोकर मार रहा है……- आह्हहहहहहहहहहहहहहह….…. … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले? आह्हहहहहहहहहहहहहहहहहह … तुम कितनी सेक्सी हो जान … तुम आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह

हम्मममममममममम .. हममममममममम्म … आहहहहहहहहहहहहहहहह… चोदो सहिलल्लल चोदो…..बहुत दिनों बाद मैं ऐसा लंड खा रही हूं।…… तुम्हारा लंड घोड़े जैसा मोटा और तगड़ा है। मेरी चूत को तुम्हारा लंड फाड़ दिया। आहआहहहहहहहहहहहहहहहह…बेबी। चोदो जान………. चोदो जोर से।……… muuuaaaahhhhhhhhhhh ओह्हहहहहहहहह…. याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।….. फ़क मी सहिलल्ल…. फ़क मी। ……..हार्ड फ़क सहिलल्ल… आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह… ।……… और जोर से चोदो।……

 

और फिर उसकी चोदने की रफ्तार बढ़ गई और 3, 4 धक्कों के बाद उसकी चुत एक बार फिर से पानी छोड़ने लगी। फिर वो मेरे ऊपर लेट गयी और शांत हो गयी 2 मिनट शांत रहने के बाद वो बोली कि साहिल अब तुम ऊपर आकर चोदो मैं थक गई। फिर।मैं उसे नीचे लेटाया और उसकी पैरों को ऊपर उठाया और अपना लंड उसकी चुत में डाल के उसके ऊपर लेट गया और चोदने लगा वो मुझे बाहों में जकड़ ली। और अपने पैरों को कैंची बनाकर मेरे कमर को पकड़ ली और हर धक्के के साथ मेरे कमर को नीचे दबा देती। वो लगातार चिल्ला रही थी। आहहहहहहहहहहहहहहहहह……..आहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहह…  सहिलल्ल  चोदो मुझे।…… याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।.. मेरी चुत लंड की भूखी हसि…. मेरी चुत की भूख मिटाओ जान……. आह्हहहहहहहहहहहहहहह…

तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है ……. मेरी बच्चेदानी में ठोकर मार रहा है……- आह्हहहहहहहहहहहहहहह….…. … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले? आह्हहहहहहहहहहहहहहहहहह … तुम कितनी सेक्सी हो जान … तुम आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह

हम्मममममममममम .. हममममममममम्म … आहहहहहहहहहहहहहहहह… चोदो सहिलल्लल चोदो…..बहुत दिनों बाद मैं ऐसा लंड खा रही हूं।…… तुम्हारा लंड घोड़े जैसा मोटा और तगड़ा है। मेरी चूत को तुम्हारा लंड फाड़ दिया। आहआहहहहहहहहहहहहहहहह…बेबी। चोदो जान………. चोदो जोर से।……… muuuaaaahhhhhhhhhhh ओह्हहहहहहहहह…. याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।….. फ़क मी सहिलल्ल…. फ़क मी। ……..हार्ड फ़क सहिलल्ल… आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह… ।……… और जोर से चोदो।…… आहहहहहहहहहहहहहहहहह……..आहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहह………  तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है ……. मेरी बच्चेदानी में ठोकर मार रहा है……- आह्हहहहहहहहहहहहहहह….…. … आह्हहहहहहहहहहहहहहहहहह … तुम कितनी सेक्सी हो जान … तुम आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह

हम्मममममममममम .. हममममममममम्म … आहहहहहहहहहहहहहहहह… चोदो सहिलल्ल चोदो…..बहुत दिनों बाद मैं ऐसा लंड खा रही हूं।…… आहहहहहहहहहहहहहहहहह……..आहहहहहहहहहहहहहहह आहहहहहहहहहहहहहहहहह…  सहिलल्ल  चोदो मुझे।…… याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।.. मेरी चुत लंड की भूखी हसि…. मेरी चुत की भूख मिटाओ जान……. आह्हहहहहहहहहहहहहहह…

तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है ……. मेरी बच्चेदानी में ठोकर मार रहा है……- आह्हहहहहहहहहहहहहहह….…. … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले? आह्हहहहहहहहहहहहहहहहहह … तुम कितनी सेक्सी हो जान … तुम आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह….बेबीहहहहहहहह

हम्मममममममममम .. हममममममममम्म … आहहहहहहहहहहहहहहहह… चोदो सहिलल्लल चोदो…..बहुत दिनों बाद मैं ऐसा लंड खा रही हूं।…… तुम्हारा लंड घोड़े जैसा मोटा और तगड़ा है। मेरी चूत को तुम्हारा लंड फाड़ दिया। आहआहहहहहहहहहहहहहहहह…बेबी। चोदो जान………. चोदो जोर से।……… muuuaaaahhhhhhhhhhh ओह्हहहहहहहहह…. याहहहहहहहहहहहहहहहह…. जान चोदो मुझे।….. फ़क मी सहिलल्ल…. फ़क मी। ……..हार्ड फ़क सहिलल्ल… आहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह…

 

और करीब 15 मिनट के चुदाई के बाद हमदोनो साथ मे झड़ गए। और मैं उसके ऊपर ही लेट गया। वो अभी भी अपने पैरों से मुझे जकड़े हुई थी और मेरे पीठ पर हाथों के घेरे से दबाई हुई थी। और मुझे किस कर रही थी। और आई लव यू साहिल आई लव यू। तुम बहुत अच्छे हो। आज कितने दिनों बाद चुदाई से मेरे चुत ने पानी छोड़ा है। तुमने मुझे आज वर्षो बाद तृप्त कर दिया।

 

आज से ये वंदना तुम्हारी हुई। तुम्हारे लंड की दीवानी हुई। और फिर मैं उसके बगल में लेट गया। हमदोनो एक दूसरे को चुम्मा चाटी करते रहे ऐसे ही। फिर 15 मिनट बाद हम दोनों फिर से गर्म हो गए। मेरा लंड खड़ा होकर समी कूल्हों पर रगड़ खा रहा था। और वो मुझे किस कर रही थी। फिर जब मैं उसकी चुचियों को पीने लगा तो वो मुझे रुकने बोली। और उठकर टेबल के पास गई वहाँ से वो वियाग्रा (सेक्स पावर बढ़ाने वाली दवा) लायी और एक ग्लास पानी भी और मुझे दी बोली कि मैं रैली से आते।समय मेडिकल से ये ले ली थी। ताकि हम पूरी रात चुदाई का असली खेल खेल सकें। लो इसे खा लो। मैं उसके हाथों से लिया और खा लिया। फिर हम चुदाई के समंदर में पूरी रात डुबकी लगाए। उस रात हम 5 बार चुदाई किए।

 

और सबसे रोमांचक ये की वंदना ने कभी अपने जीवन मे गांड नही मरवाई थी। लेकिन मैं उसी की वियाग्रा के जोश में उसकी गांड भी मार लिया। उसकी गांड बिल्कुल तंग थी। अगर आप चाहते हैं कि ईस कहानी का अगला भाग कैसे मैंने वंदना की गांड मारी लिखूं तो आपसब कहानी के नीचे दिए कमेंट सेक्शन और ईमेल में लिखें। फिर मैं इस कहानी का भाग – 4 लेकर आऊंगा।

तो दोस्तों रैली में गर्म हुई आंटी की चुत बेडरूम में ठंडा हुई कहानी का सभी भाग आपको कैसी लगी। मुझे कमेंट करके बताएं। और हाँ दोस्तों कहानी को फेसबुक, व्हाट्सप्प, टेलीग्राम, इंस्टाग्राम पर जरूर शेयर करें। ताकि और भी लोग हमसे जुड़ सकें और चुदाई की कहानी का आनंद ले सकें।

50% LikesVS
50% Dislikes

2 thoughts on “रैली में गर्म हुई आंटी की चुत । भाग -3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *