हॉर्नी स्टूडेंट

 146 

सेक्सी टीचर और हॉर्नी स्टूडेंट

नमस्ते दोस्तों। मेरा नाम शीना है। में अभी इंजिनीरिंग के दूसरे साल में हूँ। मै आपसे आज अपना वो किस्सा शेयर करना चाहती हूँ जब मैने बड़े इन्तेजार के बाद अपने टीचर से मेरी चुदाई करवाई थी। जी हाँ! ये चार महीने पहले की बात है।

दरसल मुझे पढ़ाई में कभी ज्यादा दिलचस्पी नही थी। में अक्सर क्लास बंक कर के अपनी दोस्तों के साथ घूमने जाया करती थी। तब इंजीनियरिंग ड्रॉइंग का पहला लेक्चर था। सीनियर्स से सुना था कि ये सब्जेक्ट बहुत ही बोरिंग था। उसके लिए टीचर पहली बार क्लास में आये। उन्होंने अपना नाम नितिन बताया। वो टीचर दिखने में काफी जवान लग रहे थे।

पहला ही दिन था तो उन्हें ज्यादा तर इधर उधर की बातें की, कॉलेज लाइफ वगेरा। बादमे उन्होंने सिखाया की इंजिनीरिंग ड्रॉइंग के प्रैक्टिकल्स के लिए टेबल कैसे एडजस्ट करनी है। सबने अपनी अपनी टेबल ठीक से तैयार की। मेरे टेबल के ऐंगल उनको सही नही लगे शायद। तो वो खुद आये और ठीक करने लगे। तब वो मेरे बहुत पास खड़े थे। मुझे उनका परफ्यूम का सुगंध आ रहा था। मुझे ऐसे स्ट्रोंग परफ्यूम ही पसंद थे। फिर वो मुझे देख मर मुस्काये और ब्लैक बोर्ड के पास चले गए।

वो फिर कुछ समझाने लगे। मुझे ज्यादा कुछ समझ नही आ रहा था। बाकी लोग बिल्कुल ध्यान नही दे रहे थे। और मेरा ध्यान पहली बार टीचर पर था। मुझे उनकी मुस्कान बहुत ही अछि लगी थी। उनके चलने तरीका, बात करने का तरीका…सब कुछ नोटिस कर रही थी में। सर को लगा होगा की सिर्फ मेरा ही ध्यान था, इस लिए वो भी बार बार मेरी ओर देख रहे थे। फिर क्लास खत्म हुई। क्लास के बाद हम सब दोस्त बाहर खड़े थे। सब लोग बात कर रहे थे कि कैसे वो इन सर का लेक्चर हमेशा बंक करेंगे। मगर में कुछ और ही सोच रही थी।

घर आके मेने इंस्टाग्राम पर सर की प्रोफाइल देखी। उनके कई फ़ोटो उधर डाले हुए थे। इन फोटोज में सर मुझे और भी हॉट लग रहे थे। मेने अपनी एक सीनियर दोस्त रोमा को कॉल लगाया। और बात बात में सर के बारे में पूछ लिया। तो वो बताने लगी “वो बंदा सेक्सी बहुत है। और सुना है सिंगल भी है। मगर कभी किसी लड़कीं से ज्यादा बातें नही करता। मेरी एक दोस्त उसपे बहुत मरती थी। मगर वो बहुत स्ट्रिक्ट है, उन्होंने उसे भाव ही नही दिया…” थोड़ी देर रोमा से बात करके मेने फ़ोन रख दिया। उसकी बातें सुन कर मेरी सर में दिलचस्पी और बढ़ गयी थी।

अगले दिन में जबरदस्ती अपने सारे दोस्तों को नितिन सर के लेक्चर में लेकर गयी। उस सर ने पढ़ाते समय दो बार मेरा नाम लिया। उन्हें अब याद हो गया था शायद। क्लास के बाद मेने मेरे दोस्तों को बताया कि मुझे सर बहुत सेक्सी लगते है तो सब हसने लगे औऱ मुझे चिढाने लगे। तब से जब भी सर क्लास में मेरा नाम लेते थे, मेरे दोस्त पलट के मुझे देखते और मसुकाते। मेरे दोस्तों को ये सब मजाक लग रहा था मगर में सर के बारे में सीरियस थी। वो थे ही इतने डैशिंग और हैंडसम।

एक बार कॉलेज जाने से पहले में अपनी रूम में टाइमपास कर रही थी। मेने सोचा कॉलेज को अभी टाइम है तो थोड़ी देर पॉर्न मूवी ही देख लूँ। तो मैने पॉर्न लगाया। देखते देखते मुझे नितिन सर की याद आने लगी। में औऱ ही हॉर्नी हो गयी थी। मे अपने आप को सहलाने लगी। अपनी चुचियों को सहलाते सहलाते में सोच रही थी कि काश नितिन सर मुझे अपने करीब आने दे…बस एक बार के लिए। में उनका प्यार पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार थी।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

मेने कुछ पहना हुआ नही था। अपनी चुत पर से उँगलियाँ घुमाते घुमाते में सोचने लगी। अगर क्लास में सिर्फ में और सर हो औऱ में ऐसे बिना एक भी कपड़ा पहने उनके सामने अपने टेबल पर पढ़ाई कर रही हूँ… तो क्या होगा। मे कल्पना करने लगी। मेने सोचा कि कैसे वो मुझे छूते, मुझे चुमते। क्या वो मेरी चुत की प्यास उनके लंड से बुझाते? इस खयाल से में और चुदासी हो रही थी। मेरी चुत गीली हो रही थी।

मुझे तभी मेरी दोस्त का कॉल आया। में हर रोज उसके साथ ही कॉलेज जाती थी। उसने बोला कि आज को कॉलेज नही आ रही थी। उसने ये भी बताया कि आज के सारे क्लास कैंसिल थे, बस नितिन सर के दो लेक्चर थे लगातार। मेने तुरंत घड़ी देखी तो कॉलेज के लिए देर हो रही थी। मेने अपने कपडे जल्दी जल्दी पहने। और बैग उठा कर कॉलेज की ओर चलने लगी। मेरो चुत अभी तक मचल रही थी। में जल्दी जल्दी चल कर कॉलेज पहुंची।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

क्लास में गयी तो सर अभी तक आये नही थे। मगर बच्चे बहुत कम आये थे। गिन कर आठ-दस ही बच्चे होंगे। में जाके सबसे पीछे बैठ गयी। कुछ ही देर में सर आ गए। क्लास में इतने कम लोग देख कर वो सोचने लगे। उन्होंने कहा कि इतने कम लोग है तो वो थोड़ी ही देर पढ़ाएंगे। और फिर वो पढ़ाने लगे। उन्हें देख कर मेरी हवस फिर जगने लगी थी।

बाकी सब बस टाइमपास कर रहे थे। कोई मोबाइल में देख रहा था तो कोई गप्पे लड़ा रहा था। बस में ही थी जो सर पर ध्यान दे रही थी हमेशा की तरह। मुझे अपना सुबह वाला खयाल याद आया। सचमें अगर अभी में नंगी हो कर बैठ जाऊ तो सर भी अपने आप को रोक नही पाएंगे। इस बारे में सोचते सोचते मेरी चुत फिर गीली होने लगी। अगर ये मुमकिन होता तो कितना मजा आता। मेने बेंच के निचे से एक हाथ अपनी पेटी कोट के अंदर डाला औऱ अपनी चुत धीरे धीरे सहलाने लगी। मेरी आहे मेने कंट्रोल करली, नही तो आज सब को पता चल जाता की में क्लास में ऐसी हरकत कर रही थी।

आधे घंटे बाद सर ने बोला “आज के लिए इतना ही… तुम सब जा सकते हो” एक एक करके सारे लोग चले गए। सर टेबल पर अपनी किताबे उठा रहे थे। मेने सोचा कि इससे अच्छा मौका मिल ही नही सकता। लेकिन क्या करूँ समझ नही आ रहा था। अगर सर ने रोमा की सहेली की तरह मुझे भी भाव नही दिया तो…। में उनके पास गयी और बोली “सर, मुझे थोड़ी मदद चाहिए थी आपकी। आपके पास थोड़ा वक्त हो तो…” उन्होंने कहा “क्यूँ नही शीना। बताओ क्या परेशानी है?” तो मैने कहा “सर, टीचर्स रूम में चले? ये क्लास अब पिउन बंद कर देगा।” सर मान गए और हम साथ चलने लगे। टीचर्स रूम में कैमरा नही थे इस लिए में सर को वहा लेकर जा रही थी।

मेने सोच लिया था की आज तो आर या पार होक रहेगा। नसीब से टीचर्स रूम भी पूरा खाली था। मेंने जाते ही रूम का दरवाजा अंदर से लगा लिया। सर ये देख कर कुछ समझ नही पाए। मेने बोला “सर, मुझे गलत मत समझिए। में आपको बहुत पसंद करती हूँ। में ये दूरी और बर्दाश्त नही कर सकती” उन्होंने थोड़ी देर सोच कर कहा “देखो शीना, तुम्हारी उम्र में ऐसा होता है। में समझ सकता हूँ।” में और कुछ सुनना नही चाहती थी। वो नजाने क्या समझदारी की बाते कर रहे थे। मेंने अपना टाई निकाल फैंका। और फिर अपने शर्ट का एक बटन निकाला। वो बोलते बोलते रुक गए और बस देखने लगे। मेने मुस्का कर अपने शर्ट का एक और बटन खोला औऱ बस काम हो गया।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

सर धीरे धीरे मेरे करीब आये। मेने उनके चेहरे पर हाथ घुमाया। और उन्होंने मुझे किस कर लिया। यही तो में चाहती थी। में भी साथ देने लगी। मेने अपनी जीभ उनके मुह में सरकाई। हम बहुत देर तक किस करते रहे। उन्होंने फिर अपना हाथ मेरी शर्ट के अंदर डाला और मेरी एक चूची को दबाया। में मदहोश हो रही थी। मेने उनके शर्ट के बटन एक एक कर के खोले। और उनकी शर्ट निकाल दी। मेने उन्हें गले से लगा लिया। उनकी पीठ पर हाथ घुमाने लगी।

वो अभी भी थोड़ा झिझक रहे थे। में चाहती थी कि वो भूल जाये कि वो मेरे टीचर है। मेने खुद ही अपने शर्ट के सारे बटन खोल दिये। उनका हाथ लेकर मेने अपनी कमर पर लगाया। वो अपना हाथ पीछे मेरी पीठ तक लेके गए और मेरी ब्रा का हूक खोल दिया। मेने अपनी खुली ब्रा निकाल कर टेबल पर रखी और खुद टेबल पर बैठ गयी। वो मेरी बड़ी चुचियाँ देखते ही रह गए। मेने उन्हें करीब खींचा औऱ अपनी चुचियों को उनके सीने से लगाया और उनके होठों को चाटने लगी। हमने फिर किस कर लिया।

किस करते उन्होंने अपना एक हाथ मेरी स्कर्ट में नीचे से डाला। मेरी चुत पानी से लतपत थी। वो बोले “शीना! क्या तुम्हारी चुत हमेशा मेरी क्लास में गीली हो जाती है? बोलोहह…” मेने कहा “सर, आपने कभी मेरी तरफ ध्यान ही नही दिया…आज मेरी प्यास बुझा दीजिये।” उन्होंने मेरी स्कर्ट के नीचे से मेरी पैंटी निकाल दी। उनके आखों में अब मुझे वही हवस दिख रही थी जो में देखना चाहती थी। उन्होंने मेरी स्कर्ट को हाथ से ऊपर किया और झुक कर मेरी चुत चाटने लगे। मुझे अब असली मजा आने लगा…

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह……

सर….!!! चाटिए….

उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहहहहहहहहहहहहहहहहह… आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. चाटिए मेरी चुत।… आआआहहहहहहह और जोर से..जोर से ओह मेरे हीरो आआआहहहहहहह

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

फिर उन्होंने अपने उंगली से मेरी चुत सहलानी शुरू की। में अपनी चुचियाँ हाथ से दबाने लगी। मेरी टांगे अब कमजोर पड़ रही थी। मेरा पूरा बदन कांपने लगा था। में चाहती थी सर मुझे लंड की सवारी दे। में टेबल से नीचे उतरी। मेने सर के सामने अपनी गांड नचाते नचाते अपनी स्कर्ट उतार दी और सर के मुह पर फेंकी। में उन्हें इशारे से करीब बुलाने लगी। वो खड़े हो गए और अपने पैंट का बेल्ट उतारा। और फिर अपने पैंट के बटन खोले। वो बहुत वक्त लगा रहे थे। तो मैने ही पास जाकर उनकी जीन्स उतार दी। और तभी अंडरपैंट भी उतार दी।

उनका लंड मेरी उम्मीद से ज्यादा बड़ा था। मेरी आँखें भी देख कर बड़ी हो गयी। मेने उनका लंड मुह में ले लिया। उन्होंने अपनी आँखें बंद कर ली। मुझे उन्हें ऐसे देख कर यकीन ही नही हो रहा था कि मेरी ख्वाइश आज पुरी हो रही थी। उनकी धीमी अवाज में सिसकियाँ निकल रही थी।

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…

सससीईईईईईईसससीईईईईईई…

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…

सससीईईईईईईसससीईईईईईई…

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

फिर में घुटनों के बल बैठ गयी और अपनी गांड उनकी ओर की। उन्होंने भी तुरंत अपना लंड पिछेसे से अंदर डाला और मेरी चुदाई शुरू की। मुझे कुछ ही सेकंड में चरम सुख प्राप्त हुआ। मेंरी बेसशर्मी भरी आवाजे निकलने लगी…

आहहहहहहहहहहहहहहहहह…..

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह….आहहहहहहहहहहहहहहहहह…

उममहहहहहहहहहहहहहहहह….

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. और जोर से

आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह… तेज तेज।…

उममहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहह….

मेरी आवाज से वो और जोश में आ रहे थे और मुझे और मजा दे रहे थे। मेरी साँसे तेज हो रही थी और मेरी आवाजें भी बढ़ रही थी।

ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहहहह…

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…

सससीईईईईईईसससीईईईईईई…आहहहहहहहहहहहहहहहहह…

ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ईईर्ररर्राहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहहह….

अगले एक घंटे तक सर ने मेरी अलग अलग पोजीशन में चुदाई की। और हमे डिस्टर्ब करनेवाला भी कोई नही था। और ना ही हमारी मस्ती सुनने के लिए कोई था। उस दिन हमने बहुत मजे किये और उसके बाद भी हम मौका मिलते ही एक दूसरे के करीब आते और एक दूसरे को खुश करते थे। मेरे कुछ दोस्तों को हम पर शक भी आने लगा था मगर मेने राज को राज ही रहने दिया।

तो एक थी दोस्तों मेरी कॉलेज टीचर के साथ सेक्स वाली कहानी। अगर ये कहानी पढ़ कर आपको मजा आया तो लाइक और कमेंट जरूर करे।

ऐसी कयामत भरी और चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “सेक्सी Seema”

धन्यवाद।

 

 

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “हॉर्नी स्टूडेंट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *