सुखी चुत

 398 

सुखी चुत में जवान लंड का पानी

दोस्तों मेरा नाम रंजन है और लोग मुझे प्यार से राज बुलाते हैं। मेरी उम्र 18 साल है। मेरी हाइट 5.6 है। देखने मे मैं चॉकलेटी किस्म का हूँ।

यह घटना सच्ची है। और 1 महीने पहले की है। दरअसल यह कहानी मेरी और एक 57 वर्षीय बुजुर्ग दादी की है। जिनका नाम जानकी था। और वो मेरे दूर के रिश्ते में हैं।

मैं मुम्बई के धारावी में रहता हूँ मेरा अपना घर है। मेरे परिवार में माँ-डैड और मेरी छोटी बहन हैं।

यह घटना तब घटी जब मेरे चाचा जी की लड़की की शादी थी। शादी में बहुत लोग आए थे जिनमें एक जानकी दादी भी थी। जानकी दादी मेरे दूर के रिश्ते में हैं। लेकिन उनके बेटे से मेरे पापा को अच्छी दोस्ती है। जो दिल्ली में सरकारी अधिकारी हैं।

जानकी दादी भी दिल्ली में ही रहती हैं लेकिन वह अपने छोटी बेटी के साथ रहती हैं क्योंकि उनकी छोटी बेटी विधवा हैं।

कैसे मैंने दादी को चोदा

तो मेरे चाचा जी की बेटी और मेरी बहन की शादी हो गई और विदाई भी हो गई। लेकिन मेरे पापा जानकी दादी को रोक लिए और अपने घर ले आए। पापा जानकी दादी को मुम्बई घुमाना चाहते थे।

मेरे घर मे 3 रूम है एक मे माँ पिताजी रहते हैं एक मे मेरी बहन और एक गेस्टरूम है जिसमे मैं रहता हूँ। वेसे तो हमदोनों भाई बहन एक ही रूम में रहते हैं। लेकिन अक्सर मैं गेस्टरूम में ही रहता हूँ। तो जानकी दादी का सोना भी मेरे ही रूम में किया गया।

जानकी दादी उत्तराखंड की रहने वाली हैं इसलिए वो बहुत गोरी हैं। उनकी स्किन अभी भी बिल्कुल टाइट है। और वो अभी भी काफी जवान दिखती हैं। क्योंकि वो अखरोट खाती हैं और खुमानी भी।

तो रात के 9 बजे हमसब ने खाना खाया और फिर मैं रूम में आ गया। पापा माँ और जानकी दादी आपस मे बातें करने लगे और टीवी देखने लगे। 10 बजे मेरी माँ मेरेपास आयी और बोली कि दादी यही सोएगी बड़ा सा बिस्तर है। अगर तुम्हे प्रॉब्लम हो तो नेहा के रूम में चले जाना तुम दोनों भाई बहन वहीं सो जाना। तो मैं बोला ठीक है।

दोस्तों जानकी दादी भी एक सरकारी कर्मचारी थी। 30 साल पहले ही इनकी पति का देहांत हो गया था। तो उनके जगह दादी को नौकरी मिला था। लेकिन एक साल पहले ही दादी VRS ले ली थी।

तो मैं अपने रूम में था और मोबाइल पर गेम खेल रहा था तभी मम्मी और जानकी दादी रूम में आई। और मम्मी मुझसे बोली कि राज दादी यही सोएगी दादी का ख्याल रखना। और फिर माँ गयी और थोड़ी देर में वापस आई तो उनके हाथ मे माँ का गाउन था। वो दादी को दी और बोली रात को आप चेंज कर लीजिएगा क्योंकि साड़ी पहनकर सोना ठीक नही है। तो दादी बोली है मैं कर लूंगी। फिर माँ चली गई। और दादी बिस्तर पर आ गई। चुकी गेस्टरूम का बिस्तर काफी बड़ा था। इसलिए हमें दिक्कत नही लगा तो मैं यही सोने का प्लान किया था।

फिर दादी मुझसे बात करने लगी और पूछी किस क्लास में पढ़ते हो मैंने बताया 12th में तो दादी मेरे से मैथ का सवाल करने लगी। दादी पढ़ी लिखी थी वो अपने समय मे मैथ से मास्टर की थी।

तो मैंने मैथ का आंसर सही सही दे दिया। दादी बहुत खुश हुई। फिर ढेर सारा बातचीत हम करने लगे। दादी की बातों से साफ पता चल रहा था कि वो काफी ज्ञानी हैं। फिर बातों बातों में दादी मुझसे पूछी की तुम्हारी कितनी गर्लफ्रेंड हैं। तो मैं शर्मा गया। और मुस्कुरा दिया लेकिम जवाब कुछ नही दिया। तो दादी बोली बताओ शर्माओ मत आजकल तो ये नार्मल है बच्चे 8th 9th से ही गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड बना लेते हैं। तो मैंने कहा एक ही है।

तो दादी पूछी क्या नाम है उसका। तो मैंने बताया मोना नाम है। तो दादी बोली बहुत प्यारा नाम है। फिर दादी कहने लगी उसकी फोटो दिखाओ। दादी काफी फ्रैंक थी। वो एक दोस्त की तरह बातचीत कर रही थी। तो मुझे भी अब झिझक दूर होने लगा। फिर मैंने फोन में मोना का फोटो दादी को दिखाया। दादी बोली तुम्हारी गर्लफ्रेंड तो सच मे बहुत क्यूट और खूबसूरत है। तू भी बहुत हैंडसम है। तुमलोगो की जोड़ी अच्छी है।

फिर दादी मुझसे पूछी उसे कभी किस किए हो। तो मैं शर्मा गया तो दादी बोली। ओह कम ऑन बेबी इतना शर्मा क्यो रहे हो। बताओ न किस किये हो उसे।

तो मैं हाँ में सर हिला दिया तो दादी मेरा गाल खिंचते हुए बोली तू बहुत नॉटी हो। तुम बच्चे नही हो बड़े हो गए हो। और दादी मुस्कुरा दी तो मैं भी मुस्कुरा दिया। फिर दादी बोली और क्या क्या किए हो। मैं तो शर्म से पानी पानी हो गया। लेकिन जवाब कुछ नही दिया। तो दादी समझ गई की मैं सबकुछ किया हूँ। फिर दादी कुछ नही बोली। थोड़ी देर बाद दादी बोली कि बेटा सब करना लेकिन पढ़ाई भी अच्छे से करना।

हमे बात करते हुए कब 11 बज गए पता ही नही चला। फिर दादी बोली कि मुझे नींद आ रही है। मैं कपड़े चेंज कर लेती हूँ।

और फिर दादी बिस्तर से नीचे उतरी और अपना साड़ी उतारने लगी। और फिर दादी बिल्कुल साया और ब्लाउज में हो गयी। फिर उन्होंने ब्लाउज भी उतार दी और देखते देखते वो अपना साया भी उतार दी। दादी अब सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी। मेरी तो आँखे फ़टी की फटी रह गई। दादी की जिस्म बिल्कुल दूध की तरह सफेद और किसी जवान की तरह टाइट थी। दादी की पीठ मेरी तरफ था तो उनकी पैंटी में बड़ी सी चौड़ी गांड़ बहुत सेक्सी लग रहा था।

फिर उन्होंने मुझे बोला कि राज जरा मेरी मदद करो मेरे हाथ पीछे नही जा पाते हैं जरा मेरी ब्रा की हुक खोल दो। मैं रात में ब्रा पहन कर नही सो पाती हूँ। तो मैं शर्माते हुए ब्रा की हुक खोल दिया। और दादी ब्रा अलग कर दी। पीछे से उनकी जिस्म बिल्कुल खुली थी। और फिर जब वो बिस्तर पर से गाउन उठाने लगी तो दादी की एक चूची मुझे साफ दिख गई जो किसी लड़की की तरह किसी हुई थी। बिल्कुल भी ढीला नहीं था।

फिर दादी गाउन पहन ली। और बिस्तर पर बैठ गई। तो मैंने बोला कि दादी आप बहुत खूबसूरत हो। तो दादी थैंक यू बोली।

और फिर दादी बोली

दादी- सिर्फ खूबसूरत हूँ

मैं- दादी आप सबकुछ हो। आप बहुत….

दादी- मैं बहुत क्या… शर्माओ मत बोलो

मैं- दादी आप बहुत हॉट हो

दादी- हँसते हुए, सिर्फ हॉट?

मैं- दादी आप बहुत हॉट और सेक्सी हो

दादी- अच्छा बेटा तो तुम्हे पता है हॉट और सेक्सी क्या होता है। तुम बहुत बदमाश हो। वैसे थैंक यू।

दादी की हॉट फिगर बड़ी सी गांड़ और चुचियाँ देखकर मेरे लन्ड में तनाव शुरू हो गया था। अब मेरा मन मुठ मारने का करने लगा था।

तभी दादी बोली। राज तुम आज तक कितने लड़कियों को बिना कपड़ों के देखे हो

मैं- दादी मैं अभी तक पूरी तरह न्यूड किसी को नही देखा हूँ

दादी- चल झूठे। जब मोना के साथ तुम सबकुछ किये हो तो फिर उसे तो देखे ही होगे।

मैं- नही दादी मैं सिर्फ उसका नीचे का ही हल्का देखा हूँ और वो भी अंधेरे में।

दादी- तो क्या तुम जब उसके साथ वो सब कर रहे थे तो मोना सारे कपड़े नहीं उतारी थी

मैं- नही दादी वो बस नीचे का उतारी थी वो भी बस एक पैर का।

दादी-तो क्या तुम उसके साथ बस एक बार किये हो

मैं-हाँ

दादी- तो फिर मतलब अच्छे से किये हो कैसे सब करते हैं।

मैं- नहीं दादी बस किस किया था और वो

दादी- उसकी चुचियों को और जाँघों के बीच को चूसे थे

मैं- नही दादी बस किस किये थे और कुछ नही करने दी थी और फिर अपना वाला उसके अंदर डाल के किये बस इतना ही।

दादी- उसका नीचे वाला कैसा था

मैं- दादी वो मुझे नही देखने दी थी। लाइट पहले ही ऑफ कर्व्य दी थी और फिर वो चादर से ढक ली थी। और फिर बिना देखे ही डालने दी।

दादी- ओह मेरा सोना बाबू। कोई बात नही अगली बार अच्छे से देखना।

मैं- दादी एक बात कहूँ बुरा तो नही मानोगे

दादी- अरे बेटा तुम्हारी बात का बुरा क्यों मानना। बोलो क्या नट है

मैं- दादी मैं आपको बिना कपड़ों के देखना चाहता हूँ।

दादी-लेकिन बेटा ये गलत बात है। मैं तेरी दादी हूँ। और तुम बिन कपड़ो के।सिर्फ अपने गर्लफ्रेंड और बीवी को ही देख सकते हो।

मैं – दादी थोड़ी देर के लिए आप मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ और मुझे दिखाओ ना।

दादी- नही बेटा ये गलत है

मैं- दादी प्लीज दिखाओ न।

दादी मान गई और बोली

दादी- ठीक है बेटा लेकिन सिर्फ ऊपर का ही। मैं सिर्फ गाउन ही उतारूंगी। तुम सिर्फ ऊपर का देख लेना।

मैं-ठीक है दादी

दादी- पहले दरवाजा अंदर से लॉक करो।

मैं झट से दरवाजा अंदर से लॉक कर दिया।

और फिर दादी खड़ी हो गई और अपना गाउन उतार दी।

दादी की चुचियाँ सच मे किसी 16 साल की लड़की की तरह कड़क थी। मैंने बोला दादी आप सच मे बहुत सेक्सी हो आपकी वो बहुत टाइट है। तो दादी कहने लगी अब देख लिया न अब गाउन पहन लेता हूँ। तो मैं बोला दादी प्लीज पैंटी भी उतारो प्लीज

दादी- नही बेटा ये गलत है। तुमने बोला भी था को सिर्फ ऊपर ही देखोगे।

मैं- दादी प्लीज बस एक बार

मेरे रिकवेस्ट करने पर दादी मान गई। और बोली तू बहुत बदमाश है। फिर दादी मुझे अपना आंख बंद करने बोली। मैं बन्द कर दिया। और फिर दादी पैंटी उतार दी। और मुझे आंख खोलने को बोली। मैं आंख खोला तो देखा दादी अपनी दोनो हाथो से चुत को छुपाए हुए थी। फिर मैंने कहा दादी दिखाओ ना प्लीज अपना हाथ हटाओ प्लीज प्लीज प्लीज।

तो दादी हाथ हटा दी। दादी की चुत पर हल्के बाल थे शायद दादी मुम्बई आने सेपहले ही चुत का बाल साफ की थी। और दादी को चुत का दाना बाहर निकला हुआ था। लग रहा था जैसे किसी बच्चे का लन्ड हो।

फिर दादी बोली अब मै गाउन पहन लूं

तो मैंने कहा दादी अगर आप बुरा ना माने तो मैं आपकी चुचियों को छूकर देखना चाहता हूँ। तो दादी मान गई और बोली ठीक है आ जाओ। मैं उठा और दादी के।चुचियों को पकड़ कर मसलने लगा। दादी आहहहहहहहहहहहहहहहहह… की और बोली आराम से बेटा दर्द होता है। फिर मैं दादी के एक चूची को मुँह में ले लिया तो दादी भी एक्साइटेड हो गई। और फिर मेरे सर को पकड़ के सहलाने लगी। तभी मैं दादी के चुत पर हाथ रख दिया। दादी सिहर गई और सससीईईईईईईसससीईईईईईई… आहहहहहहहहहहहहहहहहह की। मैं ऐसे ही 5,7 मिनट दादी के चुचियों को पिता रहा और चुत को हाथों से रगड़ता रहा। फिर मैं दादी को बोला दादी बिस्तर पर आओ। दादी बिस्तर पर बैठ गई तो मैं बोला लेटो। तो दादी लेट गई। और मैं बोला दादी मैं आपकी चुत को चाटना चाहता हूँ।

तो दादी बोली ठीक है बेटा लेकिन यह बात किसी को पता नही चलनी चाहिए तुम किसी से मत कहना।

फिर मैं दादी के चुत को चाटने लगा दादी आहहहहहहहहहहहहहहहहह… उँहहहहहहहहहहहहहहहहह… सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. करने लगी और मेरे सर को सहलाते रही। फिर दादी बोली बेटा अपना भी तो मुखे दिखाओ। और मैं झट से कपड़े उतार दिया। फिर दादी मेरे लन्ड को पकड़ कर हिलाने लगी जैसे मुठ मारते हैं फिर सर उठा के मुंह मे ले ली।

और चूसने लगी। करीब 5 मिनट दादी मेरा लन्ड चूसी। फिर बोली। कि बेटा अब हो गया। तो मैं बोला दादी करने दो।

दादी बोली ले बेटा अपनी गर्लफ्रेंड के चुत को चोद ले

तो दादी बोली नही बेटा ये गलत है। तो मैं बोला दादी आप मेरी गर्लफ्रेंड बनी हो और गर्लफ्रेंड के साथ हो तो ये करते हैं। प्लीज एक बार करने दो। तो दादी मान गई।

फिर मैं दादी के पैरों के तरफ आ गया तो दादी लहद हो अपना दोनो पैर उनपर करके मोड़ ली। जिससे दादी की चुत पूरी खुल गई। दादी बोली ले बेटा अपनी गर्लफ्रेंड की बुर चोद ले।

मैं बिना दे किये अपना लन्ड दादी के चुत में डालकर चोदने लगा। और फिर मैं दादी के ऊपर लेट गया और चजोडने लगा और दादी को मिस भी करने लगा। करीब 10 मिनट बाद मेरा पानी निकलने वाला था तो मैं बोला दादी मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है।

तो दादी बोली तू अपने दादी के सुखी चुत में लन्ड का पानी डाल दे। ये सुखी चुत जवान लन्ड के पानी से तृप्त हो जाएगी।

और फिर मेरा गर्म लावा दादी के चुत में निकलने लगा।।

मैं जब दादी के चुत से लन्ड बाहर निकाला तो जरा सा भी पानी बाहर नही निकला सारा पानी दादी को चुत सोख ली थी।

उस रात मैं दादी को 3 बार चोदा। फिर दूसरे दिन दादी ने मुझसे अपनी गांड़ मरवाई। दादी की गांड़ मारने में बहुत मजा आया।

तो दोस्तों कैसी लगी दादी की चुदाई कहानी। हमे बताना और कहानी को लाइक और शेयर करना।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

 

93% LikesVS
7% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *