100% New Hindi Sex Story Amateur sex Antarvasna Antarvasna Hindi sex stories Chikni chut Chodni ki kahani chodni ki story Desi ladki Desi sex stories Erotic Stories Gand chudai Garm chut Ghar me chudai ka khel Hindi Hindi Category hindi fuck Hindi Porn Kahani hindi sex Hindi sex stories Hindi Stories Lust Stories Nangi ladki pyasi chut Rasili chut Moms Romantic Sex Kahani Sex stories Sexstory sextoy ओरल सेक्स कोई देख रहा है कोई मिल गया गर्म चुत गांड की चुदाई गैर मर्द चुत को चोदा चुत चुदाई चुदाई चुदाई की कहानी चोदना दर्दभरी चुदाई देसी कहानी देसी कहानी सेक्स स्टोरी देसी गर्ल देसी चुदाई कहानी बड़ालंड बड़ी चूचिया मंत्री जी बीवी की चुदाई माँ की प्यासी चुत माँ-बेटी की चुदाई रंडी बनी माँ रसीली चुत लम्बालंड विधायक की बीवी विधायक के बेटी सामूहिक चुदाई सीलबंद चुत सीलबंद चुत की चुदाई सेक्स कहानी सेक्स स्टोरी हिंदी सेक्स कहानियाँ हॉट सेक्स स्टोरी ज़बरदस्त चुदाई

विधायक की बेटी को चोदा भाग-2

 244 

विधायक जी की कुँवारी बेटी के बाद बीवी को भी चोदा। भाग-2

हमे मौका मिल गया। और हम वन्दना के रूम में ही चुदाई करने लगे। हम चुदाई में इतने मशगूल थे कि हमे एहसास ही नही रहा की वन्दना की माँ घर मे है। और जब वन्दना मेरे ऊपर आकर चुदाई कर रही थी हमारी चुदाई बिल्कुक चरम सीमा पर थी। तभी वन्दना की मम्मी आ गई और जोर से चिल्लाई ये क्या कर रहे हो तुमलोग। वन्दना तो झट से उतरी और चादर खींच के खुद को ढक ली |

लेकिन मेरा 6 इंच का लंबा लंड कुतुबमीनार की तरह खड़ा था और वन्दना के चुत का लसलसा पानी लगा हुआ था जिससे मेरा लंड चमक रहा था। वो वन्दना के माँ देख ली। फिर मैं भी झट से उठा और पैंट पहन के जल्दी से रूम से निकल कर भाग गया।

हेलो दोस्तो, जैसा कि आपसब जानते हैं मेरा नाम बंटी है और एक बार फिर आपके लिए एक कहानी ले कर हाजिर हूं। मैं मथुरा का रहने वाला हूँ। और  ये कहानी मेरे क्षेत्र के विधायक के बेटी वन्दना और उसकी हॉट सेक्सी माँ साक्षी की चुदाई की है।

 मैं https://nightqueenstories.com के नए पाठकों को कहानी के पहले भाग के बारे में बता दूं। और आपसे निवेदन है। इस कहानी विधायक जी के कुँवारी बेटी के बाद बीवी को भी चोदा के कहानी के पहले भाग को अवश्य पढ़ें तभी कहानी की असली मर्म समझ मे आएगा।

 दरअसल विधायक जी 2 शादी किये थे। तो पहली पत्नी और उनकी बेटी गाँव मे रहती थी। तो वन्दना भी शुरू से ही शहर में पाली-बढ़ी थी। लेकिन कुछ साल पहले उन्होंने दूसरी शादी कर लिए तो उनकी पहली पत्नी बेटी को लेकर गांव आ गयी। और यहीं रहने लगी।  वन्दना 18 साल की मस्त चुलबुली लड़की थी। उसकी फिगर किसी हेरोइन से भी ज्यादा अच्छी थी 30-26-32 कि भरे बदन, पतली कमर, और विशाल गांड किसी किसी भी दीवाना बना देती थी। https://nightqueenstories.com

वो बेहद गोरी और सुंदर है। चुकी वो बचपन मे शहर में रही और पली बढ़ी तो उसे मॉडर्न ड्रेस पहनने का बहुत शौक है।

वन्दना को चोदने के बाद साक्षी ऑन्टी कैसे मुझसे चुदवाई

लेकिन मेरा 6 इंच का लंबा लंड कुतुबमीनार की तरह खड़ा था और वन्दना के चुत का लसलसा पानी लगा हुआ था जिससे मेरा लंड चमक रहा था। वो वन्दना के माँ देख ली। फिर मैं भी झट से उठा और पैंट पहन के जल्दी से रूम से निकल कर भाग गया।

फिर करीब 1 हफ्ते तक मैं वन्दना के घर नहीं गया ना ही वन्दना मेरे घर आई यहाँ तक कि वन्दना घर से बाहर भी नहीं निकली। फिर एक दिन मैंने देखा कि उसके घर पर सफारी गाड़ी खड़ी है। मैं और करीब शाम को 5 बजे देखा कि वन्दना उस गाड़ी में बैठ रही है। और वो गाड़ी उसके मामा की थी। और फिर उसके मामा उसको लेकर चले गए। मेरा तो मानो दिल ही धड़कना बन्द हो गया। वन्दना भी गाड़ी में बैठते समय बहुत उदास थी। एक तो एक हफ्ते तक हम मीले नहीं और फिर अचानक उसकी मॉम उसे मामा के यहाँ भेज दी। पिछले एक हफ्ते से वन्दना के माँ मेरे घर नहीं आयी थी। उन्होंने मेरे घर मे मेरे और वन्दना के बारे में कुछ बताई तो नहीं लेकिन वो अब आना जाना बंद कर दी। वो बहुत गुस्सा थी।

दोस्तों वन्दना की मॉम का नाम साक्षी था। वो भी बेहद खूबसूरत थी वो 46 साल की थी। लेकिन देखने मे 30-35 की लगती थी।

उनका ब्रा का साइज 34 था और कमर 30 लेकिन जो सबसे स्पेशल था वो था उनकी गांड। साक्षी ऑन्टी का गांड 40 इंच का था। जो बिल्कुल गोल मटोल था। साक्षी ऑन्टी भी मॉडर्न थी। वो घर मे साड़ी शायद ही कभी पहनती थी। वो घर मे अक्सर पायजामे और टॉप में रहती थी। उनकी गांड बिल्कुल गोल मटोल थी। जब वो चलती थी तो उनकी दोनो चूतड़ थिरकते थे।

वन्दना को गए 3 दिन हो चुके थे। मेरा तो मानो जिंदगी ही रुक गया था। मानो जैसे मेरी सांसे ही छीन ली गई थी। फिर शाम को करीब 6 बजे मेरे मामी जी का माँ के फोन पर कॉल आया कि स्नेहा (मेरे मामाजी की लड़की) को लड़के वाले देखने आ रहे हैं। तो आप सब कल सुबह ही आ जाइए। फिर जब पापा शाम को घर आए तो माँ बताई लेकिन मामी जी पहले ही पापा को भी कॉल कर बता दी थी। मेरी माँ भी काफी व्यस्त रहती थी और पापा को तो बिल्कुल ही कही आना जाना नही होता था। तो माँ बोली कि जब जा ही रहे हैं तो कुछ दिन रुक कर आएंगे। वैसे भी जाने का समय नहीं मिल पाता। इसी बहाने सबलोगों से मुलाकात हो जाएगी। सभी बहनों मतलब मेरी मौसी जी को बुला लेंगे। तो पापा बोले कि बंटी घर पर अकेले कैसे रहेगा। इसे भी ले चलते हैं जब कई दिन रुकना है तो। इसे तो खाना बनाना भी नहीं आता। तो मैंने साफ मना कर दिया। तो माँ साक्षी ऑन्टी के घर गई और बोलकर आयी कि हम करीब एक हफ्ते के लिए बंटी के मामा के घर जा रहे हैं। बंटी घर पर अकेले रहेगा क्योंकि वो जाने को तैयार नहीं है। तो जरा ध्यान देते रहिएगा।

मेरी माँ का मायका अलीगढ़ है। तो अगले दिन सुबह करीब 5 बजे ही माँ और पापा बस से निकल गए। और मैं फिर से सो गया। करीब 9 बजे उठा जब घर का दरवाजा खटखटाने की आवाज आई। मैं दरवाजा खोला तो देखा सामने साक्षी ऑन्टी हैं। वो आज गुलाबी रंग की साड़ी पहनी हुई थी और होंठो पर साड़ी से मैचिंग लिपस्टिक लगाई हुई थी। वो काफी मेकअप भी की थी। जिससे वो बहुत सुंदर और सेक्सी लग रही थी। मैं तो एक बार देखकर हैरान रह गया लेकिन शर्माते हुए नजरें नीची कर ली। उस इंसिडेंट के बाद पहली बार मैं उनके सामने खड़ा था। तो वो बोली कि अभी तक तुम सो रहे थे। मैं कई बार देखकर वापस गयी। तुम्हारी माँ मुझे बोलकर गयी है कि तुम्हे खाना बनाना नहीं आता तो चलो नास्ता कर लो। मैं कब से नास्ता बनाकर इंतजार कर रही थी। फिर मैंने बोला कि माँ नास्ता बनाकर गई है तो मैं यही खा लूंगा। तो वो बोली कि वो तो बने हुए फिर काफी समय हो गया बिल्कुल ठंडा हो गया होगा। उसे रहने दो और चलो वही गरम नास्ता है कर लो। इतना बोलकर वो चली गई।

मैं नाहा धोकर करीब आधे घंटे बाद गया। तो साक्षी ऑन्टी नास्ता लाई वो भी नास्ता नहीं की थी तो अपना नास्ता भी साथ लायी। लेकिन आज साक्षी ऑन्टी कुछ बदले बदले से दिख रही थी। और गुस्सा के बजाए खुश दिखाई दे रही थी। और बीच बीच मे मुस्कुरा भी रही थी। वो आलू के पराठे और छोले बनाई थी। उनकी साड़ी के बीच से उनकी गोल नाभि साफ दिख रही थी। जिसपर मेरा नजर बार बार चला जा रहा था। वो सच मे गुलाबी साड़ी में किसी साक्षात काम की देवी लग रही थी।

वो भी नोटिस कर रही थी कि मेरी नजर उनके नाभि पर बार बार जा रहा है। और वो ये देखकर मुस्कुरा भी रही थी। फिर मुझसे रहा नही गया तो मैंने पूछ लिया। आंटी आप भी कहीं जा रही हो क्या। तो वो बोली क्यों ऐसा क्यों लग रहा है तुम्हे तो मैंने कहा कि आप तैयार हुई हो। आज पहली बार साड़ी पहने देख रहा हूँ इसलिए लगा कि आप कही जाने वाली हो। तो वो बोली कि नहीं मैं कही नहीं जा रही बस आज मन किया तो साड़ी पहन ली।

ऑन्टीक्यों मैं अच्छी नहीं दिख रही हूँ?

मैंशर्माते हुए ऑन्टी आप बहुत अच्छी दिख रही हो इस गुलाबी साड़ी में।

ऑन्टीबस अच्छी दिख रही हूँ

मैंमैं समझ गया वो क्या सुनना चाहती हैं क्योंकि औरतो को अपनी तारीफ सुनना बहुत अच्छा लगता है। तो मैंने कहा ऑन्टी आप बहुत हॉट लग रही हो।

ऑन्टीखूबसूरत , हॉट, बस?

मैंऑन्टी आप बहुत हॉट और सेक्सी लग रही हो। आप साक्षात काम की देवी लग रही हो।

तो ऑन्टी मुस्कुरा दी। और बोली बस बस ज्यादा तारीफ नहीं। फिर मैं हिम्मत करके वन्दना के बारे में पूछ लिया। कि कैसी है और कहाँ गई है। तो ऑन्टी बोली बहुत फिक्र है तुझे वन्दना की। क्यों मैं वन्दना जितनी खूबसूरत नहीं हूँ। कभी मेरे बारे में भी पूछ लो। और मैं तो सामने हूँ।

मैं समझ नहीं पा रहा था कि ऑन्टी क्या बोल रही है।

फिर हम नास्ता कर के फ्री हो गए। तो ऑन्टी बोली कि नास्ते के बाद मीठा खाओगे। क्या खाओगे मीठा या आइस क्रीम? तो मैंने बोला ठंढी में आइस क्रीम का अलग ही मजा है। फिर ऑन्टी चली गई। और मैं सोफे पर बैठा रहा थोड़ी देर में ऑन्टी आइस क्रीम लायी और हमदोनों खाए। फिर पूरा दिन ऐसे ही गुजर गया। तो रात के करीब 9 बजे डिनर ऑन्टी बना दी। और हमदोनों ने डिनर किया। और साथ में TV देखने लगे करीब 10 बजे ऑन्टी बोली कि घर मे अकेले तुम्हे डर लगेगा तो यही सो जाओ। तो मैंने कहा कि ठीक है मैं चेंज करके आता हूँ। फिर मैं घर गया और 10 मिनट बाद चेंज करके आया तो देखा ऑन्टी हॉल में नही हैं। मैने आवाज दिया तो वो बोली कि मैं अपने रूम में हूँ। अगर तुम टीवी देखना चाहते हो तो देखो और जब नींद आये तो यही आ के सो जाना। बेड बड़ा है | मैं करीब आधे घंटे बाद टीवी बन्द कर ऑन्टी के रूम में सोने गया तो देखा लाल रंग का नाईट बल्ब जल रहा है। और ऑन्टी रजाई के अंदर सो रही है। उनका चेहरा रजाई से बाहर था। और वो बहुत खूबसूरत लग रही थी। शायद वो सोने से पहले मेकअप की थी। फिर मैं भी धीरे से उनकी पीठ तरफ जा के रजाई हल्का उठाया और सो गया।

फिर मुझे कब नींद आया पता ही नही चला। और जब मेरी नींद खुली तो मुझे अपने लंड पर गीलापन महसूस हुआ और लगा जैसे कोई मेरे लंड को मुँह में लेकर चूस रहा है। मैं बिना हिले डुले आँखे खोलकर देखा तो साक्षी ऑन्टी बिल्कुल नंगी थी और मेरे लन्ड को चूस रही थी।

मैं तो हैरान रह गया लेकिन कुछ नही बोला करीब 10 मिनट बित चुके थे। और ऑन्टी लगातार मेरे लंड अपने मुँह में पूरा लेकर चूस रही थी। फिर जब ऑन्टी अपने दांतों से मेरे लंड के सुपाड़े को दबाई तो मेरे मुँह से  आहह…. की आवाज निकल गया।

अब ऑन्टी बोली मुझे पता है तू जाग रहा है। और फिर वो उठी और मेरे दोनो तरफ पैर करके अपना चुत मेरे मुंह पर रख दी। और बोली चाटो मेरी चुत। और खुद भी आगे झुककर मेरा लंड चूसने लगी। करीब 5 मिनट बाद ऑन्टी का चुत से ढेर सारा पानी निकला और ऑन्टी जोर जोर से अपना चुत मेरे मुँह पर दबा के रगड़ने लगी। फिर मेरा भी लंड पानी छोड़ने लगा तो ऑन्टी सारा वीर्य पी गयी। और लंड को अच्छे से चाटने लगी। अंडकोषों को भी सहला रही थी और जीभ से चाट रही थी। करीब 5, 7 मिनट बाद फिर से मेरा लंड खड़ा हो गया। तो आंटी उठी और मेरे कमर के पास दोनो तरफ पैर करके बैठ गई और मेरा लंड पकड़कर अपने चुत पर लगाई और जोर से नीचे दबा दी मेरा समूचा लन्ड उनकी चुत में घुस गया। फिर ऑन्टी जोर जोर से उछल उछल के चोदने लगी और मेरा लंड अपने चुत में लेने लगी। और कहने लगी

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बंटी,   आहहहहहहहहहहहहहहहहह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… अपनी गर्लफ्रेंड की मॉम को चोद लो।……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बंटी,   आहहहहहहहहहहहहहहहहह मेरी जान चोदो. आहहहहहहहहहहहहहहह……

और फिर साक्षी ऑन्टी गालियां देने लगी …साले भड़वे अपनी गर्लफ्रेंड के माँ को चोदता है….. चोद साले मादरचोद,…… चोद ले भड़वे…. चोद ले आज मेरी चुत….. बहुतत्तत्त्त प्यासी है मेरी चुतउत्तत्त्तत्तत्त्त…. कई सालों से प्यासी है मेरी चूत….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह…. चोदो मेरे राजज्ज्ज़ाआआ…… साला विधायक भड़वा विधवा के चुत में लंड डाल रहा है—- उस साले हिंजड़े को पता ही नहीं है किसके लंड से मेरा कभीं प्यास नहीं बुझा…… साला हरामी 4 झटकों में।कुत्ते की तरह हांफने लगता था और साले….. भड़वे को रोज बदलकर चूत चाहिए…….. ये ले।साले विधायक मैं जवान लंड से चुदवा ली….. तू चोदता रह विधवा औरत की सूखी चुत साले… भोसड़ी वाले……… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…..

बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बंटी मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… तू तो सच्चा मर्द निकला मेरे शेर….. चोदो बंटी. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेटा मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजा मेरी आहहहहहहहहह… जान चोदो.को…………तुम्हारा लंड मेरे चुत से होते हुए अंदर मेरी गांड तक जा रहा है.. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबीचोदो.. चोदो मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… अंदर तक धक्का मार रहा है…… बहुत मजा आ रहा है मेरे लाल……फाड् दो मेरी चुत सौरभ.. मेरी चुत की धज्जियां उड़ा दो।

और एक बार फिर से ऑन्टी झड़ने लगी।। 4 बार ऑन्टी झड़ चुकी थी। जब आखिरी बार झड़ रही थी तो बोली। बंटी जब तेरा लंड पानी छोड़ने लगेगा तो बताना मैं तुम्हारे लंड का पानी पीना चाहती हूँ। जवान लंड का पानी कभी नहीं पिया। और ऑन्टी चोदते रही। करीब 5 मिनट बाद मैं बोला कि ऑन्टी मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है। तो साक्षी ऑन्टी फट से उतरी और मेरे लन्ड के अपने मुँह में ले ली। और मैं उनकी मुँह में ही झाड़ गया। ऑन्टी पूरा वीर्य निगल गई। और लंड को चाटते हुए बोली। बेटा तू बहुत अच्छा है। ना जाने कब से मेरी चुत लंड के लिये तड़प रही थी। आज तुमने सालों की चुत की प्यास बुझा दी।

तेरा लंड बहुत कड़क और बिल्कुल जवान मर्द वाला है।

फिर हम उस रात पूरी रात चुदाई करते रहे। फिर हम दोनों सुबह करीब 5 बजे एक दूसरे के बांहों में नंगे ही सो गए। 10 बजे करीब मेरी नींद खुली तो ऑन्टी बिस्तर पर नही थी और मैं रजाई में नंगे था। फिर मैं उठा तो देखा ऑन्टी पूरी नंगी होकर गर्म पानी के शॉवर के नीचे नहा रही है। तो मैं पीछे से जाकर उनको दबोच लिया। और बाथरूम में ही उनको घोड़ी बनाकर चुदाई किया।

उस रात ऑन्टी ने इतना जोर जोर से कई बार चोदी थी कि पूरे दिन मेरा लंड में जलन और दर्द होते रहा।

तो कहानी के अगले भाग में पढ़िए की साक्षी ऑन्टी और वन्दना कैसे एकसाथ मुझसे चुदवाई।

तो दोस्तों हमे दीजिए अभी इजाजत और आप मजा लीजिए सेक्स कहानियों का। इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

और हाँ कहानी को शेयर जरूर करिएगा। और कमेंट करके हमें बताना की विधायक जी की कुँवारी बेटी के बाद बीवी को भी चोदा कहानी कैसी लगी।

तो मिलते हैं कहानी के अगले भाग में।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “विधायक की बेटी को चोदा भाग-1”

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

धन्यवाद।

आपसब अपना ख्याल रखिएगा। और अपना प्यार इसी तरह बनाए रखिएगा।

नमस्कार।

100% LikesVS
0% Dislikes

One thought on “विधायक की बेटी को चोदा भाग-2

  1. Hello it’s me, I am also visiting this web site daily, this web site is really pleasant and the visitors are genuinely sharing
    pleasant thoughts.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *