शादी से पहले भाई ने चुदाई की ट्रेनिंग दी

 372 

शादी से पहले भाई ने चुदाई की ट्रेनिंग देकर विदा किया

https://nightqueenstories.com के प्रिय पाठकों को मेरा सादर नमस्कार।

दोस्तों मैं हूँ पलक। पलक सिंह रघुवंशी। मैं मथुरा की हूँ। और आप सब जानते हैं, मथुरा की लड़कियां तो गोपियाँ हैं। हमारे मन मे श्याम बसते हैं। और जो हमारे मन मे होते हैं वे श्याम से कम नही होते हैं।

दोस्तों मैं अभी बस 2 दिन पहले 18 की हुई हूँ। लेकिन दोस्तों मेरे गदराई जिस्म को देखकर सभी हक्के बक्के रह जाते हैं। क्योंकि मेरी भरी हुई बदन 25 साल से कम की नही लगती। मेरी 32 इंच के बूब्स जिसे मैं खुद ही दबा दबा कर बड़ा कर दी हूँ। क्योंकि मैं बहुत चुदासी हूँ न। मेरी 28 इंच की पतली कमर पर 36 इंच की गांड़ बूढ़ों के सूखे लन्ड में भी सुनामी ला देता है। मेरी गोल मटोल गांड़ चलते टाइम ऐसे हिलती है जैसे …..आरा हिले बलिया हिले…. आआआऊऊउच्चच दोस्तों कसम से मैं परमाणु बम से भी खतरनाक दिखती हूँ।

दूध सी सफेद मेरी चमड़ी और मक्खन सी मुलायम अंगूरी होंठ। क्यों मेरे राजा तुम्हारे लन्ड में भी उफान आ गया ना। सोचो मुझे देख लोगे तो क्या होगा। और सोचो मुझे नंगे देख लोगे। केले के तने की तरह चिकनी मोटी जांघो के बीच बिना बालों वाली चुत को देख लोगे तो तुम्हारा लन्ड का क्या होगा। और सोचो तुम्हारा लन्ड मेरी धधकती ज्वालामुखी चुत में गई तो पिघला देगी। ढूंढते रह जाओगे। ऊँहहहहहहहहह मेरे राजा।

मेरे सेक्सी दोस्तों मेरे फैमिली में मेरे पापा मॉम, मेरा बड़ा भाई और भाभी हैं। मेरे भाई मुझसे 6 साल बड़ा है और 2साल पहले ही उसकी शादी हो चुकी है। मेरे भाई का नाम रोहित है। हम दोनों भाई बहन के बीच उम्र का फासला जरूर है लेकिन हम एक दोस्त की तरह हैं। हर बात शेयर करना साथ घूमने जाना, मूवी देखने जाना सबकुछ।

कैसे मेरे भाई ने मुझे चुत को हथियार बनाकर पति को गुलाम बनाने की ट्रेनिंग दी और चोदना सिखाया

मेरे गांव में मेरे दादाजी रहते थे। तो उनका कहना था कि मेरे जीतेजी पलक की शादी कर दो ताकि मैं उसकी डोली उठते देख सकूँ। जिंदगी का कौन भरोसा। इस कारण मेरे पिताजी मेरी शादी 18 साल की उम्र में ही करवा दिए। दिल्ली में मेरे पिताजी के एक दोस्त बड़े बिजनेस मैन के बेटे से मेरी शादी तय हो गई। जब लड़के वाले मुझे देखने आए तो मेरी होने वाली सास ने मेरी माँ से कहा कि बहन जी हम बहु नही ले जा रहे बल्कि बेटी ले जा रहे। मेरी कोई बेटी नही है सिर्फ एक बेटा है। लेकिन आज से पालक हमारी भी बेटी है।

उनसब के जाने के बाद माँ को बहुत टेंशन हुई कि मेरी बेटी तो सही से खाना बनाना भी नही जानती यहां तक कि ठीक से चाय भी बनाने नही जानती तो कही शिकायत न मिले। एक दीन हम सभी बैठकर टीवी देख रहे थे तो फाइनली मॉम मुझसे बोली कि बेटा अब तुम घर की कुछ जिम्मेदारियों को सीखो। तो भाई ने मेरा चुटकी लेते हुए बोला हाँ पलक सिख ले सबकुछ क्या पता मेरा जीजा तुमसे क्या उम्मीद लगाए बैठे होगा। और फिर सभी हँसने लगे। फिर भाई बोले कि आज से माँ तुम्हारी कोच हैं। और जो माँ ना सीखा पाएगी मैं सीखा दूँगा।

दोस्तों एक बात मैं बताती हूँ मैं भले अभी 18 की हुई भी नही थी लेकिन मैं पिछले 2 सालों से सेक्स कहानियां पढ़ते आ रही हूँ और चुदाई के बारे में सबकुछ जानती हूँ। लेकिन हां मैं अभी तक किसी से चुदवाई नही हूँ। मेरी चुत में जब चुदाई का कीड़ा कुलबुलाने लगता है तो मैं अपने चुत को रगड़ के शांत कर लेती हूँ। और ये मैं पिछले 2 सालों से कर रही हूँ।

मैं https://nightqueenstories.com साइट की दीवानी हूँ इस साइट की कहानियां मुझे आग में झोंक देती है और मेरी उंगलियां उस आग को शांत कर देती है। मैं इस साइट की हरेक कहानियां पढ़ चुकी हूँ। और मुझे हर रोज इंतजार रहता है कि नए कहानियां आए और मैं पढ़ते हुए अपने चिकनी गुलाबी चुत का रस निकालूँ।

दोस्तों वैसे तो मैं और मेरे भईया अच्छे दोस्त है ही। लेकिन जबसे मेरी शादी लगी है तबसे मेरे भईया मुझे चिढ़ाते हैं और छेड़ते भी हैं कोई मौका नही छोड़ते यहां तक कि भईया भाभी दोनो मिलकर मेरी टांग खिंचाई करने लगते हैं। जबसे मेरी शादी फिक्स हुई तबसे रोहित का रवैया मेरे प्रति बिल्कुल चेंज हो गया है। अब वो अक्सर गंदी बातें करने लगे हैं। वेसे तो मुझे सबकुछ पता है लेकिन मैं अनजान बनने का नाटक करती हूँ।

तो फाइनली मेरी 18 बर्थडे आ गई। उस दिन मेरे घर पर मैं भईया और मॉम ही थे। भाभी अपने मायके में थी। हमने बाहर के किसी भी दोस्त सहेलियों को नही बुलाया था। बस हम तीन लोग ही थे।

हमलोग बर्थडे सेलिब्रेट किए और जम के डांस किये माँ तो जल्दी ही चली गई। तो भईया बोले चलो डांस करते हैं। और हमलोग डांस करने लगे। लेकिन आवाज से माँ को डिस्टर्ब हो रहा था। तो माँ बोली कि मुझे अब सोने दो। तो हमलोग ऊपर वाले फ्लोर पे आ गए। वहाँ भी एक हॉल है तो हम हॉल में डांस करने लगे। हमदोंनो जम के काफी डांस किए फिर भईया बोले चलो अब क्लोज डांस करते हैं। हमलोग हल्की धुन पर क्लोज डांस कर रहे थे। और मेरे भाई ने कुछ अजीब हरकत करनी शुरू कर दी। उनका हाथ कभी मेरे कमर से फिसलते हुए मेरे कड़क गांड़ पर चला जाता। और वह सहलाने लग जाते। ऐसा कई बार हुआ। मेरे भी मन मे हवस जागने लगी थी। मैं तो कोई प्रतिक्रिया नही दी। लेकिन शायद भाई का भी हिम्मत आगे बढ़ने को नही कर रहा था। उस दिन कई बार भाई का हाथ मेरी चुचियों पर भी गया था। लेकिन उससे आगे कुछ भी नही हुआ। और फिर हम भी खाना खाकर अपने अपने कमरे में आ गए।

मैं तो रूम में आकर अंदर से दरवाजा बंद की और पूरी तरह से नंगे हो गई। और लेटकर सबसे पहले https://nightqueenstories.com के साइट पर गई। और मस्त भाई बहन की कहानियां पढ़ने लगी और भाई को इमेजिन कर कहानियां पढ़ते हुए चुत को रगड़ने लगी। मेरी चुत तो भाई के छूने से पहले से ही गर्म और गीली थी। मैं उस रात 3 बार चुत को रगड़ के पानी निकाली।

अगले दिन भाई बोले कि चलो घूमने चलते हैं। और मूवी भी देखकर आएंगे। शाम को 3 बजे हमलोग घर से निकल गए। और मॉल में घूमे फिरे फिर 6 से 9 का शो के लिए चले गए। हॉलीवुड की मूवी थी। तो उसमें कई किसिंग सीन भी थे। और एक दो हल्के सेक्स सिन भी थे। लेकिन उतना काफी था हमदोंनो के जिस्म में आग लगाने के लिए। हॉल में कई बार भाई मेरे जांघो को सहलाते हुए मेरी चुत को भड़का दिए थे। और फिर हम घर आ गए। उस रात फिर से मैं 4 बार चुत को रगड़ के पानी निकाली। अगले दिन माँ एक हफ्ते के लिए दिल्ली पापा के पास चले गए। वहाँ से कुछ ज्वेलरी की शॉपिंग भी करनी थी।

अब हम घर मे सिर्फ भाई बहन ही रह गए थे। पूरे दिन तो निकल गया। शाम को भाई बोले कि चलो बाहर से खाना खाकर आएंगे तो मैं बोली कि घर पे ही मंगवा लो।

रात 10 बजे हम खाना खाए और टीवी देखने लगे। मैं अक्सर भईया के सर में तेल लगाती हूँ। भाभी रहती थी तब भी मैं ही उनके बालों में तेल लगाती थी। तो मैं बोली कि भईया आओ मैं सर में ऑयल लगा देती हूँ। तो भाई मेरे जांघो पर सर रखकर सोफे पर लेट गए और टीवी देखने लगे और मैं उनके सर में तेल की मालिश करने लगी। और उस दौरान भाई मेरे जांघो को सहला रहे थे। मेरी चुत तो गीली हो गई। मैं एक शार्ट ड्रेश पहनी थी जिससे मेरी जांघे बिल्कुल नंगी थी और उन नंगी जांघो पर भाई के हाथों का जादू कमाल कर रहा था।

भाई भी एक शॉर्ट्स पहने थे और जब मैं नोटिस की तो भाई के लन्ड भी खड़े हो चुके थे। जो कि साफ उभरा हुआ दिख रहा था।

हमदोंनो भाई-बहन के जिस्म में चुदाई की चिंगारी जल चुकी थी।

तभी भाई मुझसे बोले कि पलक तू जानती है सुहागरात में क्या होता है। तो मैं बोली कि मुझे नही पता। तो भाई बोले तेरी शादी होने वाली है तू सीखेगी तभी तो तेरा हस्बैंड तुमसे खुश रहेगा। मैं शर्म से लाल हो गई। और कुछ नही बोली। तो भाई बोले कि चल आज मैं तुम्हे सिखाता हूँ कि सुहागरात कैसे मनाते हैं। मैं मुस्कुरा दी। तभी भाई मेरे चुचियों को सहलाने लगे। मुझे भी मजा आने लगा था। और फिर भाई ने जोर से मेरी चुचियों को मसलने लगे।

दोस्तों मेरी चुचियाँ बिल्कुल कड़क थी। तभी भाई ने मेरे सर को पकड़ा और नीचे किए और अपने होंठो को मेरे होंठो से मिला दिए। मेरी जिस्म में तो करंट ही दौड़ गया। ये पहली बार था जब मैं किस को अनुभव की थी। भाई अब मेरे होंठो को जोर जोर से चूसने लगे। तब मैं भी उनका साथ देने लगी। हम 5 मिनट तक ऐसे ही किस करते रहे। हमदोंनो के जिस्म में चुदाई की चिंगारी जल चुकी थी।

तभी भाई उठ गए और मुझपर टूट पड़े। वह मुझे अपने बाहों में भर लिए और मुझे बेतहाशा किस करने लगे। फिर वह अपना जीभ मेरे मुँह में दे दिए ये एहसास मुझे अंदर तक हिला दिया था। मैं उनकी जीभ को चूसने लगी। और फिर भाई मेरे ब्रालेट को एक झटके में फाड़ दिए। और मेरी बड़ी बड़ी पपीता की तरह चुचियाँ आजाद हो गई। और वह मुँह में लेकर चूसने और दबाने लगे। उनके हाथों की जादू ने मुझमे चुदाई का कीड़ा जगा दिया था।

और तभी वह नीचे की तरफ जाने लगे। और अपनी गीली जुबान से मेरे पूरे जिस्म को चाटने लगे। और फिर वह मेरे नाभि में ऐसे जीभ डालने लगे जैसे कोई छेद हो। उनका नाभि में चाटना मुझमे पूरी तरह से चुदाई का शोला भड़का रहा था।

और तभी उनकी एक हाथ मेरी पैंटी के ऊपर से चुत को रगड़ने लगा। दोस्तों मेरी चुत से पहले से पानी रिसने लगा था। और मेरी पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी। फिर वह सीधा हुए और मेरे पैंटी को निकाल दिए। मैं अपने दोनो हाथों से चुत को ढक ली। तो भाई मेरे हाथों को हटाए तो मेरी आँखें बंद हो गई। और फिर वे मेरे दोनो टांगों को फैला दिए और मेरी चुत पर मुँह रख दिए।

चुत चटवाने का ये पहला एहसास मुझे जिंदगी का सबसे हसीन तोहफा मिला था। अब वह मेरी चुत को जीभ से रगड़ के चाटने लगे। मेरी कमर अपने आप हिलने लगी। ऐसा लग रहा था मानो शरीर मे एक साथ करोड़ो चींटियां चलने लगी हो।

अभी 2, 3 मिनट ही हुए होंगे, की मुझे लगा कुछ होने वाला है। और मैं नीचे से कमर तेजी से ऊपर करने लगी। तो भाई और जोर से मेरी चुत चाटने लगे। और अचानक मेरी चुत किसी पाइप से प्रेशर की तह चुतरस का धार छोड़ दिया। क्या बताऊँ दोस्तों ये सुखद एहसास ने मुझमे एक अलग जोश भर दिया था। और मैं कब भाई का सर पकड़ कर चुत पर दबा दी थी मुझे खुद नही पता चला जब मेरी चुत पानी छोड़कर शांत हुई तब मुझे इसका एहसास हुआ। मेरे भाई मेरे चुत को चाटे जा रहे थे। तब मुझे लगा कि मुझे भी भाई केलिए कुछ करना चाहिए। और मैं भाई को एक झटके में नीचे कर दिया।

और उनकी धीरे धीरे कर कपड़े उतारे और उन्हें किस करने लगी। फिर मैं भी उनकी जिस्म को चाटते हुए नीचे जाने लगी। भाई बिन पानी मछली की तरह तड़प रहे थे। और फिर मैं नीचे आ ही गई। और उनकी 7 इंच के मोटे लन्ड को पकड़कर मुँह में ले ली। दोस्तों एक अजीब सी मदहोश करने वाली महक उनके लन्ड से आ रही थी।

मैं जोर जोर से उनके लन्ड को चूसने लगी। 5, 7 मिनट मैं उनके लन्ड को चूसी थी तभी भाई बोले। पलक मेरा पानी छूटने वाला है हटो तुम गंदी हो जाओगी लेकिन मैं उनके लन्ड का पानी का स्वाद लेना चाहती थी। मैं जब भी सेक्स कहानियां पढ़ती थी मैं यही सोचती थी कि मैं भी एक दिन लन्ड का पानी पीकर देखूंगी कैसा लगता है। और तभी भाई का लन्ड मेरे मुँह में गर्म लावा छोड़ने लगा। भाई का कमर तेजी से हिलने लगा और मेरे मुँह को चोदने लगा। और भाई तभी शांत हुए जब उनकी लन्ड पूरा पानी निकाल दिया। मैं भी पूरी शिद्दत से उनके लन्ड के पानी का स्वाद लिया और पी गई। फिर भाई के लन्ड को चाटकर साफ किया।।

दोस्तों और फिर भाई मुझसे बोले मेरी प्यारी बहन चुदाई का पहला एपिसोड कम्प्लीट हुआ। और दूसरे एपिसोड में चुत के रस से कैसे हस्बैंड को गुलाम बनाना है ये सिखाऊंगा।

और फिर भाई मुझे अपने बाँहो में भरकर किस करने लगे।

दोस्तों कहानी का अगला भाग में बताऊंगा की कैसे मेरे भाई का लन्ड मेरी चुत की चीरकर सील तोड़ा और मेरी चुदाई का एपिसोड 2 हुआ।

लेकिन इसके लिए आपको ज्यादा से ज्यादा कमेंट करना होगा। तो मुझे कमेंट कीजिए। और कहानी को लाइक कीजिए। और शेयर करना तो बिल्कुल मत भूलना ताकि और लोग भी चुदाई की मस्त कहानी का आनंद ले सके।

Meet Women Online!!

और ऐसी मादक चुदाई के लिए https://nightqueenstories.com पर नियमित बने रहना। तो मिलते हैं अगले कहानी में। धन्यवाद।

 

94% LikesVS
6% Dislikes

2 thoughts on “शादी से पहले भाई ने चुदाई की ट्रेनिंग दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *