संतान का सुख दिया

निःसन्तान भाभी को संतान सुख दिया

https://nightqueenstories.com के प्यारे पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार। दोस्तों मेरा नाम देवेंद्र प्रजापति है। मैं 27 साल का हूँ और IT प्रोफेशनल हूँ। मैं प्राइवेट जॉब में हूँ लेकिन सैलरी अच्छी है। मैं दिल्ली में जॉब करता हूँ। और यहाँ एक अपार्टमेंट में रेंट पर रहता हूँ।

दरअसल यह घटना आज से 1 साल पहले की  है तब मैं इस अपार्टमेंट में नया ही आया था और मुझे आये लगभग 2 महीने हुए थे।

सेक्स कहानियों

एक दिन मैं सुबह के टाइम अपनी बालकनी में खड़ा था तभी बगल की बालकनी से एक आदमी ने हेलो किया मैं उधर मुड़ा तो देखा एक आदमी औरत खड़े थे। और फिर मेने भी हेलो किया और बात होने लगी। तभी पति ने मुझसे हैलो किया और हमारी बात होने लगी। और बातों बातों में पता चला कि वो आदमी बैंक मैनेजर हैं और उनकी पत्नी हाउस वाइफ हैं।

कैसे मैंने पड़ोसन भाभी को चोदकर अपने बच्चे की माँ बनाया

तो अब हमारी जान पहचान हो गई। और हमारा एक दूसरे के घर आना-जाना शुरू हो गया। भाई साहब उम्र में लगभग बराबरी के ही थे। साल 2 साल बड़े रहे होंगे।

 

एक दिन रात को खाना खाकर मैं बालकनी में बैठा था तो उनके घर से लड़ने की आवाज़ सुनाई दी। और पता चला दोनो मियां बीवी आज लड़ रहे हैं।

रात को तो मैं चुप रह गया लेकिन सुबह मैं ऑफिस जाने से पहले मिलना चाहता था तो मैं उनके घर गया लेकिन जाने के बाद पता चला कि भाईसाहब तो आज जल्दी निकल गए।

 

लेकिन भाभी मुझे बैठी और फिर चाय बनाकर लाईं तो मैंने देखा भाभी कुछ दुखी लग रही थीं। तो मैंने उनसे इसका कारण पूछा तो उन्होंने इग्नोर कर दिया।

 

मेरे जोर देकर पूछने के बाद भाभी ने बताया की हमारी शादी को 9 साल हो गए हैं और बच्चा नहीं हो रहा। और डॉक्टर ने मेरे पति में कमी बताई है, लेकिन वो मानते ही नहीं हैं और सारा दोष मुझे देते हैं। फिर भाभी रोने लगी। तो मैंने उन्हें चुप कराया उनके आंसू पोछे और समझाया कि रोना नही है ये सब बातें बैठकर करनी चाहिए आप दोनों को। फिर मैंने कहा ये आजकल नॉर्मल हो गया है। इसलिए किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाइए सब ठीक हो जाएगा।

भाभी बहुत दुःखी थी और बोली

भाभी- आपके भाई अपनी कमी मानते नहीं हैं, मैं क्या करूँ।

मैं- भाभी मैं आपकी क्या मदद करूँ।

 

तभी भाभी मेरे सीने से लग गई और रोने लगी। मैं उनकी पीठ को सहलाते हुए चुप कराने लगा। और उनके जिस्म की गर्मी ने मेरे लोअर में हलचल पैदा कर दी।

Antarvasna Hindi English sex stories

तभी भाभी बोली देव तुम्हारे सीने से लग कर मुझे बहुत सुकून मिल रहा है तुम्हारे भाई साहब मुझे कभी ऐसे गले से नही लगाए। हम दोनों ही अब एक दूसरे के जिस्म की गर्मी को महसूस करने लगे थे। मेरी गर्म सांसें भाभी की गर्दन पर टकरा रही थीं। जिससे भाभी जोश में आ रही थी। मेरा लन्ड अब और कड़क हो गया था और भाभी को महसूस होने लगा।

भाभी ने मेरे लन्ड को मुट्ठी में पकड़कर बोली मुझे बहुत अच्छा लग रहा है

तभी भाभी का हाथ मेरे लंड पर चला गया। मेरा लंड तो पहले से खड़ा था लेकिन भाभी के हाथ का स्पर्श पाकर और कड़क हो गया।

 

मैं अब जोश में आ गया और भाभी के हाथ लंड से टच होते ही मेरा एक हाथ उनकी कमर पर चलने लगा था। और भाभी भी कोई विरोध नहीं की। मैंने कहा- भाभी, क्या आपको मेरे साथ अच्छा लग रहा है, तभी भाभी ने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ ली और बोली हाँ देव तुम बहुत अच्छे हो।

 

मैंने उनकी चेहरे को थामा और वासना भरी आंखों से देखा तो उनकी आंखें खुद मुझे निमंत्रण दे रहे थे। फिर कब हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों से मिल गए और हमारी जीभ एक दूसरे के मुँह में आने जाने लगे। इसका अहसास ही नहीं हुआ।

 

5-7 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे। फिर अचानक मुझे कुछ होश आया तो मैं भाभी से अलग हो गया। तो भाभी बोली क्या हुआ देव। क्यों अलग हो गए। मुझे अपने बांहो में ले।लो। और मेरी गोद भर दो शायद भगवान ने तुम्हे इसीलिए मेरेपास भेजा है। इतना सुनते ही मैंने उन्हें फिर से अपनी बांहों में भर लिया।

भाभी मेरे लन्ड को पकड़ ली और बोली मेरी चुत बहुत प्यासी है, अपने लन्ड से चोदकर मेरी चुत की प्यास बुझा दो

और तभी भाभी ने मेरे लोअर में हाथ डालकर मेरे लन्ड कों पकड़ते हुए बोली, देव मैं बहुत प्यासी हूँ तुम आज मुझे चोदकर मेरी प्यास बुझा दो और मुझे अपने बच्चे की माँ बना दो।

मैंने भी भाभी को अपनी बांहों में कस के भींच लिया और उन्हें प्यार करने लगा। तकरीबन दस मिनट बिता होगा तभी भाभी के मोबाइल पर भाईसाहब का कॉल आया। भाभी फोन पिक की तो भाई साहब बोले शाम को मुझे कानपुर जाना है तुम मेरा समान पैक कर दो।

 

फिर हम रुक गए और भाभी बोली आज रात हम पूरी रात साथ बिताएंगे। मैने कहा ठीक है और फिर मैं अपने फ्लैट में आ गया।

 

शाम को भाभी कॉल की और मुझे आने को बोली। लेकिन मैंने कहा आप मेरे फ्लैट पर आओ। भाभी आ गई।

 

जैसे ही भाभी अंदर आयी मैं दरवाजा बंद कर दिया। और उनकी होंठो को किस करने लगा। फिर मैं उन्हें गोद में उठाया और किस करते हुए बेड पर ले जाकर पटक दिया। फिर मैं भी बिस्तर पर आ गया और झुककर उनके बूब्स को दबाने लगा।  और होंठो को चूसने लगा।

 

फिर मैंने उनके गाउन को उतार दिया। तो भाभी गर्म होकर मुझे अपने दोनों चुचियों को बारी बारी से पिलाने लगीं। और कहने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहह…. आहहहहहहहहहहहहहहहहहह….  चूस लो देव… मेरी इन चूचियों के दूध को पी लो। तेरा भाई हिंजड़ा है वो तो कभी इन चुचियों को मुंह मे नहीं लगाता।  वो तो बस आता है और चुत में लंड डाल कर 2, 4 बार हिलाकर झड़ जाता है।

 

मैंने कहा भाभी आज सिर्फ हम दोनों की ही बात होगी और आज मैं आपको वो सुख दूँगा जो आजतक आपको कभी नहीं मिला है। भाभी ने मुझे अपने हाथ से पकड़ कर दूध पिलाना शुरू कर दिया मैं उनकी चूचियों का रस पीने लगा।

 

करीब 10 मिनट तक उनको चुचियों को पिया तो भ्भी बोली नीचे कब जाओगे। तो मैं समझ गया भाभी चुत चटवाने और छोडवाने को बेताब हैं। और मैं नीचे आ गया। और। भाभी के पैरों को फैलाकर उनकी चूत को चाटना शुरू कर दिया। भाभी ने अपनी टांगें और फैला दीं। उनकी चुत एकदम चिकनी थी और भीनी भीनी खुशबू आ रही थी।

Night Queen Stories

मैंने कहा- भाभी, तुम बहुत हॉट और सेक्सी हो, मैं तुम्हारी इस चिकनी चुत का दीवाना हो गया। मैंने भाभी के चुत के दाने को मसलते हुए कहा- आपकी चुत से एक मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही है।

 

मैंने अब भाभी की चुत में अपनी जीभ नुकीली करके डाल दिया। और चूसना और चाटना शुरू कर दिया। भाभी बिन पानी की मछली की तरह तड़प उठी। उन्होंने आहें भरते हुए कहा- आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजजजाआआआ चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। पानी निकाल दो चाटकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह देव मेरी चुत बहुत प्यासी है। चाटो जोर।से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत देव चाटो और जोर से चाटो।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. खा जाओ मेरी चुत राजज्ज्ज़ा चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…दएवं तुम कितने अच्छे हो मेरे सोना…. चाटो राजा चाटो मेरी चुत। पूरा निगल जाओ मेरी चुत को। आहदह। ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..।

 

देव राजा… मुझे आज तक ऐसा मजा कभी नही आया। मेरी चुत किसी ने आजतक नही चाटा।आहहहहहहहहहहहहहहहहह … आहहहहहहहहहहहहहहहहह … देव मैं झड़ने वाली हूँ।

मैं बहुत प्यासी हूँ राजा मुझे चोदकर अपने बच्चे का माँ मुझे बना दो

मैंने भाभी की चूत को जोर जोर से चाटना जारी रखा और तभी भाभी झड़ गईं मगर मैं उनकी चुत चाटता रहा और वो फिर से तैयार हो गईं। मैंने कहा- भाभी क्या मुझे भी लंड चुसाई का सुख मिल सकता है? और भाभी ने मेरे लंड को सहलाते हुए कहा हां मेरे राजा। मैं तुम्हें हर तरह का सुख दूंगी लेकिन पहले तुम मुझे चोदो अपना लन्ड मेरी चुत में डालकर मेरी चुत फाड़ो। भाभी पूरे जोश में थी। और जोश में ही उन्होंने बताया कि भाईसाहब बस 2, 4 झटके मार के लुढ़क जाते हैं और कभी वो फोरप्ले नही करते यहां तक कि वो भाभी के चुचियों को टच तक नही करते। जबकि भाभी पूरे जोशीले है। उनको मेरे जैसे जवान मर्द चाहिए। भाई साहब का लन्ड भी बहुत छोटा है।

 

और फिर मैं बिना देर किए भाभी की टांगों को फैलाया और अपने लंड को उनकी चूत पर रगड़ने लगा भाभी तड़प गई। और कमर हिलाने लगी। भाभी की चुत का दाना बहुत बड़ा और बिल्कुल गर्म था। मैं यही सोचने लगा कि जब चुत के बाहर इतनी गर्मी है तो चुत के अंदर तो ज्वालामुखी धधक रही होगी। और फिर कुछ देर रगड़ने और लन्ड को चुत पर पटकने के बाद मैं लन्ड को भाभी के चुत में घुसेड़ दिया। भाभी का चुत का छेद बहुत तंग था या शायद ठीक से चुदाई नहीं होने के कारण चुत बहुत टाइट था इसलिए लन्ड चुत में घुसते ही भाभी चीख पड़ी।

भाभी- आहहहहहहहहहहहहहहहहह … मर गई मेरे राजाआआआ … तुम्हारा लन्ड किसी घोड़े की तरह बहुत मोटा है … आहहहहहहहहह देव।

तभी मैं रुक गया तो भाभी बोलीं- देव रुको मत मुझे दर्द हो तो हो लेकिन तुम चोदना जारी रखो। फाड़ दो मेरी चुत। मैंने फिर से लंड चुत में पेलना चालू कर दिया। भाभी को कुछ ही देर में मेरे लंड से चुदने में मजा आने लगा। अब भाभी कमर हिलाने लगी और पूरे जोश में कमर उछालने लगी। उनकी कमर की।थिरकन देखकर मुझे और जोश आ गया और मैं जोर जोर से चोदने लगा। भाभी मजे से सिसकारियां लेने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहहह दक्ष, पूरा लन्ड मेरी चुत में पेलो आहहहहहहहहहहहहहहहहह बहुत मजा आ रहा है … और चोदो अन्दर तक अपना लंड पेलो … मेरी बच्चेदानी को भी फाड़दो … आहहहहहहहहहहहहहहहहह फाड़ दे मेरी चुत को … आज से ये चुत तेरी गुलाम है मेरे राजजजजजाआआ

 

मैं भी जोश में आ गया- आउर कहा आहहहहहहहहहहहहहहहहह….  ये लो मेरी रानी और अन्दर लो … आज के बाद तुम मेरी बीवी हो … आहहहहहहहहहहहहहहहहहह….  अहहहहहहहहहहहहहहहह…..!

 

भाभी- आहहहहहहहहहहहहहहहहह जान, ऐसे ही चोदो…  आज मेरा जीवन धन्य हो गया … मैं चुद रही हूँ। आहहहहहहहहहहहहहहहहहह दक्ष, पूरा लन्ड मेरी चुत में पेलो आहहहहहहहहहहहहहहहहह बहुत मजा आ रहा है … और चोदो अन्दर तक अपना लंड पेलो …फाड़दो … आहहहहहहहहहहहहहहहहह फाड़ दे मेरी चुत को … आज से ये चुत तेरी गुलाम है मेरे राजजजजजाआआ आहहहहहहहहहहहहहहहहह….  ये लो मेरी रानी और अन्दर लो … आज के बाद तुम मेरी बीवी हो … आहहहहहहहहहहहहहहहहहह….  अहहहहहहहहहहहहहहहह…..! आहहहहहहहहहहहहहहहहहह दक्ष, पूरा लन्ड मेरी चुत में पेलो आहहहहहहहहहहहहहहहहह बहुत मजा आ रहा है … और चोदो अन्दर तक अपना लंड पेलो … मेरी बच्चेदानी को भी फाड़दो … आहहहहहहहहहहहहहहहहह फाड़ दे मेरी चुत को … आज से ये चुत तेरी गुलाम है मेरे राजजजजजाआआ

 

 

और जीवन का पहली बार असली चुदाई का आनंद ले रही हूं।… आज पहली बार इतनी देर तक चुदी हूँ … आह फाड़ डालो आज मेरी चूत को.

आधे घण्टे तक चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था। और अब तक भाभी 4 बार झड़ चुकी थी।

मैंने कहा भाभी मैं झड़ने वाला हूँ। तो भाभी और टंगे फैला।दी और मेरे कमर पर पैरो से कस ली। और बोली मेरे अंदर अमीरी चुत में अपने लंड का सारा पानी डाल दो देव। … मुझे  अपने बच्चे का मां बना दो।

Family Sex Kahaniya

और फिर हम लगातार चुदाई करते रहे। हम पूरे एक हफ्ते तक चुदाई किये तभी भाई साहब आ गए और मैं छुट्टी में अपने गांव आ गया। फिर मेरा ट्रांसफर बंगलोर हो गया। लेकिन पिछले महीने ही खबर आया कि भाभी मेरे बच्चे की माँ बन चुकी है।

 

तो मेरे https://nightqueenstories.com के सेक्सी पाठकों कैसी लगी मेरी भाभी की चुदाई ?

 

बने रहिए हमारे साथ और लेते रहिए मजे सेक्स कहानियों के

 

मिलते हैं किसी और चुदाई की कहानी में। तब तक के लिए नमस्कार। अपना ख्याल राखिएगा।।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *