भाभी की गर्म चुत

 233 

भाभी की गर्म चुत में देवर का लन्ड

सनम कहने लगी। वीरू इतना बड़ा लन्ड तो तेरे भईया का भी नही है। और वो कभी इतना देर तक नही चोदते। तुम तो घोड़े के जैसे ताकतवर हो मेरे राजा।

और फिर मैं उसकी गांड़ को टटोला और उसकी गांड़ में उँगली डाल दी। मैं बीच का पूरा उँगली सनम की गांड़ में डाल दिया और अंदर बाहर करने लगा।

चुत में लन्ड और गांड़ में उँगली ने सनम को और पागल कर दिया था। वह होश खो चुकी थी और बोले जा रही थी।

हैल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम बीरेंद्र है और लोग मुझे प्यार से वीरू कहते हैं। मैं 24 साल का हूँ। और सांवला हूँ लेकिन मैं बिल्कुल फिट हूँ। मैं दिल्ली में रहता हूँ और यहाँ प्राइवेट जॉब करता हूँ।

यह कहानी मेरी और मेरी भाभी सनम की है। जो अब मेरे दिल की रानी है मेरी दिलरुबा हैं। सनम बहुत खूबसूरत है बिल्कुल परी की तरह दिखती है।

सनम भाभी की शादी 6 साल पहले हुई थी। सनम की उम्र अभी 28 साल है। और यह चुदाई की घटना महज 1 महीने पहले हुई। https://nightqueenstories.com

कैसे देवर और भाभी वासना में पागल होकर चुदाई करने लगे

दीवाली का समय था और मैं 1 हफ्ते की छुट्टी लेकर गांव गया। मेरा गांव UP में बनारस के पास है। मेरे गांव में मेरे बड़े पापा बड़ी माँ और उनके बेटे और बहू रहते हैं। मेरे माँ डैड कानपुर में रहते हैं। तो वो लोग भी दीवाली में घर आये हुए थे। दूसरे दिन माँ डैड मामाजी के यहाँ चले गए। और बड़े पापा और भईया खेतों में चले गए। रात में हम दोनों भाई जम के शराब पिये थे। तो मैं सुबह देर तक सोता रहा। और 10 बजे उठा। मेरे घर के आंगन में हैंडपम्प है जिसपर सभी लोग नहाते हैं। वैसे एक हैंड पम्प बाहर भी है जिसपर घर के मर्द लोग नहाते हैं।

तो मैं उठकर हाथ मुँह धोने के लिए आंगन में जाने लगा। और जैसे ही मैं आंगन में पहुँचा तो वहां का नजारा देखकर में हिल गया। मेरी सनम भाभी आंगन में नहा रही थी और उनके बदन पर सिर्फ़ एक गुलाबी रंग का पेटीकोट था, जिससे उसने अपनी दोनों चूचीयाँ ढक रखी थी और पेटिकोट घुटने तक फैला हुआ था। सनम की पीठ मेरी तरफ थी और वो ठंडे-ठंडे पानी से नहाने का मजा ले रही थी। सनम बिल्कुल दूध की तरह सफेद थी। उसकी पीठ मेरी तरफ थी तो मैं देखकर हैरान था। मुझे पीछे से उसकी दूध की तह सफेद गोरी-गोरी नंगी पीठ उत्तेजित करने लगे। पीछे से वो कमर तक नंगी थी और उसकी चूतड़ों की दरार जहां से शुरू होती है वो साफ दिखाई दे रही थी। मेरा लंड उसकी सफेद नंगी पीठ और गांड़ का दरार देखकर तन गया।

अब सनम ने साबुन लगाना स्टार्ट किया, पहले वो अपने पैरो पर साबुन लगाई और फिर साबुन लगाते-लगाते उसका हाथ घुटनो तक पहुँच गया तभी अचानक उसने अपने पेटिकोट को ऊपर खींचा और लगभग कमर तक उठा लिया. अब मुझे उसकी गोरी-गोरी जांघें साईड से दिखने लगी। उसकी जांघे पीठ से भी ज्यादा गोरी और सफेद थी। मैंने सपने में भी कभी नही सोचा था कि सनम अंदर से इतनी गोरी और सुंदर होगी उसकी जांघें मोटी-मोटी और केले के तने की तरह बिल्कुल चिकनी थी। अब वो पूरी जांघों पर साबुन रगड़ने लगी और ढेर सारा झाग बना लिया। उसकी जांघो पर झाग को देखकर मेरे लंड से पानी टपकने लगा।

दोस्तों सनम बहुत सेक्सी लग रही थी। फिर वह अपनी जांघों पर साबुन रगड़ने के बाद अपने हाथ को जांघों के बीच ले गयी और वहाँ साबुन रगड़ने लगी।

सनम के गांड़ का छेद बहुत सेक्सी और चॉकलेट के रंग का था

यह नजारा देखकर मेरा बुरा हाल हो गया और मैं बहक गया फिर सनम ने पेटिकोट अपनी कमर से भी ऊपर तक खींच दी और अपनी गांड नंगी कर ली और अपने गोल-मटोल चूतड़ो पर बैठ गयी। दोस्तों उसकी गांड बनावट बिल्कुल साँचे में बनी हुई थी? उसकी गांड बड़ी सी थी और उसकी गांड के बीच का छेद भी काफ़ी गहरा था। फिर सनम ने अपनी गांड पर ढेर सारा साबुन लगाया और जम के रगड़ के साफ की। फिर सनम अपनी गांड के छेद में उंगली घुसा दी और 2 बार आगे पीछे की। दोस्तों मैं यह देखकर पागल हो गया।

उसकी गांड का छेद बहुत सेक्सी और चॉकलेट के रंग का था। अब फिर वो अपनी बीच वाली उंगली गांड के छेद में अंदर बाहर करने लगी। यह देखकर मैं बिल्कुल जोश में आ गया और अपनी लोवर में हाथ डालकर लंड को हिलाने लगा। https://nightqueenstories.com

तभी अचानक से मेरा माल मेरे पजामे में ही छूट गया, अब तक रेशमा ने पूरे बदन पर साबुन रगड़ लिया था,

सनम अभी अभी अपनी चुचियों को पेटीकोट में छुपाए रखी थी। लेकिन तभी वह पेटिकोट नीचे की और अपनी दोनों चुचियों को आजाद कर दी। उसकी चुचियाँ इतनी बड़ी थी कि साइड से साफ दिखाई दे रही थी। उसकी चुचियाँ जांघो के जैसे बिल्कुल सफेद थी।

अब मेरे अंदर का शैतान जाग चुका था। और मैं अब सनम के चुचियों को और चुत को सामने से दीदार करना चाहता था।

अब सनम चूचीयों पर साबुन रगड़ने लगी उसने अपनी निप्पल को पकड़कर चारों तरफ चूची की गोलाई में खूब साबुन लगाया।

अब मेरे अंदर का शैतान जाग चुका था। और मैं अब सनम के चुचियों को और चुत को सामने से दीदार करना चाहता था।

तो में आगे बढ़ा सनम के सामने जाकर खड़ा हो गया। लेकिन सनम को पता नही चला क्योंकि तबतक वो आंखों पर साबुन लगा चुकी थी और उसकी आँखें बंद थी। अब सनम की नंगी और बड़ी बड़ी चुचियाँ मेरी नज़रों के सामने थे और भाभी जोर जोर से दबा-दबाकर चूचीयों पर साबुन लगा रही थी।

घने झांटो वाली सनम की चुत का दाना गुलाबी था

तभी मेरी नजर भाभी की चूत पर गया, दोस्तों सनम की क्या मलाईदार चुत थी। उसकी चुत पर घने झांट थे जो बिल्कुल काली थी। और झांटो पर साबुन के झाग सनी हुई थी। सनम भाभी की चूत बड़ी सी और फूली हुई थी। सनम के चुत का दाना बहुत बड़ा था और चुत से बाहर था। जो झांटो से भी नही ढका था। सनम की चूत की दाना बिल्कुल गुलाबी था। जो साबुन के रगड़ने से और भी गहरा रंग का हो गया था।

और तभी भाभी ने अपने चेहरे पर पानी डाला और आंखे खोली और उनकी नज़र अचानक से मुझ पर आयी। वो तो जैसे स्टेच्यू की तरह हो गई। वो अपने हैंडसम देवर के सामने लगभग पूरी नंगी थी और में उनको भूखे भेड़िए की तरह देख रहा था।

सनम शर्म से पानी-पानी हो गयी और अपनी चूचीयों को अपने हाथों से छुपाने लगी, लेकिन उनकी बड़ी बड़ी चुचियाँ -छोटे हाथों से कैसे छुप सकती थी। फिर मैंने सनम से कहा कि भाभी शरमाने की कोई बात नहीं है क्योंकि मैं आपका देवर हूँ जेठ नही। और वैसे भी भाभी पर देवर का आधा हक होता है। मैंने आपको पूरा नंगा देख ही लिया है। भाभी आप बहुत हॉट हो आपकी बफन का हरेक हिस्सा बहुत स्पेशल है। आप बिलकुल सेक्सी लगती हो। मैंने आपके बदन के हर हिस्से को अच्छे से देख लिया है।

अब आप शर्माओ मत और देवर के सामने खुली किताब बन जाओ। और इतना कहकर मैंने उनके पेटिकोट को पकड़कर उपर खिंचते हुए बाहर निकाल दिया।

और फिर मैंने कहा – भाभी आज मैं आपको अच्छे से नंगा नहाते हुए देखना चाहता हूं। इसलिए शरमाओ मत।

अब सनम भी थोड़ी सहज होने लगी। और मेरे तरफ देखते हुए बोली वीरू तुम अभी यहाँ से जाओ और ये बात किसी को मत बताना कि तुमने मुझे नंगा देखा है प्लीज जाओ तुम।

फिर मैंने बोला ठीक है मैं चला जाऊंगा लेकिन एक एक शर्त पर, आपको ऐसे ही बिना कोई शर्म के नंगी होकर नहाना होगा। क्योंकि मुझे तुम्हारे ननगे बदन को अच्छे से देखना है। फिर सनम थोड़ा सोचने के बाद अपना हाथ चूचीयों पर से हटा दी। और अपने बदन पर पानी डालने लगी। यह देखकर मेरा लन्ड और फनफनाने लगा। तो मैंने अपना लोअर नीचे सरका दिया। और फिर अंडरवियर भी नीचे कर दिया। और सनम के मुँह के सामने अपना लंड करके खड़ा हो गया। यह देखते ही सनम भड़क गई और चीखते हुए बोली वीरू क्या बदतमीज़ी कर रहे हो? मैं तेरी भाभी हूँ और तू मेरे साथ ऐसी गंदी हरकतें कर रहा है मैं तुम्हारे भईया से तुम्हारी करूँगी। मैं जोश में होश खो बैठा था और सनम के बातों को अनसुना करते हुए मैं अपने पैरों से लोअर और अंडरवियर उतार निकाल दिया। और साथ मे बनियान भी। अब मैं और सनम दोनों पूरी तरह से नंगे थे। फिर क्या मेरे जोश और सनम के गदराई जिस्म ने मुझे पागल कर दिया था। मैं सनम पर झपट पड़ा और उसकी एक चूची को मुंह मे ले लिया। और किसी बच्चे की तरह चूसने लगा और दूसरे हाथ से उनकी दूसरी चूची मसलने लगा। और फिर मैं थोड़ा धक्का दिया और हमदोनोगिर गए। और मैं परवाह किये बिना एक हाथ उनकी चूत पर ले गया और रगड़ने लगा।

अब सनम भी विरोध करना बन्द कर दी। और मॉनिंग करने लगी। सनम मुझे जोर से भींच ली और मेरे सीने से चिपक गई। अब वो भी पूरी गर्म हो चुकी थी। सनम के जिस्म अब मेरे जिस्म से चिपक कर एक हो गए थे। चुकी हम दोनों नंगे थे तो मेरा लंड उसकी चूत पर रगड़ खा रहा था। मैं तो कबसे गर्म था। इसलिए मैं जल्दी से अपना लन्ड सनम के चुत में डालना चाहता था।

मैंने लंड का सुपाड़ा सनम के चूत के छेद पर सेट किया और धक्का मारा तो मेरा लन्ड आसानी से उसके चुत में समा गया

फिर मैंने प्यार से सनम की टाँगों को फैला दिया और उसके कानों के पास जाकर फुसफुसाया भाभी आज में आपको अपना बनाना चाहता हूँ और आपको चोदना चाहता हूँ। तो भाभी नाटक करने लगी और बोली नही वीरू ये गलत है हमदोनों देवर बहाभि हैं। और मेरे जिस्म पर सिर्फ तुम्हारे भईया का हक है। मैं ऐसा नही कर सकती।

लेकिन मैं उनकी बातों को अनसुना कर दिया और अपना लन्ड उनकी चुत पर रगड़ने लगा। वो भी जोश में पागल हो चुकी थी। अब उसके निस्म में ऐंठन होने लगी। 4,5 मिनट तक ऐसे ही मैं उसके चुत पर लन्ड को रगड़ा और फिर अपने लंड का सुपाड़ा उनकी चूत के छेद पर सेट किया और धक्का मारा चुत इतनी गीली थी कि मेरा लन्ड आसानी से उनके चुत में समा गया।

और तभी सनम अपनी गांड़ जोर से ऊपर उछाल दी। और मुझे कसकर पकड़कर अपने सीने से चिपका लिया। उसके मुँह से आअहहहहहहहहहहहहहहहहहह….. निकल गयी तो मैं बिना देर किए उसके होठों को चूसना स्टार्ट कर दिया।

और मेरे एक दो धक्के के बाद सनम भी वासना में पागल हो गई। और मेरा सहयोग देने लगी। वो मभी मुझे किस करने में सहयोग करने लगी। और अब सनम की कमर भी नीचे से हिलने लगे।

फिर उसने अपनी जांघों को मेरी कमर पर लपेट लिया और वो मेरे हर झटके का जवाब अपनी गांड को उछाल-उछाल कर देने लगी

आहहहहहहहहह ओहहहहहहहहह की आवाजें आने लगी। ओहहहहहहह हहहहहहह…… वीरू चोदो मेरी चुत… फाड़ो राजा फाड़ो मेरी चुत… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चोदो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चोदो जोर से..। मारो मेरे राजा आआआ हहहहहहहहहहहहह…….. पूरा लन्ड मेरी चुत में डाल के चोदो।… आहहहहहहहहहहहहहहह…… ……ओहहहहहहह हहहहहहह सुमित चोदो जान चोदो…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबी मेरी जान चोदो. आआआहहहहहहह बहुत प्यासी थी मेरी चुत। ओह मेरे राजा हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…

सनम की ये कामुक आवाजें मेरे अंदर और जोश बढ़ा दी। और सनम कमर।तेजी से नीचे से हिलाने लगी और चीला रही थी

आआहहहहहहहहहहहहहह….. वीरू मेरी जान चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो बेबी चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..

और फिर मैं उसकी गांड़ को टटोला और उसकी गांड़ में उँगली डाल दी। मैं बीच का पूरा उँगली सनम की गांड़ में डाल दिया और अंदर बाहर करने लगा।

चुत में लन्ड और गांड़ में उँगली ने सनम को और पागल कर दिया था। वह होश खो चुकी थी और बोले जा रही थी।

आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…. वीरू मेरी जान चोदो…………तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…. मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. चोदो। मेरी जान चोदो। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो मेरे राजा आआआहहहहहहहहह हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह……..

सनम 2 बार झड़ चुकी थी। और हर बार झड़ते समय वह मुझे जकड़ लेती थी।

और सनम कहने लगी। वीरू इतना बड़ा लन्ड तो तेरे भईया का भी नही है। और वो कभी इतना देर तक नही चोदते। तुम तो घोड़े के जैसे ताकतवर हो मेरे राजा।

आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…… आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. और एक बार फिर सनम मुझे जकड़ ली और अपने पैरों को मेरे कमर पर कस ली और नीचे से अपनी गांड़ उछालने लगी। और फिर हमदोनों एकसाथ झड़ने लगे। मेरे लन्ड ने सनम के चुत में ही सारा पानी छोड़ दिया। सनम की चुत मेरे लन्ड के रस से भर गया।

सनम बोली मेरे राजा हटना नही मैं तुम्हारे लन्ड का पूरा रस अपने चुत में सोखना चाहती हूँ। और सनम ने 10 मिनट तक मुझे अपने पैरों से जकड़े रही और मुझेंक्स के बांहो में लिए रही। और फिर चुत के अंदर ही मेरा लन्ड खड़ा हो गया। हम एक बार और चुदाई किए। और फिर हमदोनों साथ मे नंगे नहाए।

तो दोस्तों यह देवर भाभी की कहानी कैसी लगी। कमेंट करके बताना। और कहानी को लाइक और शेयर करना मत भूलना।

https://nightqueenstories.com आपका स्वागत करता है और आपके मनचाही कहानियों को प्रस्तुत करने को प्रतिबद्ध है। हमे सलाह दें। आपकी डिमांड को हम पूरी तरह से प्रस्तुत करेंगे।

Meet Women Online!!

नमस्कार।

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *