बुआ के प्यासी चुत भाग 2

बुआ के प्यासी चुत में भतीजे का लंड भाग 2

पहले कहानी में आपने पढ़ा की बुआ कैसे मुझसे अपनी चुत की बाल साफ करवाई।

मैंने ट्रिमर से बुआ के चुत के बाल साफ कर दिए तो दोनो बुआ के चुत चमक उठे। और बड़ी बुआ की क्लाइटोरिस बहुत बड़ी थी।

इधर बुआ के चुत के दर्शन पाकर मेरा लंड भी तन चुका था। अब हम तीनों बिल्कुल गर्म हो चुके थे।

 

तभी बड़ी बुआ बोलीं- अर्नब एक बात बताओ, जब तेरा हथियार खड़ा हो जाता है, तो तू क्या करता है?

 

मैं बोला- कुछ नहीं करता हूँ थोड़ी देर बाद अपने आप शांत हो जाता है। लेकिन हाँ रात को जब खड़ा होता है तो शांत नही होता और पूरी रात खड़ा रहता है। तब इसमें दर्द भी होने लगता है। तो छोटी बुआ बोलीं- क्या तूने कभी मुठ नहीं मारी? अर्नब तेरा लंड सच मे बहुत बड़ा है। छोटी बुआ के मुँह से लंड शब्द सुनकर बड़ी बुआ हंसने लगीं। मैंने भी हँस दिया। फिर बुआ बोली जब कर ही रहा है तो हमारे बगल के बाल भी साफ ही कर दे। इसके बाद मैंने उनदोनों के अंडरआर्म्स के बाल भी  साफ किए।

घर मे चुदाई

बाल साफ करते वक़्त मैं दोनो बुआ के चुत को और बूब्स को खूब टच किया। मेरे लन्ड तो बहुत तगड़ा हो चुका था। और मैं काफी उत्तेजित हो चुका था। बाल साफ़ करवाने के बाद दोनो बुआ जाने लगीं। तो मैंने उनसे बोला- बुआ, आप दोनों से एक बात पूछ सकता हूँ?

 

तो बड़ी बुआ बोलीं- हां पूछ न!

मैं – आप बुरा तो नहीं मानोगी?

बुआ- नहीं मानेंगे तू बोल।

मैं- आप दोनो आखिरी बार कब चुदी थीं?

कैसे मेरी दोनों बुआ मेरे लन्ड की पानी से अपनी चुत की आग बुझाई

दोनो बुआ पहले तो मुझे एकटक देखती रहीं और फिर बोलीं- अर्नब तुझसे क्या छिपाना। अब तक हमदोनों बमुश्किल बस 8, 10 बार ही चुदे हैं। और सिर्फ तेरे फूफा से ही चुदाई करवाए है। मैं बोला- पर आपके तो बच्चे हो चुके हैं, तब भी आपलोगों के चुत किसी 18 साल की लड़की की तरह  चूत टाइट कैसे है? तो उन्होंने बताया कि हमारे सारे बच्चे ऑपरेशन के जरिए हुए थे। इसलिए उसमे नीचे की कसावट में ढीलापन नही आया है। फिर दोनों बुआएं चली गईं। अब रात भर मैं परेशान होकर यही सोचता रहा कि मैं इन्हें चोदने का प्लान बना रहा लेकिन ये तो किसी से नही चुदी। मतलब मेरे से भी नही चुदेंगी।

 

बुआ के घर मे एक बड़ा सा टैंक था तो मैं उसमे तैरने लगा। तो बुआ देखकर बोली कि हमे भी तैरने सीखा दो। इस तरह हम तीनों नंगे होकर टैंक में आ गए। तभी बड़ी बुआ बोलीं- पता नहीं क्यो अब अर्नब के सामने हमें नंगा होने में शर्म ही नहीं आती जबकि इतने नंगे तो हम अपने पति के सामने भी कभी नहीं हुए। मैं हंस दिया और बड़ी बुआ को तैरना सिखाने लगा। उधर छोटी बुआ सिर्फ पानी से नहाने लगीं। आज मैंने अपना लंड पहले ही नीचे कर दिया और बुआ को कमर को पकड़ कर पीछे खींचा, तो लंड चूत से रगड़ता हुआ फिसल गया। फिर मैं बुआ से बोला- आप हाथ चलाना तो सिख चुकी हैं, अब अपकक पैरों को चलाना भी सिखाता हूँ। बुआ बोली ठीक है।

 

और फिर मैं उनके आगे आ गया। मेरा लंड अब बिल्कुल बुआ के मुँह के सामने था। तभी बुआ मेरा लंड अपने मुँह में ले ली। उनकी इस हरकत से मैं चौंक गया। तभी पीछे से छोटी बुआ भी आ गईं और मुझे अपने बांहो में जकड़ लिया। तभी बड़ी बुआ खड़ी होकर आगे से जकड़ ली। दोस्तों मेरी छाती और पीठ पर उन दोनों के बड़े बड़े बूब्स रगड़ खाने लगे।

 

मैं बड़ी बुआ से पूछा- क्या हुआ बुआ आप दोनों ने तो मुझे जकड़ लिया। वो दोनों बोलीं- अर्नब, कल तूने हमारी चुदाई की यादें ताजा करके हमारी चुत की आग और भड़का दी थी। अब हम चाहते हैं कि घर की बात घर मे रहे और तू हमारी चुत की आग को शांत कर। जब से हमने तेरा ये बड़ा सा लंड देखा है, हमारी वर्षो की दबी अरमान जाग गए हैं। मुझे अपने किस्मत पर आज नाज हो रहा था। कि जिन बुआओं को मैं इतने सालों से चोदना चाहता था, आज वो खुद मुझसे चुदने को तैयार हैं। और चुत मेरे सामने परोस दी हैं। मैं खुद पर कंट्रोल किया और उन्हें किस करने लगा। मेरी दोनों बुआ भी मुझे पागलों की तरह चूम रही थीं। मैं उन्हें टैंक के किनारे ले आया और बड़ी बुआ को टैंक की दीवार पर बैठा कर उनकी चूत चाटने लगा।

बुआ तड़प गई और बोली अर्नब आज से पहले किसी ने मेरी चुत नहीं चाटी

वो एकदम से तड़प गई और हुए बोलीं- अर्नब आज से पहले मेरी चुत किसी ने नही चाटा। फिर बुआ चुप हो गईं क्योंकि उन्हें अपनी चूत चटवाने में बहुत मजा आ रहा था। मैं उनकी चूत चाट रहा था और बूब्स दबा रहा था। छोटी बुआ मेरे लंड से खेल रही थीं। मैंने उन्हें लंड चूसने को बोला, तो शर्माते हुए मना करने लगीं लेकिन फिर वो मान गई और नीचे बैठकर मेरे लन्ड को मुँह में ले ली। और धीरे धीरे मेरा लंड चूसने लगी। उनके चाटने से साफ पता चल रहा था कि इससे पहले वो कभी लन्ड नही चूसी हैं। क्योंकि वो अच्छे से लंड नहीं चूस पा रही थीं।

8, 10 मिनट बाद बड़ी बुआ झड़ गईं। तो फिर मैंने छोटी बुआ को ऊपर बिठाया और उनकी चूत चाटने लगा। अब बड़ी बुआ मेरा लंड चूस रही थीं। थोड़ी देर बाद छोटी बुआ भी झड़ गईं और मुझे चोदने को बोलने लगीं। तो मैंने कहा अब आपदोनों को मैं पहले बिस्तर पर चोदूँगा। फिर हम नहाए और थोड़ी देर बाद हम तीनों घर की ओर चल दिए। रास्ते में मैंने बुआ से बोला कि मैं मेडिकल स्टोर से कंडोम ले आता हूं, जिससे कोई खतरा ना रहे। इस पर उन दोनों ने एक साथ बोला कि इसकी कोई जरूरत नहीं है, हमारी नसबंदी हो चुकी है. तू अगर हमारे अन्दर झड़ भी गया, तो भी कोई खतरा नहीं है। और अगर बच्चा रह भी जाता है तो हम अबॉर्शन कर्व्य लेंगे। लेकिन तेरे लन्ड से सीधे चुड़ेंगी। यह सुनकर मैं खुश हो गया।

प्यासी चुत भूखा लन्ड

हम घर पहुचे तो बच्चे आ चुके थे। फिर हम रात का इंतजार करने लगे। और मैं थोड़ा बाजार जाना चाहता था तो आ गया। और मेडिकल शॉप से उत्तेजना बढ़ाने वाली दवाई की गोलियां ले ली। फिर मैं फूलों के दुकान से गुलाब के फूल के 2 बुके भी ले आया। अब मैं घर आ गया। और मैंने घर आकर देखा, तो मेरे कमरे पर ताला लगा था। मैं परेशान हो गया कि मेरे रूम में ताला क्यों लगा है। फिर मैं बुके बड़ी बुआ के कमरे में रख दिया। और फिर मैं बच्चों को पढ़ाने लगा। शाम को हम जल्दी खाना खा लिए तो बच्चों को नींद भी आने लगा। सारे बच्चे अपने अपने कमरे में सोने चले गए।

फिर बुआ बच्चों के कमरे को बाहर से बंद कर दी। और घर के मेन दरवाजे भी अन्दर से  लगा दिया। अब हमें कोई डर नहीं था। फिर बुआ बोली कि तुम हॉल में बैठो और जब हम बुलाएंगे तो आना।  आधे धंटे बाद बुआ धीरे से आवाज दी तो मैं अपने कमरे में गया। तो देखा कमरा बिल्कुल सुहागरात की तरह सजा था और दोनों बुआ दुल्हन की तरह लाल साड़ी में बिस्तर पर बैठी थी। मैं मुस्कुराते हुए अन्दर गया, तो छोटी बुआ ने मुझे दूध का गिलास दिया। मैं दूध पिया और बड़ी बुआ को किस करना शुरू किया। फिर दोनों को बारी बारी किस करते हुए कपड़े उतारने लगा।और हम तीनों कुछ ही देर में नंगे हो गए, और फिर मैं घुटनो पर बैठकर दोनो को गुलाब फूल के बुके दिए। वो बहुत खुश हुई

मेरा समूचा लन्ड बुआ के चुत को चीरता हुआ अंदर समा गया।

बुआ काफी सालों से नहीं चुदी थीं, तो उनकी चूत टाइट हो ही चुकी थी

फिर मैंने बड़ी बुआ की चूत चाटनी शुरू की और छोटी बुआ अब मेरा लंड मजे से मुँह में लेने लगीं। 8, दस मिनट में बुआ झड़ गई। फिर मैंने बुआ की पोजीशन बदली और छोटी बुआ की चूत चाटने लगा। अब बड़ी बुआ मेरा लंड चूसने लगीं। थोड़ी ही देर में वो भी झड गई। मैं पहले ही जोश बढ़ाने वाली दवा खा लिया था। मैंने पहले बड़ी बुआ को घोड़ी बनाया और लंड धीरे धीरे डालने लगा। लेकिन छोटी बुआ मेरी कमर को पकड़कर जोर से आगे की और मेरा समूचा लन्ड बुआ के चुत को चीरता हुआ अंदर समा गया। बुआ काफी सालों से नहीं चुदी थीं, तो उनकी चूत टाइट हो ही चुकी थी। इस कारण उन्हें थोड़ा दर्द हुआ।

 

फिर थोड़ी देर रुकने के बाद मैं चोदना शुरू किया तो बुआ – आआहहहहहहहहहहहहहह….. अर्नब चोदो चुत। आहहहहहहहहह मेरी जान चोदो।   आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो अर्नब चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिनों बाद मर्द का लन्ड मिला है मेरी जान चोदो। तेरे फूफा कभी चुत की आग नहीं बुझाए। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज मेरी जान चोदो…………तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…. तेरे फूफा का लंड बहुत छोटा है। आहहहहहहहहह तुम्हारा लंड  मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. अर्नब मेरी जान चोदो।  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… अंदर तक धक्का मार रहा है……

 

और फिर दूसरी बार बुआ झड़ने लगी। और शांत हो गई।

 

फिर मैं छोटी बुआ को लेटाया और चुत चोदने लगा। आआहहहहहहहहहहहहहह….. अर्नब चोदो चुत। आहहहहहहहहह मेरी जान चोदो।   आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो अर्नब चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिनों बाद मर्द का लन्ड मिला है मेरी जान चोदो। तेरे फूफा कभी चुत की आग नहीं बुझाए। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज मेरी जान चोदो…………तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…. तेरे फूफा का लंड बहुत छोटा है। आहहहहहहहहह तुम्हारा लंड  मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. अर्नब मेरी जान चोदो।  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… अंदर तक धक्का मार रहा है……

कमसिन कली

और तभी मुझे एहसास हुआ कि मेरा लन्ड पानी छोड़ने ही वाला था तभी बुआ बोली, चोदो अर्नब मेरा चुत फिर से झड़ने वाला है।

 

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेटा कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… और फिर मैं झड़ रही हूं अर्नब मारो अंदर तक। और फिर बुआ और मैं एकसाथ झड़ गए। बुआ की चुत मेरे लन्ड के रस से पूरा भर गया।

 

दोस्तों अब तो ऐसा हो गया था कि रोज रात को दोनों बुआ बच्चों को सुला कर उनका कमरा बाहर से बंद करके मेरे कमरे में आ जाती थीं और हम चुदाई करते। मेरी दोनों बुआ मेरी पत्नी बन चुकी थीं। पिछले 6, 7 महीनों में हम रोज चुदाई कर रहे थे। तो दोस्तों कैसी लगी बुआ भतीजे की चुदाई की कहानी, हमे लिखें, और हमारा हौसला बढ़ाएं ताकि मैं ऐसे ही और मजेदार अनुभव की सेक्स कहानियां आपसब के लिए लेकर आऊं।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

तो आप सब अपना ख्याल रखिएगा। कोविड का सिचुएशन है तो अपना विशेष ख्याल रखिएगा। नमस्कार।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *