माँ के साथ मौसी की भी चुत

माँ के साथ मौसी की भी चुत फाड़ दिया

और माँ कपड़े उतारने लगी। पहले वह अपनी गाउन उतारी फिर ब्रा और फिर पैंटी। पैंटी उतारने के बाद माँ चुत पर हाथ लगाई तो माँ के चुत पहले से पानी पानी हो रखा था। मेरी माँ चुत में 4 उंगलिया डाल के अच्छे से चुत के पानी को उंगलियो पर लगाई। मैं पतले चादर के अंदर से सबकुछ देख रहा था। फिर माँ मेरे पास आई और मेरे चादर को चेहरे से हटाने लगी तो मैं आंखे बंद कर दिया। और माँ चादर हटाकर चुत के पानी से सने उंगलियो को मेरे नाक के पास लायी और मुझे स्मेल देने लगी फिर मेरे होंठो पट वह चुत का पानी लगाने लगी और फिर बिस्तर पर चढ़ गई और मेरे तरफ दोनो पैर करके अपनी रसीली चुत को मेरे मुँह पर रख दी। और रगड़ने लगी। अब मेरे से रहा नही गया तो मैं माँ के चुत के दाने को होंठो से पकड़ा और खिंचने लगा माँ ऊपर खिंचने लगी

हैल्लो दोस्तों, मैं यश हूँ। मेरी उम्र 22 साल है। और मुझे बड़ी उम्र की औरतें पसन्द हैं मैं लड़कियों को जरा भी पसन्द नही करता ना ही किसी लड़की को घास डालता हूँ। मेरे आगे पीछे लड़कियों की फौज घूमते रहती है लेकिन मैं किसी को घास नही डालता।

क्योकि मुझे उम्रदराज औरतों को चोदना ज्यादा पसंद है क्योंकि वो खुलकर मजा देती है। और लत मुझे मेरी माँ ने लगाया है। दरअसल मैं अपनी माँ को चोदता हूँ। इसी कारण मैं लड़कियों से दूर हूँ। मेरी माँ तरह तरह के स्टाइल में बिल्कुल रंडी की तरह मुझसे चुदवाती है और मुझे चुदाई का गुर सिखाती है।

https://nightqueenstories.com के सभी पाठकों को मेरा तहेदिल से नमस्कार। दोस्तों कहानी को आगे बढ़ाते हैं। और चलते हैं कामुकता के दुनिया मे।

दोस्तों यह कहानी है मेरी माँ और मौसी की गर्म चुत चुदाई की। मेरी माँ का नाम राधा है जो कि 44 साल की हैं और मेरी मौसी का नाम साधना है जो मेरी माँ से 6 साल छोटी हैं और उनकी उम्र 38 साल है। मेरी मौसी के 2 बच्चे हैं एक 12 साल का और एक 8 साल का। बड़ा लड़का होस्टल में रहता है। मेरे मौसा जी आर्मी में हैं। और मेरी मौसी बनारस में घर किराए पर लेकर रहती है।

जैसा कि आप सब जानते हैं कि मेरे पिताजी का देहांत 14 साल पहले हो गया था। तो बिजनेस मेरी माँ ही संभालती है और मैं अपने माँ कक 16 साल की उम्र से चोद रहा हूँ।

कैसे मैं अपनी चुदक्कड़ माँ के बाद रंडी मौसी का चुत फाड़ा

यह बात उन दिनों की है जब मेरी मौसी बनारस से छुट्टियां बिताने कानपुर मेरे घर आई हुई थी। दोस्तों मुझे और माँ को चुदाई करते 2 दिन हो चुका था क्योंकि मौसी जब से आई थी हमारे इर्द गिर्द ही रहती थी और मैं और माँ बिना चुदाई के परेशान हो गए थे। एक रात और 2 दिन बड़ी मुश्किल से कटे थे। क्योंकि रात को भी मौसी हमारे साथ ही कॉमन रूम में सोती थी। उनका कहना था कि हमसब साथ सोएंगे कितनी मुश्किल से तो साथ समय बिताने का मौका मिला है।

तो दूसरे दिन रात को डिनर करने के बाद मैं बोला कि माँ मेरी तबियत ठीक नही लग रही है मैं अपने रूम में सोने जा रहा हूँ। और चला गया तो मेरी मौसी पीछे पीछे आयी और बोली यश क्या हुआ तुम्हारी तबियत अचानक कैसे खराब हो गई। डॉक्टर को बुलाऊँ क्या तो मैं बोला नही मौसी आप परेशान मत हो बस थोड़ी बेचैनी अउ पेट मे जलन हो रहा है ठीक हो जाएगा। मैं थोड़ा आराम करूँगा तो ठीक हो जाएगा। तो मौसी बोली ठीक है तुम आराम करो। फिर करीब आधे घंटे बाद माँ मौसी से बोली कि साधना आज तुम अकेली हो सो जाओ मैं यश के पास चली जाती हूँ पता नही क्या हुआ है। रात को तबियत ज्यादा न खराब हो जाये मैं देखभाल करूँगी। ऐसे तुम भी रात भर डिस्टर्ब हो जाओगी। तो मौसी बोली हां दीदी तुम यश का ख्याल रखो। फिर मौसी कॉमन रूम में चली गई और माँ मेरे पास आ गई।

 

मैं तो पिछले एक घंटे से माँ का इंतजार कर रहा था। और मेरा लन्ड तो पिछले तीन दिन से माँ के चुत का इंतजार कर रहा था। तो फाइनली माँ मेरे रूम में आ गई और दरवाजा अंदर से बंद कर दी। मैं तो पहले से सारे कपड़े उतारकर चादर ओढ़ लिया था। तो माँ को लगा मैं सो गया हूँ। और माँ कपड़े उतारने लगी। पहले वह अपनी गाउन उतारी फिर ब्रा और फिर पैंटी। पैंटी उतारने के बाद माँ चुत पर हाथ लगाई तो माँ के चुत पहले से पानी पानी हो रखा था। मेरी माँ चुत में 4 उंगलिया डाल के अच्छे से चुत के पानी को उंगलियो पर लगाई। मैं पतले चादर के अंदर से सबकुछ देख रहा था। फिर माँ मेरे पास आई और मेरे चादर को चेहरे से हटाने लगी तो मैं आंखे बंद कर दिया। और माँ चादर हटाकर चुत के पानी से सने उंगलियो को मेरे नाक के पास लायी और मुझे स्मेल देने लगी फिर मेरे होंठो पट वह चुत का पानी लगाने लगी और फिर बिस्तर पर चढ़ गई और मेरे तरफ दोनो पैर करके अपनी रसीली चुत को मेरे मुँह पर रख दी। और रगड़ने लगी। अब मेरे से रहा नही गया तो मैं माँ के चुत के दाने को होंठो से पकड़ा और खिंचने लगा माँ ऊपर खिंचने लगी और आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईई….आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईi करने लगी। और बोली मादरचोद मैं जानता था तो नाटक कर रहा है चाट साले मेरी चुत। 3 दिनों से प्यासी है ये चुत। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजजजाआआआ चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से.. हर्षित। चाटो मेरी चुत। चुत से पानी निकाल दो चाटकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह देव मेरी चुत बहुत प्यासी है। चाटो जोर।से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..

साली हरामजादी मेरी बहन आकर हमारे बीच चुदाई का खेल बिगाड़ रही है। दो दिन से मेरी चुत को तेरे लन्ड का पानी नसीब न हुआ। कैसे बिताई है ये 2 दिन मेरी चुत से पूछो।

यश चाटो मेरी चुत।.. चाटो और जोर से चाटो।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. खा जाओ मेरी चुत राजज्ज्ज़ा चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह.. तुम कितने अच्छे हो मेरे बेटे…. चाटो राजा चाटो मेरी चुत। पूरा निगल जाओ मेरी चुत को। आहद हहहहहहहहह। ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..

माँ बोली यश बेटे चोदो अपनी चुदक्कड़ माँ की चुत

मन कर रहा था तुम्हारी मौसी को घर से बाहर कर दूं और जी भर के तेरे लन्ड से चुड़वाऊं बहुत कष्ट में बितायी है मेरी चुत ये 2 दिन…

यश बेटे चाटो अपनी चुदक्कड़ माँ की चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। तुम्हारे चाचा कभी मेरी चुत नहीं चाटते… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजाआआआ बेटा.. चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।… आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत

और माँ मेरी मुँह में रस छोड़ने लगी। दोस्तों मेरी माँ की चुत से निकली रास बहुत टेस्टी और हेल्थी है। मैं अपनी माँ की चुत का टॉनिक पीकर ही 16 साल के बच्चे से 22 साल का जवान गबरू मर्द बन चुका हूँ।

माँ बोली राजा बेटा अब देर मत कर फाड़ दे अपनी माँ की चुत

फिर माँ उठी और मेरे लन्ड पर टूट पड़ी। वह मेरे लन्ड को ऐसे चाट रही थी जैसे वर्षों से लन्ड नही देखी हो जबकि 2 दिन की सिर्फ प्यास थी। मेरी माँ 5 मिनट तक मेरा लन्ड चूसी।

और फिर मेरे से रहा नही गया तो मैं माँ को झटका दिया और बिस्तर पर पटक दिया और मैं उछल कर बैठ गया। और माँ के एक पैर को कंधे पर रखा और दूसरे पैर को अपने साइड में फैलाया। और अपना लन्ड माँ की चुत पर रखा और एक ही धक्के में पूरा लन्ड पेल दिया। माँ मेरी कमर को पकड़ ली और बोली राजा बेटा अब देर मत करो अब चोदो। फाड़ दो मेरी चुत।

आआहहहहहहहहहहहहहह….. सुमित मेरी जान चोदो। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर जोर से चोदो मेरे शेर….. चोदो सुमित चोदो…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह……

दोस्तों आपसब को एक बात बताता हूँ मेरी मौसी जब से आई थी तबसे मेरी नजर उनकी चुचियों पर थी। मैं छुप छुप के उनको नहाते हुए देखता था और ठान लिया था कि मैं मौसी को बिना चोदे नही छोड़ूँगा।

तो मैं मम्मी की चुदाई करते हुए मौसी की तारीफ करना शुरू कर दिया।

तब मम्मी ने मेरी बातें सुनकर मुझसे बोली कि साले हरामी मादारचोद मुझे तो पहले ही पता चल गया था कि तू मेरी अपनी मौसी को बिना चोदे नहीं छोड़ेगा। क्योंकि में तुझे उसके बड़े बड़े मम्मों को घूर घूरकर झांकते हुए कई बार देख चुकी हूँ सुर तू साले उसको नहाते हुए चोरी चोरी देखता है, और उसको कपड़े बदलते हुए भी देखता है। और तू उसको कपड़े बदलते हुए उसकी नंगी वीडियो भी अपने मोबाइल से बनाया है मादरचोद मुझे सब पता है। वो छिनाल जब से आई है तब से मैं उस पर भी और तुम पर भी नजर बनाए हुए थी। अब साले तू पहले मेरी चुत चोद…

और तू जब भी उसकी कूल्हों की तरफ देखता था तब में तुरंत समझ जाती थी कि तू साला बहनचोद अब अपनी मौसी की गांड भी जरुर एक दिन मारेगा… और उसकी गुलाबी चुत को बिना फाडे नही मानने वाला… और वह साली रंडी भी तुझे दिखाने के लिए ब्लाउज भी ऐसे ही पहना करती है कि उसके पूरे बूब्स बाहर लटके रहे और तू उसे देख के बेकाबू हो जाए।, रंडी साली वो ऊपर का हुक भी नहीं लगाती है। अब पहले मेरी चुत चोद हरामी फिर मौसी की चुत के बारे में सोचना।

आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिनों से तुम्हारे लन्ड के लिए मैं तड़प रही थी। आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… बेबी कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी जान चोदो…………तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है…. मेरी बच्चेदानी में धक्का मार रहा है। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह……

दोस्तों मौसी बहुत गोरी थी। और ठंढीयो में उनकी गाल बिल्कुल डार्क रेड गुलाब की तरह लाल हो जाती थी। उनकी 32 इंच की बड़ी बड़ी बूब्स नारियल के तरह कड़क थे। और उनकी गांड़ तो पूछो मत 28 इंच की पतली कमर की वजह से उनकी 38 इंच की गांड़ किसी अप्सरा को भी मात देती थी।

जब भी मौसी चलती थी तो मेरा ध्यान उनकी मटकती गांड पर टिक जाता था। दोस्तों मौसी साड़ी बिल्कुल नीचे बांधती थी कसम खुदा की, साड़ी में मौसी काम की देवी लगती थी। और उनकी गोल गहरी नाभि बिल्कुल बन्द गांड़ की छेद लगती थी।

दोस्तों मॉम चोदवाते हुए जोर जोर से चिल्लाकर मेरा जोश बढ़ा रही थी। इस दौरान मॉम 3 बार झड़ चुकी थी। लेकिन 3 दिन से चुदाई नही होने के कारण माँ बहुत चुदासी थी आह हहहहहहहहहहहहह….. चोदो। मेरी जान चोदो आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो मेरे राजा आआआहहहहहहहहह हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. ओह मेरी जान चोदो. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईई….आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईi

फिर माँ चुदवाते हुए मौसी की बुराई भी कर रही थी। मॉम बोली साले मादरचोद तेरा लन्ड सिर्फ मेरा है मेरी बहन तो शुरू से ही छिनाल है। वो तो तेरे बाप के सामने भी चुचियों का प्रदर्शन करती थी। हहहहहहहहहहहहह…….. आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईई….आहहहहहहहहहहहहहहहहहः ओहहहहहहहहहहहहहहहहह iiiसससीईईईईईईi

वो कुतिया शुरू से हरामी है। उसका पति तो साल भर में महीने भर के लिए आता है तो उसकी चुत तो लन्ड की भूखी रहेगी ही ना। मैं अच्छे से जानती हूँ वो तुम्हे रिझाने के लिए नाभि और चुचियाँ दिखाती है। और नहाते समय जानबूझकर दरवाजा खुला छोड़ देती है। और कपड़े चेंज करते समय पूरी नंगी हो जाती है। वरना ब्रा और पैंटी खोलकर वापिस पहनने की क्या जरूरत थी।

साले तू मुझे चोद तू सिर्फ मेरा है। तेरा लन्ड का पानी सिर्फ मैं पिऊंगी। चोद भड़वे चोद मेरी चुत हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिनों से तुम्हारे लन्ड के लिए मैं तड़प रही थी। आआआहहहहहहह मादरचोद चोदो मेरी चुत। मारो मेरे राजा आआहहहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… चोदो मेरा सोना बेटा। कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आहहहहहहहहह मेरी चुत की प्यास बुझाता है। बेटा मैं एक बार फिर से झड़ने वाली हूँ और मैं अब थक भी गई हूँ। तो जल्दी अपना लन्ड का पानी निकालो। आहहहहहहहहहहहहहहहहह बेटा मैं गई जान मेरी चुत पानी छोड़ रही है। और साथ ही मेरा भी लन्ड रस उगलने लगा। अब मेरी माँ पूरी तरह संतुष्ट हो चुकी थी। और मुझे कस के दबोच ली। मैं भी उसे किस करते हुए उसके चुचियों पर छाती रगड़ने लगा।

मैं किस करते हुए मम्मी को बोला मम्मी प्लीज एक बार मौसी की चुत भी मुझे दिला दो। तो माँ बोली ठीक है। लेकिन आज रात भर तू मुझे अच्छे से चोद फिर कल मैं तेरी मौसी की चुत और गांड़ दोनो दिलवाऊंगी।

दोस्तों मैंने मौसी को कैसे चोदा अगले कहानी में बताऊंगा। तब तक अपना ख्याल रखिए। और https://nightqueenstories.com पर चुदाई की कहानियों का आनंद लेते रहिए। धन्यवाद।

 

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *