चाची की मोहब्बत

मेरी जवान चाची की मोहब्बत

दोस्तों मेरा नाम हर्षित है। मैं लुधियाना में रहता हूँ मेरी उम्र 19 साल है। मैं बेसिकली UP का रहने वाला हूँ लेकिन मेरे डैड यहाँ नौकरी करते हैं। मेरे एक चाचा चाची हैं जो कानपुर में रहते हैं।

 

मेरी चाची का नाम सिमा है। वो अभी 36 साल की हैं और उनकी एक लड़की है 12 साल की जो देहरादून में होस्टल में रहके पढ़ती है।

तो मेरे मामा जी के यहां शादी पड़ी थी तो मेरे परिवार के सभी लोगों को वहां जाना था लेकिन मेरा ITI का एग्जाम था तो मैं नहीं जा सकता था। तो मेरे पापा ने मेरे चाचा चाची को बोले कि एक हफ्ते की छुट्टी लेकर लुधियाना आ जाओ हर्षित का ध्यान रखना और तुमलोगो का घूमना भी हो जाएगा।

Hot Sex Story

तो मेरे चाचा चाची आ गए और मेरी फैमिली उसी दिन शाम को ट्रेन से मामा जी के यहाँ चले गए। मेरी चाची बहुत खूबसूरत हैं। उनकी दूधिया बदन किसी परी जैसी लगती है।

चाची ने मुझे मुठ मारते हुए पकड़ ली और शुरू हुई मेरी और चाची की चुदाई की खेल

तो रात को हमसब खाना खाए और चाचा चाची गेस्ट रूम में सोए और मैं अपने कमरे में। रात को मैं https://nightqueenstories.com पर सेक्स कहानियां पढ़ने लगा और मैं पूरी तरह से एक्साइटेड हो गया। और मैं कहानियाँ पढ़ते हुए मुठ मारने लगा। और गेस्टरूम का बाथरूम मेरे रूम के बगल में ही था। तो चाची बाथरूम जाने लगी तो मेरी रूम में उनको आवाज आई। मेरा रूम का दरवाजा खुला ही रहता है बस पर्दा लगा रहता है। मैं मुठ मारने में इतना मगन था कि मुझे पता ही नही चला की चाची कब से मेरे दरवाजे पर खड़े होकर मुझे मुठ मारते हुए देख रही है। और जब मेरे लन्ड ने पानी छोड़ दिया तो मेरी आँख खुली तो सामने चाची खड़ी थी। मैं देखकर घबरा गया। फिर चाची वापिस चली गई। लेकिन मेरी तो गांड़ फट गई ना।

 

मैं डर रहा था कि चाची कहीं चाचा से बता ना दे। इसी उधेड़बुन में पूरी रात गुजरी।

 

दूसरे दिन मेरे चाचा को वापिस कानपुर जाना था। तो 12 बजे वो निकल गए। लेकिन जब कोई कुछ मुझे नही बोला तो मैं समझ गया कि चाची ने चाचा से नही बताई है। फिर पूरा दिन बीत गया। शाम को चाची बोली कि चलो घूमने चलते हैं। फिर हम घूमने गए तो मॉल में गए। तो चाची बोली चलो अब आये हैं तो मूवी देखते हैं फिर चलेंगे। फिर हमदोनों मूवी देखे। मूवी में कुछ रोमांटिक सिन भी थे और लिप किस भी। तो एक बार चाची बोली की रात में तुम वैसा क्यो कर रहे थे। तो मैं शर्मा गया और कुछ नही बोला लेकिन जब चाची बोली कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है तो मैंने न कहा। तो चाची बोली की एक गर्लफ्रेंड बना लो तब ये सब अपने गर्लफ्रेंड के साथ करना खुद से करने की जरूरत नही पड़ेगी। मैं कुछ नही बोला।

 

और फिर मॉल में ही खाना खाएं और रात को करीब 10 बजे घर पहुँचे। फिर थोड़ी देर हम साथ बैठे और मैं बोला कि मैं सोने जा रहा हूँ। तो चाची बोली कि सोने ही जा रहे हो ना कुछ और करने तो नही।

 

मैं शर्मा गया तो चाची बोली कि कहाँ अकेले सोवोगे। मुझे भी अकेले डर लगेगा तो चलो गेस्टरूम में ही बड़ा बेड है वही दोनो सो जाएंगे। मैने कहा ठीक है। फिर हमदोनों सोने चले गए। लेकिन हमदोनों ही चेंज नही किये थे तो मैं बोला की चाची मैं चेंज करके आता हूँ। चाची बोली ठीक है।

चाची की बड़ी सी गांड़ ब्लू रंग की पैंटी में शानदार लग रही थी

मैं अपने रूम मे चेंज करने लगा। और फिर मैं जब चेंज करके वापस गया तो देखा चाची भी चेंज कर रही है और ब्लू कलर की ब्रा पैंटी में हैं। और मैं रूम में घुस गया तबतक चाची गाउन पहन ली थी। फिर मैं गया और बिस्तर पर बैठ गया और चाची को बोला की आप बहुत सुंदर हैं। तो चाची हंस दी। फिर वो भी बिस्तर पर आ गई। गर्मी का मौसम था तो AC चला दिया। और करीब 12 बजे जब ठंढ लगने लगी तो मैं चादर ओढ़ लिया। फिर मुझे लगा कि मुझे सुसु का एहसास हो रहा है। तो मैं उठा और चला गया और जब वापिस आया तो देखा चाची का गाउन कमर तक उठा हुआ है और उनकी ब्लू कलर की पैंटी में गांड़ बिल्कुल चमक रहा है। चुकी लाल रंग का नाईट बल्ब जल रहा था। तो एक हद तक ही सबकुछ दिख रहा था लेकिन चाची की बड़ी सी गांड़ देखकर मेरे लंड देव कसरत करना शुरू कर दिए।

कुछ देर मैं चाची की टाइट गांड़ को निहारता रहा

चाची की बड़ी सी गांड़ पर छोटी सी पैंटी बड़ी मुश्किल से उनके चूतड़ों को ढकी हुई थी। और पैर मुड़े होने के कारण पैंटी बिल्कुल चिपकी हुई थी।

कुछ देर तक तो मैं चाची के गांड़ को निहारता रहा फिर मैं बिस्तर पर जाकर लेट गया। लेकिन मेरे लन्ड में हलचल शुरू हो गया था। और बार बार मेरी निगाह उनकी गांड़ पर चली जा रही थी। मैं लाख सोने की कोशिश कर रहा था लेकिन मेरा लन्ड इतना सख्त हो चुका था कि लग रहा था जैसे लोहे का रॉड हो।

 

अब मुझसे रहा नही जा रहा था, तो मैं चाची के बिल्कुल करीब आ गया और एक हाथ चाची के ऊपर रख दिया। 5 मिनट मैं इंतजार किया जब चाची की तरफ से कोई हलचल नही हुआ तो मैं और करीब आ गया जिससे मेरा खड़ा लन्ड चाची की बड़ी सी गांड़ पर टच हो गया। और मैं हाथ को और आगे कर उनकी चुचियों पर हाथ रख दिया।

New Hindi Sex Story

अब मेरा लन्ड चाची के गांड़ पर उठक बैठक कर रहा था। करीब 5 मिनट ऐसे ही चला चाची की तरफ से कोई मूवमेंट ना देखकर मैं उनकी चूची को सहलाने लगा और फिर उनकी गाउन और ब्रा में हाथ डालकर उनकी निप्पल को उंगलियो से मिसने लगा। और तभी मुझे महसूस हुआ कि उनकी निप्पल सख्त हो रही है।

चाची की चुत से लसलसा पदार्थ रिस रहा था

अब मेरे लन्ड में और तेज तनाव हो चुका था। तभी मैं चाची के पैंटी को नीचे करना चाहा लेकिन उनकी पैंटी नीचे नही हो रही थी। और तब मैं साइड से पैंटी को हटाना चाहा लेकिन दबे होने के कारण उनकी पैंटी बिल्कुल हिल नही रही थी। मैं यह कोशिस करता रहा लेकिन कामयाबी नहीं मिली। लेकिन मेरा लन्ड लगातार चाची के गांड़ पर ठोकरें मार रहा था तभी चाची हिली और सीधी होकर सो गई। मैं थोड़ी देर इंतजार किया और फिर मैं चाची के कमर पर हाथ ले गया और सहलाने लगा। चाची शायद बेसुध नींद में थी। तो मैंने हाथ थोड़ा और नीचे किया और चाची के चुत पर हाथ ले गया। और मैं हैरान हो गया क्योंकि चाची के चुत के पास पैंटी बिल्कुल गीली थी और मेरे हाथों में लसलसा पदार्थ महसूस हो रहा था।

 

तो मैं चाची के चुत को पैंटी के ऊपर से ही रगड़ने लगा। और फिर मैं चाची के पैंटी के अंदर हाथ डालने लगा। और धीरे धीरे मेरी हाथ चाची के बुर पर पहुच गई गया। चाची की चुत पूरी तह गीली हो चुकी थी। और उनके चुत से लसलसा चीज मेरे हाथों पर लग रहा था। मैं चाची के चुत के दाने को रगड़ने लगा। उनकी चुत का दाना बहुत बड़ा था। और चुत से बिल्कुल बाहर था। तभी चाची अपने पैरों को और फैला दी। जीससे मेरा हाथ और आसानी से उनकी चुत को मसलने लगा। करीब 10 मिनट तक मैं उनकी चुत को रगड़ा।

 

और तभी चाची सससीईईईईईईसससीईईईईईई…

 

करते हुए मुझे अपनी बाहों में जकड़ ली और मेरे होंठो पर टूट पड़ी। वह बुरी तरह मेरे होंठो को किस करने लगी। और तब मैं समझ गया कि चाची पहले से ही जगी हुई थी लेकिन वह सोने का नाटक कर रही थी और मजे ले रही थी।

चाची की चुत लाल रंग की रोशनी में चमक उठी

अब मैं भी चाची को किस करने में सहयोग करने लगा। और तब वह धीरे से मेरे कानों में बोली कि हर्षित नीचे जाओ।

 

मैं समझ गया कि चाची क्या चाहती है। मैं उठा और झट से उनके पैरों के तरफ चला गया। और उनकी पैंटी को उतार दिया। और उनके पैरों को फैलाकर घुटनो से मोड़ दिया।

 

अब चाची की चुत लाल रंग की रोशनी में चमक उठी लेकिन मैं अच्छे से उनकी चुत को देखना चाहता था इसलिए मैं लाइट ऑन कर दिया और फिर से उनके पैरों को कड़ा और उनके चुत पर मुँह रख दिया। चाची सिहर गई और झटके में कमर उछाल दी और मेरा सर जोर से अपने चुत पर दबा दी।

अब उनकी जुबान से कामुक सिसकारियां निकलने लगी और चाची कहने लगी आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राजजजाआआआ चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से.. हर्षित। चाटो मेरी चुत। चुत से पानी निकाल दो चाटकर आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजा…राजअअअअअअअ।। चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह देव मेरी चुत बहुत प्यासी है। चाटो जोर।से।…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. हर्षित चाटो मेरी चुत।..  चाटो और जोर से चाटो।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. खा जाओ मेरी चुत राजज्ज्ज़ा चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह..  तुम कितने अच्छे हो मेरे बेटे…. चाटो राजा चाटो मेरी चुत। पूरा निगल जाओ मेरी चुत को। आहद हहहहहहहहह। ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. हर्षित चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..।  तुम्हारे चाचा कभी मेरी चुत नहीं चाटते… आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे राजाआआआ बेटा..  चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..। आहहहहहहहहहहहहहहहहह…ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. राज चाटो मेरी चुत।…  आआआहहहहहहह चाटो जोर से..।

 

हर्षित खा जाओ मेरी चुत को राजा… मुझे आज तक ऐसा मजा कभी नही आया। मेरी चुत किसी ने आजतक नही चाटा। आहहहहहहहहहहहहहहहहह … आहहहहहहहहहहहहहहहहह … हर्षित बेटे मैं झड़ने वाली हूँ। और चाची अपनी गांड़ और तेजी से उछालने लगी। तभी चाची की चुत झरने की तह पानी छोड़ने लगी। मैं सारा पानी पी गया।

 

और फिर चाची मुझे खिंच ली और मेरे होंठो को चूसने लगी। चाची पागलों की तरह मेरे पूरे चेहरे पर किस कर रही थी।

चाची एक झटके में मेरा पूरा लन्ड अपनी चुत में डाल ली

फिर चाची उठ गई और मुझे लेटा दी और मेरे लन्ड को मुँह में लेकर चूसने लगी। चाची की जीभ जैसे ही मेरे लन्ड को छुआ मेरे शरीर मे एक भयानक बदलाव हुआ लगा जैसे मेरे शरीर मे अनगिनत चिंगारियां एकसाथ फुट पड़ी।

 

करीब 5, 7 मिनट चाची मेरे लन्ड को चूसी फिर मैं चाची को ऊपर खिंचने लगा तो चाची समझ गयी। और मेरे दोनो तरफ पैर करके मेरे लन्ड को अपने चुत पर सेट की और पूरे जोर से झटके के साथ मेरे लन्ड पर दबाव बनाई मेरा लन्ड एक बार मे ही उनकी चुत में समा गया। लेकिन मेरे लन्ड पर बहुत तेज पीड़ा हुआ। फिर चाची ऊपर नीचे उछलने लगी उनकी चजोडने की रफ्तार बढ़ते जा रही थी। वह 5, 7 मिनट चोदी फिर उनकी चुत पानी छोड़ दिया।

 

तब चाची बोली हर्षित अब तुम ऊपर आकर चोदो मैं थक गई। और फिर चाची लन्ड को बिना निकले लेट गई और मैं वैसे ही ऊपर आ गया। लन्ड अभी भी चुत में ही था। और एमी जोर जोर से चोदना शुरू किया। चाची सिसकारियों के साथ चिल्लाने लगी … ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. हर्षित.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।   चोदो राशि हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से चोदो.. चोदो मेरी जान आहहहहहहहहहहहहहहह…… मेरे राजा बेटे..  कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरी गुड़िया…  मेरी जान चोदो। आआआहहहहहहह चोद के फाड़ दो मेरी चुत।  कमर उठा उठा के मारो झटके.. मेरे बाबू चोदो जोर से हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… तू तो सच्चा मर्द है। तू चाचा से भी अच्छा चोदता है।.. तेरा जवान लंड मेरी चुत का भोसड़ा बना दिया। आहहहहहहहहह बेबी….. चोदो हर्षित…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिन से प्यासी है मेरी चुत। चोदो ना जान तेजी से चोदो।…  ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबी.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।   चोदो मेरे सोना बेटा… हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से चोदो फाड़ दो मेरी चुत.. .. चोदो मेरी जान आहहहहहहहहहहहहहहह…… मेरे सइयाँ चोदो  कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. मेरे शेर चोदो…  मेरी जान चोदो।  आआआहहहहहहह चोद के फाड़ दो मेरी चुत।  कमर उठा उठा के मारो झटके.. मेरी बाबू चोदो जोर से हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…….. चोदो हर्षित…. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो….ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बहुत दिन से प्यासी है मेरी चुत। चोदो ना जान तेजी से चोदो।…

Juicy Sex Stories

बेबी मैं एक बार फिर से झड़ने वाली हूँ चोदो जोर से। बहुत प्यासी थी मेरी चुत। मैं गई राजा गई। और चाची का चुत ढेर सारा पानी कजोड़ दिया। और एक बार फिर से चुत से फच फच की आवाज आने लगी। तभी मेरा शरीर ऐंठने लगा। और मेरे लन्ड ने ढेर सारा पानी चाची के चुत में उगल दिया।

 

चाची पूरी तरह संतुष्ट हो चुकी थी।

 

चाची एक हफ्ता मेरे घर रही उतने दिन हम रोज 5,6 बार चुदाई किये यहां तक कि हम दिन रात ननगे ही घर मे रहते थे। और पति पत्नी को तरह सोते थे।

 

चाची ने मुझसे गांड़ भी मरवाई और अलग अलग पोजिशन में मुझे चोदने सिखाई।

 

तो दोस्तो ये थी मेरी चाची की चुदाई की कहानी। आप सब से आग्रह मुझे कमेंट कहानी का फीडबैक दें। और कहानी को लाइक और शेयर जरूर करें।

 

तो मिलते है किसी और कहानी में। आप सब अपना ख्याल रखें। और ऐसी ही मजेदार कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहें। नमस्कार।

 

67% LikesVS
33% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *