आर्मी मैन की बीवी

 227 

आर्मी मैन की बीवी की प्यासी चुत की चुदाई

कैसे हो https://nightqueenstories.com के पाठकों?

तो एक बार फिर मैं एक गर्म सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ।

ये कहानी एक आर्मी मैन की बीवी के साथ चुदाई की है जो बहुत ज्यादा कामुक और चुदाई की प्यासी थी और मेरे जिस्म की गर्मी और मेरे लंड की गर्म पानी पाकर वो और खिल गई।

दोस्तो मेरा नाम दीपू है।  मैं https://nightqueenstories.com का नियमित पाठक और लेखक हूँ। मुझे अपना अनुभव आपसब से साझा करना बेहद पसंद है। आपसब से अपनी अनुभव साझा करके मुझे बेहद खुशी होती है।

यह कहानी मेरी जिंदगी की सच्ची घटना है। इसलिए आपसब से शेयर कर रहा हूँ। 

 मेरी उम्र 26 साल  है.. मेरा हाइट 5 फुट 6 इंचहै।  ये घटना करीब 2 साल पहले मेरे साथ घटी थी।  मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। लाजपतनगर में मेरा अपना घर है। मैं मध्यमवर्गीय परिवार से हूँ। लेकिन घर मे सारी सुविधाएं हैं।

मैं जब 15 साल का था तब पहली बार सेक्स किया था। अपनी चचेरी बहन के साथ जो तब 21 साल की थी। लेकिन वो कहानी मैं फिर कभी सुनाऊंगा। तो जैसा कि आपसब जानते हैं। 15 साल की उम्र में जिसे चुत का रस मिल गया हो वो कितना बड़ा चुदक्कड़ होगा। तो  मुझे भी सेक्स की आदत लग चुकी थी। 

रॉंग नम्बर से शुरुआत हुई और होटल के बिस्तर में चुदाई तक पहुँच गई

तो मैं अब दिल्ली में ही प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ। मेरा काम बहुत ज्यादा नही है। और अक्सर मैं फ्री रहता था। तो मैं तिमेपस करने के लिए इंटरनेट पर कुछ न कुछ करते रहता था।

एक दिन मेरे आफिस में काम खत्म हो गया था। और मैं इंटरनेट पर कुछ ऐसे देख रहा था। तभी मेरे फोन पर एक कॉल आया। नया नम्बर था। मैंने पिक किया तो उधर से एक महिला थी। जो किसी देव नाम के व्यक्ति से बात करना चाहती थी। तो आपसब समझ ही गए होंगे कि वह रॉंग नम्बर डायल कर दी थी।

लेकिन उस महिला की आवाज बहुत मधुर थी। बिल्कुल कोयल की तरह। जब मैंने उसे बताया कि रॉंग नम्बर है तो वह सॉरी बोल के कॉल काट दी।

फिर मैं अपने काम मे मस्त हो गया 3, 4 दिन बाद मैं आफिस का काम खत्म करके बैठा हुआ थ। तो तिमेपस करने के लिए फोन में दोस्तों का नम्बर ढूंढने लगा। तभी वह रॉंग नम्बर दिख गया।

तो मैंने सोचा क्यों ना उसे ही कॉल करें। जब मैंने कॉल किया तो पहली बार मे तो किसी ने कॉल पिक नही किया लेकिन मैं जब दूसरी बार नम्बर मिलाया तो वही महिला कॉल रिसीव की। और हम बातें करने लगे। फिर हम थोड़ी देर रोजाना बातें करने लगे। वो भी मुझसे बात करके खुश हो जाती थी। करीब 10, 15 दिन ऐसे ही बीत गया।

फिर वो एक दिन बोली कि मिलना चाहोगे तो मैने भी झट से हाँ कर दिया। और दूसरे दिन अक्षरधाम मंदिर में मिलने के लिए बोली। मैं दूसरे दिन ठीक टाइम पर पहुँच गया और उसे कॉल किया तो वो बोली कि वो आधे घंटे पहले ही चुकी है। फिर उसने बताया कि वो कहाँ है और क्या पहनी है।

थोड़ी देर में मैं ढूंढ लिया और पहचान गया। दोस्तों उसका नाम रंजीता था। वह बहुत गोरी बिल्कुल अंग्रेज की तरह लाल थी। काले लम्बे बाल और फिट बॉडी। वह टाइट सलवार सूट में बहुत सेक्सी लग रही थी।

फिर हम काफी देर वहाँ बैठकर बातें किए। उसने अपने बारे में सबकुछ बताया। और मेरे बारे में भी जानी। वो एक आर्मी वाले कि बीवी थी। उसकी उम्र 32 साल थी। लेकिन उसके बच्चे नही थे। उसका पति 6 महीने में 15 दिन या एक महीने के लिए घर आता था। हमन काफी देर वहां समय बिताया। और एक दूसरे के बारे में सबकुछ एकदूसरे को बताए।

फिर हमने एक होटल में जाने का प्लान बनाया और लाजपतनगर में ही मेरा एक दोस्त होटल में काम करता था। मैंने उसको कॉल किया तो वो बोला कि जाओ मैं कमरा दिलवा दूंगा।

मैं उसे वहां ले गया और वहा एक कामरा ले लिया।

होटल के कमरे में पहुँच के वो मुझसे लिपट गई। और मैं उसे किस करने लगी।

 फिर धीरेधीरे.. मैंने उसके कपड़े उतार दिए.. साथ ही उसने भी मेरे कपड़े उतारे। अब वो ब्लू रंग की ब्रा.. और पैंटी में थी.. और मैं सिर्फ अंडरवियर में रह गया था।

हमदोनों एक दूसरे को बेतहाशा किस किये जा रहे थे। फिर मैंने धीरे से उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और उसकी ब्रा उतार कर फेंक दीया।  उसकी कड़क चूची अब आजाद थी। वो बिल्कुल परी लग रही थी।  मैने उसे बिस्तर पर लिटाया और फिर मैं उसके ऊपर आ गया और धीरे-धीरे उसकी रासीली चूची को पीने लगा।  उसकी चुचियों की दाने कड़े और मोटे हो चुके थे। उसे बहुत मजा आ रहा था वह.. आह.. कर रही थी। अब मैं धीरे-धीरे अपना हाथ नीचे ले गया और उसकी पैंटी में डाल दिया और अपनी एक उंगली उसकी चुत में घुसा दी.. मेरी इस हरक से वो चिहुंक गई और उछल पड़ी। फिर.. वाह ‘आह्हहहहहहहहह..उह्ह्हहहहहहहहह..उउउऊऊईईई..उफ्फ्फफ़फ़फ़फ़फ़..’ की आवाजें निकालने लगी| मेरी उंगली उसकी चुत में अंदर बाहर हो रही थी, उसे बहुत मजा आ रहा था और वह कह रही थी- दीपू अब नहीं रहा जा रहा। अब नही बर्दास्त हो रहा मुझसे।.. तुम जल्दी से मेरे चुत में अपना लंड डाल दो। मैं फिर से उसके होंठो के पास आया और उसे जोर से किस करने लगा और उसकी चुचियाँ जोर से दबाने लगा अब वह मादक सिसकारियां लेने लगी। ‘उहहहहहहहहहहहहहहहहह…… .. Uumममममममममm .. आहहहहहहहहहहहहहहहह … आहहहहहहहहहहहहहहहहह Aaohhhhhhhhho .. ऊऊईईईईईईईना .. Uuummhhhhhhhhh ..’ फिर मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया मेरा 6 इंच का लंड उसके चुत पर रगड़ने लगा अब वो पागल हो चुकी थी। और वो एकदम से मेरे लौड़े पर झपटी जैसे वो जाने कितने दिनो से लंड की प्यासी हो..उसने मेरा लंड हाथ में पकड़ लिया और पागलों की तरह दबाने लगी मैंने उससे कहा- इसे मुंह में ले लो। पहले तो वो जरा हिचकी.. पर शायद उसका भी मन होने लगा था और मेरे कहने पर उसने लंड को मुँह में ले लिया.. पर शायद उसने पहले कभी लंड चूसा नहीं था इसलिए उसे उल्टियां सी लगने लगी।

मैंने अपना लंड उसके मुंह से निकला लिया। तो वो कहने लगी- दीपू.. जल्दी करो मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है।

फिर मैंने अपने होठ उसकी चुत पर रख दिया.. वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी- ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू। खा आआआ जाओ मेरी चुत….. आहहहहहहहहहहहहहहह……  कितना अच्छा चुत चाटता है तू। चाटो दीपू चाटो मेरी चुत………… ओहहहहहहहहहहहहह  और फिर रंजीता की चूत पूरी प्रेशर के साथ पानी छोड़ने लगा। …. और रंजीता मेरी सर जोर से अपनी चुत पर दबा दी…..  और अओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू खा आआआ जाओ मेरी चुत….. आहहहहहहहहहहहहहहह…… जान कितना अच्छा चुत चाटता है तू। चाटो दीपू चाटो मेरी चुत………… ओहहहहहहहहहहहहह जान मैं झड़ रही हूँ जान. चाटो और जोर से मेरे राजा. खा जाओ मेरी की चूत…………. ओहहहहहहहहहहहहह…… आहहहहहहहहहहहहहहहह…. मेरे राजा बेटे……… आह्ह.. चूसो.. चूसो.. इसी तरह चूसो.. आह.. मजा आ रहा है.. आह.. ऐसा मजा तो मुझे आज तक  नहीं आया.. ओह.. प्लीज करो.. और.. ऐसे ही करो..

मेरा होने वाला है.. मेरा चुत पानी छोड़ने वाला है आह.. और वो मेरे मुँह में ही छुट गई, मैंने उसके चुत का सारा पानी पी लिया और चाट लिया ।

मैं अब पीछे हुआ और उसके चुत पर अपना लंड रख कर एक ज़ोर का झटका लगा दिया और मेरा आधा से ज्यादा लंड उसकी चुत में घुसता चला गया।

उसके मुँह से एक मीठी सी सिसकारी निकली और तबी मैंने दूसरा झटका जोर से मारा.. मेरा पूरा लंड उसकी चुत में चला गया।  वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से कहने लगी- आहहहहहहहहह….. ज़ोर से.. करो.. फ़ड़ डालो.. मेरी चुत फ़ड़ डालो..

ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… जान कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह… तू तो सच्चा मर्द निकला मेरे शेर….. चोदो दीपू. चोदो मेरी चुत……. फाड् दो मेरी चुत को… मेरी चुत को चोद के भोसड़ा बना दो…बहुत प्यासी है मेरी चुत…..ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… जान कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू बहुत मजा आ रहा है… मैं जन्नत की सैर कर रही हूँ…  मेरी जान चोदो.को…………तुम्हारा लंड मेरे चुत से होते हुए अंदर मेरी गांड तक जा रहा है.. बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा… ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. दीपू मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… आहहहहहहहहहहहहहहह…… जान कितना अच्छा चुत चोदता है तू। ……ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह….. बेबी मेरी जान चोदो.  आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत।  मारो मेरे राजाआआआ हहहहहहहहहहहहह…….. जोर से झटके मारो… अंदर तक धक्का मार रहा है…… बहुत मजा आ रहा है मेरे लाल……फाड् दो मेरी चुत राजा.. मेरी चुत की धज्जियां उड़ा दो।

मैं जोर जोर से दनादन धक्के मार रहा था.. वो भी अब अपनी गंड उठा कर मेरा साथ देने लगी।

लगभाग 25, 30 मिनट में जब मेरा लौड़ा झड़ने को हुआ तो मैंने पूछा रंजीता मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है झड़ जाऊं या रुक जाऊं। तो वो बोली रुको मत और जोर से चोदो। अपना लंड का पानी मेरे चुत में ही झाड़ दो। बहुत दिनों से मेरी चुत प्यासी है। मेरी चुत की प्यास बुझा दो। और फिर वो भी नीचे से जोर जोर से कमर उछालने लगी।  और बोली मैं 3 बार झड़ चुकी हूँ लेकिन तुम्हारा लंड का पानी अपने चुत में लेना चाहती हो। निकाल दो सारा पानी मेरी चुत में। और फिर मैं झड़ने लगा। तो वो जोर से मेरे कमर को दबा ली। और मेरा लंड सारा वीर्य उसकी चुत में छोड़ दिया। उसके बाद उस दिन शाम तक हम होटल में रुके और 3 बार चुदाई किए।

अब हम अक्सर मिलते हैं और खुल कर चुदाई करते हैं।

उसने अपनी  2 सहेलियों के भी चुत मुझे दिलवाई। जो मैंने आपको अपनी आगे की कहानियों में बताऊगा|

हमें उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

ऐसी कयामत भरी चुदास कहानी पढ़ने के लिए https://nightqueenstories.com पर बने रहना। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “मैं मेरा दोस्त और मेरी बीवी”

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

धन्यवाद।

आपसब अपना ख्याल रखिएगा। और अपना प्यार इसी तरह बनाए रखिएगा।

नमस्कार।

The End

 

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *